Showing posts with label Haryana News. Show all posts
Showing posts with label Haryana News. Show all posts

Saturday 15 June 2024

 मानव रचना यूनिवर्सिटी- एनएआरएल, इसरो के सहयोग से जीएनएसएस रिसीवर स्थापित करने वाली देश की पहली प्राइवेट यूनिवर्सिटी बनी

मानव रचना यूनिवर्सिटी- एनएआरएल, इसरो के सहयोग से जीएनएसएस रिसीवर स्थापित करने वाली देश की पहली प्राइवेट यूनिवर्सिटी बनी

      यूनिवर्सिटी में ग्लोबल नेविगेशन सैटेलाइट सिस्टम (GNSS) रिसीवर और अंतरिक्ष अनुसंधान प्रयोगशाला की स्थापना की गई

      इसरो लैब के सहयोग से राष्ट्रीय वायुमंडलीय अनुसंधान प्रयोगशाला (एनएआरएल) के रिसीवरों की उत्तर-दक्षिण श्रृंखला का हिस्सा है ये पहल

      अतिथि व्याख्यान में इसरो साइंटिस्ट डॉ. निर्विकार दशोरा और श्री हिमांशु एस सेठी ने रखे विचार

फरीदाबाद, 15 जून 2024: मानव रचना यूनिवर्सिटी (एमआरयू) में स्कूल ऑफ साइंसेज के विज्ञान विभाग की ओर से शुक्रवार को “ग्लोबल नेविगेशन सैटेलाइट सिस्टम (GNSS) रिसीवर” की स्थापना की गई। ये प्रयोगशाला राष्ट्रीय वायुमंडलीय अनुसंधान प्रयोगशाला (एनएआरएल)-भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के सहयोग से स्थापित की गई है। इस दौरान एक गेस्ट लेक्चर का आयोजन भी हुआ, जिसका उद्देश्य वायुमंडलीय और अंतरिक्ष अनुसंधान के क्षेत्र में अनुसंधान करने के लिए संकाय को प्रोत्साहित करना है।

एमआरयू जीएनएसएस रिसीवर की स्थापना करने वाला देश का पहला निजी शिक्षण संस्थान है, ऐसे में ये पहल अंतरिक्ष अनुसंधान के क्षेत्र में एमआरयू की अनुसंधान क्षमताओं में बेहतरी को दर्शाती है। गेस्ट लेक्चर में में वैज्ञानिकों की एक प्रतिष्ठित टीम शामिल हुई, जिनमें डॉ. निर्विकार दशोरा (साइंटिस्ट/इंजीनियर-एसएफ, विभागाध्यक्ष आयनोस्फेयर एंड स्पेस फिजिक्स ग्रुप, एनएआरएल, गडांकी, एपी, अंतरिक्ष विभाग, भारत सरकार) और श्री हिमांशु एस सेठी (साइंटिस्ट/इंजीनियर-एसई, एनएआरएल-इसरो) शामिल रहे।

एमआरयू में जीएनएसएस रिसीवर की स्थापना इसरो के सहयोग से एनएआरएल के रिसीवरों की उत्तर-दक्षिण श्रृंखला का हिस्सा है। यह रणनीतिक साझेदारी वायुमंडलीय और आयनमंडलीय अनुसंधान को आगे बढ़ाने के लिए एमआरयू की प्रतिबद्धता को स्पष्ट करती है, जिसमें जीएनएसएस रिसीवर नेटवर्क के माध्यम से मौसम, जलवायु, अंतरिक्ष मौसम और ग्रहों के आयनमंडल पर महत्वपूर्ण अध्ययन शामिल हैं। यह सहयोगात्मक प्रयास न केवल मानव रचना के अनुसंधान बुनियादी ढांचे को मजबूत करता है, बल्कि इसे वायुमंडलीय और अंतरिक्ष अनुसंधान में अग्रणी बनाने में सहायक होगा ।

कार्यक्रम के दौरान, डॉ. निर्विकार दशोरा ने वास्तविक जीवन के क्षेत्रों में जीएनएसएस के विभिन्न अनुप्रयोगों के बारे में जानकारी दी। उन्होंने आयनमंडल के मूल सिद्धांतों और विभिन्न वायुमंडलीय घटनाओं में इसकी भूमिका के बारे में विस्तार से बताया। प्रेजेंटेशन के ज़रिए उन्होंने अपने शोध के महत्व, उपयोग की जाने वाली पद्धतियों, अनुप्रयोगों और मुख्य विशेषताओं को भी प्रदर्शित किया। साथ ही उन्होंने जीपीएस सिस्टम से संबंधित चुनौतियों के बारे में भी जानकारी दी। इसके बाद प्रश्नोत्तर  सत्र में उन्होंने सभी सवालों के जवाब भी दिए।

ये होगा लाभ

एमआरयू में जीएनएसएस रिसीवर की स्थापना ने राष्ट्रीय और वैश्विक शैक्षणिक समुदायों में विश्वविद्यालय की स्थिति मजबूत की है। इससे विभिन्न वायुमंडलीय और अंतरिक्ष मापदंडों में बहु-पैरामीट्रिक डेटा संग्रह से वायुमंडलीय विज्ञान और संबंधित क्षेत्रों में अनुसंधान की क्षमताएं बढ़ेंगी| साथ ही रिसीवरों की एनएआरएल उत्तर-दक्षिण श्रृंखला का हिस्सा होने के नाते, एमआरयू अनुसंधान संस्थानों के व्यापक नेटवर्क से जुड़ेगा और राष्ट्रीय व वैश्विक स्तर पर सहयोग के अवसर बढ़ेंगे। विज्ञान, इलेक्ट्रॉनिक्स एंड कम्यूनिकेशन इंजीनियरिंग (ईसीई) और कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग (सीएसई) विभागों में छात्रों के विभिन्न परियोजनाओं में सीखने के अवसर बढ़ेंगे। साथ ही छात्रों को अत्याधुनिक तकनीक और वास्तविक समय के डेटा विश्लेषण के साथ व्यावहारिक अनुभव प्राप्त होगा। 

प्रो. (डॉ.) दीपेंद्र कुमार झा, कुलपति, एमआरयू ने कहा कि "एनएआरएल और इसरो के सहयोग से जीएनएसएस रिसीवर की स्थापना हमारी एक ऐतिहासिक उपलब्धि है। परिसर में स्थापित अंतरिक्ष अनुसंधान प्रयोगशाला संस्थान की, वायुमंडलीय और अंतरिक्ष अनुसंधान प्रगति में अग्रणी होने के प्रति प्रतिबद्धता को स्पष्ट करती है।"

डॉ. मीना कपाही, डीन, स्कूल ऑफ साइंसेज, एमआरयू ने कहा, "यह मानव रचना यूनिवर्सिटी के स्कूल ऑफ साइंसेज के लिए बड़ी उपलब्धि है। यह अत्याधुनिक पहल वायुमंडलीय और अंतरिक्ष विज्ञान में हमारी शोध क्षमताओं को बढ़ाती है और हमारे छात्रों को अत्याधुनिक तकनीक से जुड़ने के बेहतर अवसर प्रदान करती है।"

इस दौरान प्रो. (डॉ.) मीना कपाही, डीन स्कूल ऑफ साइंसेज; प्रो. डॉ. डी. के. शर्मा, डीन एग्जामिनेशन; डॉ. संदीप कुमार, हैड, स्कूल ऑफ साइंसेज; डॉ. अर्पित संड, प्रोग्राम हेड केमिस्ट्री; डॉ. अपर्णा व्यास, प्रोग्राम हेड मैथमेटिक्स सहित और साइंस एंड इंजीनियरिंग सहित विभिन्न विषयों के संकाय सदस्य मौजूद रहे।

एनएआरएल और इसरो के साथ इस स्थापना  समस्त कार्यक्रम को प्रोफ डॉ डी के शर्मा के समन्वय में डॉ अनन्ना बर्धनडॉ अंशुमान सहाय और दीप्ति मैखुरी के सहयोग से संपन्न हुआ |  

 जिला में रविवार को होने वाली यूपीएससी परीक्षाओं की सभी तैयारियां पुख्ता : एडीसी आनन्द शर्मा

जिला में रविवार को होने वाली यूपीएससी परीक्षाओं की सभी तैयारियां पुख्ता : एडीसी आनन्द शर्मा

- सिविल सर्विस परीक्षा के संचालन की ड्यूटी पर लगे अधिकारी देंगे उच्च अधिकारियों को जानकारी की अपडेट

 
- देश में यूपीएससी परीक्षाओं के सफल संचालन में टॉप पांच शहरों में फरीदाबाद का नाम

फरीदाबाद,15 जून। उपायुक्त विक्रम सिंह ने एडीसी आनंद शर्मा को नोडल अधिकारी नियुक्त किया गया है। एडीसी आनन्द शर्मा ने कहा कि जिला में रविवार को होने वाली यूपीएससी परीक्षाओं की सभी तैयारियां पुख्ता कर ली गई हैं। सिविल सर्विस परीक्षा के संचालन की ड्यूटी पर लगे अधिकारी अपने अपने उच्च अधिकारियों को जानकारी की अपडेट देंगे। देश में यूपीएससी परीक्षाओं के सफल संचालन में पहले पांच शहरों में फरीदाबाद का नाम है।
  
युनियन पब्लिक सर्विस कमीशन की हिदायतों के अनुसार परीक्षाओं के सफल संचालन के लिए ड्यूटी पर लगे अधिकारियों को दिशा-निर्देश दिए गए हैं कि 16 जून रविवार को आयोजित सिविल सर्विस प्रीलिमिनरी की परीक्षाओं के लिए किसी भी तरह की कोताही बर्दाश्त नहीं होगी। परीक्षाओं में कोताही बरतने वाले लोगों के खिलाफ तुरंत कानूनी कार्यवाही अमल में लाई जाएगी। परीक्षा केंद्रों में केवल ड्यूटी देने वाले अधिकारी अंदर  जा सकते हैं। इसके अलावा किसी भी अधिकारी को परीक्षा केंद्रों के अन्दर जाने पर यूपीएससी द्वारा जारी हिदायतों के अनुसार पूर्णतया पाबंदी है।
 
अतिरिक्त उपायुक्त आनन्द शर्मा ने बताया कि यूपीएससी द्वारा सिविल सर्विस प्रीलिमिनरी लिखित परीक्षा 16 जून को सुबह 9:30 से 11:30 बजे और दोपहर 02:30 से 04:30 बजे दो चरणों में आयोजित की जाएंगी। परीक्षाओं के लिए जिला में 59 परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं। परीक्षा केंद्रों पर मूलभूत सुविधाएंबिजलीपंखेजैमरपेयजलशौचालय और साफ सफाई सहित अन्य उचित व्यवस्था के प्रबंध बारे भी सम्बंधित अधिकारी ध्यान द्वारा रखा गया है और सुरक्षा के दृष्टिगत ऐसी कोई भी परीक्षा सहयोगी सामग्री जो आपत्तिजनक हैउसको केंद्र में अंदर जाने की अनुमति नहीं दी जाएगी ।
 
उन्होंने सभी अधिकारियों को कहा कि वे भी अपनी -पनी तय जिम्मेदारी और दायित्व बारे जानकारी हासिल करके व्यवस्थित रूप से परीक्षाओं की योजना बनाकर उनको सही क्रियान्वयन करना सुनिश्चित करें। ट्रांजिट ऑफिसर को सेंसिटिव मटेरियल लाने व ले जाने की यूपीएससी हिदायतो की पूर्ण पालना सुनिश्चित करेंगे। क्यों कि यूपीएससी द्वारा जारी हिदायतों की पालना करना सभी अधिकारियों का नैतिक दायित्व हैऔर इस संबंध में किसी प्रकार की कोई कोताही नहीं बरती जाएगी। ऐसा करने वाले व दोषी पाए जाने वाला व्यक्ति इसके लिए खुद जिम्मेवार होगा।
 
अतिरिक्त उपायुक्त आनन्द शर्मा ने कहा कि यूपीएससी द्वारा जारी हिदायतों के अनुसार परीक्षार्थी अपना ई-एडमिट कार्ड की वेरिफिकेशन के लिए पासपोर्टड्राइविंग लाइसेंसपहचान पत्रआधार कार्डपैन कार्ड या भारत सरकार द्वारा मान्य कोई भी दस्तावेज जिस पर उनकी फोटो हो साथ ला सकते है।

उन्होंने कहा कि ड्यूटी मजिस्ट्रेटट्रांजिट ऑफिसरलोकल इंस्पेक्टिंग ऑफिसर्ससुपरवाइजर्सइंविजिलेटर्सपुलिस अधिकारियों और कर्मचारियों को उनकी ज़िम्मेदारियों के बारे में विस्तार पूर्वक हिदायतें दी गई हैं।
 
यूपीएससी की परीक्षाओं की चेकिंग के लिए जिला में मण्डलायुक्त व उपायुक्त और दो यूनियन पब्लिक सर्विस कमीशन द्वारा चार आब्जर्वर नियुक्त किए गए हैं।
 मैन्युफैक्चरर्स  एसोसिएशन फरीदाबाद  के प्रतिनिधिमण्डल  ने केंद्रीय राज्यमंत्री को बधाई दी : रमणीक प्रभाकर

मैन्युफैक्चरर्स एसोसिएशन फरीदाबाद के प्रतिनिधिमण्डल ने केंद्रीय राज्यमंत्री को बधाई दी : रमणीक प्रभाकर

फरीदाबाद l  लगातार तीसरी बार जीत और केंद्र में मंत्री बनाये जाने पर फरीदाबाद से सांसद कृष्णपाल गुर्जर को केंद्रीय सहकारिता राज्यमंत्री बनाया गया है। मैन्युफैक्चरर्स एसोसिएशन फरीदाबाद के उद्यमियों का  प्रतिनिधिमण्डल  केंद्रीय राज्यमंत्री श्री कृष्णपाल गुर्जर से मिलने सेक्टर 28 स्थित उनके कार्यालय पहुंचा और उन्हें सफलता की बधाई दी.


 श्री सुखदेव सिंह, प्रधान , MAF,  श्री रमणीक प्रभाकर , महासचिव, MAF व MAF के प्रतिनिमंडल श्री जगदीश शर्मा, श्री पुष्पिंदर सिंह , श्री प्रवीण गुप्ता व सुनील सचदेवा सभी ने कृष्णपाल गुर्जर जी को बुके देकर  जीत की और मंत्री बनने पर बधाई दी।

इस मौके पर कृष्णपाल गुर्जर जी ने सभी का तहे दिल से धन्यवाद करते हुए कहा की जनता का वह शुक्रगुज़ार है जिनके बदौलत उन्हें एक बार फिर फरीदाबाद की सेवा करने का मौका मिला है जिसे बखूबी निभाएंगे 

श्री सुखदेव सिंह जी  ने कहा कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से भाजपा सांसद कृष्णपाल गुर्जर जी को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने केंद्रीय सहकारिता राज्य मंत्री के पद से नवाजा है। यह हम सब के लिए गर्व की बात है। 
 श्री रमनीक प्रभाकर ने  कहा कि  लगातार तीसरा मौका है जब कृष्ण पाल गुर्जर मंत्री बने। यह फरीदाबाद के लिए गर्व की बात है। 
आपने कहा जैसे आपने अभी तक हमें सुना और समझा है आगे भी आपके इस सहयोग की कामना करते है ।

Tuesday 11 June 2024

 मनोहर लाल ने आवासन और शहरी कार्य मंत्रालय के मंत्री के रूप में कार्यभार संभाला

मनोहर लाल ने आवासन और शहरी कार्य मंत्रालय के मंत्री के रूप में कार्यभार संभाला

नई दिल्ली : आवासन एवं शहरी कार्य मंत्रालय (एमओएचवाईए) में आज नए कैबिनेट मंत्री श्री मनोहर लाल और राज्य मंत्री श्री तोखन साहू ने पदभार ग्रहण किया। उन्होंने मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ एक संयुक्त समीक्षा बैठक की, जिसमें मंत्रालय के प्रमुख मिशनों पर प्रस्तुतियाँ दी गईं। इस अवसर पर पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्री श्री हरदीप सिंह पुरी भी उपस्थित थे, जो अब तक पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस तथा एमओएचवाईए मंत्री का कार्यभार संभाल रहे थे।

श्री मनोहर लाल ने स्वच्छ और हरित शहरों को सुनिश्चित करने के लिए महत्वपूर्ण कार्य को आगे बढ़ाने की आवश्यकता पर बल दिया तथा सभी शहरों को 'कचरा मुक्त' बनाने के लिए मिशन के तहत अपशिष्ट को धन में परिवर्तित करने के स्वच्छ भारत मिशन के तहत किए जा रहे प्रयासों की सराहना की।

शहरों को जल सुरक्षित बनाने तथा 4,900 शहरी स्थानीय निकायों में जलापूर्ति की सर्वव्यापक कवरेज सुनिश्चित करने और 500 अमृत शहरों में सीवरेज एवं सेप्टेज प्रबंधन सुनिश्चित करने के लिए अमृत मिशन के उद्देश्यों की सराहना करते हुए उन्होंने अमृत परियोजनाओं में जन भागीदारी सुनिश्चित करने पर नए सिरे से ध्यान केंद्रित करने का आह्वान किया।

शहरों में यात्रा को सुविधाजनक बनाने में मेट्रो रेल के महत्व पर प्रकाश डालते हुए मंत्री ने कहा कि सभी मेट्रो परियोजनाओं को समय पर पूरा करने के लिए मंत्रालय के प्रयास दोगुने किए जाएंगे, क्योंकि मेट्रो परिवहन का पसंदीदा साधन बन गया है, जो समाज के सभी वर्गों के लिए सुविधाजनक और सुरक्षित है।

इसके अलावा, मंत्री ने कहा कि स्मार्ट सिटी मिशन के तहत पूरी की गई परियोजनाओं ने देश में शहरी नियोजन और शासन में नए मानक स्थापित किए हैं। इन शहरों में बेहतर शहरी प्रबंधन के लिए प्रौद्योगिकी का उपयोग बढ़ा है और 100 शहरों में से प्रत्येक में अपराध ट्रैकिंग, नागरिकों की सुरक्षा, परिवहन प्रबंधन, ठोस अपशिष्ट प्रबंधन, जल आपूर्ति, आपदा प्रबंधन आदि जैसे शहरी सेवाओं के विविध क्षेत्रों में उल्लेखनीय सुधार हुआ है।

श्री मनोहर लाल ने देश के सभी हिस्सों में शहरी गरीबों तक पीएम स्वनिधि और डीएवाई-एनयूएलएम मिशनों के लाभ की पहुंच को और बढ़ाने की आवश्यकता पर प्रकाश डाला, ताकि शहरी गरीबी के विभिन्न आयामों का समाधान किया जा सके और उनकी आय और आजीविका के स्रोत में सुधार किया जा सके।

सिर पर छत होने के महत्व के बारे में बोलते हुए उन्होंने कहा कि पीएमएवाई लाखों लोगों के जीवनभर के सपने को पूरा करने की दिशा में काम कर रहा है और इसलिए पीएमएवाई (शहरी) के तहत एक करोड़ और घर बनाने की प्रधानमंत्री की घोषणा मंत्रालय की प्रमुख प्राथमिकता होगी। उन्होंने आश्वासन दिया कि सभी आवास परियोजनाओं को समय पर पूरा करने के लिए समय-समय पर प्रभावी राज्य स्तरीय समीक्षा भी की जाएगी।

प्रदर्शन की समीक्षा के बाद, उन्होंने देश में सतत शहरी विकास के लिए रणनीतिक और व्यापक कार्ययोजना पर आशा व्यक्त की और समावेशी एवं विकसित भारत के लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए विकास एजेंडे को नई गति के साथ आगे बढ़ाने का संकल्प लिया।

शोर्ट कंटेंट परोसना आज के युवाओं के लिए सबसे बड़ी चुनौती : राजीव जेटली

शोर्ट कंटेंट परोसना आज के युवाओं के लिए सबसे बड़ी चुनौती : राजीव जेटली

फरीदाबाद-11 जून। जे.सी.बोस विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, वाईएमसीए, फरीदाबाद में संचार एवं मीडिया तकनीकी विभाग द्वारा तृतीय समर इंटर्नशिप का आयोजन किया गया। यह इंटर्नशिप 11 जून से 10 जुलाई 2024 तक एक महीने तक चलेगी। इंटर्नशिप के उद्घाटन कार्यक्रम में हरियाणा मुख्यमंत्री के मीडिया सलाहकार राजीव जेटली, कुलपति प्रो एस.के.तोमर, रेडियो महारानी 89.6 एफएम की प्रमुख सपना सूरी और सीएमटी विभाग के अध्यक्ष डॉ. पवन सिंह, इंटर्नशिप कोऑर्डिनेटर डॉ तरुणा नरूला, सीनियर इंस्ट्रक्टर दुष्यंत त्यागी और प्रोडक्शन असिस्टेंट पंकज सैनी विशेष रूप से उपस्थित रहे।

मीडिया विभाग के स्टूडियो में आयोजित कार्यक्रम में तृतीय समर इंटर्नशिप-2024 का शुभारंभ हुआ। संचार एवं मीडिया तकनीकी विभाग के अध्यक्ष डॉ.पवन सिंह द्वारा अतिथियों के अभिवादन के साथ हुई। उन्होंने अपने स्वागत उद्बोधन में थ्योरिटिकल और व्यावहारिक कौशल के बीच अंतर को बताया। इंटर्नशिप के महत्व पर जोर दिया। उन्होंने विद्यार्थियों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा और मीडिया के व्यवहारिक अनुभव प्रदान करने के लिए विश्वविद्यालय की प्रतिबद्धता पर प्रकाश डाला।

कुलपति प्रोफेसर एस.के.तोमर के शब्दों का अनुसरण करते हुए, जहां उन्होंने संचार एवं मीडिया प्रौद्योगिकी विभाग की उपलब्धियों पर गर्व व्यक्त किया। मीडिया के विद्यार्थियों को इंटर्नशिप कार्यक्रम द्वारा प्रदान किए गए अवसरों का अधिक लाभ उठाने के लिए प्रोत्साहित किया। इस समर इंटर्नशिप में शामिल सभी प्रशिक्षुओं के लिए एक समृद्ध अनुभव होने का वादा करती है, जिसमें व्यावहारिक सीखने और पेशेवर विकास पर ध्यान केंद्रित किया जाता है। पत्रकारिता में अपार संभावनाएं है। मीडिया विद्यार्थी को पर्यावरण क्षेत्र में गंभीरता से कार्यरत रहने की आवश्यकता है।

मुख्य अतिथि के रूप में मुख्यमंत्री नायब सिंह सैनी के मीडिया सलाहकार राजीव जेटली ने अपने उद्बोधन में डिजिटल युग में मीडिया और संचार के विकसित परिदृश्य पर चर्चा की। उन्होंने छात्रों को नई प्रौद्योगिकियों को अपनाने और बदलते मीडिया परिवेश के अनुरूप ढलने के लिए प्रोत्साहित किया। उन्होंने कहा, "मीडिया उद्योग को आज ऐसे पेशेवरों की आवश्यकता है जो न केवल कुशल हों बल्कि अनुकूलनीय और इनोवेटिव भी हों।" आज समय की कमी के चलते सभी 30 सेकंड में ही दुनिया भर की जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं। इन्ही 30 सैकंड में कंटेंट परोसना आज के युवाओं के लिए सबसे बड़ी चुनौती है। 

विशिष्ट अथिति के रूप में रेडियो महारानी प्रमुख सपना सूरी ने रेडियो प्रसारण में अपने विशेष अनुभव को विद्यार्थियों के साथ साझा किया। उन्होंने कहानी कहने की शक्ति और समाज पर मीडिया के प्रभाव के बारे में बात की। उन्होंने कहा, "रेडियो के पास लोगों से जुड़ने का एक अनोखा तरीका है और यह सामाजिक परिवर्तन लाने का एक शक्तिशाली एवं सरल माध्यम है।"

समारोह में डॉ. तरूणा नरूला ने अतिथियों और प्रतिभागियों को उनकी उपस्थिति और समर्थन के लिए धन्यवाद दिया। उन्होंने कहा, "यह इंटर्नशिप आपके कौशल को बढ़ाने और आपको अपनी प्रतिभा दिखाने के लिए एक मंच प्रदान करने के लिए डिज़ाइन की गई है।"