Previous
Next

Sunday, 3 February 2019

 इटली मैं विश्व किकबॉक्सिंग महासंघ' संतोष कुमार अग्रवाल ने भाग लिया

इटली मैं विश्व किकबॉक्सिंग महासंघ' संतोष कुमार अग्रवाल ने भाग लिया

फरीदाबाद 3 फरवरी : इटली के मिलान शहर के कांफ्रेंस हॉल, शेराटन होटल में सम्पन्न 'विश्व किकबॉक्सिंग महासंघ' की "विशेष आम सभा" में फरीदाबाद के संतोष कुमार अग्रवाल ने भाग लिया।

वाको इंडिया किकबॉक्सिंग महासंघ के महासचिव तारकेश मिश्रा ने बताया की कल दिनांक 2 फरवरी को इटली के मिलान शहर में "वर्ल्ड एसोसिएशन ऑफ किकबॉक्सिंग आर्गेनाईजेशन" की "विशेष आम सभा" बुलाई गई थी, जिसमें भाग लेने के लिए भारत देश से 'वाको इंडिया किकबॉक्सिंग महासंघ' के राष्ट्रीय अध्यक्ष  संतोष कुमार अग्रवाल को आमंत्रित किया गया था। इस बैठक में भारत से एकमात्र प्रतिनिधि के तौर पर श्री संतोष कुमार अग्रवाल ने भारत देश का प्रतिनिधित्व किया। 

राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री संतोष कुमार अग्रवाल ने बताया की इस आम सभा में मुख्य रूप से वर्ल्ड प्रेजिडेंट का चुनाव होना था, इस आम सभा में मुख्य रूप से विभन्न देशों के 51 प्रतिनिधि / अध्यक्ष ने हिस्सा लिया।इस आम सभा में 'यूरोपियन किकबॉक्सिंग महासंघ' के अध्यक्ष श्री रॉय बेकर (आयरलैंड)  को अंतरराष्ट्रीय अध्यक्ष चुना गया है. श्री अग्रवाल ने श्री रॉय बेकर के अध्यक्ष बनने पर उन्हें पूरे वाको इंडिया किकबॉक्सिंग परिवार की तरफ से बधाई दी है एवं आशा व्यक्त की है की उनके कुशल मार्गदर्शन में पूरे विश्व में किकबॉक्सिंग खेल का और अधिक समुचित विकास होगा।

श्री अग्रवाल ने यह भी बताया की इस दौरान भारत में किकबॉक्सिंग खेल के और अधिक विकास एवं प्रचारित, प्रसारित एवं तकनिकी दृष्टिकोण से और अधिक सशक्त बनाने के लिए उनकी विशेष बैठक वहां आये हुए विभिन्न देशों के प्रतिनिधियों के साथ हुई जिनमें प्रमुख हैं: रूस, मौरीसस, कज़ाख़स्तान, इस्टोनिया, जॉर्डन, तुर्की, उक्रैन एवं सर्बिआ आदि हैं. उन्होंने कई देशों के मुख्य प्रशिक्षकों को भी भारत आने का न्योता दिया.      

श्री संतोष कुमार अग्रवाल ने बताया की वर्तमान में किकबॉक्सिंग खेल 128 देशों में खेला जाता है और वहां पर इसका राष्ट्रीय संगठन भी है, अभी हाल ही में दिनांक 30 नवंबर 2018 को टोक्यो में आयोजित अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सभी खेलों की शीर्ष संस्था "अंतराष्ट्रीय ओलिंपिक समिति" की 'कार्यकारिणी बैठक' में किकबॉक्सिंग खेल की अंतरराष्ट्रीय संस्था 'वर्ल्ड एसोसिएशन ऑफ किकबॉक्सिंग ऑर्गनिज़ाशन्स' को मान्यता दे दी है, भारत में भी यह खेल काफी लोकप्रिय हो रहा है और लगभग सभी राज्यों में इसकी मान्यता प्राप्त इकाई काम कर रही है।
मानव रचना 12 वीं कॉर्पोरेट क्रिकेट चैलेंज :  MREI और NDTV ने जीता मुकबाला

मानव रचना 12 वीं कॉर्पोरेट क्रिकेट चैलेंज : MREI और NDTV ने जीता मुकबाला

फरीदाबाद  03  जनवरी I  12 वीं मानव रचना कॉर्पोरेट क्रिकेट चैलेंज 2019 का पहला मैच : NDTV और D.D.News के बीच खेला गया। दिन के मुख्य अतिथि सुशील पसरीजा, जयेंद्र वर्मा और श्री अमित सेठ सभी एचओडी, एफसीबीएस एमआरआईआईआरएस थे।

NDTV के कप्तान ने टॉस जीता और पहले गेंदबाजी करने का निर्णय लिया । D.D.News ने 17.2 ओवर में 176/10 रन बनाए। DDNews टीम के लिए,  आलोक ने 21 गेंदों में 53 रन (7 चौके, 3 छक्के) बनाए, अतुल ने 33 गेंदों में 35 रन (4 चौके, 1 छक्का) बनाए, दिव्यम ने 14 गेंदों में 28 रन बनाए (2 चौके, 3 छक्के) ) और राजेश ने क्रमशः 13 गेंदों (2 चौके, 2 छक्के) में 23 रन बनाए।

NDTV की गेंदबाजी के लिए आलोक रंजन (3.2-0-13-3), सुरेश (3-0-33-3) गगन (4-0-30-1) अपनी टीम के लिए नौशाद (4-0-42-1)

जवाब में NDTV ने आराम से सिर्फ 15.2 ओवर में 179/3 रन बनाकर 7 विकेट से जीत दर्ज की। NDTV टीम के लिए श्री गगन ने 18 गेंदों में नाबाद 56 रन बनाए (4 चौके, 6 छक्के), संदीप ने 34 गेंदों में 54 रन (6 चौके, 2 छक्के) बनाए, आलोक रंजन ने 16 गेंदों में नाबाद 37 रन बनाए (4 चौके) , 2 छक्के) और श्री महावीर रावत ने अपनी टीम के लिए क्रमशः 15 गेंदों में 20 रन बनाए।

अपनी टीम के लिए D.D.News बॉलिंग आलोक (4-0-34-1) राजेश (4-0-36-1) मुकेश पाल (3.2-0-36-1) के लिए।

NDTV टीम के श्री आलोक रंजन को उनके शानदार प्रदर्शन के लिए 'मैन ऑफ़ द मैच' घोषित किया गया। उन्होंने 16 गेंदों में नाबाद 37 रन बनाए और अपनी टीम के लिए 3 महत्वपूर्ण विकेट लिए। मैन ऑफ द मैच का पुरस्कार मैनरी के निदेशक स्पोर्ट्स सरकार तलवार द्वारा दिया गया।

दिन का दूसरा मैच MREI और ACE के बीच खेला गया, इस मैच का उद्घाटन डॉ। डी। के। चड्ढा, चेयर प्रोफेसर, ACE के MRIIRS कप्तान ने टॉस जीता और पहले फील्ड के लिए चुने गए। MREI ने 20 ओवर में 259/4 रन बनाए। MREI टीम के लिए श्री वासिफ खान ने 57 गेंदों में नाबाद 96 रन (6 चौके, 7 छक्के) बनाए, सचिन ने 38 गेंदों में 64 रन बनाए (3 चौके, 6 छक्के), हेमंत ने 15 गेंदों में 56 रन (8 छक्के) बनाए। कुलदीप ने क्रमशः 5 गेंदों में 15 रन बनाए।

ACE टीम के लिए सफल गेंदबाज अशोक (4-0-49-1), दीपक (2-0-38-1), सतीश (2-0-25-1) और किशनवीर (3-0-43-1) थे उनकी टीम के लिए।

जवाब में एसीई ने 19.2 ओवर में केवल 174/10 रन बनाए और 85 रन से मैच हार गया। ACE टीम के लिए श्री किशनवीर ने 15 गेंदों में 28 रन बनाए (2 चौके, 2 छक्के), वरुण ने 13 गेंदों में 28 रन बनाए (2 चौके, 3 छक्के) प्रशांत ने 12 गेंदों में 22 रन बनाए (2 चौके, 2 छक्के) और सतीश क्रमशः 18 गेंदों (2 चौके, 2 छक्के) में नाबाद 22 रन बनाए।

MREI बॉलिंग के लिए पीयूष (4-0-29-3), सचिन (4-0-50-3) दविंदर (3.2-0-46-3) और हेमंत (4-0-17-1) अपनी टीम के लिए थे

MREI टीम के श्री वासिफ खान को उनके शानदार प्रदर्शन के लिए 'मैन ऑफ द मैच' घोषित किया गया। उन्होंने अपनी टीम के लिए 57 गेंदों में नाबाद 96 रन बनाए। मैन ऑफ द मैच का पुरस्कार ब्रिगेडियर द्वारा दिया गया। वी.के.आनंद, रजिस्ट्रार, एचआर, एमआरईआई

Sunday, 27 January 2019

भारतीय लड़कियों को इसमें बढ़ाने के लिए सलवार सूट में कर रहीं फाइट….

भारतीय लड़कियों को इसमें बढ़ाने के लिए सलवार सूट में कर रहीं फाइट….

नई दिल्ली : 28 जनवरी I डब्ल्यूडब्ल्यूई के एनएक्सटी प्रोग्राम के तहत सलवार-सूट में फाइट करने वाली पहली भारतीय महिला कविता देवी का इस खेल से जुड़ना एक अचरज ही रहा है। वह इससे पहले साउथ एशियन वेटलिफ्टिंग और वुशु नेशनल चैंपियन थीं। भारत में हुई डब्ल्यूडब्ल्यूई रेसलर्स फाइट को वह देखने पहुंची थीं। वहां पर डब्ल्यूडब्ल्यूई की एक महिला रेसलर के ओपन चैलेंज पर यह सलवार-सूट में ही रिंग में उतर गईं। और उसे सिर से उठाकर रिंग में पटक दिया। उन्हें नहीं मालूम था कि डब्ल्यूडब्ल्यूई अधिकारी ट्राईआउट प्रोग्राम के तहत भारत से नए रेसलर्स की खोज भी कर रहे थे। इसके बाद उन्हें दुबई ट्राईआउट प्रोग्राम में आने का न्यौता दिया गया । और वहां डब्ल्यूडब्ल्यूई की ट्रेनिंग के लिए चुन लिया गया। खली से भी उन्होंने ट्रेनिंग प्राप्त की है। आपको बता दें कि कविता भारत के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के हाथों फर्स्ट लेडी अवॉर्ड से सम्मानित हो चुकी हैं।

दो साल लगेंगे मुख्य रोस्टर में जाने को

कविता ने बताया कि डब्ल्यूडब्ल्यूई के मुख्य रोस्टर में जाने के लिए एनएक्सटी प्रोग्राम में दो साल की कड़ी ट्रेनिंग कराई जाती है। इसके तहत फाइट एवं चैंपियनशिप भी डब्ल्यूडब्ल्यूई की तरह ही आयोजित होती हैं। इस प्रोग्राम में रेसलर को मुख्य रोस्टर में लड़ने के तहत परिपक्व किया जाता है। इसलिए ही अभी वह एनएक्सटी प्रोग्राम का हिस्सा हैं। कविता बताती हैं कि इस ट्रेनिंग में कई बार दो साल से ज्यादा का वक्त भी लग सकता है और कम भी। चयनकर्ता जब पूरी तरह से निश्चित हो जाते हैं कि रेसलर मुख्य रोस्टर में लड़ने लायक है, तभी उसे इस प्रोग्राम से मुख्य रोस्टर में डाला जाता है।

सलवार-सूट को इसलिए बनाया ड्रेस

कविता का कहना है कि भारतीय लड़कियां इस खेल में आगे आएं। वह परंपरा और संस्कृति की वजह से पीछे न रह जाएं। इसके लिए ही उन्होंने सलवार-सूट को अपनी ड्रेस बनाया है। ताकि वह दिखा सकें कि सलवार-सूट में भी फाइट हो सकती है। इस खेल में करियर बनाया जा सकता है। जरूरी नहीं कि इस खेल के लिए छोटे-छोटे कपड़े पहने जाएं। इसके लिए ही एक बार फिर भारत में मुंबई में डब्ल्यूडब्ल्यूई ट्राईआउट कराने जा रहा है। जिसके लिए इस बार ऑनलाइन अप्लाई किया जा सकता है।

कठिन रहा है सफर

जींद माली गांव की रहने वाली कविता ने बताया कि उनका किसान परिवार था। खेल से सब कोसो दूर थे। वह पहली लड़की थीं। जिसने खेल को चुना। शुरू में उन्हें समाज के तानों के साथ परिवार की बेरूखी का भी सामना करना पड़ा। लेकिन उनकी मेहनत की वजह से ही उनको परिवार को धीरे-धीरे सहयोग मिलने लगा। उन्होंने बताया कि उनके परिवार में पांच भाई-बहन हैं। उनके बड़े भाई संजय ने उन्हें सबसे पहले सपोर्ट किया। सबसे पहले वेटलिफ्टिंग की ट्रेनिंग उन्होंने ली। इसके लिए  जिम गईं। 2008 में इस वजह से ही सशस्त्र सीमा बल में कांस्टेबल की नौकरी भी मिली। शादी होने पर पति गौरव तौमर की सलाह पर वुशु की ट्रेनिंग ली। और उसमें भी दो साल सीनियर नेशनल चैंपियन रही। उन्होंने तब मेडल जीते जब वह एक बच्चे की मां भी थीं। पति के सपोर्ट से ही वह विभिन्न प्रतियोगिताओं में गोल्ड मेडल जीत सकीं। वह बताती हैं कि उनको विभाग की तरफ से सपोर्ट नहीं मिलने की वजह से नौकरी छोड़नी पड़ी। लेकिन वह खुश है कि वह डब्ल्यूडब्ल्यूई का हिस्सा हैं। अब उनका लक्ष्य डब्ल्यूडब्ल्यूई के मुख्य रोस्टर में जगह बनाने का है। 

Tuesday, 22 January 2019

राहुल डागर की घातक बल्लेबाजी से डीडी अरावली जीता

राहुल डागर की घातक बल्लेबाजी से डीडी अरावली जीता

फरीदाबाद 22 जनवरी : राहुल डागर की घातक बल्लेबाजी की बदौलत डीडी अरावली क्रिकेट टीम ने आर पी अकादमी दिल्ली के खिलाफ दस विकेट से जीत दर्ज की और यह मैच अरावली इंटरनेशनल स्कूल के ग्राउंड पर खेला गया आर पी क्रिकेट अकादमी की टीम ने टॉस जीत कर पहले बल्लेबाजी करने का निर्णय लिया टीम की और से बल्लेबाजी करते हुए 43 ओवर मैं 10 विकेट पर  174  रन बनाए कुलदीप ने 60 रन अंशुल ने 34 रन और आर्यमन ने 28 रन बनाए I 

डीडी अरावली क्रिकेट अकादमी की और से आयुष शर्मा ,मोहित मिहिर ने तीन - तीन विकेट ली और राकेश कंडारी व सौरभ भटनागर ने एक -एक विकेट ली इस लक्ष्य पीछा करते हुए डीडी अरावली क्रिकेट अकादमी ने बिना विकेट गवाए 23 ओवर मैं 175 रन बनाकर जीत हासिल की राहुल डागर ने दो छक्के और 18 चोक्के लगाकर 87 गेंदों पर 120 रन बनाए और संचित ने 40 रन बनाए इस मुकाबले मैं राहुल डागर को मैन ऑफ दा मैच दिया गया I 

Monday, 21 January 2019

द्रोणाचार्य बॉक्सिंग क्लब के बॉक्सरो ने खेलो इंडिया मे लहराया परचम

द्रोणाचार्य बॉक्सिंग क्लब के बॉक्सरो ने खेलो इंडिया मे लहराया परचम

 फरीदाबाद 21 जनवरी : द्रोणाचार्य बॉक्सिंग क्लब के बॉक्सरो ने एक बार फिर अपने जिले और क्लब का नाम रोशन किया । 13 जनवरी से 21 जनवरी को पुणे में हुई `खेलो इंडियाʼ नेशनल प्रतियोगिता में फरीदाबाद द्रोणाचार्य बॉक्सिंग क्लब ,डी.पी.एस. स्कूल, सेक्टर 11 के बॉक्सरो एक स्वर्ण पदक तथा तीन कांस्य पदक पर कब्जा किया।

91 किलोग्राम भार वर्ग में हिम्मत सिंह पिता का नाम बंसीलाल ने स्वर्ण पदक पर कब्जा किया हिम्मत सिंह मूल रूप से सदरपुर पलवल का रहने वाला है। हिम्मत सिंह दो बार यूथ नेशनल चैंपियन रह चुका है और दो बार अंतरराष्ट्रीय स्तर पर एशियाई खेलों में भाग ले चुका है।
46 किलोग्राम भार वर्ग में अंशुल सरोहा पिता का नाम मुकेश सिंह सरोहा ने कांस्य पदक पर कब्जा किया । अंकुश सरोहा जो कि पर्वतीय कॉलोनी का रहने वाला है और इस साल स्कूल नेशनल गेम्स गुवाहाटी में कांस्य पदक किया था।

52 किलोग्राम भार वर्ग में हर्षित यादव पिता का नाम सुरेंद्र सिंह यादव ने कांस्य पदक पर कब्जा किया। हर्षित यादव मंझावली का रहने वाला है और इस साल उसने स्कूल नेशनल गेम्स गुवाहाटी में कांस्य पदक प्राप्त किया था।

70 किलोग्राम भार वर्ग में यतींद्र भारद्वाज पिता का नाम हरभजन भारद्वाज ने कांस्य पदक पर कब्जा किया। जितेंद्र भारद्वाज खेड़ी गांव का रहने वाला है और उसने भी गुवाहाटी स्कूल नेशनल गेम्स में रजत पदक हासिल किया।

फरीदाबाद की बॉक्सिंग को बढ़ाने का श्रेय द्रोणाचार्य बॉक्सिंग क्लब के कोच अंतरराष्ट्रीय बॉक्सर राजीव गोदारा ओलंपियन व अर्जुन अवॉर्डी जय भगवान व उनके सह कोच सुखविंदर व मुकेश का अहम योगदान है। द्रोणाचार्य बॉक्सिंग क्लब कई राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कई मेडल दिए हैं आज द्रोणाचार्य बॉक्सिंग क्लब में 500 के करीब खिलाड़ी प्रैक्टिस करते हैं और जिनमें से कई सरकारी नौकरी प्राप्त कर चुके हैं।
मानव रचना कॉर्पोरेट क्रिकेट 12 वीं चैलेंज  : D.D.News और मारुति सुजुकी ने जीता मैच

मानव रचना कॉर्पोरेट क्रिकेट 12 वीं चैलेंज : D.D.News और मारुति सुजुकी ने जीता मैच

फरीदाबाद 21 जनवरी : मानव रचना कॉर्पोरेट क्रिकेट 12 वीं चैलेंज का पहला मैच NHPC और D.D.News के बीच खेला गया था। दिन के मुख्य अतिथि एमआरआईआईआरएस के निदेशक खेल  सरकार तलवार थे।  तलवार ने दोनों टीमों को गुड लक संदेश दिया।

D.D.News के कप्तान ने टॉस जीता और पहले फील्ड के लिए चुने गए। एनएचपीसी ने 20 ओवर में 226/9 रन बनाए। NHPC टीम के लिए, श्री मनीष ने 24 गेंदों में नाबाद 47 रन बनाए (6 चौके, 2 छक्के), भगत ने 19 गेंदों में 41 रन (6 चौके, 2 छक्के) बनाए, दीपक ने 27 गेंदों में 39 रन बनाए (5 चौके, 1) छह) और योगेश ने क्रमशः 14 गेंदों में 19 रन बनाए (1 चौका, 1 छक्का)।

D.D.News की गेंदबाजी के लिए आलोक (4-0-39-3), अशोक (4-0-37-2) अमित (4-0-37-1) और सौरव (2-0-28-1) अपनी टीम के लिए

जवाब में D.D.News ने 20 ओवर में केवल 194/9 रन बनाए और मैच 32 रन से हार गया। DDNews टीम के लिए श्री राजेश ने 23 बॉल्स (3 चौके, 5 छक्के) में 50 रन बनाए, अशोक ने 16 गेंदों में 39 रन (3 चौके, 5 छक्के) बनाए, अमित ने 19 गेंदों में 30 रन बनाए (2 चौके, 2 छक्के) और सौरव ने अपनी टीम के लिए क्रमशः 16 गेंदों में 19 रन बनाए।

NHPC बॉलिंग के लिए रमेश (4-0-41-4), मुकेश (4-0-42-2), शिवेंदर (2-0-15-2) अपनी टीम के लिए।

एनएचपीसी टीम के श्री रमेश को उनके शानदार प्रदर्शन के लिए 'मैन ऑफ द मैच' घोषित किया गया। उन्होंने 4 महत्वपूर्ण विकेट लिए और अपनी टीम के लिए 4 ओवर में 41 रन दिए। मैन ऑफ द मैच का पुरस्कार मैनरी के निदेशक स्पोर्ट्स श्री सरकार तलवार द्वारा दिया गया।

दिन का दूसरा मैच मारुति सुजुकी और एचपीसीएल के बीच खेला गया, मारुति सुजुकी के कप्तान ने टॉस जीता और पहले बैट के लिए चुने गए। मारुति सुजुकी ने 20 ओवर में 285/9 रन बनाए। मारुति सुजुकी टीम के लिए श्री अश्वनी ने 38 गेंदों में 106 रन (1 चौका, 16 छक्के) बनाए और 18 गेंदों में 40 रन बनाए (2 चौके, 5 छक्के), चेतन ने 15 गेंदों में 34 रन बनाए (1 चौका, 4 छक्के) और आशीष मलिक ने क्रमशः 10 गेंदों में 22 रन बनाए।

एचपीसीएल टीम के लिए सफल गेंदबाज हिमांशु (4-0-61-3), अखिल (4-0-44-2), अमित (4-0-51-1) गौरव (3-0-56-1) थे। उसकी टीम ।

जवाब में एचपीसीएल ने 12.1 ओवर में केवल 81/10 रन बनाए और 204 रनों से मैच गंवा दिया। एचपीसीएल टीम के लिए श्री हर्ष ने 16 बॉल्स (3 चौके, 1 छक्का) में 25 रन बनाए, निखिल ने 11 गेंदों (1 चौके, 2 छक्के) में 19 रन बनाए और दिनेश ने 10 गेंदों (3 चौके) में 15 रन बनाए।

मारुति सुजुकी बॉलिंग के लिए मिस्टर विदुर (4-0-31-3), आशीष (2-0-13-3) रोहित (4-0-26-2) अपनी टीम के लिए।

मारुति सुजुकी टीम के अश्वनी को उनके शानदार प्रदर्शन के लिए 'मैन ऑफ द मैच' घोषित किया गया। उन्होंने अपनी टीम के लिए 38 गेंदों में 106 रन बनाए। श्री स्पोर्ट्स, डायरेक्टर स्पोर्ट्स, MREI द्वारा मैन ऑफ द मैच का पुरस्कार दिया गया

Saturday, 19 January 2019

बीसीसीआई ने इंडिया ए और इंग्लैंड लायंस मैचों के लिए टीम की घोषणा की

बीसीसीआई ने इंडिया ए और इंग्लैंड लायंस मैचों के लिए टीम की घोषणा की

NEW DELHI 20  JANUARY : चयन समिति ने इंग्लैंड ए लायंस के खिलाफ खेले जाने वाले पांच एक दिवसीय मैचों और दो चार दिवसीय मैचों के लिए भारत ए टीम को चुना।

एक दिवसीय खेल 23 जनवरी से तिरुवनंतपुरम में खेले जाएंगे। पहला चार दिवसीय खेल 7 फरवरी से वायनाड में खेला जाएगा और दूसरा चार दिवसीय खेल 13 फरवरी से मैसूर में खेला जाएगा।

1, 2 और 3 वन-डे के लिए भारत ए टीम इस प्रकार है: अजिंक्य रहाणे (सी), अनमोल प्रीत सिंह, रितुराज गायकवाड़, श्रेयस अय्यर, हनुमा विहारी, अंकित बावने, इशान किशन (डब्ल्यूके), क्रुनाल पांड्या, एक्सर पटेल, मयंक पटेल मार्कंडे, जयंत यादव, सिद्दार्थ कौल, शार्दुल ठाकुर, दीपक चाहर, नवदीप सैनी

भारत 4 और 5 वें वन-डे के लिए इस प्रकार है: अंकित बावने (C), ऋतुराज गायकवाड़, अनमोलप्रीत सिंह, रिकी भुई, सिद्धेश लाड, हिम्मत सिंह, ऋषभ पंत (WK), दीपक हुड्डा, एक्सर पटेल, राहुल चाहर, जयंत यादव, नवदीप सैनी, अवेश खान, दीपक चाहर, शार्दुल ठाकुर

 इंडिया ए स्क्वाड में फीचर करने वाले अंकित बावने को भी बीपी इलेवन टीम में शामिल किया गया है जो 20 जनवरी को अपना दूसरा वन डे वॉर्म-अप खेल खेलेंगे।

दो दिवसीय वॉर्म-अप खेल के लिए BP XI: इशान किशन (C & WK), अक्षत रेड्डी, ध्रुव शोरे, रिकी भुई, सिद्धेश लाड, रिंकू सिंह, प्रियम गर्ग, सौरभ कुमार, राहुल चाहर, जयंत यादव, अनिकेत चौधरी, अंकित राजपूत, राजेश मोहंती
मानव रचना 12 वीं कॉर्पोरेट क्रिकेट चैलेंज : एशियाई अस्पताल और मानव रचना ने जीता मैच

मानव रचना 12 वीं कॉर्पोरेट क्रिकेट चैलेंज : एशियाई अस्पताल और मानव रचना ने जीता मैच

फरीदाबाद 20 जनवरी : मानव रचना 12 वीं कॉर्पोरेट क्रिकेट चैलेंज दिन का पहला मैच एशियाई अस्पताल और आईआईएफएल-वेल्थ के बीच खेला गया। दिन के मुख्य अतिथि डॉ। एम.के.सोनी, पीवीसी, एमआरआईआईआरएस थे। सोनी ने दोनों टीमों को गुड लक संदेश दिया और कहा कि स्पोर्ट्स मैनशिप को बनाए रखना होगा और जीतने के लिए, उन्हें अपना स्वाभाविक खेल खेलना होगा।

एशियाई अस्पताल के कप्तान ने टॉस जीता और पहले बैट के लिए चुने गए। एशियाई अस्पताल ने 20 ओवर में 320/8 रन बनाए। एशियाई अस्पताल की टीम के लिए, करण ने अपनी टीम के लिए शानदार पारी खेली, उन्होंने 41 गेंदों में 109 रन बनाए (5 चौके, 12 छक्के), रोहन ने 26 गेंदों में 67 रन बनाए (11 चौके, 3 छक्के), आजाद सिंह ने 53 रन बनाए 17 गेंदों (3 चौके, 6 छक्के) और राजीव ने क्रमशः 8 गेंदों (4 चौके, 1 छक्का) में 23 रन बनाए।

आईआईएफएल-वेल्थ गेंदबाजी के लिए चिराग (4-0-50-4), अविनाश (4-0-65-2) राकेश (4-0-55-1) और हेमंत (4-0-65-1) अपनी टीम के लिए

जवाब में आईआईएफएल-वेल्थ ने 20 ओवर में केवल 273/7 रन बनाए और मैच 47 रन से हार गया। आईआईएफएल-वेल्थ टीम के लिए मिस्टर चिराग ने 36 बॉल्स (7 चौके, 7 छक्के) में 85 रन बनाए, साहिल ने 25 गेंदों में नाबाद 69 रन बनाए (7 चौके, 5 छक्के), राकेश ने 24 गेंदों में 50 रन बनाए (4 चौके, 4 छक्के) और अंकित ने अपनी टीम के लिए क्रमशः 14 गेंदों में 32 रन बनाए।

एशियन हॉस्पिटल बॉलिंग के लिए अभिषेक (4-0-61-2), अर्जुन (4-0-41-1, करण (1-0-16-16)) नीरज (4-0-45-1) संदीप (1-0) -15-1) उनकी टीम के लिए।

एशियाई अस्पताल की टीम के करण को उनके शानदार प्रदर्शन के लिए 'मैन ऑफ द मैच' घोषित किया गया। उन्होंने केवल 41 गेंदों में 109 रन बनाए और अपनी टीम के लिए 1 महत्वपूर्ण विकेट लिया। मैन ऑफ द मैच का पुरस्कार मैनरी के निदेशक स्पोर्ट्स सरकार तलवार द्वारा दिया गया।

दिन का दूसरा मैच डाबर इंडिया और MREI के बीच खेला गया, MREI के कप्तान ने टॉस जीता और पहले बैट के लिए चुने गए। MREI ने 18.4 ओवर में 240/10 रन बनाए। MREI टीम के लिए श्री सचिन ने 38 गेंदों में 82 रन (6 चौके, 7 छक्के) बनाए, संजय ने 21 गेंदों में 44 रन (2 चौके, 5 छक्के) बनाए, हेमंत ने 19 गेंदों में 39 रन (6 चौके, 1 छक्का) और सनी ने बनाए। क्रमशः 12 गेंदों में 13 रन बनाए।

डाबर इंडिया टीम के लिए सफल गेंदबाज समीर (3-0-14-5), मनोज (2-0-26-2), संदीप (3.4-0-31-2) ऋषि (3-0-46-1) थे उनकी टीम के लिए।

जवाब में डाबर इंडिया ने 18.5 ओवर में केवल 181/10 रन बनाए और ओवरऑल मैच में 59 रन बनाए। डाबर इंडिया टीम के लिए मिस्टर प्रमोद ने 31 बॉल्स (2 चौके, 7 छक्के) में 56 रन बनाए, अक्षय ने 29 गेंदों में 49 रन बनाए (5 चौके, 3 छक्के) और राजेश ने 18 गेंदों में 37 रन बनाए (5 चौके, 2 छक्के) क्रमशः।

MREI बॉलिंग के लिए मिस्टर सचिन (3.5-0-32-4), हेमंत (3-0-16-3) दविंदर (4-0-31-2) और भानु (4-0-35-1) अपनी टीम के लिए

MREI टीम के श्री सचिन को उनके शानदार प्रदर्शन के लिए 'मैन ऑफ द मैच' घोषित किया गया। उन्होंने 38 गेंदों में 82 रन बनाए और अपनी टीम के लिए 4 महत्वपूर्ण विकेट लिए। श्री स्पोर्ट्स, डायरेक्टर स्पोर्ट्स, MREI द्वारा मैन ऑफ द मैच का पुरस्कार दिया गया
द मिलेनियम स्कूल मैं भारतीय क्रिकेटर युवराज सिंह ने वाई.एस.सी.ई क्रिकेट एकेडमी का किया उद्घाटन

द मिलेनियम स्कूल मैं भारतीय क्रिकेटर युवराज सिंह ने वाई.एस.सी.ई क्रिकेट एकेडमी का किया उद्घाटन

 पलवल 19 जनवरी I द मिलेनियम स्कूल को बड़े उत्साह के साथ विंटर कार्निवाल ;मिलांश समारोह संपन्न हुआ। इस अवसर पर पूरे विद्यालय को दुल्हन की तरह सजाया गया। इस समारोह में भारतीय क्रिकेटर युवराज सिंह की उपस्थिति ने चार चाँँद लगा दिए। युवराज सिंह ने मिलेनियम स्कूल में चल रही क्रिकेट एकेडमी का उद्घाटन किया। युवराज सिंह ने एकेडमी के छात्रों को क्रिकेट खेलने के टिप्स भी बताए। विद्यालय के निदेशक रणबीर सिंह सोलंकी व प्रधानाचार्या  कोमल ग्रोवर ने युवराज का स्वागत किया। युवराज सिंह ने सभी अभिभावकों को संबोधित करते हुए कहा कि-छोटे-छोटे बच्चों द्वारा प्रस्तुत किए गए कार्यक्रम उन्हें बेहद पसंद आए। उन्होंने कहा कि मिलेनियम स्कूल द्वारा शुरू की गई वाई.एस.सी.ई ;युवराज सिंह क्रिकेट एकेडमी  पलवल के बच्चे भारतीय क्रिकेट के लिए अंतराष्ट्रीय स्तर पर खेलें।

दीप प्रज्ज्वलित करके मिलांश समारोह का आरंभ किया गया। विद्यालय की छात्राओं ने ’सरस्वती वंदना’ प्रस्तुत करके सभी का मन-मोह लिया। कक्षा प्रथम व द्वितीय के विद्यार्थियों ने वेस्र्टन डांस प्रस्तुत किया। छोटे-छोटे बच्चों का डांस देखकर सभी ने दाँतों तले उँगली दबा ली। कृष्ण प्रेम को दर्शाते हुए प्रस्तुत की गई ’रास लीला’ ने सारे वातावरण को भक्तिमय कर दिया। विभिन्न प्रकार के नृत्यो ने समारोह में उपस्थित सभी का हृदय विभोर कर दिया। विद्यालय ने निदेशक श्री रणबीर सिंह सोलंकी ने विद्यालय के प्रागंण में लगी विभिन्न प्रकार की ’फन स्टाॅल’ व ’फूड स्टाल’ का रिब्बन काटकर शुभारंभ किया। अभिभावकों ने इन सब का भरपूर आनंद उठाया। कार्यक्रम में विभिन्न प्रकार की प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया था। इसमें ’बेबी शो’ व ’ सोलो डांस’ आदि प्रमुख रहे। प्रतियोगिताओं में विजयी होने वाले प्रतियोगियों को आकर्षक उपहार दिए गए। मंच पर विद्यालय की छात्राओं ने पंजाब राज्य की यादों को अपने ’गिद्दे’ से ताज़ा कर दिया।

विद्यालय के निदेशक ने सभी का धन्यवाद करते हुए मिलेनियम स्कूल की शिक्षा पद्धति के बारे में सबको जानकारी देते हुए कहाः- ’इस विद्यालय की शिक्षा पद्धति एक आधुनिक शिक्षा पद्धति है। जो शिक्षा के साथ बच्चों की खेल प्रतिभा को भी बढ़ावा देती है। अंत में विद्यालय की प्रधानाचार्या कोमल ग्रोवर ने सभी अभिभावकों का धन्यवाद करते हुए कहा कि हमारे विद्यालय के बच्चों का सर्वागींण विकास करना ही उनके जीवन का एकमात्र उद्देश्य है।’

Friday, 18 January 2019

सर्दी खासी जुकाम का होम्योपैथीक सर्वेष्ट इलाज

सर्दी खासी जुकाम का होम्योपैथीक सर्वेष्ट इलाज

फरीदाबाद 18 जनवरी : भरी हुई नाक तब होती है जब नाक और आसन्न ऊतकों और रक्त वाहिकाओं को अधिक तरल पदार्थ के साथ सूज हो जाता है, जिससे "घृणित" लग रहा हो। नाक की भीड़ या अनुनासिक निर्वहन या "बहुरंगी नाक" के साथ नहीं हो सकती है।


आमतौर पर नाक की भीड़ पुराने बच्चों और वयस्कों के लिए एक झुंझलाहट है। लेकिन नाक की भीड़ उन बच्चों के लिए गंभीर हो सकती है जिनकी नींद उनकी नाक की भीड़ या शिशुओं से परेशान होती है, जिनके परिणामस्वरूप एक कठिन समय पर भोजन हो सकता है।


कारण - नाक की भीड़ किसी भी चीज के कारण हो सकती है जो अनुनासिक ऊतकों को उत्तेजित या उत्तेजित करती है। संक्रमण - जैसे सर्दी, फ्लू या साइनसाइटिस - एलर्जी और विभिन्न परेशानी, जैसे कि तम्बाकू धूम्रपान, सब कुछ नाक का कारण हो सकता है कुछ लोगों को बिना किसी स्पष्ट कारण के लिए लंबे समय से चलने वाले नाक हैं - एक शर्त जिसे नॉनलार्लिक राइनाइटिस या वासोमोटर रिनिटिस (वीएमआर) कहा जाता है।


कम सामान्यतः, नाक की भीड़ कणिकाओं या एक ट्यूमर के कारण हो सकती है।


नाक की भीड़ के संभावित कारणों में शामिल हैं: तीव्र साइनसाइटिस, एलर्जी, क्रोनिक साइनसिस, सामान्य सर्दी, डिकॉग्स्टेस्टेंट नाक स्प्रे अति प्रयोग, विच्छेदन सेप्टम, मादक पदार्थों की लत, सूखी हवा, बढ़े हुए एनोनेओड्स, नाक में विदेशी शरीर, हार्मोनल परिवर्तन, फ्लू, दवाएं, जैसे कि उच्च रक्तचाप की दवाएं, नाक जंतु, गैर एलर्जी रैनिटिस, व्यवसायिक अस्थमा, गर्भावस्था, श्वसन संक्रमण संबंधी वायरस, तनाव, थायराइड विकार, तंबाकू का धुआं, बहुभुज के साथ ग्रैनुलोमेटोसिस

Best homeopathy medicine for Sinusitis, rhinitis, nasal polyp - stuffy nose

NUX VOMICA 30-Nux Vomica नाक बाधा रात के समय में अपने चरम पर है जब राहत प्रदान करने में महान मदद के प्रभावी होम्योपैथिक उपाय नक्स वोमिका रात के घंटों में बेहद भरे हुए नाक वाले रोगियों को आराम प्रदान करने में बहुत फायदेमंद है। रोगियों को इस होम्योपैथिक उपाय की आवश्यकता होती है, रात के समय तीव्र नाक भराई होती है। व्यक्ति यह भी वर्णन कर सकता है कि दिन के दौरान, रात में नाक निर्वहन होता है, इसे अवरुद्ध कर दिया जाता है। इसके अलावा मरीज़ एक तरफ नाक की बाधा और अन्य पर मुक्ति के मुक्त महसूस कर सकते हैं। खुली हवा में जाकर नाक अवरोध को भी बिगड़ता है।

सैम्बुक्स एनआईजी 30-सॅंबुबुस नाक रुकावट के लिए एक और शीर्ष होम्योपैथिक दवा है जो अत्यंत नाक नाक छिद्रों के साथ है। रुकावट के कारण सांस लेने में बहुत मुश्किल है और यह व्यक्ति को बैठने के लिए मजबूर करता है। अधिकतर रात में, घुटन और साँस लेने में कठिनाई के कारण व्यक्ति को नींद से बैठना पड़ता है। नाक अवरोध के लिए शिशुओं को दिया जाने पर सैंबुबुस भी बहुत प्रभावशाली होता है। रुकावट घुटन और मुँह में सांस लेने की ओर जाता है और शिशु को मां की फूड लेने के दौरान बुरी स्थिति का सामना करना पड़ता है

आर्सेनिक्स एल्बम 30-आर्सेनिकम एल्बम का निर्धारण तब किया जाता है जब नाक के अवरोध नाक एलर्जी के कारण होते हैं। यह मुख्य रूप से निर्धारित होता है जब नाक अवरोध के साथ जल नाक निर्वहन जल रहा है। वहाँ नाक से प्रचुर मात्रा में पानी और उत्तेजक निर्वहन है। तीव्र प्यास है और मरीज को खुली हवा में भी बुरा लगता है।

ग्लेज़ैमियम 30-गिल्सिमियम निर्धारित किया जाता है जब नाक रुकावट में बंद महसूस होने के साथ सुस्त सिरदर्द होता है, और एक धाराप्रवाह नाक निर्वहन होता है।

सिनापिस एनआईजीआरए 30 - सिनापीस नीग्रै एलर्जी के कारण नाक की भीड़ के लिए एक और उपाय है। यह तब निर्धारित होता है जब वैकल्पिक नहर एलर्जी की प्रतिक्रिया के कारण अवरुद्ध होते हैं। नाक और आंखों से भी मुक्ति होती है।

कैलकिया कार्ब 30- नाक पॉलीप के कारण कैल्केरा कार्ब नाक रुकावट के लिए बहुत प्रभावी है कार्ब नाक कणों के लिए एक और उत्कृष्ट होम्योपैथिक दवा है। यह ज्यादातर बाएं पक्षीय नाक कणों के लिए संकेत दिया जाता है। बाएं तरफ नलिका अवरुद्ध लगता है नाक से भ्रूण पीला डिस्पैच के साथ इसमें शामिल किया जा सकता है नाक में दुख और विकृत सनसनी भी महसूस होती है। नाक में आक्रामक गंध भी चिह्नित है नाक की जड़ में बहुत अधिक सूजन होती है। क्लेक्वेरा कार्ब का निर्धारण तब किया जाता है जब लोग आसानी से ले जाते हैं। मौसम में बदलाव नाक की शिकायतों से जुड़ा होता है। कैल्केरा कार्ब वसा, पिलपिला व्यक्तियों के लिए अधिक उपयुक्त है, जिनके अंडे की लालसा है।

लैम्ना लघु 30 - पॉलिप्स के कारण नाक अवरोध को हटाने के लिए लेम्ना माइनर शीर्ष होम्योपैथिक उपाय है। इसका उपयोग करने वाले लक्षण श्वास लेने में कठिनाई के साथ नाक कब्ज और गंध की हानि होते हैं। पोस्टेरियर टपकता भी नाक रुकावट के साथ आते हैं। कुछ व्यक्ति नाक डिस्चार्ज का अनुभव करते हैं, जबकि अन्य में, नाक गुहा शुष्क रहता है। अवरुद्ध नाक में आक्रामक गंध है लेम्ना माइनर पॉलीप के लिए सबसे प्रभावी होम्योपैथिक उपाय है जो गीली मौसम में बिगड़ता है। पॉलीप के मामलों में, लेम्ना माइनर नाक अवरोध को कम कर देता है, श्वसन की समस्या से राहत देता है, और गंध की शक्ति फिर से आती है।

संगीन्रिया नाइट्रिकम 3 एक्स - सोंगुनेरिया नाइट्रिकम, पॉलीप के कारण नाक की भीड़ के लिए भी प्रभावी है और यह नाक को नाक के नाक के साथ अवरुद्ध होने पर भी एक प्रभावी होम्योपैथिक दवा है। डिस्चार्ज प्रकृति में बहुत जलते हैं और व्यक्ति को छींकने का भी अनुभव होता है।

काली बीआईटीमाइकियम 30-काली बिच्रिमिक्यू सिनाइसिस के कारण नाक की भीड़ के लिए एक उत्कृष्ट उपाय है, जहां डिस्चार्ज गले में वापस चला जाता है।