Showing posts with label gurugram. Show all posts
Showing posts with label gurugram. Show all posts

Friday, 18 January 2019

सर्दी खासी जुकाम का होम्योपैथीक सर्वेष्ट इलाज

सर्दी खासी जुकाम का होम्योपैथीक सर्वेष्ट इलाज

फरीदाबाद 18 जनवरी : भरी हुई नाक तब होती है जब नाक और आसन्न ऊतकों और रक्त वाहिकाओं को अधिक तरल पदार्थ के साथ सूज हो जाता है, जिससे "घृणित" लग रहा हो। नाक की भीड़ या अनुनासिक निर्वहन या "बहुरंगी नाक" के साथ नहीं हो सकती है।


आमतौर पर नाक की भीड़ पुराने बच्चों और वयस्कों के लिए एक झुंझलाहट है। लेकिन नाक की भीड़ उन बच्चों के लिए गंभीर हो सकती है जिनकी नींद उनकी नाक की भीड़ या शिशुओं से परेशान होती है, जिनके परिणामस्वरूप एक कठिन समय पर भोजन हो सकता है।


कारण - नाक की भीड़ किसी भी चीज के कारण हो सकती है जो अनुनासिक ऊतकों को उत्तेजित या उत्तेजित करती है। संक्रमण - जैसे सर्दी, फ्लू या साइनसाइटिस - एलर्जी और विभिन्न परेशानी, जैसे कि तम्बाकू धूम्रपान, सब कुछ नाक का कारण हो सकता है कुछ लोगों को बिना किसी स्पष्ट कारण के लिए लंबे समय से चलने वाले नाक हैं - एक शर्त जिसे नॉनलार्लिक राइनाइटिस या वासोमोटर रिनिटिस (वीएमआर) कहा जाता है।


कम सामान्यतः, नाक की भीड़ कणिकाओं या एक ट्यूमर के कारण हो सकती है।


नाक की भीड़ के संभावित कारणों में शामिल हैं: तीव्र साइनसाइटिस, एलर्जी, क्रोनिक साइनसिस, सामान्य सर्दी, डिकॉग्स्टेस्टेंट नाक स्प्रे अति प्रयोग, विच्छेदन सेप्टम, मादक पदार्थों की लत, सूखी हवा, बढ़े हुए एनोनेओड्स, नाक में विदेशी शरीर, हार्मोनल परिवर्तन, फ्लू, दवाएं, जैसे कि उच्च रक्तचाप की दवाएं, नाक जंतु, गैर एलर्जी रैनिटिस, व्यवसायिक अस्थमा, गर्भावस्था, श्वसन संक्रमण संबंधी वायरस, तनाव, थायराइड विकार, तंबाकू का धुआं, बहुभुज के साथ ग्रैनुलोमेटोसिस

Best homeopathy medicine for Sinusitis, rhinitis, nasal polyp - stuffy nose

NUX VOMICA 30-Nux Vomica नाक बाधा रात के समय में अपने चरम पर है जब राहत प्रदान करने में महान मदद के प्रभावी होम्योपैथिक उपाय नक्स वोमिका रात के घंटों में बेहद भरे हुए नाक वाले रोगियों को आराम प्रदान करने में बहुत फायदेमंद है। रोगियों को इस होम्योपैथिक उपाय की आवश्यकता होती है, रात के समय तीव्र नाक भराई होती है। व्यक्ति यह भी वर्णन कर सकता है कि दिन के दौरान, रात में नाक निर्वहन होता है, इसे अवरुद्ध कर दिया जाता है। इसके अलावा मरीज़ एक तरफ नाक की बाधा और अन्य पर मुक्ति के मुक्त महसूस कर सकते हैं। खुली हवा में जाकर नाक अवरोध को भी बिगड़ता है।

सैम्बुक्स एनआईजी 30-सॅंबुबुस नाक रुकावट के लिए एक और शीर्ष होम्योपैथिक दवा है जो अत्यंत नाक नाक छिद्रों के साथ है। रुकावट के कारण सांस लेने में बहुत मुश्किल है और यह व्यक्ति को बैठने के लिए मजबूर करता है। अधिकतर रात में, घुटन और साँस लेने में कठिनाई के कारण व्यक्ति को नींद से बैठना पड़ता है। नाक अवरोध के लिए शिशुओं को दिया जाने पर सैंबुबुस भी बहुत प्रभावशाली होता है। रुकावट घुटन और मुँह में सांस लेने की ओर जाता है और शिशु को मां की फूड लेने के दौरान बुरी स्थिति का सामना करना पड़ता है

आर्सेनिक्स एल्बम 30-आर्सेनिकम एल्बम का निर्धारण तब किया जाता है जब नाक के अवरोध नाक एलर्जी के कारण होते हैं। यह मुख्य रूप से निर्धारित होता है जब नाक अवरोध के साथ जल नाक निर्वहन जल रहा है। वहाँ नाक से प्रचुर मात्रा में पानी और उत्तेजक निर्वहन है। तीव्र प्यास है और मरीज को खुली हवा में भी बुरा लगता है।

ग्लेज़ैमियम 30-गिल्सिमियम निर्धारित किया जाता है जब नाक रुकावट में बंद महसूस होने के साथ सुस्त सिरदर्द होता है, और एक धाराप्रवाह नाक निर्वहन होता है।

सिनापिस एनआईजीआरए 30 - सिनापीस नीग्रै एलर्जी के कारण नाक की भीड़ के लिए एक और उपाय है। यह तब निर्धारित होता है जब वैकल्पिक नहर एलर्जी की प्रतिक्रिया के कारण अवरुद्ध होते हैं। नाक और आंखों से भी मुक्ति होती है।

कैलकिया कार्ब 30- नाक पॉलीप के कारण कैल्केरा कार्ब नाक रुकावट के लिए बहुत प्रभावी है कार्ब नाक कणों के लिए एक और उत्कृष्ट होम्योपैथिक दवा है। यह ज्यादातर बाएं पक्षीय नाक कणों के लिए संकेत दिया जाता है। बाएं तरफ नलिका अवरुद्ध लगता है नाक से भ्रूण पीला डिस्पैच के साथ इसमें शामिल किया जा सकता है नाक में दुख और विकृत सनसनी भी महसूस होती है। नाक में आक्रामक गंध भी चिह्नित है नाक की जड़ में बहुत अधिक सूजन होती है। क्लेक्वेरा कार्ब का निर्धारण तब किया जाता है जब लोग आसानी से ले जाते हैं। मौसम में बदलाव नाक की शिकायतों से जुड़ा होता है। कैल्केरा कार्ब वसा, पिलपिला व्यक्तियों के लिए अधिक उपयुक्त है, जिनके अंडे की लालसा है।

लैम्ना लघु 30 - पॉलिप्स के कारण नाक अवरोध को हटाने के लिए लेम्ना माइनर शीर्ष होम्योपैथिक उपाय है। इसका उपयोग करने वाले लक्षण श्वास लेने में कठिनाई के साथ नाक कब्ज और गंध की हानि होते हैं। पोस्टेरियर टपकता भी नाक रुकावट के साथ आते हैं। कुछ व्यक्ति नाक डिस्चार्ज का अनुभव करते हैं, जबकि अन्य में, नाक गुहा शुष्क रहता है। अवरुद्ध नाक में आक्रामक गंध है लेम्ना माइनर पॉलीप के लिए सबसे प्रभावी होम्योपैथिक उपाय है जो गीली मौसम में बिगड़ता है। पॉलीप के मामलों में, लेम्ना माइनर नाक अवरोध को कम कर देता है, श्वसन की समस्या से राहत देता है, और गंध की शक्ति फिर से आती है।

संगीन्रिया नाइट्रिकम 3 एक्स - सोंगुनेरिया नाइट्रिकम, पॉलीप के कारण नाक की भीड़ के लिए भी प्रभावी है और यह नाक को नाक के नाक के साथ अवरुद्ध होने पर भी एक प्रभावी होम्योपैथिक दवा है। डिस्चार्ज प्रकृति में बहुत जलते हैं और व्यक्ति को छींकने का भी अनुभव होता है।

काली बीआईटीमाइकियम 30-काली बिच्रिमिक्यू सिनाइसिस के कारण नाक की भीड़ के लिए एक उत्कृष्ट उपाय है, जहां डिस्चार्ज गले में वापस चला जाता है।

Tuesday, 1 January 2019

 बंधवाड़ी आश्रम में नए साल का दिन वृद्ध व बेसहारा लोगों के लिए खुशियाँ लाया

बंधवाड़ी आश्रम में नए साल का दिन वृद्ध व बेसहारा लोगों के लिए खुशियाँ लाया

गुरुग्राम 1 जनवरी ; बंधवाड़ी गाँव में स्थित गुरुकुल वृद्धाश्रम में  रहने वाले 475 बेसहारा व वृद्ध लोगों के लिए साल के पहले दिन SSB सशस्त्र सीमा बल 25th BN SSB के 100 से भी ज्यादा जवानो ने अपने बैंड की मधुर धुनो से सबका मन मोह लिया !

इस उपलक्ष्य में  एस॰एस॰बी॰ की महिला समिति "संदीक्षा" की सभी वरिष्ठ  अफसर व सहयोगी उपस्थित थी | उन्होने नए साल की बधाई देते हुए सभी वृद्ध व  बेसहारा लोगों को अपने हाथो से कंबल ,फल  और मिठाई बाँटी |

इस उपलक्ष्य  पर रवि कालरा ने SSB संदीक्षा की सचिव श्रीमति अमिता नेगी व उपस्थित SSB जवानो व संदीक्षा के सदस्यो का आभार प्रकट किया |

रवि कालरा ने बताया कि नए साल के इस समारोह मे यह बहुत ही भावुक क्षण हैं | SSB जवान जब धुन
बजा रहे थे तो सभी जवानो की आँखों में खुशी के आँसू दिख रहे थे |

गौरतलब है की सशस्त्र सीमा बल पिछले पाँच सालों से द अर्थ सेवियर्स फ़ाउंडेशन की हर संभव मदद 
निरंतर करती आ रही हैं |

Tuesday, 11 December 2018

Escorts launches new range of construction equipment at  Bauma CONEXPO 2018

Escorts launches new range of construction equipment at Bauma CONEXPO 2018


 Gurugram, 12 December, 2018: Escorts Construction Equipment (ECE), the construction and material handling equipment manufacturing arm of Escorts Limited, today launched three new products at Bauma CONEXPO 2018. The new product line-up comprised New Compactor EC 5511 in 11-ton class, New Mini Compactor EC 3664 in 3- ton class and Next Generation Hydra Pick And Carry Crane (PNC) Crane Hydra NXT 13.


Additionally, Escorts exhibited an array of other best-in-class equipment that included Tadano- Escorts Rough Terrain Crane CTI-500XL and Doosan Excavator DX-225 LCB & Rock Breaker alongside the recently launched Hydra 13 Top Jack & TRX 15 SuperLift .

The latest addition to Escorts’ Compactors, EC 5511 is a new generation compactor which is designed to give optimum compaction performance with excellent operational efficiency.  Also, on display is the most advance Mini Compactor EC3664 powered with Escorts water cooled engine, this mini compactor in 3-ton class is the latest offering in the small compaction machine space.

In CONEXPO 2018, Escorts is displaying the future of Hydra i.e. Hydra NXT, which combines the convenience of a Hydra, safety aspect of TRX range & at attractive price point. This product will address the customer demand, both corporate and retail, who have been looking for a solution that offers higher stability, manoeuvrability and improved load handling capabilities. Unlike Hydra, Hydra NXTis equipped with steering wheel & the boom is specially designed to accommodate multiple attachments viz., Man basket, Crane jib, Forks, construction bucket etc.,

Speaking on the occasion, Ajay Mandahr, CEO - Escorts Construction Equipment said,“Augmenting our customer’s accessibility to services and genuine spare parts is of utmost importance to Escorts. We strive to expand our reach by attaining 800 touch points with authorized service centres across the country by the end of this fiscal. Our USP is value innovation and most competitive operating costs. We have a story reputation in SAARC countries, Middle East, Latin America and Africa and export is a key driver of our overall growth strategy. We have plans to expand our Backhoe portfolio globally and are open to contract manufacturing, private labelling and direct export. Escorts has been open to joint ventures and technical collaborations to enter new segments. We are confident that our partnerships with global players will enable us to tap the opportunity market segments and reinforce our leadership in construction equipment space.”

ECE showcased the upgraded version of its existing products, new innovative equipment alongside the products from its global partners Tadano, Doosan and Comansa.

Note for the Editor

The Escorts Group is among India's leading engineering conglomerates, operating in the high-growth sectors of Agri Machinery, Material Handling, Construction Equipment and Railway Equipment. The Group has earned the trust of over 5 million customers by way of product and process innovations over seven decades of its existence. Escorts endeavours to transform lives in rural and urban India by leading the revolution in agricultural mechanization, modernization of railway technology and transformation of Indian construction.

Tuesday, 4 December 2018

व्यवसायिक प्रशिक्षण व स्किल ट्रेनिंग के बुनियादी ढांचे को मजबूत करना बेहद जरुरी - राज नेहरू

व्यवसायिक प्रशिक्षण व स्किल ट्रेनिंग के बुनियादी ढांचे को मजबूत करना बेहद जरुरी - राज नेहरू

गुरुग्राम  4 दिसम्बर । विश्वकर्मा स्किल यूनिवर्सिटी में आज वोकेशनल एजुकेशन पर आयोजित  तीन  दिवसीय  कार्यशाला का शुभारम्भ किया गया । इसका आयोजन स्किल यनिवेर्सिटी तथा नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ़ टीचर्स ट्रेनिंग भोपाल के संयुक्त तत्वाधान में किया गया। शिक्षकों के लिए आयोजित व्यवसायिक  प्रशिक्षण कार्यशाला का उद्देश्य शिक्षकों तथा  शिक्षा को किस प्रकार कौशल तथा वोकेशनल  प्रशिक्षण से जोड़ा जा सकता है और उसे रोजग्रुन्मुक्त बनाया जा सकता है रहा।  

इस अवसर पर मुख्यातिथि राज नेहरू कुलपति स्किल यूनिवर्सिटी ने बताया कि भारत की युवा शक्ति विश्व स्तर पर कौशल शक्ति के रूप में उभर कर सामने आये इसके लिए सबसे जरुरी है कि उन्हें स्कूल कॉलेज में जो शिक्षा प्रदान की जा रही है वो कौशल परक हो । लाखो करोड़ो युवाओं को स्किल एजुकेशन में ट्रेन करने के लिए हमें प्रशिक्षित ट्रेनर्स की जरुरत है और यूनिवर्सिटी द्वारा किया गया यह प्रयास समय की मांग को पूरा करने की दिशा में पहला कदम है।

NITTTR भोपाल के प्रतिनिधि प्रो वर्मा व प्रो रिज़वी ने कुलपति श्री  राज नेहरू का आभार प्रकट करते हुए बताया कि आने वाले समय में एक बड़ी संख्या में प्रशिक्षित प्रशिक्षओं की जरुरत है। शिक्षा को और अधिक कौशल परक बनाने हेतु आवश्यक है कि यह परिणाम केंद्रित हो। 

डॉ आर एस राठौर , डीन अकादमी स्किल यूनिवर्सिटी ने बताया कि तीन दिवसीय आयोजित इस कार्यशाला में कररिकल्म डेवलपमेंट, आउटकम बेस्ड लर्निंग और असेसमेंट सभी पहलुओं पर ट्रेनिंग दी जायेगी। इस कार्यशाला में केवल हरियाणा ही नहीं अपितु अन्य राज्यों से भी शिक्षकों ने भाग लिया है। यह इस प्रकार की टैनिंग का पहला चरण है आने वाले समय में यूनिवर्सिटी देश के विभिन्न हिस्सों में इस तरह की और भी कार्यशालाओं का आयोजन करती रहेगी।

इस अवसर पर डॉ अशोक डीन इंजीनियरिंग, डॉ संजय उप निदेशक, सुश्री सिमी उप निदेशक, डॉ विक्रम बंसल सहायक उप निदेशक व nitttr भोपाल की टीम से प्रो पियूष वर्मा, प्रो रिज़वी, स्किल विभाग से श्री संजीव शर्मा उप निदेशक सहित अन्य गणमान्य व्यक्ति मौजूद रहे।

Thursday, 11 October 2018

Homeopathy for Cold cough Flu

Homeopathy for Cold cough Flu

FARIDABAD : 12 October  I  भरी हुई नाक तब होती है जब नाक और आसन्न ऊतकों और रक्त वाहिकाओं को अधिक तरल पदार्थ के साथ सूज हो जाता है, जिससे "घृणित" लग रहा हो। नाक की भीड़ या अनुनासिक निर्वहन या "बहुरंगी नाक" के साथ नहीं हो सकती है।


आमतौर पर नाक की भीड़ पुराने बच्चों और वयस्कों के लिए एक झुंझलाहट है। लेकिन नाक की भीड़ उन बच्चों के लिए गंभीर हो सकती है जिनकी नींद उनकी नाक की भीड़ या शिशुओं से परेशान होती है, जिनके परिणामस्वरूप एक कठिन समय पर भोजन हो सकता है।


कारण - नाक की भीड़ किसी भी चीज के कारण हो सकती है जो अनुनासिक ऊतकों को उत्तेजित या उत्तेजित करती है। संक्रमण - जैसे सर्दी, फ्लू या साइनसाइटिस - एलर्जी और विभिन्न परेशानी, जैसे कि तम्बाकू धूम्रपान, सब कुछ नाक का कारण हो सकता है कुछ लोगों को बिना किसी स्पष्ट कारण के लिए लंबे समय से चलने वाले नाक हैं - एक शर्त जिसे नॉनलार्लिक राइनाइटिस या वासोमोटर रिनिटिस (वीएमआर) कहा जाता है।

कम सामान्यतः, नाक की भीड़ कणिकाओं या एक ट्यूमर के कारण हो सकती है।


नाक की भीड़ के संभावित कारणों में शामिल हैं: तीव्र साइनसाइटिस, एलर्जी, क्रोनिक साइनसिस, सामान्य सर्दी, डिकॉग्स्टेस्टेंट नाक स्प्रे अति प्रयोग, विच्छेदन सेप्टम, मादक पदार्थों की लत, सूखी हवा, बढ़े हुए एनोनेओड्स, नाक में विदेशी शरीर, हार्मोनल परिवर्तन, फ्लू, दवाएं, जैसे कि उच्च रक्तचाप की दवाएं, नाक जंतु, गैर एलर्जी रैनिटिस, व्यवसायिक अस्थमा, गर्भावस्था, श्वसन संक्रमण संबंधी वायरस, तनाव, थायराइड विकार, तंबाकू का धुआं, बहुभुज के साथ ग्रैनुलोमेटोसिस





NUX VOMICA 30-Nux Vomica नाक बाधा रात के समय में अपने चरम पर है जब राहत प्रदान करने में महान मदद के प्रभावी होम्योपैथिक उपाय नक्स वोमिका रात के घंटों में बेहद भरे हुए नाक वाले रोगियों को आराम प्रदान करने में बहुत फायदेमंद है। रोगियों को इस होम्योपैथिक उपाय की आवश्यकता होती है, रात के समय तीव्र नाक भराई होती है। व्यक्ति यह भी वर्णन कर सकता है कि दिन के दौरान, रात में नाक निर्वहन होता है, इसे अवरुद्ध कर दिया जाता है। इसके अलावा मरीज़ एक तरफ नाक की बाधा और अन्य पर मुक्ति के मुक्त महसूस कर सकते हैं। खुली हवा में जाकर नाक अवरोध को भी बिगड़ता है।

सैम्बुक्स एनआईजी 30-सॅंबुबुस नाक रुकावट के लिए एक और शीर्ष होम्योपैथिक दवा है जो अत्यंत नाक नाक छिद्रों के साथ है। रुकावट के कारण सांस लेने में बहुत मुश्किल है और यह व्यक्ति को बैठने के लिए मजबूर करता है। अधिकतर रात में, घुटन और साँस लेने में कठिनाई के कारण व्यक्ति को नींद से बैठना पड़ता है। नाक अवरोध के लिए शिशुओं को दिया जाने पर सैंबुबुस भी बहुत प्रभावशाली होता है। रुकावट घुटन और मुँह में सांस लेने की ओर जाता है और शिशु को मां की फूड लेने के दौरान बुरी स्थिति का सामना करना पड़ता है

आर्सेनिक्स एल्बम 30-आर्सेनिकम एल्बम का निर्धारण तब किया जाता है जब नाक के अवरोध नाक एलर्जी के कारण होते हैं। यह मुख्य रूप से निर्धारित होता है जब नाक अवरोध के साथ जल नाक निर्वहन जल रहा है। वहाँ नाक से प्रचुर मात्रा में पानी और उत्तेजक निर्वहन है। तीव्र प्यास है और मरीज को खुली हवा में भी बुरा लगता है।

ग्लेज़ैमियम 30-गिल्सिमियम निर्धारित किया जाता है जब नाक रुकावट में बंद महसूस होने के साथ सुस्त सिरदर्द होता है, और एक धाराप्रवाह नाक निर्वहन होता है।

सिनापिस एनआईजीआरए 30 - सिनापीस नीग्रै एलर्जी के कारण नाक की भीड़ के लिए एक और उपाय है। यह तब निर्धारित होता है जब वैकल्पिक नहर एलर्जी की प्रतिक्रिया के कारण अवरुद्ध होते हैं। नाक और आंखों से भी मुक्ति होती है।

कैलकिया कार्ब 30- नाक पॉलीप के कारण कैल्केरा कार्ब नाक रुकावट के लिए बहुत प्रभावी है कार्ब नाक कणों के लिए एक और उत्कृष्ट होम्योपैथिक दवा है। यह ज्यादातर बाएं पक्षीय नाक कणों के लिए संकेत दिया जाता है। बाएं तरफ नलिका अवरुद्ध लगता है नाक से भ्रूण पीला डिस्पैच के साथ इसमें शामिल किया जा सकता है नाक में दुख और विकृत सनसनी भी महसूस होती है। नाक में आक्रामक गंध भी चिह्नित है नाक की जड़ में बहुत अधिक सूजन होती है। क्लेक्वेरा कार्ब का निर्धारण तब किया जाता है जब लोग आसानी से ले जाते हैं। मौसम में बदलाव नाक की शिकायतों से जुड़ा होता है। कैल्केरा कार्ब वसा, पिलपिला व्यक्तियों के लिए अधिक उपयुक्त है, जिनके अंडे की लालसा है।

लैम्ना लघु 30 - पॉलिप्स के कारण नाक अवरोध को हटाने के लिए लेम्ना माइनर शीर्ष होम्योपैथिक उपाय है। इसका उपयोग करने वाले लक्षण श्वास लेने में कठिनाई के साथ नाक कब्ज और गंध की हानि होते हैं। पोस्टेरियर टपकता भी नाक रुकावट के साथ आते हैं। कुछ व्यक्ति नाक डिस्चार्ज का अनुभव करते हैं, जबकि अन्य में, नाक गुहा शुष्क रहता है। अवरुद्ध नाक में आक्रामक गंध है लेम्ना माइनर पॉलीप के लिए सबसे प्रभावी होम्योपैथिक उपाय है जो गीली मौसम में बिगड़ता है। पॉलीप के मामलों में, लेम्ना माइनर नाक अवरोध को कम कर देता है, श्वसन की समस्या से राहत देता है, और गंध की शक्ति फिर से आती है।

संगीन्रिया नाइट्रिकम 3 एक्स - सोंगुनेरिया नाइट्रिकम, पॉलीप के कारण नाक की भीड़ के लिए भी प्रभावी है और यह नाक को नाक के नाक के साथ अवरुद्ध होने पर भी एक प्रभावी होम्योपैथिक दवा है। डिस्चार्ज प्रकृति में बहुत जलते हैं और व्यक्ति को छींकने का भी अनुभव होता है।

काली बीआईटीमाइकियम 30-काली बिच्रिमिक्यू सिनाइसिस के कारण नाक की भीड़ के लिए एक उत्कृष्ट उपाय है, जहां डिस्चार्ज गले में वापस चला जाता है।

Friday, 5 October 2018

शहर के लोगों को अभी कूड़े के लिए इको ग्रीन को दो माह तक कोई भुगतान नहीं करना होगा

शहर के लोगों को अभी कूड़े के लिए इको ग्रीन को दो माह तक कोई भुगतान नहीं करना होगा

फरीदाबाद 6 अक्टूबर । शहर के लोगों को अभी कूड़े के लिए इको ग्रीन को दो माह तक कोई भुगतान नहीं करना होगा। कंपनी की तरफ से 18 वार्डो में कूड़ा उठाने का काम फ्री किया जा रहा है। कंपनी के अनुसार दो माह वह चार्ज लेना शुरू करेंगे। जबकि इको ग्रीन कंपनी के नाम पर कई वार्ड मेंं कूड़ा उठाने के लिए पैसा वसूला जा रहा है। इसको लेकर कई बार लोग नगर निगम मु यालय में कंपनी के खिलाफ प्रदर्शन भी कर चुके हैं। वहीं लोगों ने निगम से कंपनी के खिलाफ कार्रवाई की मांग भी की थी। शुक्रवार को इको ग्रीन कंपनी की तरफ से पूरे मामले में अपना पक्ष रखने के लिए पै्रसवर्ता की गई। कंपनी के सीईओ अंकित अग्रवाल ने बताया कि उनकी कंपनी द्वारा शहर के 18 वार्ड में 700 से अधिक कर्मचारियों द्वारा कूड़ा उठाने का काम किया जा रहा है। लेकिन अभी तक कंपनी कूड़ा उठाने का कोई चार्ज नहीं ले रही है। अगर कोई इको ग्रीन कंपनी की पर्ची काटकर पैसा वसूल रहा है तो उसके खिलाफ कंपनी की हेल्पलाइन नंबर पर शिकायत की जा सकती है। वहीं उन्होंने बताया कि प्रतिदिन 600 से 700 टन कूड़ा एकत्र करके प्लांट पर भेजा जा रहा है।

शहर मेंं कम हुई खत्तों की संख्या 

कंपनी के अनुसार उनके काम शुरू करने से पहले शहर में कूड़ा इक्क ठा करने की खत्तों की सं या 670 थे। उनसे भी प्रतिदिन कूड़ा नहीं उठाया जा रहा था। जबकि पिछले साल उनके काम शुरू करने के बाद खत्तों की सं या 480 की गई है। वहीं इन जगहों से प्रतिदिन कूड़ा उठाने का प्रयास किया जा रहा है। कूड़े को एकत्र करके बंधवाड़ी प्लांट भेजा जाता है। जहां पर इससे खाद और बिजली बनाई जाती है। पूरे शहर में कूड़ा उठाने के लिए कुल 245 वाहन काम कर रहे हैं।

--------

कूड़ा नहीं उठने पर कंट्रोल रूम में की जा सकती है शिकायत

कंपनी की ओर से डबुआ कालोनी में कंट्रोल रूम बनाया गया है। यहां पर प्रत्येक वार्ड के हिसाब से पदाधिकारी की नियुक्ति की गई है। अगर किसी व्यक्ति को कूड़ा उठान संबंधित कोई भी परेशानी है तो वह सीधा हेल्पलाइन नंबर 18001025953 पर अपनी शिकायत दर्ज करवा कर सकते हैं। शिकायत का निदान 24 घंटे के भीतर किया जाएगा। कंपनी प्रबंधन के अनुसार शहर में कूड़ा एकत्र करने के लिए तीन नए ट्रांसपोटेशन बनाए गए हैं। जहां पर अलग-अलग जगहों से कूड़ा लाकर एकत्र किया जाता है। इसके बाद उन्हें बड़े ट्रक के जरिए बंधवाड़ी प्लांट तक ले जाया जाता है।

-----

Sunday, 30 September 2018

सोनल गोयल को मिला आउटस्टैंडिंग वुमन एडमिनिस्ट्रेटर अवार्ड

सोनल गोयल को मिला आउटस्टैंडिंग वुमन एडमिनिस्ट्रेटर अवार्ड

 झज्जर, 1 अक्टूबर। हरियाणा के झज्जर जिला की उपायुक्त सोनल गोयल को रविवार को नई दिल्ली में एफएमआरटी अस्मिता- वुमन लीडरशिप कॉन्क्लेव में आउटस्टैंडिंग वुमन एडमिनिस्ट्रेटर अवार्ड से नवाजा गया। कॉनक्लेव की मुख्यातिथि पद्म भूषण सम्मान प्राप्त एवं प्रख्यात अभिनेत्री शबाना आजमी द्वारा सम्मान समारोह में अकेली महिला प्रशासनिक अधिकारी सोनल गोयल को एडमिनिस्ट्रेटर अवार्ड प्रदान करते हुए उनकी कार्यशैली की सराहना की और उन्हें महिलाओं के लिए एक आदर्श बताया। सम्मान समारोह में पद्म श्री शोवना नारायण बतौर विशिष्ट अतिथि मौजूद रही जबकि कार्यक्रम की अध्यक्षता  एफएमआरटी की फाउंडर व चेयरपर्सन डॉ ज्योति राणा ने की। गौरतलब है कि एफएमआरटी अस्मिता- वुमन लीडरशिप कॉन्क्लेव में विभिन्न क्षेत्रों में उल्लेखनीय कार्य करने वाली महिलाओं को  नई दिल्ली स्थित नेहरू मेमोरियल म्यूजियम एंड लाइब्रेरी सभागार में सम्मानित किया गया। 

वुमन लीडरशिप कॉन्क्लेव में मुख्यातिथि शबाना आजमी ने झज्जर उपायुक्त सोनल गोयल को सम्मान देते हुए कहा कि उन्हें बताया गया कि झज्जर जिले में श्रीमती गोयल द्वारा सामाजिक बदलाव में उठाये जा रहे कदम महिला सशक्तिकरण की दिशा में अहम हैं। उन्होंने कहा कि एक प्रशासनिक अधिकारी के तौर पर जिस प्रकार सोनल गोयल अपनी जिम्मेवारी निभा रही हैं वहीं उनके जनहित में सामाजिक संदेश के साथ किये जा रहे कार्य न केवल महिलाओं बल्कि पूरे समाज के लिए प्रेरणास्रोत हैं। आउटस्टैंडिंग वुमन एडमिनिस्ट्रेटर अवार्ड लेने उपरांत मंच से उपायुक्त सोनल गोयल ने अपने अनुभव भी सांझे किये। उन्होंने कहा कि देश के प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी व हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल एक सकारात्मक सोच के साथ सामाजिक बदलाव की दृष्टि से काम कर रहे हैं। 

एक सफल नेतृत्व को मार्गदर्शक मानते हुए वे भी प्रयास करती हैं कि केंद्र व प्रदेश सरकार की जनकल्याणकारी नीतियों का लाभ समाज के अंतिम व्यक्ति तक पहुंचे। ऐसे में आधारभूत ढांचागत विकास कराने के साथ ही झज्जर जिले में सोच-पे-दस्तक मुहिम के तहत पुरुषों व महिलाओं की मानसकिता को बदलने की कोशिश झज्जर प्रशासन की ओर से की जा रही है। युवा शक्ति को भी इस मुहिम से जोड़ते हुए संस्कारवान बनाया जा रहा है ताकि महिलाओं के प्रति आपराधिक मामलों पर अंकुश लग सके। उन्होंने अपने विचार रखते हुए कहा कि महिला होना ही आपके जीवन की सबसे बड़ी उपलब्धि है, न कि आपका सबसे बड़ा डर। इस नारीत्व को अपने आत्मविश्वास के रूप में अपनाकर अपने डर और दबाव को दूर किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि बेटी की शिक्षा पूरे परिवार को शिक्षित करती है, ऐसे में बेटियों को स्वावलंबी बनाना बेहद जरूरी है। यहां आपको बता दें कि अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर 8 मार्च को उपायुक्त सोनल गोयल ने बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान के तहत हरियाणा की टीम का नेतृत्व किया था। राष्ट्रपति श्री राम नाथ कोविंद ने झज्जर जिले में चलाए जा रहे पुनीत अभियान के लिए उपायुक्त सोनल को प्रोत्साहित भी किया। 

कॉन्क्लेव के दौरान उपायुक्त सोनल गोयल सहित आईआईएम कोजिखोड़े के निदेशक डॉ  देबाशीष चटर्जी, प्रो.निहारिका वोहरा, शुक्ला बोस, छांव फाउंडेशन की डायरेक्टर लक्ष्मी अग्रवाल, काल्कि सुब्रमण्यम, पूर्व मिस इंडिया शिवानी वजीर, डॉ कृति पारेख, डॉ कविता ए शर्मा, लेखिका प्रीति सिंह, तन्नू वेड्स मनु फेम अभिनेत्री दीप्ती मिश्रा ने विचार सांझे किए।

Thursday, 23 August 2018

यूरिक एसिड के लिए शीर्ष 10 होम्योपैथिक चिकित्सा - गठिया उपचार

यूरिक एसिड के लिए शीर्ष 10 होम्योपैथिक चिकित्सा - गठिया उपचार

फरीदाबाद 24 अगस्त ।  शास्त्रीय होम्योपैथिक क्लिनिक में, किसी भी बीमारी के लिए हमारा दृष्टिकोण व्यक्ति को पूरी तरह से इलाज करना है। इस प्रकार, रोगी के संविधान को कम करने से हमेशा शास्त्रीय होम्योपैथिक डॉक्टर को सबसे उपयुक्त उपाय चुनने में मदद मिलती है। सही होम्योपैथिक दवा के साथ डॉ। अभिषेक के अनुसार, एक आहार लेना बहुत महत्वपूर्ण है जो purines में कम है।

उच्च यूरिक एसिड के लिए सर्वश्रेष्ठ होम्योपैथी चिकित्सा
आउरा होम्योपैथी में, डॉक्टरों की हमारी खुराक रोगी की कुल तस्वीर के आधार पर होम्योपैथिक दवा निर्धारित करती है जिसमें उसकी जीवनशैली, मानसिक तनाव, उसके तनाव स्तर और भावनात्मक स्थिति, उनके चरित्र, आहार, यूरिक एसिड का पारिवारिक इतिहास और अन्य कारक शामिल हैं। गौट-एरिक एसिड के लिए सर्वश्रेष्ठ होम्योपैथिक दवा खोजने के लिए - दर्दनाक जोड़। ऑरा होम्योपैथी क्लिनिक में, हमारे उपचार को वैयक्तिकृत किया जाता है, यानी गठिया या उच्च यूरिक एसिड स्तर वाले 2 रोगियों को अलग-अलग व्यक्तियों के रूप में माना जाता है, और प्रत्येक रोगी को होम्योपैथिक दवा निर्धारित की जाएगी जो उनके लक्षण के साथ सबसे अच्छी तरह से मेल खाती है।

उच्च यूरिक एसिड होने के जोखिम के बारे में और जानने के लिए हमें देखें

गठिया के इलाज के लिए नीचे 10 सर्वश्रेष्ठ होम्योपैथी दवाएं हैं- उच्च यूरिक एसिड।

कोल्चिकम: महान पैर की उंगलियों के दर्द और सूजन, एड़ी में दर्द की मरीज की शिकायत, वह भी छूने के लिए सहन नहीं कर सकता है। निचले हिस्सों की सूजन और ठंडाता। दर्द और बुखार के साथ जोड़ों की कठोरता। कभी-कभी दर्द को बदलने के रोगी की शिकायतों। रात और शाम को गर्म मौसम से दर्द बढ़ जाता है। अधिक जानकारी हमें देखें: दिल्ली में सर्वश्रेष्ठ होम्योपैथी डॉक्टर

यूर्टिका यूरेन: यह होम्योपैथिक दवा उच्च यूरिक एसिड के स्तर के इलाज के लिए सर्वश्रेष्ठ है क्योंकि यह हमारे शरीर से यूरिक एसिड को खत्म करने में वृद्धि करती है। डायथेसिस: गठिया और यूरिक एसिड। संयुक्त दर्द त्वचा के विस्फोट जैसे आर्टिकरिया से जुड़ा हुआ है। Deltoid, कलाई और एड़ियों में सूजन और दर्द की रोगी शिकायत।

बेंजोइक एसिड: आक्रामक और उच्च रंगीन मूत्र के साथ-साथ क्रैकिंग ध्वनियों के साथ दर्द और पेट की सूजन और अन्य जोड़ों की सूजन की शिकायतें। दर्दनाक गठिया नोड्स। उजागर और खुली हवा में संयुक्त दर्द बढ़ता है।

लेडम पाल: आरोही संधिशोथ के लिए सर्वश्रेष्ठ होम्योपैथिक दवा, विशेष रूप से छोटे जोड़ों के दर्द को अलग करना। ग्रेट पैर की अंगुली दर्दनाक, सूजन और स्पर्श करने के लिए गर्म। सामान्य रूप से शीत अनुप्रयोग के साथ दर्द ठीक हो जाता है।

एंटीमोनियम क्रूड: गैस्ट्रिक शिकायतों के साथ विशेष रूप से ऊँची एड़ी और उंगलियों में गठिया दर्द। जीभ मोटी सफेद लेपित है। गर्मी और ठंडे स्नान के साथ लक्षण बढ़े। अधिक जानकारी हमें देखें: दिल्ली में सर्वश्रेष्ठ होम्योपैथी डॉक्टर

सबिना: यह गर्भाशय बीमारियों के साथ महिला रोगी के लिए सबसे अच्छा है। गर्म कमरे में संयुक्त दर्द खराब हो जाता है। लाल चमकदार सूजन और गौटी नोडोसिटी की रोगी शिकायतें। Esp। गर्भाशय की परेशानी के साथ महिलाओं में।

अर्नीका: सूजन और दर्द से पीड़ित भावनाओं के साथ जोड़ों में दर्द, दर्द चलने के साथ बढ़ता है। अलग संयुक्त दर्द के कारण, रोगी को उसके निकट छुआ या संपर्क करने से डर लगता है।

बर्बेरिस वल्गारिस: क्रोनिक गठ संविधान। दर्द की अचानक शुरुआत। जोड़ों में अचानक सिलाई दर्द की रोगी शिकायतें। दर्द गति के साथ बढ़ता है। मेटाटारल हड्डियों के बीच दर्द को सिलाई करना जैसे नाखून छेड़छाड़ कर रहा है, खड़े होने पर दर्द बढ़ता है।

लाइकोपोडियम: एक कंकड़ पत्थर से दर्द को ठीक करें। पैर की उंगलियों और उंगलियों में दर्द के साथ तलवों पर कॉलोसिटी। दाहिने पैर गर्म और बाएं पैर ठंडा। पेशाब के दौरान रोगी रोना, पेशाब में लाल तलछट। पेशाब गुजरने के बाद बैकैश में सुधार हुआ। संयुक्त दर्द और अन्य शिकायतें 4 बजे से शाम 8 बजे के बीच बढ़ीं।

Rhododendron: जोड़ों के दर्द और सूजन विशेष रूप से महान पैर की अंगुली संयुक्त, दर्दनाक स्थिति तूफान से पहले बढ़ जाती है। सही पक्षपातपूर्ण स्नेह। सुबह में सुबह, तूफान से पहले और लंबे समय तक रहने के बाद संयुक्त दर्द बढ़ गया। सामान्य रूप से गर्मी और खाने में गर्मी के साथ।

Tuesday, 21 August 2018

रावल शिक्षण संस्थान के चेयरमैन सीबी रावल को लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड से सम्मानित

रावल शिक्षण संस्थान के चेयरमैन सीबी रावल को लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड से सम्मानित

फरीदाबाद 22 अगस्त । रावल शिक्षण संस्थान के चेयरमैन सीबी रावल को शिक्षा के क्षेत्र में अमूल्य योगदान के लिए लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड से सम्मानित किया गया होटल रेडिसन ब्लू में प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन आयोजित द्वारा आयोजित समारोह में उद्योग मंत्री विपुल गोयल ने रावल संस्थान के चेयरमैन सीबी रावल को यह अवार्ड प्रदान किया समारोह की अध्यक्षता विश्वकर्मा कौशल यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर राज नेहरु ने की समारोह में विभिन्न स्कूलों भी उपस्थित रहे I 

 इस अवसर पर पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय अटल बिहारी वाजपेई की स्मृति में दो मिनट का मौन रखकर श्रद्धांजलि भी दी गई अपने संबोधन में मुख्य अतिथि विपुल गोयल ने सीबी रावल के योगदान को सराया आयोजकों ने उद्योग मंत्री विपुल गोयल वाइस चांसलर राज नेहरू को भी शॉल ओढ़ाकर व स्मृति चिन्ह भेंट कर उनका अभिनंदन

Sunday, 19 August 2018

सर्वे : भाजपा प्रवक्ता राजीव जेटली जनता की पहली पसंद

सर्वे : भाजपा प्रवक्ता राजीव जेटली जनता की पहली पसंद

फरीदाबाद 19 अगस्त I हरियाणा भाजपा प्रवक्ता राजीव जेटली बने जनता के सबसे पसंदीदा संभावित प्रत्याशी I सोशल मीडिया पर लगभग एक साल से  बड़खल विधानसभा फेसबुक आई डी पर किये जा रहे सर्वे में जिसमे मोजुदा एवं विधायक के साथ साथ बड़े राजनितिक नेताओं के नाम भी डाले गए थे और जनता से अपने पसंद के प्रत्याशी के पक्ष में कमेन्ट के माध्यम से वोट डालने की अपील की थी और लगभग एक साल से जनता अपने पसंदीदा प्रत्याशी को वोट कर रही थी.

अब उसी सोशल मीडिया ने वोट के परिणाम घोषित किये जिसमे राजीव जेटली ने प्रथम स्थान हांसिल किया और सोशल मीडिया पर हरियाणा भाजपा प्रवक्ता राजीव जेटली जनता की पहली पसंद बने जिसमे जनता ने सबसे ज्यादा उनके पक्ष में वोट किया 

इस से एक बात तो प्रतीत होती है की जनता अब नये चेहरे को मौका देना चाहती है क्योंकि पीढियां बदल चुकी हैं और नयी पीढ़ी पुरानी परम्पराओं को छोड़ कर ऐसे युवाओं को आगे लाना चाहती है जिसमे राजनितिक सुझबुझ के साथ दूरदर्शिता भी देखी जा सके शायद यही वजह रही की संभावित प्रत्याशियों में राजनितिक और रासुक्दार परिवार से जुड़े युवा को भी नजरअंदाज कर मध्यम वर्ग से आने वाले युवा भाजपा प्रवक्ता राजीव जेटली को सबसे ज्यादा वोट देकर चुना गया        

Sunday, 5 August 2018

हरियाणा विश्वकर्मा कौशल विश्वविद्यालय ने शुरू किया प्राचीन एवं लुप्तप्राय

हरियाणा विश्वकर्मा कौशल विश्वविद्यालय ने शुरू किया प्राचीन एवं लुप्तप्राय

गुरुग्राम 6 अगस्त । हरियाणा विश्वकर्मा कौशल विश्वविद्यालय में आज एक कार्यशाला का आयोजन किया गया। इस कार्यशाला में भारत की प्राचीन तथा लुप्तप्रायः लिपियों जैसे ब्राह्मी लिपि व शारदा लिपि के संरक्षण व संवर्धन का विषय मुख्य रूप से उठाया गया।

ज्ञात हो कि संस्कृत भाषा की मूल लिपि शारदा लिपि है जिसे बाद में देवनागरी लिपि में लिखा जाने लगा। शारदा लिपि कश्मीर में मुख्य रूप से प्रचलित थी परंतु अब वह लिपि लगभग लुप्तप्राय: हो गई है। परंतु इस लिपि में लिखे हुए अनेक पांडुलेख अभी भी मौजूद हैं।

 इसी तरह ब्राह्मी लिपि भी पूरे संसार की समस्त लिपियों की जननी है। ब्राह्मी लिपि इस सृष्टि की आदि लिपि कही जाती है। ब्राह्मी लिपि से दो लिपियों के निकलने का प्रमाण मिलता है। उत्तर ब्राह्मी तथा दक्षिण ब्राह्मी।उत्तर ब्राह्मी से उत्तर भारत की समस्त लिपि निकली। जिनमे शारदा, डोगरी, गुरमुखी, नागरी, देवनागरी, असमिया, गुजराती, प्रमुख है। इसी तरह दक्षिण ब्राह्मी लिपि से दक्षिण भारत की अनेक लिपियों  जिसमें तेलुगु,  तमिल, कन्नड़, मलयालम आदि लिपियों प्रमुखता से जानी जाती हैं।

आज की तिथि में शारदा और ब्राह्मी लिपि लगभग लुप्तप्राय: हो चुकी है जबकि इन दोनों भाषाओं के लगभग एक लाख पुरातत्व लेख आज भी मौजूद है जो अनुवाद की इंतजार कर रहे हैं। भारत के समृद्ध इतिहास व पुरानी भारतीय धरोहर को जानने और समझने के लिए इन लिपियों का जानना और समझना बहुत आवश्यक है तथा उसके बाद इन पुरातत्व लेखों को अनुवाद करके उन में लिखी हुई बातों को समझा जा सकता है।

हरियाणा विश्वकर्मा कौशल विश्वविद्यालय द्वारा आयोजित इस कार्यशाला में शारदा लिपि  के मुख्य विद्वान श्री उदय काकरू जी, श्री शशि शेखर जी टोश्वानी तथा श्री हीरालाल जी वांगनू उपस्थित थे तथा साथ ही ब्राह्मी लिपि के मुख्य जानकार डॉक्टर श्रेयांस द्विवेदी जी, उपाध्यक्ष हरियाणा संस्कृत अकादमी, डॉक्टर सुरेंद्र मोहन मिश्र, कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय,  श्री शिव नारायण शास्त्री भिवानी तथा श्री रामेश्वर दत्त शर्मा, पूर्व उपाध्यक्ष हरियाणा संस्कृत अकादमी एवं उनके साथ ही श्री गवेश जी डीडी मेट्रो पर संस्कृत भाषा के समाचार वाचक उपस्थित थे।
 वर्कशॉप की अध्यक्षता विश्वविद्यालय के कुलपति श्री राज नेहरू ने की तथा संचालन सहायक कुलसचिव संजीव तायल ने किया। इस कार्यशाला में विश्वविद्यालय के शैक्षिक अधिष्ठाता डॉक्टर आर एस राठौर तथा संयुक्त निदेशक कर्नल उत्कृष्ट राठौर भी उपस्थित रहे।

कार्यशाला में सभी भारतीय लिपियों को संरक्षित व संवर्धित करने की तथा इन लिपियों के डिजिटलाइजेशन के लिए कार्य करने की बातों पर विचार हुआ।यह भी विचार हुआ कि भारत के युवाओं में इन लिपियों को प्रचलित करने के लिए तथा युवाओं का रुझान इन लिपियों की तरफ बढ़ाने के लिए  रोजगारोन्मुख शिक्षा से जोड़ा जाए तथा इन लिपियों में सर्टिफिकेट कोर्स, डिप्लोमा कोर्स, डिग्री कोर्स आदि के लिए पाठ्यक्रम तैयार किया जाए। विश्वविद्यालय अपना पहला बैच विश्व संस्कृत दिवस अर्थात 26 अगस्त से गुड़गांव में संस्कृत भाषी विद्वानों के लिए प्रारंभ करेगा ऐसी योजना भी बनी।

Thursday, 2 August 2018

HVSU और HDFC में M.Voc के लिए हुआ MoU साइन

HVSU और HDFC में M.Voc के लिए हुआ MoU साइन

GURUGRAM 3 AUGUST I HVSU एंड HVSU ने किया M.Voc  बैंकिंग एंड फाइनेंस के लिए अनुबंध: स्नातकों के लिए बैंकिंग प्रशिक्षण के नए अवसर HDFC बैंक और हरियाणा विश्वकर्मा कौशल विश्वविदयालय के बीच यूनिवर्सिटी के पहले पोस्ट ग्रेजुएट कार्यक्रम M.Voc के लिए    अनुबंध पर हस्ताक्षर हुए। 

इस अवसर पर माननीय कुलपति श्री राज नेहरू जी ने कहा कि यूनिवर्सिटी का यह स्नातकोत्तर कोर्स फाइनेंस और बैंकिंग के क्षेत्र में युवाओ को एक विशेष अवसर प्रदान करेगा।

बैंकिंग और फाइनेंस रोजगार की दृष्टि से उभरते हुए क्षेत्र है तथा इसमें युवाओं के विकास के लिए पर्याप्त अवसर उपलब्ध हैं । यूनिवर्सिटी ने हाल ही में ऑटोमोबाइल मैन्युफैक्चरिंग, मेकाट्रोनिक्स, रोबोटिक्स , टूल एंड डाई , बी पी एम आदि तकनीकी  क्षेत्रों के साथ साथ स्वास्थ्य सेवाओं में  10 नए कोर्सेज शुरू किये है।  उन्होंने कहा कि उन्हें ख़ुशी है कि राज्य की विभिन्न औद्योगिक इकाईयां यूनिवर्सिटी के दोहरी शिक्षा के मॉडल को विकास के मॉडल के रूप में अपना रहें हैं । उन्होंने  HDFC बैंक का धन्यवाद किया तथा कहा कि उनकी यह पहल इस इंडस्ट्री में एक उदाहरण के रूप में उभर कर आने वाले समय में अधिक  से अधिक युवाओं को इस दिशा में विभिन्न अवसर उपलब्ध के लिए प्रेरणादायक रहेगी। 

 श्री राज नेहरू ने कहा कि यूनिवर्सिटी का उद्देश्य वर्तमान तथा भविष्य में उभरने वाले सभी क्षेत्रों में विभिन्न स्तर के कार्यकर्मो द्वारा युवाओं को संबधित क्षेत्रो में इंडस्ट्री के सहयोग से बेहतर अवसर प्रदान करना है। उन्होंने साँझा किया कि राष्ट्रीय तथा अंतर्राष्ट्रीय विकास और अवसरों को ध्यान में रख कर इस दिशा में रिसर्च करने के लिए यूनिवर्सिटी की टीम निरंतर प्रयासरत हैं ।

यूनिवर्सिटी द्वारा फाइनेंस और बैंकिंग के इस पोस्ट ग्रेजुएट प्रोग्राम में छात्रों को प्रत्येक सत्र में  3 महीने की क्लास रूम ट्रेनिंग के साथ 3 महीने का प्रशिक्षण गुरुग्राम स्थित बैंक की विभिन्न शाखाओं में दिया जायेगा। प्रोग्राम की अवधि दो साल की है। इस  प्रोग्राम को इसी वर्ष अक्टूबर में लांच किया जायेगा और आवेदन आमंत्रित किये जायेंगे। 

माननीय कुलपति महोदय राज नेहरू की विशेष उपस्थिति में HDFC बैंक की ओर से रीजनल हेड जसमीत सिंह आनंद व यूनिवर्सिटी की तरफ से डीन प्रो आर एस राठौड़ ने अनुबंध पर हस्ताक्षर किये। 

प्रशिक्षण कार्यक्रम पर  बात करते हुए, एचडीएफसी बैंक के क्षेत्रीय प्रमुख श्री जसमीत सिंह आनंद ने कहा कि स्नातक स्तर के छात्रों के लिए यह कोर्स एक मील का पत्थर साबित होगा तथा उन्हें उम्मीद है कि इस के माध्यम से जहाँ एक तरफ  हम बैंक की आवश्यकताओं के अनुरूप छात्रों को तैयार कर पायेंगें अपितु पूरी बैंकिंग इंडस्ट्री के लिए   एक अच्छी प्रतिभा पूल का निर्माण करेंगे। "

डीन प्रो आर एस राठौर ने बताया कि किस प्रकार यूनिवर्सिटी ने थोड़े ही समय में माननीय कुलपति श्री राज नेहरू जी ने मार्ग दर्शन में यूनिवर्सिटी अपना  कैंपस न होते हुए भी दोहरी शिक्षा प्रणाली के तहत विभिन्न कोर्सेज का सञ्चालन कर रही है कार्यक्रम पर प्रकाश डालते हुए उन्होंने कहा कि HDFC के साथ मिलकर अंतर्राष्ट्रीय जरूरतों के मुताबिक इसकी रुपरेखा तैयार की जाएगी

बैंकिंग और फाइनेंस में M.Voc यह प्रोग्राम NSQF दिशानिर्देशों के अनुरूप यूजीसी द्वारा प्रमाणित मापदंडो पर आधारित होने के साथ साथ बैंकिंग इंडस्ट्री की आधुनिक व भविष्य की जरूरतों के अनुरूप इंडस्ट्री और अकादमिक विशेषज्ञों द्वारा डिजाईन किया जायेगा। 

इस अवसर पर HDFC से अखिल मल्होत्रा क्लस्टर प्रमुख , कल्पना व मिनाक्षी,  युनिवेर्सिटी से कर्नल उत्कर्ष राठौर सह निदेशक, डॉ राज सिंह सह निदेशक, डॉ संजय भारद्वाज उप निदेशक, सिमी सोमसुंदरम, सतीश  भूटानी , डॉ ललित शर्मा, मिनाक्षी कॉल, संजीव तायल, परवीन, अनिल जांगड़ा आदि अधिकारी भी मौजूद रहे।

Friday, 27 July 2018

UGC approves HVSU B.Voc Programs

UGC approves HVSU B.Voc Programs

GURUGRAM 27 JULY । UGC approves B Voc programmes of Haryana Vishwakarma Skill University under NSQF with effect from the current academic session 2018-19.
 HVSU is committed to create and provide best employability opportunities to the youth of the State and country - Raj Nehru, VC HVSU

Tuesday, 24 July 2018

Hyundai Motor India Signs MoU with Automotive Skills Development Council (ASDC)

Hyundai Motor India Signs MoU with Automotive Skills Development Council (ASDC)

New Delhi, 24 July 2018: Hyundai Motor India Limited, the second largest manufacturer of passenger cars and the largest exporter since inception signed a MoU with Automotive Skills Development Council (ASDC) to conduct training & create job opportunities for unskilled manpower above 18 years of age and having qualification of 8th grade and above.  
Under this agreement, the training program will be conducted at six Hyundai dealerships associated with Hyundai’s World-Class Technical Training Academy-HTTA across India. After the successful completion of the program, the students will also be offered an opportunity to work in Hyundai workshops for aftersales jobs such as Service Support Technician and Washer.  
Commenting on the association with ASDC, Mr. S J Ha, Director- Sales & Marketing, Hyundai Motor India Ltd. said, “We are proud to sign this MoU with Automotive Skills Development Council – A first in Industry initiative by an automobile manufacturer in India for aftersales operations. As a responsible and caring brand, Hyundai is aligned and committed to the Government’s Skill India initiative. We work with ITI’s and Polytechnic institutes in every state where we absorb close to 99 percent students in different entities in the Hyundai India ecosystem. This MoU will further boost our commitment towards skilling and employing the youth of India.”

Speaking at the occasion, Mr. Nikunj Sanghi, President, Automotive Skills Development Council (ASDC) said, We are happy to partner with Hyundai Motor India in this Skill Development initiative. This association is a benchmark in the industry and aims at strengthening the Government of India’s vision of Skill India in employment generation.”

Trainees will be given an option to choose from different automotive training courses designed by ASDC like Automotive Service Technician and Washer Training. The ASDC training will be provided at subsidized fees to the young and unskilled population which will empower them to take up the After Sales Operational roles at Hyundai dealerships across India. 

                                                                        

About HMIL
                                                                                                                           
Hyundai Motor India Limited (HMIL) is a wholly owned subsidiary of Hyundai Motor Company (HMC). HMIL is the second largest car manufacturer and the number one car exporter since inception in India. It currently has nine car models across segments – EON, GRAND i10, ELITE i20, ACTIVE i20, XCENT, VERNA, ELANTRA, CRETA and TUCSON. HMIL’s fully integrated state-of-the-art manufacturing plant near Chennai boasts advanced production, quality and testing capabilities.

HMIL forms a critical part of HMC’s global export hub. It currently exports to around 88 countries across Africa, Middle East, Latin America, Australia and Asia Pacific. To support its growth and expansion plans, HMIL currently has 495 dealers and more than 1,309 service points across India. In its commitment to provide customers with cutting-edge global technology, Hyundai has a modern multi-million dollar R&D facility in Hyderabad. The R&D centre endeavors to be a center of excellence in automobile engineering.

Sunday, 15 July 2018

स्किल यूनिवर्सिटी के छात्रों ने चलाया ड्राइवर्स के लिए अनोखा अभियान

स्किल यूनिवर्सिटी के छात्रों ने चलाया ड्राइवर्स के लिए अनोखा अभियान

गुरुग्राम 16 जुलाई ।  वर्ल्ड युथ स्किल  के आयोजन पर  हरियाणा विश्वकर्मा कौशल विश्वविदयालय ने अनोखी पहल करते हुए जागरूकता अभियान का आयोजन किया। यु निवेर्सिटी के छात्रों द्वारा आयोजित इस विशेष कार्यक्रम के तहत गुरुग्राम, धारुहेड़ा और फरीदाबाद में विभिन्न स्थानों पर स्किल जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किये गए।

इस अवसर पर कुलपति श्री राज नेहरू ने बताया कि नवम्बर 2014 में यूनाइटेड नेशन्स द्वारा 15 जुलाई को वर्ल्ड युथ स्किल डे गके रूप में मनाए जाने की घोषणा की गयी । इसका मुख्य उद्देश्य युवाओ को बदलते परिवेश के अनुरूप स्वयं को कुशल बनाये रखने के प्रति जागरूक करना है। उन्होंने बताया कि हरियाणा राज्य ने देश की पहली यूनिवर्सिटी स्थापित कर स्किल डेवलपमेंट के क्षेत्र में एक विशेष कदम उठाया है जिस से राज्य के युवाओ के कौशल प्रशिक्षण के  विभिन्न अवसर प्राप्त होंगे। उन्होंने बताया कि  गत कुछ वर्षों के आंकडें दर्शातें हैं कि रोड एक्सीडेंट्स में जनहानि बहुत बढ़ रही है और इसका संज्ञान लेते हुए यूनिवर्सिटी के छात्रों ने इस वर्ष इस अवसर पर वाहन चालकों के लिए एक हैंडबुक तैयार की है और साथ लगभग 2000 वाहन कौशल को इस विषय पर प्रशिक्षण और जागरूक करने का निर्णय लिया।
छात्रों ने  जारूकता रैली का अयोजन किया तत्पश्चात कौशल शपथ ग्रहण की।

इसके बाद ड्राइवर को  हैंडबुक बांटी और आज 2000 ड्राइवर को स्किल के प्रति जागरूक किया  का । उन सभी ने शपथ  ली  कि वो खुद भी स्किल होंगे तथा दुसरो को भी इसके प्रति जागरूक करेंगें ।

Thursday, 21 June 2018

Haryana Vishwakarma Skill University Celebrates International Day of Yoga

Haryana Vishwakarma Skill University Celebrates International Day of Yoga

Gurugram 21 June: To commemorate the International Day of Yoga, Haryana Vishwakarma Skill University organized a Yoga practice session at the Government Industrial Training Institute, Gurugram. The event was attended by the students and staff of both the institutions, members of the corporate and volunteers, making it an impressive turnout.

Speaking on the occasion, Shri Raj Nehru, Vice Chancellor Haryana Vishwakarma Skill University said that Yoga is an ancient Indian system of developing of human’s inner ability for a more meaningful and purposeful living. Its about recognizing and realizing self that helps individual to understand others and also connect with them better. He said that yoga is a traditional practice of connecting self with self and self with others that results into physical, mental and social and social harmony. He also emphasized that by practicing yoga it brings a harmony between three 3 H- head, hand and heart that leads to better physical, mental and emotional human being.

Shri Raj Nehru said that Yoga has turned out to be a multi-billion dollar industry. There are many opportunities as a trainer and even as an entrepreneur. He said that Haryana Vishwakarma Skill University is actively considering of launching a few skill courses pertaining to Yoga in future.
Addressing the gathering Ramesh Aggarwal, MD Bikanerwala said that he was pleased to see so many young boys girls turning up for the event and practicing Yoga with such finesse. He expressed his fervent hope that this ancient science will not only be preserved but also spread across the world.

Dharam Rakshit, Hero Motocorp reiterated that Yoga is the need of the hour, when the young generation is faced with so many personal and professional stresses in life. Yoga provides solace to stressed mind and soul.

Varun Shah, Concentrix Ravinder Kumar, Principal ITI said that Yoga is such a vast and comprehensive art and science that it has something to offer to people from every walk of life irrespective of their caste, creed or religion.  

On this occasion, Vice Chancellor felicitated Pranav Dhar, a Kashmiri displaced youth  who is a promising youth . He has won a GOLD  medal  in Marshal Karate  at National leveland is going to represent India in 19th International Milo Karate Championship Kuala lumpur, Malaysia, on 29 Jun and Vice Chancellor Shri Raj Nehru   announced his scholarship trip to Malasiya. He said that these budding youth need to be supported and facilitated for such opportunities so that they can bring laurel to the Nation.

Thanking the guests, participants and the organisers Dr Sunil Gupta, Registrar Haryana Vishwakarma Skill University said India has given Yoga to the world, it is a heritage, which we must cherish, preserve and patronize. Yoga improves cognitive skills in the students and it should be included in the curriculum from an early age. There is need to popularize Yoga with in the country, he said.

Monday, 18 June 2018

 मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने इंडिया स्कील्स कंपीटिशन वेस्ट के 15 कौशल युवाओं को किया सम्मानित

मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने इंडिया स्कील्स कंपीटिशन वेस्ट के 15 कौशल युवाओं को किया सम्मानित

चंडीगढ़, 18 जून- हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने इंडिया स्कील्स कंपीटिशन वेस्ट के हरियाणा प्रदेश के 15 कौशल युवाओं को सम्मानित करते हुए कहा कि हरियाणा राज्य में  कौशल विकास के 150 प्रशिक्षण कार्यक्रम प्रारंभ किए जाने की योजना है।

           हरियाणा के मुख्यमंत्री ने नई दिल्ली में एक कार्यक्रम में वल्र्ड स्कील्स कंपीटिशन:इंडिया स्कील्स वेस्ट 2018 के हरियाणा प्रदेश के 15 विजेता युवाओं को सम्मानित किया। हरियाणा के मुख्यमंत्री ने विजेता कौशल युवाओं के उज्ज्वल भविष्य की कामना करते हुए कहा कि कौशल विकास के इस क्रम को औरों तक भी पहुचाना है। 

हरियाणा कौशल विकास विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव व हरियाणा कौशल विकास मिशन के उपाध्यक्ष श्री टी सी गुप्ता ने कार्यक्रम में बताया कि वल्र्ड स्किल कम्पटीशन कजान (इंडिया स्किल कम्पटीशन वेस्ट) में महाराष्ट्र के बाद हरियाणा ने सर्वाधिक स्थान प्राप्त किए हैं। हरियाणा विश्वकर्मा कौशल विश्वविद्यालय के कुलपति व हरियाणा कौशल विकास मिशन के मिशन निदेशक श्री राज नेहरू ने कौशल विकास कार्यक्रमों के बारे में जानकारी दी।

हरियाणा के मुख्यमंत्री द्वारा सम्मानित किए जाने वाले वल्र्ड स्कील्स कंपीटिशन: इंडिया स्कील्स वेस्ट 2018 के प्रथम स्थान प्राप्तकर्ता कौशल युवाओं में मनोज कुमार (एलेक्ट्रॉनिस), सोनू लाठर (ऑटो बॉडी रिपेयर), रितेश यादव (वेब डिजाइनिंग एंड डेवलपमेंट), रोशन (कार पेंटिंग), विनोद (प्लम्बिंग), प्रिंस कुमार (कुकिंग) जगत यादव (रेस्टुरेंट सेवा) शामिल रहे।

         प्रतियोगिता के उप विजेताओं में अमर (कारपेन्टरी), रोहित यादव (मेक्ट्रोनिक्स), मनीष कुमार (मेक्ट्रोनिक्स), दीपक गुप्ता (रेफरीजेशन), राहुल जांगड़ा (रेफरीजेशन), मुकुल छिकारा (रेस्ट्रोरेन्ट सेवा) रोहित गैदर (कुकिंग), कत्र्तव्य (पेंटिंग एंड डेकोरेशन) शामिल रहे।

         हरियाणा भवन में आयोजित कार्यक्रम में हरियाणा के अतिरिक्त स्थानीय आयुक्त श्री विवेक सक्सेना व हरियाणा कौशल विकास मिशन के संयुक्त निदेशक श्री राजपाल सिंह यादव भी मौजूद रहे।

Tuesday, 12 June 2018

पॉल्ट्री उद्योग और मक्का की आधुनिक खेती को लेकर उद्योग मंत्री विपुल गोयल की थाईलैंड के डेलिगेशन के साथ हुई बैठक

पॉल्ट्री उद्योग और मक्का की आधुनिक खेती को लेकर उद्योग मंत्री विपुल गोयल की थाईलैंड के डेलिगेशन के साथ हुई बैठक

गुरूग्राम : 12 जून I आधुनिक तकनीक के साथ किस तरह मक्का के उत्पादन को बढ़ाया जा सकता है और पॉल्ट्री उद्योग के साथ चिकन के व्यापार को कैसे बढावा दिया जा सकता है , इसके लिए थाईलैंड की सीपी फ़ूड्स कंपनी के साथ उद्योग मंत्री विपुल गोयल ने गुरूग्राम के लीला होटल में अहम बैठक की। इस बैठक में सीपी फ़ूड्स ने चीन सहित कई देशों में चल रहे अपने पॉल्ट्री फार्म पर एक प्रजटेंशन दिया कि किस तरह उन्नत तकनीक से मक्का का उत्पादन बढाने के साथ मुर्गी पालन और चिकन के व्यापार में कंपनी ने सफलता हासिल की है । इस बैठक में उद्योग विभाग के डायरेक्टर अशोक सांगवान और अतिरिक्त मुख्य सचिव देवेंद्र सिंह भी मौजूद रहे । 

थाईलैंड की फूड प्रोसेसिंग कंपनी सीपी फूड्स ने दावा किया कि उन्नत तकनीक से सिंचाई के लिए कम पानी का इस्तेमाल करते हुए मक्का का उत्पादन बढाया जा सकता है और किसानों को वो ट्रेनिंग के लिए भी ले जा सकते हैं जहाँ पहले से उनका पोल्ट्री उद्योग स्थापित है । कंपनी ने सोनीपत के आस पास के क्षेत्र में इसके लिए मिट्टी जाँच कर सर्वे अभी करवाया है । उद्योग मंत्री विपुल गोयल ने कहा कि कंपनी को 15 दिन में अभी हरियाणा के अन्य क्षेत्रों में मिट्टी जाँच करके और ये आँकड़ा देने को कहा गया है कि प्रति एकड़ किसानों को कितनी वार्षिक आय मक्का की खेती से हो सकती है । उन्होने कहा कि पर्याप्त अनुसंधान के बाद अगली बैठक चंडीगढ़ में मुख्यमंत्री मनोहर लाल के साथ होगी । विपुल गोयल ने कहा कि किसानों की आय बढ़ाने के लिए उन्हे आधुनिक खेती की ओर ले जाना वक्त की जरूरत है ।

Tuesday, 10 April 2018

 HVSU ने किया स्किल डेवलपमेंट में स्थापित एक और नया आयाम - विपुल गोयल

HVSU ने किया स्किल डेवलपमेंट में स्थापित एक और नया आयाम - विपुल गोयल

फरीदाबाद 11 अप्रैल।  हरियाणा विश्वकर्मा कौशल विश्वविद्यालय ने एचएसआईआईडीसी में आयोजित कार्यक्रम लॉन्च समारोहमें इंडस्ट्री इंटीग्रेटेड ड्यूल एजुकेशन मॉडल के तहत अपने 10 नए पाठ्यक्रम शुरू किए। यह अवसर पर माननीय कैबिनेटमंत्री, हरियाणा श्री विपुल गोयल जी मुख्य अतिथि तथा   श्रीटी सी गुप्ता, आईएएस और श्री राज नेहरू, वीसी एचवीएसयूविशिष्ट 
अतिथि थे

एचवीएसयू द्वारा आयोजित मेगा आयोजन मुख्य अतिथि औरअन्य गणमान्य व्यक्तियों द्वारा राष्ट्रीय गान और दीपक प्रकाशसमारोह से शुरू हुआ। श्री विपुल गोयल ने उद्योग एकीकृत दोहरी शिक्षा मॉडल के तहत विश्वविद्यालय के 10 नए पाठ्यक्रमों का शुभारंभ किया। उन्होंने उद्योग एकीकृत ड्यूल एजुकेशन मॉडल के लिए एचवीएसयू प्रक्रिया मैनुअल का भी अनावरण किया। यह मैनुअल संयुक्त रूप से एचवीएसयू और अर्नेस्ट एंड यंग द्वारा तैयार किया गया है। इसके अलावा आज एनआईईएसबीयूडी के सहयोग से एक उद्यमिता प्रशिक्षण कार्यक्रम भी शुरू किया गया था। यह कार्यक्रम राज्य के सक्षम  युवाओ के लिए शुरू किया गया है। ..... उद्योगपतियों  ने इस समरोह में भाग लिया और भावी कार्यक्रमों के लिए एचवीएसयू के साथ हाथ मिलाने की अपनी इच्छा साझा की।

कार्यक्रम की मुख्य विशेषताएं अपने उद्योग एकीकृत ड्यूएलकौशल शिक्षा मॉडल के तहत 10 नए कौशल विकास(डिप्लोमा, ग्रेजुएट और पोस्ट ग्रेजुएट) कार्यक्रमों का शुभारंभ, उनके समर्थन और सहयोग के लिए उद्योग भागीदारों कोसम्मान , हरियाणा विश्व कौशल प्रतियोगिता के क्षेत्रीयविजेताओं को पुरस्कृत करना और भारत की पहला उद्योगएकीकृत दोहरी कौशल शिक्षा मानकों और गुणवत्ता पुस्तिकाजारी करना रहा



सत्र 2018-19 सत्र के लिए एचवीएसयू द्वारा लॉन्च किया गएकार्यक्रम मोटर वाहन विनिर्माण और मोटर वाहन मेक्ट्रोनिक्स में बी. वॉक हीरो मोटोकॉर्प प्राइवेट लिमिटेड के साथ , बी.पी.एम. व् डाटा एनालिटिक्स  में  बी.वॉक कॉन्सेन्ट्रिक्स केसाथ , टूल्स और डाय मैन्युफैक्चरिंगमें बी.वॉक  तथारोबोटिक्स और स्वचालन में बी.वॉक , IQVIA के साथसार्वजनिक स्वास्थ्य में स्नातकोत्तर डिप्लोमा, जिओ सूचनाविज्ञान में पीजी डिप्लोमा, ट्राईम इंडिया के साथ प्लास्टिकइंजीनियरिंग में एडवांस्ड डिप्लोमा, बीकानेरवाल के साथडिप्लोमा और औद्योगिक इलेक्ट्रॉनिक्स में डिप्लोमा आदिशामिल है  विश्वविद्यालय ने 10 वीं कक्षा के छात्रों  से स्नातकस्तर के छात्रों के लिए वभिन्न कोर्सेज शुरू किये हैं जिनमेंभारतीय पारंपरिक भोजन से लेकर स्वचालन और डेटाविश्लेषिकी तक के विस्तृत पाठ्यक्रमों को कवर किया है। 17 अप्रैल से ऑनलाइन आवेदन के माध्यम से शुरू होगा औरअधिक विवरण जल्द ही विश्वविद्यालय की वेबसाइट परउपलब्ध होगा।


इस अवसर पर विश्वविद्यालय के कर्मचारियों को बधाई देतेहुए माननीय मंत्री विपुल गोयल ने कहा कि यदि हम रोजगारऔर उत्पादकता के प्रति हमारी युवा जनसंख्या की ऊर्जा कोनिर्देशित करना चाहते हैं, तो कौशल शिक्षा की जरूरत है।उद्योग मंत्री ने इंडस्ट्री इंटीग्रेटेड ड्यूल एजुकेशन मॉडल में भागलेने और राज्य में कौशल शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए श्रीराज नेहरु के कुलपति एचवीएसयू के दृष्टिकोण और प्रयासोंकी सराहना की।

मंत्री ने उद्योग समेकित दोहरी शिक्षा मॉडल के लिए एचवीएसयू प्रक्रिया मैनुअल जारी किया। इस पुस्तिका को संयुक्त रूप से एचवीएसयू और अर्नेस्ट एंड यंग द्वारा तैयार किया गया है। इसने उद्योग समेकित दोहरी शिक्षा मॉडल के लिए विस्तृत दिशानिर्देश निर्धारित किए हैं जो उच्च कौशल शिक्षा के क्षेत्र में प्रयोग करने की इच्छा रखने वाले सभी लोगों के लिए सहायक होंगे। उन्होंने उद्योग  को आगे आने के लिए प्रोत्साहित किया और एकीकृत मॉडल में एचवीएसयू के साथ सहयोग करके हरियाणा सरकार के कौशल मिशन में भाग लिया।

श्री गोयल ने अपने उद्योग भागीदारों और प्रशिक्षकों को सम्मानित करने के लिए एचवीएसयू की पहल की सराहना की, जो नौकरी प्रशिक्षण के दौरान एचवीएसयू छात्रों के प्रशिक्षण में हैं। इस में  हीरो मोटोकॉर्प के 21 प्रशिक्षक, कॉन्सेन्ट्रिक्स के दो और अर्नेस्ट एंड यंग के दो प्रतिनिधि प्रशंसा प्रमाणपत्र के साथ उनके बहुमूल्य योगदान के लिए धन्यवाद दिया 

श्री टीसी गुप्ता, अतिरिक्त मुख्य सचिव हरियाणा, कृषि मजदूरों से स्नातकोत्तर पदों के लिए विभिन्न लक्ष्य समूहों के लिए उपयुक्त कौशल पाठ्यक्रम की आवश्यकता पर बल दिया। उन्होंने आशा व्यक्त किया कि हरियाणा में अन्य सभी तकनीकी और कौशल शिक्षा संस्थाएं एचवीएसयू द्वारा विकसित किए गए मॉडल का अनुकरण करती हैं। उन्होंने यह भी बताया कि २१ को आईटीआई  मॉडल आईटीआई  में परिवर्तित किया जा रहा है जो कि दोहरी शिक्षा मॉडल पर काम करेंगी , धीरे धीरे अन्य आईटीआई भी मॉडल आईटीआई परिवर्तित हो जाएंगे।

हरियाणा कौशल विकास मिशन के  निदेशक व कुलपति, HVSU   राज नेहरू ने कहा कि आज के परिदृश्य में बेरोजगार युवाओं को नौकरी या स्वयं रोजगार में चुनौतियों का सामना कर रहे हैं। उन्होंने आगे कहा कि राज्य में इतने बड़े युवाओं को प्रशिक्षित करने की तात्कालिकता केवल सक्रिय भागीदारी अकादमिक और उद्योग के साथ हासिल की जा सकती है। और उद्योग एकीकृत ड्यूल एजुकेशन मॉडल गुणवत्ता कौशल प्रशिक्षण हासिल करने का सबसे अच्छा विकल्प है, जो औद्योगिक परिवेश  से रोजगार के लिए युवाओं को तैयार करेगा । उन्होंने श्री रमेश अग्रवाल एमडी- बीकानेर वाला ,  लोकेश, हेड पब्लिक हेल्थ, आईक्यूवीआईए स्वास्थ्य, श्री राकेश सूद एमडी - ट्रिम इंडिया, सुश्री सोनल  डायरेक्टर- कॉन्सट्रिक्स, श्री एम एम सिंह हेड ट्रेनिंग - हीरो मोटोकॉर्प, सुश्री दीप्ति सदेदेव हेड कम्युनिकेशन - जेबएम ग्रुप और ईस्ट वेस्ट ऑटोमेशन से श्री अरविंद कोल उद्योग एकीकृत ड्यूल एजुकेशन मॉडल के तहत विभिन्न कौशल पाठ्यक्रमों को लॉन्च करने के लिए उपस्थित थे  
 इस अवसर पर श्री सुंदर सिंह सरपंच दुधोला भी दुधोला के गणमान्य व्यक्तियों के साथ उपस्थित थे।


विश्व स्तरीय  स्किल २०१९, कज़न  के लिए भारत कौशल हरियाणा 2018 प्रतियोगिता क

Friday, 23 March 2018

युवाओ को समाज के प्रति अपने दायित्व के प्रति जागरूक होना चाहिए- राज नेहरु

युवाओ को समाज के प्रति अपने दायित्व के प्रति जागरूक होना चाहिए- राज नेहरु

गुरुग्राम : 23 मार्च : हरियाणा विश्कर्मा कौशल विश्वविद्यालय ने अखिल भारतीय कश्मीरी समाज की मदद से कुष्ठरोगी पुनर्वास केंद्र के पीड़ित रोगियों की सहायता की। पीड़ित रोगियों ने अपनी कुछ इच्छाओं/भावनाओं को माननीय कुलपति श्री राज नेहरु (एचवीएसयू) के समक्ष इजहार किया था। इस इच्छा-सूचीनुसार उनकी मानवीय सम्वेदनाओं को समझते हुए आज एचवीएसयू और एआईकेएस के प्रयासों से इस मानवीय कार्य को पूरा किया, क्योंकि उनके मन इच्छा की पूर्ति से उनके जीवन में कुछ बदलाव आ सकें।  इन पीड़ित रोगियों को स्थाई रूप से उनके परिवारों द्वारा छोड़ दिया जाता है और  उनका जीवन इन पुनर्वास केंद्रों में गुजर जाता है।

कुलपति श्री राज नेहरू ने कहा एक सामाजिक कार्यकर्ता की भांति विपत्ति तथा दुखों से राहत दिलाने एवं उनके निवारण तथा आपेक्षित सेवाओं की व्यवस्था और संसाधन प्राप्त करने में और उस कार्य को सक्षम बनाने के लिए श्री विजय आईमा अध्यक्ष अखिल भारतीय कश्मीरी समाज हमेशा उनके साथ खड़े पाते हैं।

 कुलपति श्री  राज नेहरू ने कहा एक कहावत है रोग से घृणा करो रोगी से नहीं लेकिन हमारे समाज में लोग कुष्ठ रोग से ज्यादा कुष्ठ  रोगी से घृणा करते हैं,समाज अपने नजरिए में बदलाव लाएं और कुष्ठ रोगियों के लिए मदद का हाथ आगे बढ़ाएं तो हजारों ऐसे पीड़ित वृद्धों को बेघर होने से बचाया जा सकता है। उन्होनें कुष्ठ रोग से पीड़ित लोगों के साथ अपना कुछ समय बिताया और उन्होनें  पीड़ित लोगों की गतिविधियों  की कार्यप्रणाली को बारीकी से समझते हुए कुष्ठ रोग के प्रति समाज का नजरिया बदलने तथा लोगों को जागरुक करने में अपनी भूमिका निभाने की भी निश्चय किया।

माननीय कुलपति जी ने कहा देश में सामाजिक कार्य की वर्तमान संभावनाएं है।

सामाजिक कार्य परोपकारिता प्रजातांत्रिक आदर्शों से विकसित हुआ है। क्योंकि सामाजिक कार्य समाज में फैली बाधाओं असमानताओं तथा अन्याय का पता लगाता है इसका उद्देश्य व्यक्ति की पूर्व अंतर शक्ति का विकास करने और  जीवन की बुराई को रोकने में सहायता कर हमें प्रेरणा एवं चित्र के रूप में कार्य करते हैं । 

इस अवसर पर उनके साथ डॉ सुनील गुप्ता कुलसचिव (एचवीएसयू) डॉ ललित कुमार शर्मा श्री संजीव तायल सुश्री मीनाक्षी कॉल सुश्री शिखा गुप्ता एवं जोनल लेप्रोसी हॉस्पिटल के लेप्रोसी ऑफिसर डॉ उदित कुमार वार्ड सहायिका सुश्री भारती एवं सभी लेप्रोसी हॉस्पिटल स्टाफ मौजूद थे।