Showing posts with label Industrial News. Show all posts
Showing posts with label Industrial News. Show all posts

Monday, 25 February 2019

एस्कॉर्ट्स लिमिटेड के चेयरमैन निखिल नंदा ने एस्कॉर्ट्स कुबोता इंडिया ने फरीदाबाद में मैन्युफैक्चरिंग प्लांट के लिए आधारशिला रखी

एस्कॉर्ट्स लिमिटेड के चेयरमैन निखिल नंदा ने एस्कॉर्ट्स कुबोता इंडिया ने फरीदाबाद में मैन्युफैक्चरिंग प्लांट के लिए आधारशिला रखी

फरीदाबाद, 26 फरवरी 2019: एस्कॉर्ट्स लि. और कुबोता कॉर्पोरेशन ने फरीदाबाद में एस्कॉर्ट्स की ज़मीन पर एस्कॉर्ट्स कुबोता इंडिया प्रा. लि. के मैन्युफैक्चरिंग प्लांट की आधारशिला रखी। दिनांक 22 फरवरी को इस परियोजना की औपचारिक शुरुआत के कार्यक्रम में दोनों कंपनियों की मैनेजमेंट टीमें उपस्थित रहीं। 

एस्कॉर्ट्स कुबोता इंडिया का यह प्लांट आधुनिक तकनीक वाले ट्रैक्टरों का निर्माण करेगा और भारत एवं विदेशी बाज़ारों में बिक्री करेगा। इस नए प्लांट में रु. 300 करोड़ का शुरुआती निवेश किया जाएगा। प्रारंभिक चरण में प्लांट की क्षमता 50,000 ट्रैक्टरों की होगी। लगभग 7 एकड़ क्षेत्रफल में फैली यह नई इकाई जून 2020 तक संचालन शुरु कर देगी। 

यह नवगठित कंपनी, कुबोता की अग्रणी जापानी तकनीक और एस्कॉर्ट्स की भारतीय उत्कृष्ट इंजीनियरिंग का इस्तेमाल करते हुए ट्रैक्टर निर्माण करेगी और पूरे विश्व में शीर्ष स्थान हासिल करेगी। कुबोता और एस्कॉर्ट्स के बीच क्रमशः 60:40 अनुपात वाला यह मैन्युफैक्चरिंग ज्वाइंट वेंचर दोनों भागादीरों के लिए घरेलू तथा अंतर्राष्ट्रीय बाज़ारों में अपनी उपस्थिति का विस्तार करने में फायदेमंद होगा। 

इस ज्वाइंट वेंचर हेतु समझौते पर एस्कॉर्ट्स लिमिटेड के चेयरमैन एवं मैनेजिंग डायरेक्टर निखिल नंदा और कुबोता कॉर्पोरेशन, जापान के प्रेसिडेंट एवं रिप्रेजेंटेटिव डायरेक्टर मासातोषी किमाता ने दिसंबर 2018 में हस्ताक्षर किये थे। 

एस्कॉर्ट्स लिमिटेड के बारे में संपादक के लिए नोट

एस्कॉर्ट्स समूह देश के अग्रणी इंजीनियरिंग समूहों में से एक है जो कि कृषि मशीनों, मैटेरियल हैंडलिंग, निर्माण उपकरणों, रेलवे उपकरण जैसे उच्च विकास क्षेत्रों में गतिविधियां संचालित करता है। समूह ने अपने उत्पादों और प्रक्रिया नवीनीकरण के द्वारा अपने संचालन के पिछले सात दशकों में 50 लाख ग्राहकों से भी अधिक का विश्वास जीता है। एस्कॉर्ट्स कृषि मशीनीकरण, रेलवे तकनीक के आधुनिकिकरण में क्रांति की अगुवाई करते हुए और भारतीय निर्माण क्षेत्र के स्वरूप के बदलाव में शामिल होकर ग्रामीण और शहरी भारत में रहने वाले लोगों के जीवन में परिवर्तन लाने के लिए प्रयत्नशील है।


कुबोता कॉर्पोरेशन के बारे में संपादक को नोट

कुबोता ग्रुप एक ग्लोबल मेन्युफैक्चरिंग कंपनी है, जो कृषि, जल और रहिवासी पर्यावरण उत्पादों में विशेषज्ञता रखती है। इस ग्रुप का नेटवर्क विश्वभर के 100 देशों में मौजूद है। कुबोता के रिसर्च एवं डेवलपमेंट में वास्तविक प्रक्रियाओं को महत्व दिया जाता है। एक कृषि एवं जल विशेषज्ञ के रूप में हम भोजन, पानी और पर्यावरण के भविष्य को चुनौती देते हुए उसे हासिल करते हैं और अपने ग्राहकों की ज़रूरत पूरी करते 

हैं। सक्रिय प्रबंधन, सुविधाजनक उत्पादों और निरंतर सहायता के साथ कुबोता ग्रुप वैश्विक कृषि एवं जल संबंधी उद्योगों में पूरे विश्व में अग्रणी है।

Tuesday, 19 February 2019

फेडेक्स एक्सप्रेस, एयरो इंडिया 2019 में करेगी अपने समाधानों का प्रदर्शन

फेडेक्स एक्सप्रेस, एयरो इंडिया 2019 में करेगी अपने समाधानों का प्रदर्शन

नई दिल्ली, 19 फरवरी I फेडेक्स कॉर्प (NYSE: FDX) की अनुषंगी और दुनिया की सबसे बड़ी एक्सप्रेस ट्रांसपोर्टेशन कंपनी, फेडेक्स एक्सप्रेस एयरो इंडिया 2019 में अपने समाधानों को प्रदर्शित करेगी। एयरो इंडिया 2019, 20-24 फरवरी के बीच बेंगलुरू में आयोजित हो रहा है।


एयरो इंडिया में भारतीय उड्डयन बाजार के महत्व और वैश्विक व्यापार को समर्थन देने में इंडस्ट्री की भूमिका को भी उजागर किया जायेगा। एयर कार्गो इंडस्ट्री 6 ट्रिलियन अमेरिकी डॉलर मूल्य से अधिक के सामानों का ट्रांसपोर्टेशन करती है - जिसमें से अधिकांश सामान ऊँची कीमतों वाले होते हैं जिन्हें ग्राहक या बाजार तक शीघ्र पहुँचाना होता है, या उनकी विशिष्ट ट्रांसपोर्टेशन आवश्यकताएँ होती हैं।[1] दुनिया का लगभग 1% निर्यात हवाई मार्गे से किया जाता है और उनके मूल्य के स्वरूप के चलते, ये सामान मूल्य की दृष्टि से वैश्विक व्यापार के लगभग 35% के बराबर होते हैं।[2]


भारतीय उड्डयन बाजार और अधिक विकास के लिए तैयार है, और अनुमान है कि वर्ष 2022 तक यह संपूर्ण रूप से तीसरा सबसे बड़ा उड्डयन बाजार बन जायेगा। भारतीय मेंटनेंस, रिपेयर एवं ओवरहॉल (एमआरओ) का वर्तमान बाजार आकार 700-800 मिलियन अमेरिकी डॉलर के बीच बताया जाता है, और वर्ष 2020 तक इसके बढ़कर 1.2 बिलियन अमेरिकी डॉलर हो जाने का अनुमान है।[3]


दुनिया भर में 670 से अधिक एयरक्राफ्ट के बेड़े का परिचालन करने वाले, फेडेक्स के पास ऐसे श्रृंखलाबद्ध समाधान हैं जो उड्डयन उद्योग की विभिन्न शिपिंग आवश्यकताएँ पूरी करते हैं: तीव्र परिवहन, डेडिकेटेड एयरोस्पेस विशेषज्ञों द्वारा सक्रियतापूर्ण निगरानी, कस्टम क्लियरेंस में कुशलता, डेडिकेटेड लॉजिस्टिक्स एवं अंतर्राष्ट्रीय फ्रेट फॉरवार्डिंग।


फेडेक्स एक्सप्रेस इन इंडिया के प्रबंध निदेशक - ऑपरेशंस, मोहम्मद सयेग ने कहा, "हमारे ग्राहकों की लगातार बदलती आवश्यकताओं के साथ, फेडेक्स ऐसे नये-नये समाधान विकसित करने के लिए प्रतिबद्ध है जो संभावनाशील लोगों को जोड़ते हैं। हमारे समाधान एयरोस्पेस बिजनेस के लिए आवश्यक रफ्तार, पहुँच, भरोसा एवं इंडस्ट्री एक्सपर्टाइज प्रदान करते हैं, ताकि यथासंभव कुशलता से परिचालन किया जा सके।"


लॉजिस्टिक्स में फेडेक्स की वैश्विक दक्षता और 220 से अधिक देशों व क्षेत्रों को जोड़ने वाला हवाई नेटवर्क उड्डयन ग्राहकों को दुनिया भर के बाजारों के लिए तीव्र कनेक्टिविटी उपलब्ध कराता है। फेडेक्स की पहुँच भारत के 19,000 से अधिक पोस्टल कोड्स तक है। फेडेक्स की डेडिकेटेड हेल्पलाइन और हेल्पडेस्क भी है, ताकि यह अपने एविएशन ग्राहकों की मदद कर सके।


फेडेक्स एक्सप्रेस, बेंगलुरू के येलाहांका एयरफोर्स स्टेशन के स्टाल सी1.9, हॉल सी में अपने समाधानों को प्रदर्शित करेगा।

Wednesday, 12 December 2018

आईएमएसएमई आफ इंडिया ने अपने सदस्यों के लिये वित्तीय सहायता स्कीम के तहत एमओयू साईन : राजीव चावला

आईएमएसएमई आफ इंडिया ने अपने सदस्यों के लिये वित्तीय सहायता स्कीम के तहत एमओयू साईन : राजीव चावला

फरीदाबाद 12 दिसंबर। प्रमुख औद्योगिक संगठन आईएमएसएमई आफ इंडिया ने अपने सदस्यों के लिये वित्तीय सहायता स्कीम के तहत एमओयू साईन किया है। इसके तहत आईएमएसएमई आफ इंडिया के सदस्य ८ से ९ फीसदी की न्यूनतम ब्याज दर पर ७५ लाख रूपए की राशि प्राप्त कर सकते हैं। 

आईएमएसएमई आफ इंडिया के चेयरमैन श्री राजीव चावला ने बताया कि नई प्रक्रिया उपरांत जहां आईएमएसमई आफ इंडिया की वित्तीय योजनाओं की पुनर्रावृत्ति की गई वहीं व्यवस्था के तहत ७५ लाख रूपए की राशि आईएमएसएमई आफ इंडिया के सदस्यों को मिल सकेगी। 

 चावला ने रहस्योद्घाटन किया कि सदस्य चाहें तो इस राशि को प्री-अप्रूव्ड करा सकते हैं और इसका प्रयोग कैपीटल निवेश के लिये एक वर्ष की समय सीमा में किया जा सकता है। 

 चावला ने बताया कि कैपीटल मशीनरी, आफिस इक्यूपवमैंट और वर्किंग कैपीटल लिमिट जिनमें सीसी, ओडी और बिल्स डिस्काउंट शामिल हैं, के लिये इस वित्तीय सहायता का लाभ उठाया जा सकता है। 

 चावला ने जानकारी दी कि आईएमएसएमई आफ इंडिया शीघ्र ही एक स्पेशल गारंटी फंड की घोषणा करेगा जो आकस्मिक अनसिक्योर्ड लोन के समय सदस्यों को गारंटी मुहैया करा सकेगा। 

 चावला ने आईएमएसएमई आफ इंडिया के सदस्यों से आह्वान किया है कि वे संबंधित योजना का लाभ उठाएं।

Tuesday, 11 December 2018

Escorts launches new range of construction equipment at  Bauma CONEXPO 2018

Escorts launches new range of construction equipment at Bauma CONEXPO 2018


 Gurugram, 12 December, 2018: Escorts Construction Equipment (ECE), the construction and material handling equipment manufacturing arm of Escorts Limited, today launched three new products at Bauma CONEXPO 2018. The new product line-up comprised New Compactor EC 5511 in 11-ton class, New Mini Compactor EC 3664 in 3- ton class and Next Generation Hydra Pick And Carry Crane (PNC) Crane Hydra NXT 13.


Additionally, Escorts exhibited an array of other best-in-class equipment that included Tadano- Escorts Rough Terrain Crane CTI-500XL and Doosan Excavator DX-225 LCB & Rock Breaker alongside the recently launched Hydra 13 Top Jack & TRX 15 SuperLift .

The latest addition to Escorts’ Compactors, EC 5511 is a new generation compactor which is designed to give optimum compaction performance with excellent operational efficiency.  Also, on display is the most advance Mini Compactor EC3664 powered with Escorts water cooled engine, this mini compactor in 3-ton class is the latest offering in the small compaction machine space.

In CONEXPO 2018, Escorts is displaying the future of Hydra i.e. Hydra NXT, which combines the convenience of a Hydra, safety aspect of TRX range & at attractive price point. This product will address the customer demand, both corporate and retail, who have been looking for a solution that offers higher stability, manoeuvrability and improved load handling capabilities. Unlike Hydra, Hydra NXTis equipped with steering wheel & the boom is specially designed to accommodate multiple attachments viz., Man basket, Crane jib, Forks, construction bucket etc.,

Speaking on the occasion, Ajay Mandahr, CEO - Escorts Construction Equipment said,“Augmenting our customer’s accessibility to services and genuine spare parts is of utmost importance to Escorts. We strive to expand our reach by attaining 800 touch points with authorized service centres across the country by the end of this fiscal. Our USP is value innovation and most competitive operating costs. We have a story reputation in SAARC countries, Middle East, Latin America and Africa and export is a key driver of our overall growth strategy. We have plans to expand our Backhoe portfolio globally and are open to contract manufacturing, private labelling and direct export. Escorts has been open to joint ventures and technical collaborations to enter new segments. We are confident that our partnerships with global players will enable us to tap the opportunity market segments and reinforce our leadership in construction equipment space.”

ECE showcased the upgraded version of its existing products, new innovative equipment alongside the products from its global partners Tadano, Doosan and Comansa.

Note for the Editor

The Escorts Group is among India's leading engineering conglomerates, operating in the high-growth sectors of Agri Machinery, Material Handling, Construction Equipment and Railway Equipment. The Group has earned the trust of over 5 million customers by way of product and process innovations over seven decades of its existence. Escorts endeavours to transform lives in rural and urban India by leading the revolution in agricultural mechanization, modernization of railway technology and transformation of Indian construction.

Monday, 10 December 2018

कुबोता और एस्कॉर्ट्स ने विश्व में अग्रणी स्थान हासिल करने के लिए हाथ मिलाया

कुबोता और एस्कॉर्ट्स ने विश्व में अग्रणी स्थान हासिल करने के लिए हाथ मिलाया

फरीदाबाद 11 दिसंबर।  एस्कॉर्ट्स लि. और कुबोता कॉर्पोरेशन का लक्ष्य मज़बूत घरेलू एवं निर्यात बाज़ार में हिस्सेदारी प्राप्त करना है, जिसके लिए दोनों कंपनियां तकनीकी सहयोग और उच्च-क्षमता वाले यूटिलिटी ट्रैक्टर रेंज के लिए वैश्विक संयुक्त उपक्रम बनाएंगे

दोनों कंपनियां साथ मिलकर भारत और अंतर्राष्ट्रीय बाज़ार के लिए नए उत्पाद विकसित करेंगी
नई साझा निर्माण व्यवस्था के लिए संयुक्त उपक्रम बनाया जाएगा, जिसकी शुरुआती क्षमता 50 हज़ार ट्रैक्टरों की होगी। यह ट्रैक्टर दोनों कंपनियों द्वारा घरेलू बाज़ार में अपने निजी चैनल नेटवर्क के माध्यम से बेचे जाएंगे
इस भागीदारी के तहत, चुनिंदा बाज़ारों में आपसी सहमति के अनुसार कुबोता अपने ग्लोबल डिस्ट्रिब्यूशन नेटवर्क के जरिये एस्कॉर्ट्स के ट्रैक्टर्स एक्सपोर्ट करेगी
एस्कॉर्ट्स और केबीटी भारत में स्वतंत्र रूप से अपने डिस्ट्रिब्यूशन चैनल को विकसित करना जारी रखेंगे, साथ ही दोनों कंपनियां साझा विकास और भविष्य में कुछ ग्रीनफील्ड अवसरों के लिए अपने तकनीकी प्लेटफॉर्म्स एक दूसरे को इस्तेमाल के लिए उपलब्ध कराएंगी

नई दिल्ली, 10 दिसंबर, 2018: भारत के अग्रणी इंजीनियरिंग समूह एस्कॉर्ट्स लि और जापान की सबसे बड़ी एवं विश्व की अग्रणी ट्रैक्टर निर्माता कंपनी कुबोता कॉर्पोरेशन ने अपने वैश्विक संयुक्त उपक्रम की घोषणा की है। यह ज्वाइंट वेंचर घरेलू एवं निर्यात बाज़ारों के लिए उच्च क्षमता तकनीक वाले ट्रैक्टरों का निर्माण करेगा। इस भागीदारी के तहत कुबोता की अग्रणी जापानी तकनीक और एस्कॉर्ट्स की उत्कृष्ट इंजीनियरिंग क्षमताओं को उपयोग करते हुए एक बढ़ते बाज़ार पर ध्यान केंद्रित किया जाएगा। दोनों कंपनियां मिलकर पूरे विश्व में अग्रणी स्थान हासिल करने के लिए उच्च क्षमता वाले गुणवत्तापूर्ण यूटिलिटी ट्रैक्टर बनाएंगी। 

कुबोता और एस्कॉर्ट्स के बीच हुए क्रमशः 60:40 निर्माण संयुक्त उपक्रम में रु. 300 करोड़ का शुरुआती निवेश किया जाएगा। इससे दोनों भागीदारों को विश्वभर में अपनी मौजूदा एवं भविष्य की क्षमताओं को इस सेग्मेंट में बेहतर बनाने हेतु सहायता मिलेगी। इस संयुक्त उपक्रम का उद्देश्य घरेलू एवं निर्यात बाज़ारों में, मध्यम से लंबी अवधि के दौरान अग्रणी स्थान हासिल करना है। 

इस अवसर पर बोलते हुए निखिल नंदा, चेयरमैन एवं मैनेजिंग डायरेक्टर, एस्कॉर्ट्स लि. ने कहा, “एस्कॉर्ट्स योजनाबद्ध तरीके से तकनीकी एवं निर्माण साझेदारियों के जरिये एक वैश्विक संगठन के रूप में विकसित हो रहा है। कुबोता के साथ हमारे वैश्विक संयुक्त उपक्रम का लक्ष्य घरेलू एवं निर्यात बाज़ारों में तकनीक आधारित साझा विकास हासिल करना है। हमारी मौजूदा शक्तियों, डिस्ट्रिब्यूशन और इंजीनियरिंग मानकों के साथ हम कारोबारी अवसरों वाले अंतर्राष्ट्रीय बाज़ारों में जाएंगे और विश्व में अग्रणी स्थान हासिल करने की दिशा में आगे बढ़ेंगे।”

मासातोशी किमाता, प्रेसिडेंट एवं रिप्रेजेंटेटिव डायरेक्टर, कुबोता कॉर्पोरेशन, जापान ने कहा, “एस्कॉर्ट्स ग्रुप के साथ भागीदारी की घोषणा करते हुए हम उत्साहित हैं। एस्कॉर्ट्स के पास एक मज़बूत तकनीकी विरासत और कृषि उपकरण समाधानों का एक विविध उत्पाद पोर्टफोलियो है। वहीं कुबोता के पास एक प्रमाणित वैश्विक तकनीक है और हम साथ मिलकर भारत सहित अन्य विकासशील अर्थव्यवस्थाओं पर ध्यान देंगे, जिन्हें अत्यधिक मशीनीकृत कृषि कार्यों की बढ़ती मांग के लिए उच्च क्षमता वाले आधुनिक ट्रैक्टरों की ज़रूरत है। अपने देशों में अग्रणी स्थिति रखने वाले कुबोता और एस्कॉर्ट्स साथ मिलकर अपनी-अपनी शक्तियों, तकनीक एवं निर्माण उत्कृष्टता को संगठित करते हुए एक ग्लोबल लीडर बनने की दिशा में कदम बढ़ाएंगे।” 

इस संयुक्त उपक्रम के लिए समझौता-पत्र पर एस्कॉर्ट्स लिमिटेड के चेयरमैन एवं मैनेजिंग डायरेक्टर निखिल नंदा और कुबोता कॉर्पोरेशन, जापान के प्रेसिडेंट एवं रिप्रेजेंटेटिव डायरेक्टर मासातोशी किमाता ने हस्ताक्षर किये। 

एस्कॉर्ट्स लिमिटेड के बारे में संपादक के लिए नोट
एस्कॉर्ट्स समूह देश के अग्रणी इंजीनियरिंग समूहों में से एक है जो कि कृषि मशीनों, मैटेरियल हैंडलिंग, निर्माण उपकरणों, रेलवे उपकरण जैसे उच्च विकास क्षेत्रों में गतिविधियां संचालित करता है। समूह ने अपने उत्पादों और प्रक्रिया नवीनीकरण के द्वारा अपने संचालन के पिछले सात दशकों में 50 लाख ग्राहकों से भी अधिक का विश्वास जीता है। एस्कॉर्ट्स कृषि मशीनीकरण, रेलवे तकनीक के आधुनिकिकरण में क्रांति की अगुवाई करते हुए और भारतीय निर्माण क्षेत्र के स्वरूप के बदलाव में शामिल होकर ग्रामीण और शहरी भारत में रहने वाले लोगों के जीवन में परिवर्तन लाने के लिए प्रयत्नशील है।

कुबोता कॉर्पोरेशन के बारे में संपादक को नोट
कुबोता ग्रुप एक ग्लोबल मेन्युफैक्चरिंग कंपनी है, जो कृषि, जल और रहिवासी पर्यावरण उत्पादों में विशेषज्ञता रखती है। इस ग्रुप का नेटवर्क विश्वभर के 100 देशों में मौजूद है। कुबोता के रिसर्च एवं डेवलपमेंट में वास्तविक प्रक्रियाओं को महत्व दिया जाता है। एक कृषि एवं जल विशेषज्ञ के रूप में हम भोजन, पानी और पर्यावरण के भविष्य को चुनौती देते हुए उसे हासिल करते हैं और अपने ग्राहकों की ज़रूरत पूरी करते हैं। सक्रिय प्रबंधन, सुविधाजनक उत्पादों और निरंतर सहायता के साथ कुबोता ग्रुप वैश्विक कृषि एवं जल संबंधी उद्योगों में पूरे विश्व में अग्रणी है। 

Saturday, 6 October 2018

एम्.ए.ऍफ़. का 34 उधोग प्रबंधको का प्रतिनिधिमंडल कंटोन व्यापार मेला (चीन) के लिए रवाना

एम्.ए.ऍफ़. का 34 उधोग प्रबंधको का प्रतिनिधिमंडल कंटोन व्यापार मेला (चीन) के लिए रवाना

फरीदाबाद 7 अक्टूबर । मैन्युफैक्चरर्स एसोसिएशन फरीदाबाद द्वारा एक बार फिर 34 उद्दोगपतियों का प्रतिनिधिमंडल महासचिव रमणीक प्रभाकर के नेतृत्व में कंटोन व्यापार मेला (चीन) जाने के लिए तैयार है | दिनांक 13 से 20 अक्टूबर 2018 तक यह व्यापार मेला चलेगा  | इससे पहले यूरोप और चीन दो बार पहले भी एसोसिएशन के मेम्बर्स विदेश यात्रा का लाभ उठा चुके है | यह तीसरी बार है जो इतना बड़ा प्रतिनिधिमंडल विदेश यात्रा का लाभ उठा पाएगा | इसमें हमारे 6 सदस्य तो ऐसे है जिनका पासपोर्ट भी अभी बना है व् 14 प्रबंधक ऐसे है जो पहली बार विदेशी यात्रा पर जा रहे है |



उल्लेखनीय है कि कंटोन व्यापार मेला विश्व का सबसे बड़ा औधोगिक मेला कहा जाता है सन 1957 से इस व्यापार मेले की शुरुआत हुई | यह साल में 2 बार लगता है,  जिसमे 110 देश भाग लेते है | इस मेले में लगभग 50 हजार स्टाल होते है और 2 लाख 50 हजार के लगभग उधोग जगत से सम्बंधित लोग इसे देखने के लिए आते है | मेले में इंजीनियरिंग, आटोमोटिव, मेटल, कास्टिंग, इलेक्ट्रिक साइकल, इलेक्ट्रिक स्कूटी एवं मैन्युफैक्चरिंग से संबंधित अति आधुनिक तकनीक एवं मशीने प्रदर्शित की जाती है |   



महासचिव रमणीक प्रभाकर ने कहा फरीदाबाद के उधोग प्रबंधको को इस मेले में प्रदर्शित तकनीक व् मशीनों से ककाफी लाभ हुआ है | कई उधोग प्रबंधको ने मशीने खरीदी है जबकि कई नई तकनीक को अपना कर अपने उधोग को आगे बढ़ाने में कामयाब रहे है |

मुख्य अतिथि श्री प्रशांत भल्ला जी, कुलाधिपति मानव रचना इंटरनेशनल यूनिवर्सिटी ने सभी उधोग प्रबंधको को यात्रा पर जाने की हार्दिक शुभकामनाए देते हुए कहा की यह एक ऐसा प्लेटफॉर्म है जहा से मनुष्य अपना भविष्य निर्भर करता है, आप नई तकनीक देखते है, नए उत्पाद देखते है फिर उसी को अपने उधोग में इस्तेमाल करते है | जिससे हमारे उधोग में नरंतर विकास होता है और हम नई उपलब्धियां हासिल कर लेते है |



सम्मानीय अतिथि श्री प्रदीप मोहन्ती जी MD M/s. SledgeHammer Oil Tools Pvt. Ltd. ने बताया आज मेने जो भी उधोग उत्पाद में उप्लभ्धिया हासिल की है वह इन्ही नई तकनीकों को देखकर समझकर व अपना कर की है और हम व्यापार मेले में जाकर ही कुछ सीख सकते है | उन्होंने सभी मेम्बर्स को जाने के लिए बधाई दी |

 इस मौके पर आये सम्मानीय अतिथि डॉ. कृष्ण कुमार जी ने सभी सदस्यों को कंटोन व्यापार मेले में जाने के लिए बधाई दी व् हेल्थ टिप्स दिए कि हमें स्वस्थ रहने के लिए हमेशा टाइम टेबल बनाना चाहिए | नियमित व्यायाम करना, सैर करना, फास्ट फ़ूड का प्रयोग न करना, टाइम से सोना, टाइम पर उठना व् आप बाहर जा रहे है तो चेहरे पर मास्क का प्रयोग करना  आदि |  

प्रधान श्री अजय जुनेजा जी व् कोषाध्यक्ष श्री ऋषि त्यागी जी ने कंटोन व्यापार में जा रहे सदस्य अनिल सचदेवा, विनोद गर्ग, नीरज जैन, रवि दत्त केंद्रीय, मनिक सचदेवा, नवनीश शर्मा प्रदीप कुमार, मनोज कुमार चाहर, प्रणव जैन, सुनीता कश्यप, जगदीश शर्मा, राज कुमार शर्मा, राजीव कुमार भट्ट, अनिल दुआ, मोहिंदर पाल, अनिल वोहरा, मनोज शर्मा, जीतेन्द्र पाल शाह, तेजीश प्रभाकर, मोहन मुकट शर्मा, प्रकाश चंद्र गुप्ता, राजपाल यादव, प्रदीप सेठी, तुला राम शास्त्री, राजू मिश्रा, विश्वज्ञ धीमान, हुकम सिंह, दीपक टांटिया, रविन्द्र गर्ग, यमन मलिक व् संजीव मालिक को हार्दिक शुभकामनाए दी |

Friday, 7 September 2018

एस्कॉर्ट्स ने वार्षिक इनोवेशन प्लेटफॉर्म एस्क्लुसिव में लॉन्च किया भारत का प्रथम स्वचालित कॉन्सेप्ट ट्रैक्टर : निखिल नंदा

एस्कॉर्ट्स ने वार्षिक इनोवेशन प्लेटफॉर्म एस्क्लुसिव में लॉन्च किया भारत का प्रथम स्वचालित कॉन्सेप्ट ट्रैक्टर : निखिल नंदा

नई दिल्ली, 6 सितंबर, 2018: एस्कॉर्ट्स के वार्षिक इनोवेशन प्लेटफॉर्म ‘एस्क्लुसिव 2018’ मंं भारत की अग्रणी इंजीनियरिंग कंपनी एस्कॉर्ट्स लिमिटेड ने भारत का प्रथम ऑटोमेटेड कॉन्सेप्ट ट्रैक्टर लॉन्च करते हुए अपने विशिष्ट स्वचालित कृषि समाधानों की घोषणा की। यह नए 22 ट्रैक्टर गुणवत्तापूर्ण कृषि प्रक्रियाओं के लिए आधुनिक डिजिटल वाहन तकनीकों की शक्ति से लैस है। इसके लिए एस्कॉर्ट्स ने सात दिग्गज तकनीकी कंपनियों Microsoft, Reliance Jio, Trimble, Samvardhana Motherson Group, WABCO, AVL एवं BOSCH से हाथ मिलाया है। इन साझेदारियों के जरिये विभिन्न फार्म मशीनें विकसित की जाएंगी, जिनमें इलेक्ट्रिक ट्रांसमिशन, ऑटोनोमस एप्लिकेशंस, रिमोट वेहिकल मैनेजमेंट, डेटा आधारित सॉइल एवं क्रॉप मैनेजमेंट और सेंसर से संचालित होने वाले कृषि एप्लिकेशन्स का समावेश होगा। 

भारतीय कृषि प्रक्रियाओं के लिए व्यापक मशीनीकरण और सूक्ष्म समाधानों की ज़रूरत है। इनके जरिये फसल पैदावार और किसानों की आय में वृद्धि की जा सकती है। किसानों को बेहतर पैदावार और आमदनी बढ़ाने के साथ ही मिट्टी की गुणवत्ता, बीज, जल प्रबंधन से जुड़ी विशेषज्ञ जानकारियां प्राप्त करने के लिए अधिक से अधिक तकनीकी समाधान एवं डिजिटल प्लेटफॉर्म्स की ज़रूरत है। इसी उद्देश्य के साथ एस्कॉर्ट्स ने विभिन्न दिग्गज कंपनियों के साथ भागीदारी की है। इनमें AVL के साथ इलेक्ट्रिक ट्रांसमिशन तकनीक के लिए और ट्रिम्बल के साथ सेंसर, कंट्रोल, जलस्तर प्रबंधन प्रणाली और ऑटोनोमस ई-स्टीयरिंग हेतु भागीदारी हुई है। वहीं, संवर्धना मदरसन ग्रुप के साथ स्मार्ट इंटरफेस केबिन एवं केयर प्लस – रियल टाइम सर्विस के लिए एक टू-वे वॉइस इंटरफेस के लिए हाथ मिलाया है। इसके अलावा WABCO के साथ वेहिकल कंट्रोल तथा ऑटोमेशन टेक्नोलॉजी के लिए भागीदारी की है। अगली भागीदारी  माइक्रोसॉफ्ट के साथ उनकी क्लाउड एवं आर्टिफिशियल टेक्नोलॉजी के लिए हुई है, जो किसानों को अपने खेतों से अधिक उपज के लिए पूरी जानकारी के साथ फैसले करने में मदद करते हुए उनकी क्षमता बढ़ाएंगे। भविष्य के उत्सर्जन की तैयारियों हेतु BOSCH के साथ मिलकर काम किया जाएगा। वहीं, कंपनी ने रिलायंस जियो के साथ कृषि मशीनरी का जीवनकाल बेहतर बनाने हेतु देश भर से असली स्पेयर पार्ट्स एवं श्रेष्ठ सेवाएं प्रदान करने वाले नेटवर्क प्लेटफॉर्म तैयार करने के लिए भी साझेदारी की है। 






एस्कॉर्ट्स ने ‘एस्कॉर्ट्स क्रॉप सॉल्युशंस’ के साथ साझा कृषि सेवाओं तथा समाधानों की शुरुआत की है, जो प्रति इस्तेमाल किराया मॉडल के तहत संपूर्ण अत्याधुनिक उपकरण उपलब्ध कराएंगे। कंपनी ने एक सर्विस प्लेटफॉर्म के रूप में ‘ट्रैक्सी’ शुरु किया है, जो बड़े कृषि उपकरण मालिकों को अपने उपकरण छोटे एवं वंचित किसानों को किराये पर देने के लिए एक मंच पर लाएगा। इसके अलावा, ‘स्मार्ट पार्ट्स’ की शुरुआत की गई है, जो किफायती दामों पर असली कलपूर्जे एवं कुशल सेवाओं की पेशकश करेगा। कंपनी की एक अन्य पेशकश ‘डिजिट्रैक’ कृषि संबंधी जानकारियां प्रदान करेगी, वहीं ‘फार्म पावर’ कुशल एवं उत्पादक खेती के लिए आधुनिक प्रक्रियाएं एवं उपकरण उपलब्ध कराएगा। 

अपने एस्क्लुसिव प्लेटफॉर्म के माध्यम से एस्कॉर्ट्स ने उच्च क्षमता क्रेनों के लिए तदानो के साथ अपने नए घोषित किये गये संयुक्त उपक्रम के तहत साझा तकनीक का भी प्रदर्शन किया। इसके साथ ही भारत की पहली कंपनी बनते हुए उच्च श्रेणी के लोकोमोटिव ब्रेक इलेक्ट्रॉनिक समाधान भी लॉन्च किये। 

इस अवसर पर बोलते हुए, एस्कॉर्ट्स लि. के चेयरमैन एवं मैनेजिंग डायरेक्टर श्री निखिल नंदा ने कहा, “एस्क्लुसिव हमारा वार्षिक इनोवेशन प्लेटफॉर्म है, जहां नए आविष्कार तथा कृषि, कंस्ट्रक्शन और रेलवे सेग्मेंट्स में वैश्विक तकनीकी कंपनियों के साथ क्रांतिकारी समाधान प्रदर्शित किये जाते हैं। पिछले साल हमने विश्व का पहला इलेक्ट्रिक कॉम्पैक्ट ट्रैक्टर कॉन्सेप्ट लॉन्च किया और इस वर्ष हमने स्वचालित कृषि समाधानों के प्लेटफॉर्म की शुरुआत की है। इसके लिए 7 रणनीतिक साझेदारियां की गई हैं। इन तकनीकी साझेदारियों के जरिये किसानों को बेहतर आमदनी दिलाने के लिए कृषि प्रक्रियाओं को नया स्वरूप प्रदान किया जाएगा। यह आयोजन एस्कॉर्ट्स द्वारा राष्ट्र के विकास एवं समाज में प्रगति लाने के लिए नई तकनीकें विकसित कर, उन्हें उपलब्ध कराने की एस्कॉर्ट्स की प्रतिबद्धता दर्शाता है। एस्कॉर्ट्स को Microsoft, Reliance Jio, Samvardhana Motherson Group, Bosch, Trimble, AVL, Tadano एवं WABCO के साथ साझेदारी करते हुए गर्व है, जिसके तहत हम साथ मिलकर स्वचालित कृषि प्रक्रियाओं एवं स्मार्ट मशीनों के लिए तकनीकों का निर्माण करेंगे।”

एस्क्लुसिव के बारे में:
एस्क्लुसिव एक वार्षिक इनोवेशन प्लेटफॉर्म है, जिसका आयोजन एस्कॉर्ट्स द्वारा प्रतिवर्ष 6 सितंबर को किया जाता है। इस मौके पर कंपनी द्वारा कृषि, कंस्ट्रक्शन एवं रेलवे क्षेत्रों में तकनीकी अविष्कारों की घोषणा की जाती है। इसकी शुरुआत 2017 में विश्व के पहले कॉम्पैक्ट इलेक्ट्रिक ट्रैक्टर को लॉन्च करते हुए की गई थी।

Tuesday, 28 August 2018

एस्कॉर्ट्स ने जापान के तदानो ग्रुप के साथ उच्च क्षमता मोबाइल क्रेन्स के लिए संयुक्त उपक्रम बनाया : निखिल नंदा

एस्कॉर्ट्स ने जापान के तदानो ग्रुप के साथ उच्च क्षमता मोबाइल क्रेन्स के लिए संयुक्त उपक्रम बनाया : निखिल नंदा

नई दिल्ली, 28 अगस्त, 2018: भारत के अग्रणी इंजीनियरिंग समूह एस्कॉर्ट्स लि. और जापान की सबसे बड़ी एवं विश्व की अग्रणी मोबाइल क्रेन निर्माता कंपनी तदानो ग्रुप ने आज अपने संयुक्त उपक्रम की घोषणा की। यह संयुक्त उपक्रम उबड़-खाबड़ इलाकों में काम करने वाली क्रेन्स तथा ट्रक माउंटेड क्रेन्स का निर्माण करेगा। इस साझेदारी द्वारा तकनीकी विशेषज्ञता के मामले में एस्कॉर्ट्स की शीर्ष स्थिति मज़बूत होगी और मैटेरियल हैंडलिंग इक्विपमेंट क्षेत्र में बाज़ार उपस्थिति भी बढ़ेगी। 

यह संयुक्त उपक्रम एस्कॉर्ट्स की किफायती भारतीय इंजीनियरिंग उत्कृष्टता और तदानो की विश्व में अग्रणी जापानी तकनीक का उपयोग करेगा। दोनों कंपनियां साथ मिलकर भारी क्षमता वाले कुशल ट्रक एवं आरटी क्रेन्स और 20 से 80 टन क्षमता की श्रेणी के अंतर्गत आधुनिक ट्रक माउंटेड क्रेन्स, उबड़-खाबड़ क्षेत्र में काम करने वाले क्रेन्स के बढ़ते बाज़ार पर ध्यान देंगे। तदानो और एस्कॉर्ट्स के बीच यह उपक्रम क्रमशः 51:49 अनुपात में होगा और दोनों साझेदारों को इस सेग्मेंट में अपनी वर्तमान एवं भविष्य की क्षमताओं को वैश्विक स्तर पर विकसित करने में मदद मिलेगी। इस साझेदारी का लक्ष्य, मध्यम से लंबी अवधि में उच्च क्षमता क्रेन सेग्मेंट में शीर्ष स्थान हासिल करना है। 

इस अवसर पर बोलते हुए निखिल नंदा, चेयरमैन एवं मैनेजिंग डायरेक्टर, एस्कॉर्ट्स लि. ने कहा, “एस्कॉर्ट्स का उद्देश्य हमेशा से दुनिया के श्रेष्ठतम उत्पादों को भारत लाना और भारत की सर्वश्रेष्ठ पेशकश को पूरी दुनिया में पहुंचाना रहा है। तदानो ग्रुप के साथ यह नया संयुक्त उपक्रम उच्च भार क्षमता के स्मार्ट, सुरक्षित एवं बड़े मेकैनाइज्ड इन्फ्रास्टकचर समाधानों की मांग पूरी करने हेतु उठाया गया कदम है। हमें पूरा विश्वास है कि यह भागीदारी हमें नए मार्केट सेग्मेंट्स के अवसरों को आजमाने का मौका देगी और कंस्ट्रक्शन इक्विपमेंट क्षेत्र में हमारे अग्रणी स्थान को मज़बूत बनाने में मदद करेगी।”

कोइची तदानो, प्रेसिडेंट एवं सीईओ, तदानो लि., जापान ने कहा, “एस्कॉर्ट्स ग्रुप के साथ भागादारी की घोषणा करते हुए हमें खुशी है। एस्कॉर्ट्स के पास एक मज़बूत तकनीकी विरासत और कंस्ट्रक्शन इक्विपमेंट मार्केट में एक विविधतापूर्ण पोर्टफोलियो है। वहीं, तदानो के पास एक प्रमाणित वैश्विक तकनीक है और एस्कॉर्ट्स के साथ मिलकर हम भारत तथा अन्य विकासशील अर्थव्यवस्थाओं की ज़रूरतें पूरी करेंगे, जिन्हें सुरक्षित, कुशल एवं उच्च गुणवत्ता उत्पाद और स्मार्ट कंस्ट्रक्शन तकनीकों की आवश्यकता है।”




संयुक्त उपक्रम के समझौते पर एस्कॉर्ट्स लि. के चेयरमेन एवं मैनेजिंग डायरेक्टर निखिल नंदा और तदानो लि., जापान के प्रेसिडेंट एवं सीईओ कोइची तदानो ने हस्ताक्षार किये। 

नए उपक्रम द्वारा वर्तमान वित्त वर्ष की तीसरी तिमाही से फरीदाबाद में उत्पादन शुरु किये जाने की उम्मीद है। इनकी उत्पाद पेशकश के लिए पहले से ऐसी बड़ी कंस्ट्रक्शन कंपनियां का मार्केट मौजूद है, जो तेल रिफाइनरी, मेट्रो रेल प्रोजेक्ट्स, स्मार्ट सिटी कंस्ट्रक्शन, सोलर पावर प्रोजेक्ट्स आदि को सेवाएं प्रदान करती हैं। 

एस्कॉर्ट्स लिमिटेड के बारे में संपादकों के लिए नोटः
एस्कॉर्ट्स समूह देश के अग्रणी इंजीनियरिंग समूहों में से एक है जो कि कृषि मशीनों, मैटेरियल हैंडलिंग, निर्माण उपकरणों, रेलवे उपकरण जैसे उच्च विकास क्षेत्रों में गतिविधियां संचालित करता है। समूह ने अपने उत्पादों और प्रक्रिया नवीनीकरण के द्वारा अपने संचालन के पिछले सात दशकों में 50 लाख ग्राहकों से भी अधिक का विश्वास जीता है। एस्कॉर्ट्स कृषि मशीनीकरण, रेलवे तकनीक के आधुनिकिकरण में क्रांति की अगुवाई करते हुए और भारतीय निर्माण क्षेत्र के स्वरूप के बदलाव में शामिल होकर ग्रामीण और शहरी भारत में रहने वाले लोगों के जीवन में परिवर्तन लाने के लिए प्रयत्नशील है।

तदानो लिमिटेड के बारे में संपादकों के लिए नोटः
तदानो लिमिटेड की स्थापना 1948 में हुई थी। इस कंपनी ने जापान में अपने प्रथम हाइड्रॉलिक क्रेन के निर्माण के बाद से ही लिफ्टिंग इक्विपमेंट इंडस्ट्री में एक प्रमुख भूमिका निभाई है। इस ग्रुप ने अपने जापानी बाज़ार सहित दुनिया भर के बाज़ारों में शानदार प्रतिष्ठा हासिल की है, जिसके लिए सुरक्षा, गुणवत्ता और कुशलता को मूल सिद्धांतों के रूप में अपनाया है। तदानो ने 1960 में उत्पादों का निर्यात करना शुरु किया और 1973 में अपनी पहली अंतरराष्ट्रीय सब्सिडियरी का निर्माण किया। तब से लेकर आज तक तदानो ने अपने अंतराष्ट्रीय व्यवसाय को आगे बढ़ाते हुए हाइड्रॉलिक क्रेन के अंतराष्ट्रीय बाज़ार में अपने लिए एक मज़बूत स्थिति बनाई है। अब तदानो का नया विकास लक्ष्य है - अपने कारोबार का आकार बढ़ाते हुए पूरे विश्व में लिफ्टिंग इक्विपमेंट का नंबर 1 निर्माता बनना। इस क्षेत्र में क्रेन्स के अलावा मशीनरी एवं इक्विपमेंट की कई वैरायटी शामिल है, जो ऊंचाई वाले कार्यों के लिए गुरुत्वाकर्षण प्रतिरोधक और गतिशील प्रक्रिया के अनुकूल हैं।  

Tuesday, 24 July 2018

Hyundai Motor India Signs MoU with Automotive Skills Development Council (ASDC)

Hyundai Motor India Signs MoU with Automotive Skills Development Council (ASDC)

New Delhi, 24 July 2018: Hyundai Motor India Limited, the second largest manufacturer of passenger cars and the largest exporter since inception signed a MoU with Automotive Skills Development Council (ASDC) to conduct training & create job opportunities for unskilled manpower above 18 years of age and having qualification of 8th grade and above.  
Under this agreement, the training program will be conducted at six Hyundai dealerships associated with Hyundai’s World-Class Technical Training Academy-HTTA across India. After the successful completion of the program, the students will also be offered an opportunity to work in Hyundai workshops for aftersales jobs such as Service Support Technician and Washer.  
Commenting on the association with ASDC, Mr. S J Ha, Director- Sales & Marketing, Hyundai Motor India Ltd. said, “We are proud to sign this MoU with Automotive Skills Development Council – A first in Industry initiative by an automobile manufacturer in India for aftersales operations. As a responsible and caring brand, Hyundai is aligned and committed to the Government’s Skill India initiative. We work with ITI’s and Polytechnic institutes in every state where we absorb close to 99 percent students in different entities in the Hyundai India ecosystem. This MoU will further boost our commitment towards skilling and employing the youth of India.”

Speaking at the occasion, Mr. Nikunj Sanghi, President, Automotive Skills Development Council (ASDC) said, We are happy to partner with Hyundai Motor India in this Skill Development initiative. This association is a benchmark in the industry and aims at strengthening the Government of India’s vision of Skill India in employment generation.”

Trainees will be given an option to choose from different automotive training courses designed by ASDC like Automotive Service Technician and Washer Training. The ASDC training will be provided at subsidized fees to the young and unskilled population which will empower them to take up the After Sales Operational roles at Hyundai dealerships across India. 

                                                                        

About HMIL
                                                                                                                           
Hyundai Motor India Limited (HMIL) is a wholly owned subsidiary of Hyundai Motor Company (HMC). HMIL is the second largest car manufacturer and the number one car exporter since inception in India. It currently has nine car models across segments – EON, GRAND i10, ELITE i20, ACTIVE i20, XCENT, VERNA, ELANTRA, CRETA and TUCSON. HMIL’s fully integrated state-of-the-art manufacturing plant near Chennai boasts advanced production, quality and testing capabilities.

HMIL forms a critical part of HMC’s global export hub. It currently exports to around 88 countries across Africa, Middle East, Latin America, Australia and Asia Pacific. To support its growth and expansion plans, HMIL currently has 495 dealers and more than 1,309 service points across India. In its commitment to provide customers with cutting-edge global technology, Hyundai has a modern multi-million dollar R&D facility in Hyderabad. The R&D centre endeavors to be a center of excellence in automobile engineering.

Sunday, 15 July 2018

ओला ओर हरियाणा सरकार के बीच MOU साइन ,35000 युवाओ को दी जाएगी ट्रेनिंग

ओला ओर हरियाणा सरकार के बीच MOU साइन ,35000 युवाओ को दी जाएगी ट्रेनिंग

हरियाणा, 15 जुलाई 2018: हरियाणा सरकार के नियोजन विभाग और भारत के अग्रणी तथा विश्व के सबसे बड़े राइड-शेयरिंग कंपनियों में शुमार ओला के बीच आज एक समझौता ज्ञापन (एमओयू) हुआ है। इस एमओयू का उद्देश्य राज्य में 35,000 उद्यमिता अवसरों का सृजन करना है। एमओयू को माननीय मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर की सक्षम हरियाणा पहल के हिस्से, ‘सक्षम सारथी’ के शुभारंभ पर निष्पादित किया गया। ‘सक्षम हरियाणा’ को पिछले साल की शुरुआत में विभिन्न कौशल विकास पहलकदमियों के द्वारा राज्य के युवाओं को सशक्त बनाने के लिए राज्य सरकार द्वारा आरंभ किया गया था।

उद्योग, वाणिज्य, पर्यावरण एवं औद्योगिक प्रशिक्षण मंत्री श्री विपुल गोयल की उपस्थिति में ओला के निदेशक प्रणव मेहता तथा हरियाणा सरकार के श्रम एवं नियोजन राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री नायब सैनी ने एमओयू को स्वीकार किए। यह एमओयू राज्य के युवाओं के लिए 2 लाख नौकरियों के सृजन के लिए राज्य सरकार के प्रयासों को बल देने के प्रति ओला की वचनबद्धता का प्रमाण है।


ष्सक्षम हरियाणाष् की योजना माननीय मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने राज्य में युवाओं के लिए कौशल और रोजगार के अवसर प्रदान करने के लिए शुरू की थी। विश्व युवा कौशल दिवस के अवसर पर शुरू किया गयाए श्सक्षम सार्थीश् माननीय प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में कौशल भारत मिशन की तीसरी सालगिरह का भी जश्न मनाता है।

श्री नायब सैनी, श्रम एवं नियोजन, खान एवं भूतत्व राज्य मंत्री, हरियाणा सरकार ने कहा कि, ”सरकार ने सरकारी तथा निजी क्षेत्र में नौकरियों और स्वरोजगार के माध्यम से राज्य में दो लाख युवाओं को रोजगार मुहैया कराने का लक्ष्य निर्धारित किया है। कौशल विकास पेशेवर विकास की कुंजी है और इस तरह हम विभिन्न संगठनों तथा ओला जैसी कंपनियों के साथ मिलकर काम करेंगे ताकि मौजूदा प्रशिक्षण संरचनाओं को आवश्यकतानुसार संशोधित एवं उन्नत किया जा सके। ‘सक्षम सारथी’ के सहारे सरकार को राज्य में युवाओं की अप्रयुक्त सामथ्र्य का इस्तेमाल करने और उद्यमिता की राह पर उनकी सहायता करने में आसानी होगी।“

श्री विपुल गोयल, कौशल विकास एवं औद्योगिक प्रशिक्षण, उद्योग एवं वाणिज्य तथा पर्यावरण मंत्री, हरियाण सरकार ने कहा कि, ”भारत के सबसे बड़े औद्योगिक धुरियों में एक होने के नाते हरियाणा काफी तेजी से विकास कर रहा है। हमारे युवाओं के सामने भरपूर अवसर मौजूद हैं और सही कुशलताओं के सहारे संवहनीय एवं सम्मानजनक जीवन-यापन सुनिश्चित किया जा सकता है। हमें अपने माननीय मुख्यमंत्री के नेतृत्व 2 लाख रोजगार के अवसरों का लक्ष्य हासिल करने का पूरा विश्वास है। हम सरकार की दृष्टि और मिशन में सहयोग करने के लिए ओला के कदम की सराहना करते हैं।“

प्रणव मेहता, निदेशक, ओला ने कहा कि, ”ओला की हमारी टीम अपनी सेवाओं के परिचालन वाले सभी राज्यों में एक अंतर पैदा करने को लेकर प्रतिबद्ध है। हरियाणा हमारे लिए एक प्रमुख बाजार है। हरियाणा के गुरुग्राम, फरीदाबाद और पंचकुला आदि जैसे शहरों का हमारे विकास में महत्वपूर्ण योगदान है। इस राज्य में कारोबार करने की सहजता और ‘सक्षम हरियाणा’ जैसी प्रगतिशील पहलकदमियों के समर्थन को देखते हुए हमें हरियाणा सरकार के साथ काम करने में गर्व का अनुभव हो रहा है। असल में, इस तरह के सभी प्रयासों का राज्य के सकल विकास में बड़ा योगदान होता है और इस प्रक्रिया में युवाओं के लिए हजारों की संख्या में उद्यमशील अवसर भी पैदा होते हैं।“

हरियाणा में ओला
हरियाणा के पाँच शहरों - गुरुग्राम, फरीदाबाद, पंचकुला, अम्बाला और कुरुक्षेत्र - में ओला का परिचालन हो रहा है जहाँ यह लोगों को माइक्रो, मिनी, शेयर, प्राइम सेडान, प्राइम प्ले, प्राइम एसयूवी, प्राइम एग्जिक, आॅटो, बाइक, रेंटल और शहर के बाहर जैसे विभिन्न वर्गों में अपनी सेवा मुहैया करता है। ओला से जुड़े ड्राइवर पार्टनर्स को ओला प्लैटफाॅर्म का इस्तेमाल करने वाले ग्राहकों के बड़े पूल के अलावा यात्रा बीमा, 247 सपोर्ट सेंटर, ओला पार्टनर वल्र्ड की सुविधाएँ, कैशलेस ट्रांजैक्शन की सुविधा, नियमित स्वास्थ्य जाँच, कंप्युटर का प्रशिक्षण जैसी सुविधाएँ प्राप्त हैं।

ओला के विषय में:
2011 में भाविश अग्रवाल और अंकित भाटी द्वारा स्थापित ओला दुनिया की सबसे बड़ी राइड- शेयरिंग कंपनियों में से एक है। ओला ग्राहकों और ड्राइवर पार्टनर्स के लिए शहरी परिवहन को एक मोबाइल टेक्नोलॉजी प्लेटफॉर्म पर एकीकृत करता है। यह सुविधाजनक, पारदर्शी और त्वरित सेवा पूर्ति सुनिश्चित करता है। ओला ने सर्वश्रेष्ठ तकनीक का लाभ उठाने और इनोवेटिव साल्युशन ग्राउंड-अप का निर्माण करने पर ध्यान केन्द्रित किया है, जो वैश्विक स्तर पर अमल करने योग्य हैं। वर्ष 2016 में राइड-शेयरिंग के लिये दुनिया के पहले कनेक्टेड कार प्लेटफाॅर्म ओला प्ले को लाॅन्च किया गया था। इसके माध्यम से यातायात के अनुभवों को परिवर्तित किया जा रहा है और इस क्षेत्र में वैश्विक नवाचार के लिये एक परिवेश बनाया जा रहा है। ओला मोबाइल एप का उपयोग करते हुए, 110 से अधिक शहरों के उपयोगकर्ता 1ए000ए000 से अधिक कैब, ऑटो रिक्शा और टैक्सियों में से गाड़ी बुक कर सकते हैं। हाइपरलोकल दृष्टिकोण द्वारा अभिप्रेरित ओला एक अरब लोगों के लिये गतिशीलता का निर्माण करने के अपने मिशन को लेकर प्रतिबद्ध है।

Saturday, 14 July 2018

 अमृत कोचर बने इंडस्ट्रियल एसोसिएशन के महासचिव

अमृत कोचर बने इंडस्ट्रियल एसोसिएशन के महासचिव

फरीदाबाद, 15 जुलाई।  इंडस्ट्रियल एसोसिएशन कृष्णा नगर फरीदाबाद की श्री केसी गांधी की अध्यक्षता में मीटिंग हुई जिसमें नई टीम का गठन किया गया यह टीम 2 वर्ष तक अपना कार्यकाल 2018 से 2020 तक करेगी यह टीम सर्व सम्मति से गठन की गई है टीम के चेयरमैन श्री जीतराम फोगाट सीनियर वाइस चेयरमैन बाबूराम यादव वाइस चेयरमैन एस एन शर्मा ने इस नई टीम को बधाई दी इंडस्ट्री के मेंबर्स की शिकायतें समय पर दूर करने की उम्मीद जताई । 

इस मौके पर नवनिर्वाचित प्रधान रमेश शर्मा महासचिव अमृत कोचर व मुकेश सलाहकार राजीव नैन गुप्ता ने टीम के सभी मेंबरों को साथ लेकर काम करने की कीर्तन संकल्प किया 

इस मौके पर सीनियर उप प्रधान देवेंद्र गोयल कोषाध्यक्ष सुधांशु सिंह उपप्रधान कैलाश चंद गांधी 
नाकिन सचदेवा ,सरस गोयल संगठन सचिव सुनील छाबड़ा एक्टिव मेंबर कपिल अग्रवाल महेंद्र भारद्वाज दीपक रोहिल्ला गोविंद शर्मा वेद प्रकाश शर्मा धर्मवीर सिंह संजय यादव राजेश महाजन रजनीश अनिल गुप्ता राजू कुमार सैनी मौजूद रहे।

Friday, 29 June 2018

मानव रचना एजुकेशनल इंस्टीट्यूट में दो दिवसीय रोजगार मेले में 1800 युवाओं को मिली नौकरी

मानव रचना एजुकेशनल इंस्टीट्यूट में दो दिवसीय रोजगार मेले में 1800 युवाओं को मिली नौकरी

फरीदाबाद 29 जून।  फरीदाबाद में  किसी रोजगार मेले में पहली बार  इतनी बड़ी संख्या में युवाओं को नौकरी मिली है और हरियाणा भर में  इसी तरह रोजगार मेले आयोजित होते रहेंगे। ये दावा  उद्योग मंत्री विपुल गोयल ने  मानव रचना एजुकेशनल इंस्टीट्यूट  में  दो दिवसीय रोजगार मेले के समापन पर किया  जिसका आयोजन राष्ट्रीय कौशल विकास निगम और हरियाणा सरकार के द्वारा किया गया। इस रोजगार मेले में  4000  युवाओं ने  नौकरी के लिए आवेदन किया और इंटरव्यू दिए  जिनमें से  1800 युवाओं को नौकरी मिली है । इस रोजगार मेले में  18 क्षेत्रों की  100 से ज्यादा  कंपनियों ने शिरकत की  और  युवाओं को  10,000 से लेकर  30,000  वेतन  की नौकरी दी गई। 

रोजगार मेले में जेबीएम, विप्रो ,पीवीआर, एक्सिस बैंक, बजाज कैपिटल, कार्वे , मुथूट ग्रुप , किंगडम ऑफ ड्रीम्स, एजिस जैसी बड़ी कंपनियों ने युवाओं की बड़े स्तर पर भर्ती की। युवाओं को जॉब लेटर देने के साथ-साथ  उद्योग मंत्री विपुल गोयल ने बड़ी संख्या में  युवाओं को रोजगार देने वाले  औद्योगिक संस्थानों के प्रतिनिधियों को भी सम्मानित किया । इस मौके पर हरियाणा के उद्योग मंत्री विपुल गोयल ने कहा कि राष्ट्रीय कौशल विकास निगम और हरियाणा सरकार के संयुक्त प्रयास से भिवानी हिसार गुड़गांव और हरियाणा के अन्य शहरों में भी नियमित अंतराल पर रोजगार मेले आयोजित किए जाएंगे। उन्होंने कहा कि युवाओं को स्किल्ड करने के साथ-साथ उनके लिए देशभर में रोजगार के समान अवसर पर पैदा करना बीजेपी  सरकार की प्राथमिकता है और उनका प्रयास रहेगा की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के इस मिशन में हरियाणा सबसे आगे हो । उन्होंने नौकरी पाने वाले युवाओं को शुभकामनाएं दी और जिन युवाओं का चयन नहीं हो पाया उनके लिए ट्रेनिंग देने के साथ-साथ भविष्य में रोजगार मेलों में आमंत्रित करने का भी आश्वासन दिया। विपुल गोयल ने इस रोजगार मेले में युवाओं को नौकरी देने वाले सभी औद्योगिक संस्थानों के प्रतिनिधियों को सम्मानित भी किया। उन्होंने कहा की उद्योगों को अनुकूल माहौल देने के साथ-साथ हरियाणा सरकार कुशल कर्मचारी देने के लिए भी प्रतिबद्ध  है । 

विपुल गोयल ने कहा  की ईज ऑफ डूइंग बिजनेस में हरियाणा नंबर एक है और जल्द ही स्किल इंडिया और  युवाओं को रोजगार देने में भी  हरियाणा प्रथम स्थान पर होगा । विपुल गोयल ने कहा  की  हरियाणा सरकार ने रोजगार मेलों के माध्यम से 50000 से ज्यादा युवाओं को नौकरी दी है  और आगे भी यह सिलसिला जारी रहेगा । इस मौके पर नौकरी पाने वाले युवा बेहद खुश दिखाई दिए फरीदाबाद और पलवल के साथ-साथ गुडगांव और करनाल जैसे शहरों कि युवा भी इस रोजगार मेले में पहुंचे और नौकरी प्राप्त की। इस मौके पर मानव रचना एजुकेशनल इंस्टीट्यूट के वाइस प्रेसिडेंट अमित भल्ला, राष्ट्रीय कौशल विकास निगम के वरिष्ठ अधिकारी मयंक भटनागर, बीजेपी के जिला सचिव विजेंद्र नेहरा, अमन गोयल और सचिन ठाकुर सहित कई गणमान्य व्यक्ति मौजूद रहे।

Thursday, 28 June 2018

उद्योग मंत्री विपुल गोयल ने किया दो दिवसीय रोजगार मेले का उद्घाटन

उद्योग मंत्री विपुल गोयल ने किया दो दिवसीय रोजगार मेले का उद्घाटन

फरीदाबाद 28 जून।  किसी भी सरकार ने  पहली बार  फरीदाबाद में  इतने बड़े रोजगार मेले का आयोजन किया है और हमारा मकसद कंपनियों और युवाओं के बीच का माध्यम बन कर रोजगार को जरूरतमंदों के द्वार पर लाना है। यह विचार उद्योग मंत्री विपुल गोयल ने मानव रचना एजुकेशनल इंस्टिट्यूट में दो दिवसीय रोजगार मेले का उद्घाटन करने के बाद व्यक्त किए । रोजगार मेले के पहले दिन  1000  से ज्यादा युवाओं ने  रजिस्ट्रेशन करवाया और इंटरव्यू दिए । इस रोजगार मेले में  100 से ज्यादा कंपनियां शिरकत कर रही हैं । उद्योग मंत्री विपुल गोयल ने बताया की सभी शैक्षणिक योग्यता के अनुसार 14500  वैकेंसी यहां उपलब्ध हैं। उन्होंने कहा कि अपनी योग्यता अनुसार हर उम्मीदवार तीन कंपनियां इंटरव्यू के लिए चुन सकता है । विपुल गोयल ने रोजगार मेले में रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया का भी मुआयना किया । साथ ही उन्होंने इंटरव्यू करने आए विभिन्न कंपनियों के प्रतिनिधियों से भी मुलाकात की। विपुल गोयल ने कहा कि रोजगार मेले के समापन के अवसर पर 100 से ज्यादा  नौकरी देने वाले औद्योगिक संस्थानों को सम्मानित भी किया जाएगा । 

उन्होंने कहा  कि इस तरह के रोजगार मेले युवाओं के लिए  रोजगार के अवसर पैदा करते हैं  तो साथ ही सरकार की प्रतिबद्धता को भी दर्शाते हैं  कि हमें युवाओं का हुनर  तराशने के साथ उन्हें नौकरी के अवसर भी प्रदान करना है ।उन्होंने कहा कि स्किल डेवलेपमेंट और मॉडर्न आईटीआई के जरिए हरियाणा में युवाओं की ऐसी पौध तैयार की जाएगी जिससे कंपनियां खुद कैंपस सिलेक्शन के लिए सामने आएंगी और रोजगार सृजन में हरियाणा सबसे आगे होगा। उन्होने कहा कि स्किल डेवलेपमेंट के साथ मॉडर्न आईटीआई के जरिए युवाओं के लिए रोजगार के अवसर पैदा किए जा रहे हैं। उन्होने कहा कि फरीदाबाद सही मायनों में स्मार्ट सिटी तभी बन पाएगा जब युवाओं के पास रोजगार होगा। उन्होने कहा कि कम पढ़े लिखे युवाओं के लिए ड्राइवर स्किल प्रोग्राम भी शुरू किया गया है। साथ ही उन्होने कहा कि केंद्र सरकार के कौशल विकास मंत्रालय के साथ मिलकर हरियाणा में आगे भी रोजगार सृजन के लिए नए कोर्स शुरू किए जाएंगे। उन्होने युवाओं को शुभकामनाएं देते हुए कहा कि कागजी काबिलियत से ज्यादा प्रतिस्पर्धा के दौर में काम बोलता है। 

उन्होने कहा कि हरियाणा जल्द ही स्किल डेवलेपमेंट में नंबर एक पायदान पर होगा। इस मौके पर मानव रचना  एजुकेशनल इंस्टीट्यूट  के वाइस प्रेसिडेंट  अमित भल्ला ने कहा  कि उनके संस्थान के लिए यह गर्व का विषय है  कि उद्योग मंत्री विपुल गोयल के दिशा निर्देशन में फरीदाबाद में पहली बार इतने विशाल रोजगार मेले का आयोजन उनके संस्थान में हुआ है । इस रोजगार मेले में 10वीं, 12वीं ,आईटीआई, डिप्लोमा होल्डर, ग्रेजुएट, पोस्ट ग्रेजुएट, बी टेक सहित सभी युवाओं के लिए नौकरी पाने का अवसर है और शुक्रवार को हजारों की तादात में युवाओं के रोजगार मेला में पहुंचने की उम्मीद है। साथ ही जेबीएम, विप्रो ,पीवीआर, एक्सिस बैंक, बजाज कैपिटल, कार्वे , मुथूट ग्रुप , किंगडम ऑफ ड्रीम्स, एजिस जैसी बड़ी कंपनियों में भी नौकरियां उपलब्ध हैं । इस मौके पर पार्षद नरेश नंबरदार , संजय बत्रा, सुरजीत अधाना, एन के गर्ग, विजय शर्मा और माहेश्वरी सहित अनेक गणमान्य व्यक्ति मौजूद रहे।

Saturday, 16 June 2018

वर्तमान परिवेश के अनुरूप अपनी तकनीक संबंधी क्षमता को बढ़ाना होगा : चेयरमैन राजीव चावला

वर्तमान परिवेश के अनुरूप अपनी तकनीक संबंधी क्षमता को बढ़ाना होगा : चेयरमैन राजीव चावला

फरीदाबाद : 16  जून I आईएमएसएमई आफ इंडिया के चेयरमैन श्री राजीव चावला ने कहा है कि एमएसएमई सैक्टर को वर्तमान परिवेश के अनुरूप अपनी तकनीक संबंधी क्षमता को बढ़ाना होगा और ऐसा कर ही एमएसएमई सैक्टर भारतीय अर्थव्यवस्था में अपनी महत्ता को और बढ़ा सकता है। 

श्री चावला ने कहा कि हमें अपनी तकनीक में निरंतर सुधार व अपग्रेडेशन पर फोकस केंद्रित करना चाहिए और उन मानकों को अपनाना चाहिए जो हमें अंतर्राष्ट्रीय स्तर की स्पर्धा में आगे बढऩे में सहायक हैं।

यहां आईएमएसएमई आफ इंडिया द्वारा आयोजित आंत्रेप्यूनर्स ईवनिंग में उपस्थित उद्योग प्रबंधकों को संबोधित करते हुए श्री चावला ने कहा कि तकनीकी जानकारी के साथ-साथ एमएसएमई उद्योग प्रबंधकों को तकनीक का समावेश अपनी कार्यप्रणाली में लाना होगा। आपने कहा कि यह इसलिए भी जरूरी है क्योंकि आने वाले समय में वही उद्योग और प्र्रगति कर सकते हैं जो नई तकनीक के अनुरूप कार्य करेंगे।

आईएमएसएमई आफ इंडिया द्वारा इस संबंध में जारी विभिन्न प्रोजैक्टों की जानकारी देते हुए श्री चावला ने कहा कि मिशन फाईव एस, मिशन १००, गैप्स इत्यादि ऐसे प्रोजैक्ट हैं जो एमएसएमई सैक्टर्स के लिये आरंभ किये गये हैं और इनके प्रति आंत्रेप्यूनर्स का रूझान स्पष्ट करता है कि तकनीकी जानकारी के लिये उद्यमी भी उत्सुक हैं।

कार्यक्रम में जीएसटी पर आयोजित एक विशेष कार्यक्रम व्हाट्स नैक्स्ट का आयोजन भी किया गया जिसमें जीएसटी से संबंधित कई तथ्यों की जानकारी दी गई।

टैक्नोलॉजी सैशन में उद्योग प्रबंधकों को बताया गया कि किस प्रकार तकनीक व उत्पादकता में परस्पर सामंजस्य है। उत्पादकता में होने वाली क्षति को तकनीक से कैसा रोका जा सकता है इस सैशन में जानकारी दी गई। 
क्लोजिंग सैरॉमनी में वेयरटैक्स एलोय के श्री आशीष कालरा को सर्वाधिक सदस्यता, वमानी ओवरसीज प्रा0 लि0 को मई २००८ में डीजल सर्विस द्वारा हाईएस्ट सेविंग के लिये सम्मानित किया गया। 

श्री चावला ने बताया कि १७ जून को आस्ट्रोलॉजी पर एक विशेष कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा जबकि १८ जून को एमएसएमई मंत्रालय भारत सरकार का प्रतिनिधिमंडल आईएमएसएमई आफ इंडिया हैबिटेट सैंटर और उद्योगों में विजिट करेगा। 

आयोजन में २०० से अधिक एमएसएमई ईकाईयों के प्रतिनिधियों की उपस्थिति उल्लेखनीय रही। 

Wednesday, 13 June 2018

उद्योगपति राजीव चावला के घर पर पहुचे केंद्रीय मंत्री वीरेंद्र सिंह

उद्योगपति राजीव चावला के घर पर पहुचे केंद्रीय मंत्री वीरेंद्र सिंह

फरीदाबाद : 13 मार्च I फरीदाबाद : 13 मार्च I केंद्रीय इस्पात मंत्री चौधरी बीरेंद्र सिंह बुधवार को उद्योगपति राजीव चावला के घर पहुंचे व उनके परिवार के मुलाक़ात की । वहाँ उन्होंने राजीव चावला से अपनी इस मुलाकात के दौरान बीजेपी सरकार की 4 साल की उपलब्धियों के बारे में विस्तार से बताया । 

राजीव चावला से अपनी इस मुलाक़ात के दौरान श्री बीरेंद्र सिंह ने कहा कि मोदी जी के नेत्र में बीजेपी ने विकास के साथ-साथ देश के ट्रांसफॉर्मेशन का भी बड़ा काम किया है । उन्होंने कहा कि मैं अपने राजनीतिक अनुभव के आधार पर कह सकता हूं आज जो बदलाव हो रहे हैं उनके परिणाम बेशक आज नजर ना आए लेकिन आने वाले सालों में देश में आमूलचूल परिवर्तन होगा।
केंद्रीय मंत्री चौधरी बीरेंद्र सिंह ने साफ नियत सही विकास नामक पुस्तिका उद्योगपति राजीव चावला को  भेंट की और उन्होंने राजीव चावला से अपील की कि सरकार की इन उपलब्धियों के भारत के हर कोने में माइक्रो स्मॉल एवं मीडीयम एंटर्प्रायज़ेज़ और उद्यमियों तक पहुँचाएँ ।

Sunday, 10 June 2018

एमएसएमई सैक्टर को अर्थव्यवस्था में सबसे बड़ा भागीदार : राजीव चावला

एमएसएमई सैक्टर को अर्थव्यवस्था में सबसे बड़ा भागीदार : राजीव चावला

फरीदाबाद : 10  जून 2018 । एमएसएमई सैक्टर को अर्थव्यवस्था में सबसे बड़ा भागीदार माना जा रहा है वहीं इस सैक्टर के समक्ष चुनौतियां भी बढ़ी हैं जिनका समाधान परस्पर एकजुटता, जागरूकता तथा उचित प्रशिक्षण से ही संभव है।

गुडग़ांव में आईएमएसएमई आफ इंडिया द्वारा आयोजित आंत्रेप्यूनर्स ईवनिंग में यह विचार व्यक्त करते हुए आईएमएसएमई आफ इंडिया के चेयरमैन श्री राजीव चावला ने कहा कि आवश्यकता इस बात की है कि एसएमई सैक्टर के लिये जो योजनाएं सरकार द्वारा बनाई गई हैं उन्हें क्रियान्वित करने की दिशा में जागरूकता का संचार किया जाए और इसके साथ-साथ ऐसा माहौल बनाया जाए जहां संबंधित शंकाओं का समाधान हो सके और एसएमई सैक्टर के विकास की राह प्रशस्त हो सके। 

श्री चावला ने विभिन्न कार्यक्रमों, योजनाओं व लाभ की जानकारी देते बताया कि एसएमई सैक्टर के लिये कई योजनाएं बनाई गई हैं जिनका लाभ उठाकर यह क्षेत्र प्रगति के पथ पर अग्रसर हो सकता है।

कार्यक्रम में बड़ी संख्या में उपस्थित उद्यमियों का स्वागत करते श्री चावला ने कहा कि यह हर्ष का विषय है कि नये परिवेश के अनुरूप योजनाओं के संबंध में जानकारी लेने की इच्छा उद्योग प्रबंधकों में है जिसका प्रत्यक्ष प्रमाण इस आयोजन भारी उपस्थिति है। 

कार्यक्रम में इंटल द्वारा आयोजित सोल्यूशन फार स्माल बिजनेस भी विशेष आकर्षण का केंद्र बना रहा। इस सैशन में इंटल ने विश्व के सबसे छोटे व तेज चलने वाले पीसी का प्रदर्शन किया जो टिफिन बाक्स से लेकर विजटिंग कार्ड बाक्स तक के थे। यही नहीं इन पीसी में एडवांस प्रोसैसर, मैमोरी, स्पीड और सेफटी के साथ ओरिजनल विंडो मुख्य फीचर्स थे। 

कार्यक्रम में चार्टर्ड अकाउंटेंट प्रवीण अग्रवाल द्वारा जीएसटी:व्हाट नैकस्ट विषय पर दी गई जानकारी को भी उपस्थितजनों ने सराहा। विजि सोल्यूशन के विजि साफटवेयर का प्रदर्शन भी उपस्थितजनों के लिये उत्सकुता का केंद्र बना रहा। 

कार्यक्रम मेें प्रश्रोत्तरी का भी आयोजन किया गया जिसमें उपस्थितजनों ने विशेषज्ञों से कई प्रश्र किये और अपनी शंकाओं का समाधान किया। 

Saturday, 9 June 2018

 दिल्ली में एम् . ए . ऍफ़ का प्रतिनिधि मंडल ताइवान के उद्योगपतियों से मिला

दिल्ली में एम् . ए . ऍफ़ का प्रतिनिधि मंडल ताइवान के उद्योगपतियों से मिला



फरीदाबाद : 9 जून 2018 ,   मशीनरी उपभोगताओ व निमार्ताओं के बिज़नेस सेमिनार का आयोजन ,   होटल ली  - मेरीडियन, नई दिल्ली,   में किया गया  इसकी अध्यक्षता ताइवान से आये  Taiwan ambessdor श्री चंग क्वांग टिएन ने की थी उनके साथ  उद्योगपतियो का एक  प्रतिनिधिमंडल ताइवान से आया था  एवं  पच्चीस उद्योगपतियों   की टीम मनुफक्चरर्स एसोसिएशन फरीदाबाद ने  भाग लिया।

श्री रमणीक प्रभाकर , महासचिव एम् . ए . ऍफ़, ने सम्बोधित करते हुए कहा की ये बहुत अच्छा आदान -प्रदान हुआ है दो देशो के बीच के उद्योगपतियो का   अतिथि देश से आये हुए प्रतिनिधिमंडल  से व्यापर को आगे और नई तकनीक द्वारा आगे बढ़ाने के लिए सकारत्मक विषयो पर  चर्चा की उन्होंने उनके इन्वितिओं को स्वीकार किया व् कहा बहुत जल्द मनुफक्चरर्स  एसोसिएशन फरीदाबाद का उद्योगपतियो प्रनिधिमंडल ताइवान लेकर जाएगा एवं श्री मुकेश कालरा , जॉइंट सेक्रेटरी ऑफ़ FISME ,का धन्यवाद् दिया   I

रमणीक प्रभाकर, महासचिव , एम् . ए . ऍफ़,नरेश वर्मा , पूर्व प्रधान ,एम् . ए . ऍफ़  तेजीश प्रभाकर,  , प्रदीप चोयल , जगदीश शर्मा , विष्णुदत्त , संदीप शर्मा , मोहन मुकुट , प्रवीण कुमार, के बी सचदेवा ,विनोद गर्ग  इत्यादि जाने माने उद्योगपति सम्लित हुए 


Wednesday, 2 May 2018

रमणीक प्रभाकर को "कर्म श्री अवार्ड" अन्तर्राष्ट्रीय समरसता मंच एवं इन्डो-नेपाल समरसता ऑर्गेनाइजेशन ने किया सम्मानित

रमणीक प्रभाकर को "कर्म श्री अवार्ड" अन्तर्राष्ट्रीय समरसता मंच एवं इन्डो-नेपाल समरसता ऑर्गेनाइजेशन ने किया सम्मानित

फरीदाबाद : 1 मई I अन्तर्राष्ट्रीय समरसता मंच एवं इन्डो-नेपाल समरसता ऑर्गेनाइजेशन के संयुक्त तत्वाधान में आयोजित, अन्तर्राष्ट्रीय सांस्कृतिक सम्मलेन एवं रात्रिभोज कार्यक्रम "सांस्कृतिक विविधिता में एकता" विषय पर चर्चा करते हुए नेपाल सरकार के प्रथम उपराष्ट्रपति महोदय एवं विभिन्न राष्ट्रों के प्रतिनिधियों के संग द इंडियन सोसाइटी ऑफ़ इंटरनेशनल लॉ, नई दिल्ली  में 1 मई 2018 (श्रमिक दिवस) को कार्यक्रम का आयोजन किया गया |

कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य भारत परिपेक्ष्य में "समरसता मिशन" | भारत - नेपाल की वैदिक कालीन का पुर्नउत्थान हो,  भारत पुनः वैदिक कालीन जगतगुरु के आसान पर पद स्थापित हो एवं 8वा सबसे ताकतवर भारत को सुरक्षा परिषद् में वीटो पावर के साथ स्थाई सदस्यता प्राप्त हो |

संरक्षक न्यायमूर्ति श्री परमानद झा जी प्रथम उपराष्ट्रपति नेपाल सरकार, श्री मुरली मनोहर जोशी जी पूर्व मंत्री भारत सरकार, महावीर प्रसाद टोरडी अन्तर्राष्ट्रीय संयोजक व् श्री कुलदीप शर्मा जी एडवोकेट ने रमणीक प्रभाकर महासचिव मैन्युफेक्चरर्स एसोसिएशन फरीदाबाद को "कर्म श्री अवार्ड" से सम्मानित किया |

श्री मुरली मनोहर जोशी जी पूर्व मंत्री भारत सरकार ने अपने वक्तव्य में रमणीक प्रभाकर की सरहाना करते हुए कहा कि विश्व की सांस्कृतिक एवं सामाजिक व्यवस्था का भारतीय सांस्कृतिक एवं सामाजिक हेतु अन्तर्राष्ट्रीय सांस्कृतिक समन्वय संगोष्टी में भारत नेपाल के बहुआयामी सम्बन्धो, मानवीय प्रेम एवं एकता के प्रतीक आपकी सेवाओं का मूल्यांकन करते हुए आपके द्वारा जो सेवा एवं सहयोग प्रदान किया गया वह प्रशंसनीय है | हम आपकी राष्ट्रीय सेवा भावना का आदर करते है और मंच उज्जवल भविष्य की कामना करते है |

कार्यक्रम में उपस्थित संरक्षक न्यायमूर्ति श्री परमानद झा जी प्रथम उपराष्ट्रपति नेपाल सरकार, मुख्य अतिथि श्री मुरली मनोहर जोशी जी पूर्व मंत्री महोदय भारत सरकार नई दिल्ली, डा. जी. वी. कृष्णामूर्ति पूर्व चुनाव आयुक्त भारत सरकार नई दिल्ली, श्री महावीर प्रसाद टोरडी जी अन्तर्राष्ट्रीय संयोजक, श्री कुलदीप शर्मा जी एडवोकेट व् अनेक गणमान्य, प्रतिनिधियों ने हिस्सा लिया |

Monday, 26 February 2018

   इंडस्ट्रियल एरिया वेलफेयर एसोसिएशन द्वारा  सब- डिवीज़न पर सफलता :रमणीक प्रभाकर

इंडस्ट्रियल एरिया वेलफेयर एसोसिएशन द्वारा सब- डिवीज़न पर सफलता :रमणीक प्रभाकर

फरीदाबाद-26 फरवरी ।  मनुफक्चरर्स एसोसिएशन फरीदाबाद एंड इंडस्ट्रियल एरिया वेलफेयर एसोसिएशन का एक डेलीगेशन रमणीक प्रभाकर के नेतृत्व  मेँ  नगर निगम के कमिश्नर ,श्री मोहम्मद शाइन से उनके ऑफिस में मिला | श्री रमणीक प्रभाकर ने पुष्पों का गुच्छा देकर अभिनन्दन किया एवं तिलक लगाकर होली की शुभकामनाये दी | श्री ऋषि त्यागी ,कोषाध्यक्ष ,एम् .ए .ऍफ़ ने मुँह मीठा कराया |सब डिवीज़न के मुद्दे पर पहले दिनाक  २०/०२/२०१८ सीनियर टाउन  प्लानर, नगर निगम ,श्री सतीश पराशर के साथ मीटिंग की थी  ,जो सब - डिवीज़न के मुद्दों पर ओब्जेक्शन्स थे वो उन्होंने सारे क्लियर कर दिए व् हमारी सारी शर्ते मान ली |एक परफॉर्म तैयार किया जिसमे 12  पॉइंट्स   के साथ सब्मिट करना है नगर निगम के कमिश्नर जानकारी दी और कमिश्नर महोदय ने कहा की प्रभाकर जी आप अपनी एसोसिएशन को लेकर आये और कोई एक दिन तय कर ले उसी दिन सारी फॉर्मलिटीज क्लियर कर दी जाएंगी| एवं मेँनगर निगम की तरफ से कोई भी किसी तरह की परेशानी नहीं आने दूंगा एक छत के नीचे रेगुलिज़शन करा दिया जाएगा |

रमणीक  प्रभाकर ने बताया 550 के लगभग कारखानों का सब डिवीज़न रेगुलीज़े हो जाएगा और नगर निगम को लाखो रुपये का राजस्व प्राप्ति होगी | इससे उद्योगपतियों को कार्य करने की सहूलियत रहेगी और नगर निगम से कोई परेशानी नहीं उठानी पड़ेगी | 

श्री रमणीक प्रभाकर  ने कमिश्नर का धन्यबाद किया व् होली के बाद मीटिंग करके एक दिन निश्चित करके आपको बता देंगे | प्रभाकर जी ने श्री सतीश पराशर जी के सहयोग के लिए भी धन्यवाद किया |

श्री ऋषि त्यागी , कोषाध्यक्ष , एम् .ए.ऍफ़ . ने आभार प्रकट किया और कहा की पिछले ११ साल से इससे मुद्दे पर लड़ रहे है जिसकी  के सहयोग से सफलता मिली है |

तेजिष प्रभाकर,  राजेंदर सिंह जी, पश्पेन्दर सिंह जी , डी. पी.गोयल , हरीश शर्मा ,, नारंग जी , गगन धीमान, बबलू धीमान , जी .पी .गुप्ता , नीरज शर्मा मौजूद पाल जी और  कृपाल जी,   थे |

Saturday, 16 December 2017

दिवालिया कंपनी से भी वसूला जा सकता है बकाया

दिवालिया कंपनी से भी वसूला जा सकता है बकाया

फरीदाबाद, 16 दिसंबर,। देश विदेश में माइक्रो, स्मॉल एवं मीडियम इंटरप्राइजेज की बेहतरी के लिए काम करने वाले उद्योग संगठनआई एम एसएमई ऑफ इंडिया ने उद्योग प्रबंधकों को नए दिवालिया कानून पर जागरुक किया।

संस्था ने हेबिटेट सेंटर पर आयोजित एक वर्कशॉप में विशेषज्ञों के जरिए उद्योग प्रबंधकों को बताया कि वहदिवालिया हो चुकी कंपनी से भी बकाया कैसे वसूला जा सकता है। विशेषज्ञों ने बताया कि जब कोई कंपनीदिवालिया होती है तो यह मान लिया जाता है कि अब उस पर बकाया राशि हमें मिलने वाला नहीं है। जबकियह पूरा सच नहीं है। दिवालिया घोषित कंपनी से भी बकाया वापिस लिया जा सकता है। इसी प्रकार किसीकंपनी को बंद करने का सही तरीका भी उद्योग प्रबंधकों को समझाया गया।

इस अवसर पर आई एम एसएमई ऑफ इंडिया के चेयरमैन एवं इनोवेटिव उद्योग प्रबंधक राजीव चावला नेबताया कि जानकारी न होने पर नया दिवालिया कानून दोधारी तलवार जैसा है। यह जानकारी होने परलाभदायक और जानकारी न होने पर नुकसान दायक है। इसलिए इसकी जानकारी लेकर इसका सदुपयोगउद्योग प्रबंधकों को करना चाहिए। इस मौके पर शहर के जाने माने उद्योग प्रबंधकों एवं उद्योग संगठनों केप्रतिनिधियों, चार्टर्ड अकाउंटेंट्स, प्रोफेशनल्स ने भी भागीदारी कर जानकारी प्राप्त की। इनमें फरीदाबादचैंबर्स ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री के प्रधान एच के बत्रा, फरीदाबाद आईएमटी इंडस्ट्रीज एसोसिएशन के एमएलशर्मा एवं सुभाष चंद्र, डीएलएफ इंडस्ट्रीज एसोसिएशन के प्रधान जेपी मल्होत्रा आदि शामिल रहे।