Showing posts with label Education. Show all posts
Showing posts with label Education. Show all posts

Wednesday, 20 March 2019

नए सत्र में संपन्न हुआ रचनात्मक और अनुभवशील ऑरेन्टेशन कार्यक्रम

नए सत्र में संपन्न हुआ रचनात्मक और अनुभवशील ऑरेन्टेशन कार्यक्रम

फरीदाबाद 20 मार्च ।  जीवा पब्लिक स्कूल में छात्रों को नए सत्र के प्रारंभ में विद्यालय के नियमों इत्यादि से परिचित करने के लिए तीन दिवसीय ऑरेन्टेशन ’ कार्यक्रम का आयोजन किया गया। 18 मार्च को विद्यालय का नया सत्र प्रारंभ हुआ नए सत्र में छात्रों को 20 मार्च तक विद्यालय से संबंधित विभिन्न विषयों से अवगत करवाया गया जिससे छात्र नियमों का उल्लंघन न करें व विद्यालय का अनुशासन भी भंग न हो तथा विद्यालय में सभी कार्य नियमानुसार हों। कार्यक्रम में विशेष तौर पर छात्रों को स्वास्थ्य संबंधी जानकारी देकर जागरूक भी किया गया इसलिए इस तीन दिवसीय कार्यक्रम में छात्रों का विशेष रूप से पोर्टफोलियो के माध्यम से उनके शारीरिक संरचना एवं गठन का परिक्षण किया गया एवं उन्हें उनके शारीरिक संरचना एवं गठन के अनुरूप भोजन करने की सलाह भी दी गई। 

इस विशेष आयोजन का मुख्य उद्ïदेश्य छात्रों को स्वस्थ रखना है।

इसके अलावा छात्रों ने विभिन्न प्रकार के क्रिया कलापों व गतिविधियों के द्वारा विद्यालय के मुख्य विषयों का जानकारी भी प्राप्त की। छात्रों ने विद्यालय की डायरी में दिए गए नियमों की जानकारी भी प्राप्त की। इस दौरान छात्रों को दैनिक दिनचर्या के नियमों से भी अवगत कराया गया। जीवा पब्लिक स्कूल के मुख्य सिद्घान्तों में एस0 ओ0 ई0 प्रमुख है। इस दौरान छात्रों को एस0 ओ0 ई0 की महत्ता से भी परिचित किया गया। इसके साथ-साथ छात्रों ने सडक़ सुरक्षा नियमों को भी जाना। छात्रों को लाइफ स्किल विषयों से भी अवगत किया गया। छात्रों को स्वच्छता के प्रति भी जागरूक किया गया तथा उन्होंने समूह विचार विर्मश भी किया। 

छात्रों ने इंडिया इन एक्शन एक्टिविटी के माध्यम से अनेक समाज सेवा से संबंधित कार्यों के लिए भी विचार विमर्श किया जिसमें पुरानी किताबें दान करना प्रमुख रहा। इसके अलावा छात्रों ने एम0 आई0 एवं एम0 एन0 एक्टिविटी के द्वारा अपनी प्रवृत्ति और प्रकृति को भी फ्लैश कार्ड के माध्यम से जाना। छात्रों को मेंटल मास्ट्री में सत्व गुणों से भी अवगत कराया गया। छात्रों ने साल भर अनुशासन में रहने के लिए स्वयं निर्मित नियमों का निर्माण किया जिससे सभी छात्र अनुशासन का पालन करें। जीवा पब्लिक स्कूल में शिक्षा के साथ-साथ इन विषयों पर विशेष ध्यान दिया जाता है। यही कारण है कि विद्यालय के छात्रों में नैतिक मूल्य एवं संस्कार आवश्य पाए जाते हैं। विद्यालय में इस दौरान छात्रों का एम0 आई0 एवं एम0 एन0 परिक्षण भी किया गया जिससे वे स्वयं की दक्षता भली भांति जान सकें। छात्रों ने इस कार्यक्रम के दौरान प्रकृति के विषय में भी जानकारी प्राप्त की एवं विज्ञान संबंधित विषय की भी जानकारी प्राप्त की।

विद्यालय के अध्यक्ष श्री ऋषिपाल चौहान ने छात्रों को नए सत्र के प्रारंभ की बधाई दी एवं उनको संबोधित करते हुए कहा कि सभी छात्र अपना एक महत्वपूर्ण लक्ष्य अवश्य बनाए एवं उसी को केंद्रित कर जीवन पथ पर आगे बढ़ते जाएँ। उपाध्यक्षा श्रीमती चंद्रलता ने भी छात्रों को संबोधित किया एवं कहा कि छात्रों को सदैव चुनौतियों को स्वीकार करना चाहिए और परिश्रम से आगे बढ़ते रहना चाहिए। प्रधानाचार्या श्रीमती देविना निगम ने भी नये सत्र में सभी छात्रों को उनके परीक्षाफल के लिए बधाई दी एवं उज्ज्वल भविष्य की कामना की। 



Saturday, 16 March 2019

नन्हें मुन्नों का हाॅमर्टन ग्रामर स्कूल में वार्षिक दीक्षांत सामरोह सम्पन्न

नन्हें मुन्नों का हाॅमर्टन ग्रामर स्कूल में वार्षिक दीक्षांत सामरोह सम्पन्न

फरीदाबाद 17 मार्च : हर साल की तरह पफरीदाबाद के सैक्टर 21ए स्थित हाॅमर्टन ग्रामर स्कूल अपने मुख्य द्वार से ट्रिनटी हाॅल तक सजा हुआ था अपने बच्चों के स्वागत के लिए। अवसर था के.जी. कन्वोकेशन सेरेमनी -2018 का ‘पफंतासिया’ जिसमें हाॅमर्टन स्कूल के प्रबंध निदेशक श्री राजदीप सिंह, प्रधानाचार्या श्रीमती अर्चना डोगरा के साथ स्कूल में पधारी। सम्मानित अतिथियों श्रीमती राजविन्दर कौर तथा श्रीमती रीता चैधरी ने बच्चों को उनकी सपफलताओं पर बधाईयां देते हुए उन्हें उपाधियों से विभूषित किया।

कार्यक्रम में पधारे सभी अतिथियों का स्वागत के.जी. कक्षा के मंत्राम् सिंगारी ने अपनी मधुर वाणी में किया। उसके बाद हाॅमर्टन ग्रामर के संस्थापक प्रधानाचार्य श्री कुदलपी सिंह ने के साथ सभी गणमान्य अतिथियों ने गणपति वंदना के साथ दीप प्रज्जवलन किया। सभी छात्रा छात्राओं ने करतल ध्वनि से सबका सवागत किया। तो के.जी. के छात्रा-छात्राओं ने नृत्य नाटिका द्वारा सभी का स्वागत अभिनन्दन किया। इसके बाद छोटे बच्चों ने  अपने बैंड धुनो पर आधारित जीवन परिवर्तन और विकास को प्रदर्शित करना नृत्य प्रस्तुत किया। श्री राजदीप सिंह तथा प्रधानाचार्या श्रीमती अर्चना डोगरा द्वारा सभी सम्मानित अतिथियों को स्मृति चिह्न प्रदान किए गए। तत्पश्चात् हाॅमर्टन ग्रामर स्कूल की विशिष्ट बाल प्रतिभा अपर्णा शर्मा ने ‘पफूल की वाह’ कविता का जोशीला पाठ कर सभी को देश गर्व की अनुभूति से भर दिया।

कार्यक्रम में पधारे सभी अभिभावकों ने हाॅमर्टन ग्रामर स्कूल के प्रति अपना हार्दिक प्रेम और आभार प्रदर्शित करते हुए बच्चों की प्रगति और विकास पर संतोष जाहिर किया और अपना सम्पूर्ण सहयोग और समर्थन स्कूल को देते रहने का वायदा भी किया। अंत में सभी विशिष्ट बाल प्रतिभाओं को उनकी विशेष दक्षता का पुरस्कार प्रमाण पत्रा तथा सपफलता प्रमाण पत्रा (सभी को) श्री राजदीप सिंह, श्रीमती अर्चना डोगरा, श्रीमती राजविन्दर कौर (प्रधानाचार्या कैरी आॅन टाॅडलर्स) तथा श्रीमती रीता चैधरी (प्रधानाचार्या लिटिल मिलेनियम स्कूल) द्वारा मंच पर प्रदान किए गए। अंत में विद्यालय के संस्थापक प्रधानाचार्य श्री कुलदीप सिंह ने अपना आशीर्वाद सभी को प्रदान कतरे हुए विद्यालय के शिक्षण विकास की सराहना की। प्रधानाचार्या श्रीमती अर्चना डोगरा ने सभी को पधारने के लिए धन्यवाद किया। कार्यक्रम समापन सभी के जलपान ग्रहण के सथ समाप्त हुआ।

विद्यालय में इस अवसर पर बच्चों के मनोरंजन के लिए तरह-तरह के खेल कूद और खाने पीने के स्टाल्स भी लगाए गए थे जिनमें बाउन्सी और अन्य खेलकूद में सभी बच्चों ने मेले जैसे आनंद उठाया।

Thursday, 14 March 2019

मानव रचना डेंटल कॉलेज में फेस्ट का आयोजन

मानव रचना डेंटल कॉलेज में फेस्ट का आयोजन

फरीदाबाद, 14 मार्च:  मानव रचना डेंटल कॉलेज में चल रहे तीन दिवसीय फेस्ट के दूसरे दिन खासा उत्साह देखने को मिला। दूसरे दिन दिल्ली-एनसीआर स्थित एसआरडीसी, जामिया मीलिया इस्लामिया,  ईएसआईसी और आईपी के छात्रों ने हिस्सा लिया। इस दौरान रंगोली, फेस पेंटिंग, वायर बेंडिंग, टैलेंट शो, नुक्कड़ नाटक, प्लास्टर मानिया जैसे अलग-अलग कार्यक्रमों का आयोजन किया गया।

यह रहे नतीजे

नुक्कड़ नाटक में जामिया- पहला स्थान

फेस पेंटिंग में मानव रचना डेंटल कॉलेज- पहला स्थान

रंगोली में जामिया- पहला स्थान

वायर बेंडिंग में ईएसआईसी- पहला स्थान

प्लास्टर मानिया में मानव रचना डेंटल कॉलेज- पहला स्थान

टैलेंट शो---- सोलो सिंगिंग में जामिया पहला स्थान, डूएट और ग्रुप सिंगिंग में मानव रचना डेंटल कॉलेज में पहला स्थान हासिल किया।

मानव रचना डेंटल कॉलेज में प्रिंसिपल डॉ. अरुणदीप सिंह ने कहा, इस तरह के ईवेंट्स के जरिए छात्रों और अध्यापकों के बीच भी अच्छा रिश्ता बना रहता है, हर किसी को एक दूसरे से कुछ न कुछ सीखने को मिलता है। मानव रचना डेंटल कॉलेज में वाइस प्रिंसिपल डॉ. आशिम अग्रवाल ने, बाहर से आए सभी छात्रों का धन्यवाद किया।   

Friday, 22 February 2019

स्वर्गीय डॉ. ओपी भल्ला लाइफटाइम अचीवमेंट अवॉर्ड से सम्मानित

स्वर्गीय डॉ. ओपी भल्ला लाइफटाइम अचीवमेंट अवॉर्ड से सम्मानित

फरीदाबाद, 22 फरवरी : मानव रचना शैक्षणिक संस्थान के संस्थापक (स्वर्गीय) डॉ. ओपी भल्ला को एसोचैम की ओर से नवाचार के माध्यम से शिक्षा के क्षेत्र में बेहतरीन कार्य करने के लिए लाइफटाइम अचीवमेंट अवॉर्ड से सम्मानित किया गया। भारत के पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की उपस्थिति में संस्थान के एमडी डॉ. संजय श्रीवास्तव ने केंद्रीय मंत्री सुरेश प्रभु से यह अवॉर्ड ग्रहण किया। कार्यक्रम में एसोचैम के महासचिव उदय कुमार वर्मा, मानव रचना शैक्षणिक संस्थान के अध्यक्ष और एसोचैम नेशनल काउंसिल फॉर एजुकेशन के चेयरमैन डॉ. प्रशांत भल्ला, एआईसीटीई के वाइस चेयरमैन डॉ. एमपी पूनिया समेत शिक्षा क्षेत्र से जुड़े कई गणमान्य लोग मौजूद थे।

व्यवसायात्मिका बुद्धिरेकेह कुरुनन्दन ।

बहुशाखा ह्यनन्ताश्च बुद्धयोव्यवसायिनाम् ॥४१॥

हे अर्जुन ! इस कर्मयोग में निश्चयात्मिका बुद्धि एक ही होती है; किंतु विवेकहीन सकाम मनुष्योंकी बुद्धियाँ निश्चय ही बहुत भेदोंवाली और अनंत होती हैं । ४१

डॉ. ओपी भल्ला, केवल एक व्यक्ति नहीं, बल्कि एक दूरदर्शी और गतिशील शिक्षाविद थे, जिन्होंने बेहतर मानव के निर्माण के इरादे से मानव रचना नाम से एक शैक्षिक आंदोलन को आकार दिया। उन्होंने शिक्षा के क्षेत्र में पूरे हरियाणा का नक्शा बदल दिया। एक वक्त था जब उत्तर भारत के छात्रों को इंजीनियरिंग की पढ़ाई करने के लिए दूसरे राज्यों में जाना पड़ता था, जिसके लिए उन्हें कई परेशानियों का सामना करना पड़ता था, फिर चाहे वो भाषा हो या फिर खान-पान।

मिशन ‘मानव रचना’ शैक्षिक संस्थानों के साथ जारी है, जो हमेशा अपने छात्रों को भारतीय लोकाचार और मूल्यों की पृष्ठभूमि में चुने हुए क्षेत्रों में नवीनतम ज्ञान और कौशल के साथ प्रशिक्षित और लैस करने के लिए प्रतिबद्ध है ताकि उन्हें बदलने के लिए किसी भी वैश्विक चुनौती का सामना करने में सक्षम बनाया जा सके। इस महान देश के व्यावहारिक, सम्मानजनक और जिम्मेदार नागरिकों में और ज्ञान के निर्माण और प्रसार के लिए अग्रणी सैद्धांतिक और व्यावहारिक अनुसंधान की एक कार्य संस्कृति को लागू करने के लिए।

आज, डॉ. ओपी भल्ला हमारे साथ नहीं हैं, लेकिन उत्कृष्टता में  उनकी समृद्ध विरासत एक स्थायी गवाही है जिसकी खुशबू हमें प्रेरित करती रहेगी।



बुलंद हौसले से कर गए वो काम

शिक्षित समाज के लिए रचा इतिहास

‘मानव रचना’ दे रहा सपनों को उड़ान

हर मानुष आज कर रहा उनका सम्मान

Tuesday, 1 January 2019

मानव रचना को नई ऊंचाइयो पर लेकर जाएं – सत्या भल्ला

मानव रचना को नई ऊंचाइयो पर लेकर जाएं – सत्या भल्ला

फरीदाबाद 1 जनवरी : सुख, समृद्धि और शांति की कामना के साथ मानव रचना परिवार में नए साल की शुरुआत हवन और भंडारे के साथ की जाती है। कुछ इसी तरह साल 2019 की भी शुरुआत की गई। इस दौरान समस्त मानव रचना परिवार ने बढ़चढ़ कर हिस्सा लिया। 26 दिसंबर से महामृत्युंजय यज्ञ की शुरुआत की गई थी और आज (पहली जनवरी को) संस्थान में यज्ञ की पूर्णाहूति दी गई। जाने-माने गायक सिद्धार्थ मोहन के भजन से कार्यक्रम में चार-चाँद लगा दिए। इस दौरान मानव रचना शैक्षणिक संस्थान की मुख्य संरक्षक सत्या भल्ला, अध्यक्ष डॉ. प्रशांत भल्ला, उपाध्यक्ष डॉ. अमित भल्ला, दीपिका भल्ला, निशा भल्ला, मानव रचना के ट्रस्टी डॉ. एमएम कथूरिया समेत सभी वीसी, डीन, डायरेक्टर्स, ईडी, फैकल्टी मेंबर्स और उच्च अधिकारी मौजूद रहे। इस कार्यक्रम में फरीदाबाद के  डिस्ट्रिक्ट एवं सेशन्स जज दीपक गुप्ता ने बतौर मुख्य अतिथि हिस्सा लिया।  उन्होंने अपने संबोधन मानव रचना शैक्षणिक संस्थान में यज्ञ के साथ नए साल की शुरुआत कर संस्कृति को बढ़ावा देने वाले इस कदम की बेहद तारीफ की और सभी को नए साल की शुभकामनाएं दी।

नए साल के मौके पर उन 92 कर्मचारियों को सम्मानित किया गया जिन्होंने 10 साल संस्थान में पूरे गए। चार्मवुड स्थित मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल की म्यूजिक टीचर चांदना कपूर की सीडी ‘सॉग्स ऑफ वाटर’ भी रिलीज की गई। यह सीडी सेंट्रल बोर्ड ऑफ ग्राउंड वाटर के सहयोग से बनाई गई है। कार्यक्रम में अपने संबोधन में मानव रचना शैक्षणिक संस्थान की मुख्य संरक्षक सत्या भल्ला ने सभी को नववर्ष की शुभकामनाएं दी और सभी से आग्रह किया कि जिस तरह साल 2018 में हम सबने एकजुट होकर संस्थान को आगे बढ़ाने के कार्य किया है, वैसे ही हम नए साल में भी करेंगे।

अध्यक्ष डॉ. प्रशांत भल्ला ने बताया कि साल 2018 में संस्थान ने कई उपलब्धियां हासिल की हैं और  मुझे उम्मीद है कि इस साल में भी हमारे छात्र मानव रचना का परचम लहराएंगे।  डॉ. अमित भल्ला ने कहा, मैं आशा करते हूं की नया वर्ष सभी को एकजुट करते हुए मंगलमय और सेहत से परिपूर्ण रहे।

कार्यक्रम में  नवदीप चावला, एचके बत्रा जेबी गुप्ता और रवि वासदेव भी मौजूद रहे।

Wednesday, 26 December 2018

जीवा स्कूल की पी0 टी0 एम0 में रचनात्मक पाठ्ïयक्रम का प्रदर्शन

जीवा स्कूल की पी0 टी0 एम0 में रचनात्मक पाठ्ïयक्रम का प्रदर्शन

फरीदाबाद 26 दिसंबर।  जीवा पब्लिक स्कूल में छात्रों की सर्वांगीण विकास के लिए हर संभव कार्य किया जाता है। विद्यालय में प्रतिमाह पाठ्ïयक्रम का विशेष प्रारूप तैयार किया जाता है जिसे छात्र विभिन्न क्रियाकलापों के माध्यम से पूर्ण करते हैं। इसी प्रकार छात्र पाठ्ïयक्रम को रचनात्मक एवं रोचक विधि द्वारा सीखते हैं। प्रतिमाह विद्यालय में कक्षा पहली से लेकर नौवीं तक के छात्रों के लिए ‘जीवाकुल’ का आयोजन किया जाता है। इसमें छात्र स्वयं अलग-अलग पाठ्ïयक्रम के विषयों का चुनाव करते हैं एवं विषय के अनुरूप कुछ अति विशेष रचनात्मक व कठिन विषय को अति सरल ढंग से प्रस्तुत करते हें। विशेषकर छात्र विज्ञान के अनेक कठिन विषयों को इसी प्रकार से सीखते व समझते हैं तथा तदुपरांत बड़े सुंदर ढंग से प्रस्तुत भी करते हैं।


इसी श्रृंखला में शनिवार को भी विद्यालय के पी0 टी0 एम0 के दौरान छात्रों ने विज्ञान क्षेत्र में अपनी उपलब्धियों को दर्शाया। छात्रों ने अनेक उपयोगी प्रोजेक्ट स्वयं बनाये एवं उनका प्रदर्शन भी किया। वहीं छात्रों ने अंग्रेज़ी भाषा का भी वर्किंग मॉडल तैयार किया जो अपने आप में अद्ïभुत था। 

अभिभावक अपने बच्चों द्वारा निर्मित इन प्रोजेक्टस को देखकर अति प्रसन्न हुए। वहीं छात्रों ने भाषा का सुंदर प्रयोग किया और लाईब्रेरी एक्टिविटी के माध्यम से सुंदर, रोचक एवं ज्ञानवर्धक कहानियों को स्वयं निर्माण किया। उन्हें बड़े ही निराले तरीके से प्रस्तुत किया। विद्यालय के आर्ट एड क्राफ्ट की वस्तुओं को प्रदर्शित किया गया। प्राईमरी की भी तीन गतिविधियों को दर्शाया गया जिसमें टीचिंग टूल्स, क्लास एक्टिविटि एवं लर्निंग एक्सपीरियंस को दर्शाया गया। इसके अलावा विद्यालय के खेलकूद की उपलब्धियों को भी इस दौरान दर्शाया गया व एम्पावरिंग लाइफ थ्रू साईंस (स्पेस) के द्वारा की कई गतिविधियों को दिखाया गया जिसमें रॉकेट लॉचिंग एंड टेलिस्कॉप प्रमुख रहे। अभिभावकों ने छात्रों द्वारा निर्मित सभी प्रोजेक्टस की सराहना की। 

विद्यालय के अध्यक्ष श्री ऋषिपाल चौहान ने इस प्रदर्शनी का अवलोकन किया व बच्चों के इन अद्ïभुत प्रयासों व कल्पनाओं की बहुत प्रशंसा की। इस अवसर पर विद्यालय की अध्यक्षा श्रीमती चंद्रलता चौहान, प्रशासनिका मुक्ता सचदेव व प्रधानाचार्या श्रीमती देविना निगम भी उपस्थित थी।


Monday, 10 December 2018

मंच से मुख्यमंत्री का बड़ा बयान : अभिभावक खुद ही प्राईवेट स्कूलों में मनमानी फीस देते है, उसके बाद शिकायत करते है

मंच से मुख्यमंत्री का बड़ा बयान : अभिभावक खुद ही प्राईवेट स्कूलों में मनमानी फीस देते है, उसके बाद शिकायत करते है

फरीदाबाद 10 दिसंबर। मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा है कि लोग पहले तो खुद अपने बच्चों को प्राइवेट स्कूल में दाखिल कराने के लिए छिपी हुई फीस देते हैं और फिर शिकायत करते हैं, होना यह चाहिए कि पहले शिकायत करें। नई दिल्ली स्थित होटल ताज पैलेस मे आयोजित एक कार्यक्रम में दिये गये मुख्यमंत्री के इस बयान की हरियाणा अभिभावक एकता मंच ने निंदा करते हुए कहा है कि मंच ने कई बार मुख्यमंत्री से मुलाकात करके उन्हें मांगपत्र व ज्ञापन सौंपकर स्कूलों की मनमानी की शिकायत की है और दर्जनों पत्र भेजकर उन्हें बताया है कि स्कूल प्रबंधक सीबीएसई, हुडा व शिक्षा नियमावली के सभी नियम कानूनों का उल्लंघन करके अभिभावकों का आर्थिक व मानसिक शोषण कर रहे हैं 

लेकिन मुख्यमंत्री ने आज तक मंच के ज्ञापन पर मांगपत्र पर कोई भी उचित कार्रवाई नहीं की है इतना ही नहीं मुख्यमंत्री के गृह जिले करनाल में ने जब अभिभावकों ने मुख्यमंत्री से प्राइवेट स्कूलों की मनमानी व लूटखसोट की शिकायत की तो उन्होंने अभिभावकों को धमकाते हुए कहा कि अपने बच्चों के भविष्य की खातिर स्कूल वालों से समझौता कर लो। मंच के जिला अध्यक्ष एडवोकेट शिवकुमार जोशी व जिला सचिव डा0 मनोज शर्मा ने कहा है कि मुख्यमंत्री व शिक्षा मंत्री पूरी तरह से प्राइवेट स्कूल प्रंबधकों को संरक्षण प्रदान कर रहे हैं इसी के चलते उनके हौसले बुलंद हैं और वे सभी नियम कानूनों का उल्लंघन करके शिक्षा का व्यवसायीकरण कर रहे हैं इसका सबसे बड़ा सबूत केन्द्रीय राज्यमंत्री कृष्णपाल गूजर के ग्रेटर फरीदाबाद में खोले गये निजी स्कूल का उद्घाटन करना है। 

शिक्षामंत्री भी यह बयान देते है कि सबसे ज्यादा स्कूल अगर भाजपा नेताओं के है तो क्या हुआ उनको भी तो कमाने का अधिकार है। मुख्यमंत्री व शिक्षामंत्री द्वारा बार-बार स्कूल प्रबंधकों के हित में ऐसे बयान देना अभिभावकों के जख्मों पर नमक छिड़कने के समान है। मंच इसकी निंदा करता है उनके इस प्रकार के बयानों से हरियाणा के सभी अभिभावकों में काफी रोष है और वे आगामी होने वाले विधानसभा चुनावों में अपने इस अपमान का बदला जरूर लेंगे। मंच शीघ्र ही सभी जिलों के अभिभावक संगठनों की एक बड़ी बैठक करनाल में आयोजित करेगा जिसमें प्रदेश सरकार द्वारा स्कूलों को दिए जा रहे संरक्षण पर विचार किया जाएगा और आगामी विधानसभा चुनाव में ऐसी सरकार को बदलने के लिए अपने अधिकारों का किस प्रकार प्रयोग किया जाए इसकी रणनीति बनाई जाएगी।
जे.सी. बोस विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. दिनेश कुमार ‘सबसे प्रतिष्ठित कुलपति पुरस्कार’ से सम्मानित

जे.सी. बोस विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. दिनेश कुमार ‘सबसे प्रतिष्ठित कुलपति पुरस्कार’ से सम्मानित

फरीदाबाद, 10 दिसम्बर - जे.सी. बोस विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, वाईएमसीए, फरीदाबाद के कुलपति प्रो. दिनेश कुमार को 8वें अंतर्राष्ट्रीय मानवाधिकार पुरस्कार 2018 एवं भारतीय मानवाधिकार सम्मान 2018 के अंतर्गत देश के ‘सबसे प्रतिष्ठित कुलपति पुरस्कार’ से सम्मानित किया गया। आल इंडिया काउंसिल आफ ह्यूमन राइट्स, लिबर्टीज एंड सोशल जस्टिस द्वारा शिक्षा के माध्यम से शांति, सद्भाव, संरक्षण और मानव अधिकारों के प्रति बढ़ावा देने के उद्देश्य से स्थापित यह पुरस्कार को उन्हें इंडिया इस्लामिक कल्चरल सेंटर, नई दिल्ली में अंतर्राष्ट्रीय मानवाधिकार दिवस केे उपलक्ष्य में आयोजित सम्मान समारोह में दिया गया। 

यह सम्मान प्रो. दिनेश कुमार को कुलपति के रूप में शिक्षा के क्षेत्र में उनकी उल्लेखनीय उपलब्धियों के लिए दिया गया है जोकि ऐसे व्यक्तियों, विश्व शांति प्रेरकों, प्रतिष्ठित व्यवसासियों, संस्थाओं एवं संगठनों को दिया जाता है, जिन्होंने मानवता की सेवा के लिए उत्कृष्ट कार्य किया हो। पुरस्कार स्वरूप ‘उत्कृष्टता प्रमाण पत्र’ प्रदान किया गया।

प्रो. दिनेश कुमार ने कहा कि ऐसे मंच से सम्मान प्राप्त करना गौरव की बात है जो समाज के कमजोर वर्गाें को न्याय दिलाने तथा उनके मानवाधिकारों की रक्षा केे लिए कार्य कर रहा है। उन्होंने कहा कि जे.सी. बोस विश्वविद्यालय भी अपनी स्थापना से लेकर अब तक तकनीकी एवं कौशल आधारित शिक्षा प्रदान कर युवाओें को रोजगार योग्य बनाने तथा मुख्यधारा में लाने के लिए कार्य किया है तथा शिक्षा के माध्यम से समाज में समरसता लाने के लक्ष्यों के लिए निरंतर प्रयत्नशील है। उन्होंने अपना पुरस्कार विश्वविद्यालय को एक उत्कृष्ट संस्थान के रूप में विकसित करने में योगदान देने वाले प्रत्येक व्यक्ति को समर्पित किया।

एक कुशल प्रशासक तथा प्रतिबद्ध शोधकर्ता की पहचान रखने वाले प्रो. दिनेश कुमार जिन्होंने मास्टर व पीएचडी की डिग्री कैंब्रिज विश्वविद्यालय से हासिल की है, जे.सी. बोस विश्वविद्यालय के पांचवें कुलपति है और उन्हें प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी द्वारा वर्ष 2016 में भारतीय विज्ञान कांग्रेस के प्रतिष्ठित होमी जे. भाभा मेमोरियल पुरस्कार से सम्मानित किया जा चुका है। एक शिक्षाविद् के रूप में उन्हें 30 वर्षों से अधिक का अध्यापन का अनुभव है और उनके 100 से ज्यादा शोध पत्र राष्ट्रीय व अंतर्राष्ट्रीय जर्नल में प्रकाशित हो चुके हैं। 

उनके कार्यकाल में विश्वविद्यालय ने शिक्षा के क्षेत्र में उल्लेखनीय उपलब्धियां हासिल की है। इस दौरान विश्वविद्यालय को नैक द्वारा ‘ए’ ग्रेड मान्यता प्राप्त हुई तथा विश्वविद्यालय के विभिन्न पाठ्यक्रमों को एनबीए मान्यता प्राप्त हुई। विश्वविद्यालय ने पहली बार एनआईआरएफ रैंकिंग में राष्ट्रीय स्तर पर अपनी उपस्थिति दर्ज करवाई। विश्वविद्यालय को संबद्धता का दर्जा प्राप्त हुआ और आज पलवल तथा फरीदाबाद के 18 इंजीनियरिंग कालेज विश्वविद्यालय के साथ संबद्ध है। प्रो. दिनेश कुमार के निरंतर प्रयासों के कारण ही विश्वविद्यालय को केन्द्रीय एजेंसियों द्वारा टीईक्यूआईपी-3 व रूसा के तहत 27 करोड़ रुपये का अनुदान प्राप्त करने में सफलता मिली, जिससे विश्वविद्यालय में अकादमिक व ढांचागत विकास को बल मिला। 

Monday, 29 October 2018

मानव रचना में हरियाणा के पहले आईआईएफ चैप्टर की शुरुआत

मानव रचना में हरियाणा के पहले आईआईएफ चैप्टर की शुरुआत

फरीदाबाद, 29 अक्टूबर: मानव रचना इंटरनेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ रिसर्च एंड स्टडीज में इंस्टीट्यूट ऑफ इंडियन फाउंड्रीमेन का फरीदाबाद चैप्टर स्थापित किया गया। यह हरियाणा का पहला आईआईएफ चैप्टर है जिसे मानव रचना में स्थापित किया गया है। इस सेंटर का हरियाणा के उद्योग मंत्री विपुल गोयल ने उद्घाटन किया। इस दौरान उन्होंने मानव रचना शैक्षणिक संस्थान के अध्यक्ष डॉ. प्रशांत भल्ला का भी धन्यवाद किया। उन्होंने कहा, आईआईएफ भारतीय फाउंड्री उद्योग के लिए शीर्ष राष्ट्रीय उद्योग निकाय है। आईआईएफ सक्रिय रूप से नवीनतम उत्पादक, ईको फ्रेंडली, कौशल विकास, व्यापार, एक्सपोर्ट प्रमोशन और पॉलिसी एडवोकेसी के प्रचार-प्रसार में सक्रिय रूप से कार्यरत है। मानव रचना परिसर में आईआईएफ, सीईटी, आईआईएफ द्वारा पेश किए गए कार्यक्रमों के प्रशिक्षण और संचालन के लिए फाउंड्री प्रशिक्षकों का विकास करेगा।

डॉ. प्रशांत भल्ला ने आईआईएफ का मानव रचना कैंपस में स्वागत किया। उन्होंने कहा, भविष्य की नौकरियों के लिए इंजीनियरिंग के छात्रों को अपने कौशल का विकास करने की काफी जरूरत है  और वह मानते हैं कि, इसके लिए इंडस्ट्री-अकैडमिया का साथ मिलकर काम करना बेहद जरूरी है। उन्होंने उम्मीद जताई कि, आईआईएफ का फरीदाबाद चैप्टर इस दिशा में एक बहुत बड़ा योगदान देगा।

इस मौके पर मानव रचना के एमडी डॉ. संजय श्रीवास्तव, एमआरआईआईआरएस के वीसी डॉ. एनसी वाधवा, आईआईएफ के प्रेजिडेंट शशि कुमार जैन, सचिव विनीत जैन, ट्रेजरर डॉ. दीवान डी. चोपड़ा समेत कई गणमान्य लोग मौजूद रहे।

Wednesday, 24 October 2018

मानव रचना में तीन दिवसीय आंत्रप्रन्योरशिप अवेयरनेस कैंप की शुरुआत

मानव रचना में तीन दिवसीय आंत्रप्रन्योरशिप अवेयरनेस कैंप की शुरुआत

फरीदाबाद, 24 अक्टूबर: मानव रचना इनोवेशन एंड इनक्यूबेशन सेंटर की ओर से तीन दिवसीय आंत्रप्रन्योरशिप अवेयरनेस कैंप का आयोजन किया गया है। तीन दिवसीय कैंप में छात्रों को एक्सपर्ट्स की ओर से आंत्रप्रन्योरशिप के लिए टिप्स दिए जाएंगे। एक्सपर्ट और मोबी क्वेस्ट के एग्जीक्यूटिव वीपी चंद्रशेखर ने छात्रों को उद्यमिता के जनरल कॉन्सेप्ट्स के बारे में समझाया। उन्होंने कहा कि, जिस तरह एक छोटा बच्चा पहली बार चलता है वह कई बार गिरता है, फिर वह थक जाता है और कुछ दिन बाद वह ठीक से चलता है और फिर दौड़ता है। आंत्रप्रन्योरशिप भी कुछ है ही है, कई बार दस कदम आगे जाकर चार कदम पीछे भी आना पड़ता है, लेकिन इसका मतलब यह नहीं है उसे छोड़ दिया जाए। उन्होंने कहा आंत्रप्रन्योरशिप की शुरुआत करने के लिए विजन क्लीयर होना चाहिए।

इस मौके पर मानव रचना शैक्षणिक संस्थान के उपाध्यक्ष डॉ. अमित भल्ला ने सभी छात्रों का कैंपस में स्वागत किया। उन्होंने कहा हर आंत्रप्रन्योर को अपने आइडिया पर विश्वास करना चाहिए, साथ ही अपनी कॉम्पीटीटर्स से सीखना चाहिए। डॉ. अमित भल्ला ने कहा, कोई भी छात्र जो एक स्टार्ट-अप की शुरुआत करना चाहता है, वह यहां आकर अपना आइडिया शेयर कर सकता है। यहां का ई-सेल उन छात्रों की मदद करेगा।

आंत्रप्रन्योरशिप अवेयरनेस कैंप में MRIIRS के वीसी डॉ. एनसी वाधवा, MRU के वीसी डॉ. संजय श्रीवास्तव, प्रो-वीसी मीनाक्षी खुराना, MRIIC की चीफ कॉर्डिनेटर मोनिका गोयल, राजेंद्र अरोड़ा, करण नरूला समेत कई वरिष्ठ लोग मौजूद रहे। 

Tuesday, 23 October 2018

मानव रचना के चार कोर्सिस को मिला NBAसे एक्रेडिटेशन

मानव रचना के चार कोर्सिस को मिला NBAसे एक्रेडिटेशन

फरीदाबाद, 24 अक्टूबर: मानव रचना इंटरनेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ रिसर्च एं स्टडीज के चार कोर्सिस को एनबीए की ओर से मान्यता दी गई है। नेशनल बोर्ड ऑफ एक्रेडिटेशन की ओर से चार बीटेक प्रोग्राम्स--- कंप्यूटर साइंस एंड इंजीनियरिंग, इलेक्ट्रॉनिक्स एंड कम्यूनिकेशन इंजीनियरिंग, बायोटेक्नोलॉजी और मकैनिकल इंजीनियरिंग को एक्रेडिटेशन दिया गया है। आपको बता दें, अगस्त में 11 एक्सपर्ट्स की टीम ने कैंपस विजिट किया था। इस दौरान उन्होंने टीचिंग, लर्निंग, स्टूडेंट सक्सेस रेट, करियर गाइडेंस, प्लेसमेंट, रिसर्च एंड डेवेल्पमेंट का इंस्पेक्शन किया था। एक्सपर्ट टीम के मेंबर्स की ओर से की सिफारिशों के आधार पर मान्यता स्वीकृत की गई है।
इससे पहले मानव रचना इंटरनेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ रिसर्च एंड स्टडीज NAAC की ओर से ए ग्रेड एक्रेडिएशनफाइव स्टार क्यू-एस रेटिंग,NIRF की ओर से टॉप एजुकेशनल इंस्टीट्यूशन और एआईसीटीई से भी मान्यता प्राप्त है।

Monday, 15 October 2018

मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल में स्टूडेंट एक्सचेंज प्रोग्राम

मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल में स्टूडेंट एक्सचेंज प्रोग्राम

फरीदाबाद, 16 अक्टूबर: मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर-14 में चीन से स्टूडेंट एक्सचेंज प्रोग्राम के तहत आए  छात्रों ने साइंस प्रोजेक्ट शो-केस किए। इस दौरान चीनी छात्रों ने स्कूल का दौरा किया और स्कूल में मौजूद सुविधाओं की काफी तारीफ की। छात्रों ने चीन के एजुकेशन सिस्टम के बारे में जानकारी साझा की। चीनी छात्रों ने चाइनीज़ सॉन्ग गाकर सभी का मनोरंजन किया तो वहीं, स्कूली छात्रों ने कथक पर्फॉर्मेंस देकर समां बांधा। चाइनीज डेलिगेशन ने स्पोर्ट्स अकादमी में टेबल टेनिस और बैडमिंटन का लुत्फ उठाया। Foundation for Glocal Science Initiatives (FGSI) की ओर से छात्रों को भारत का न्योता दिया गया है। 

आपको बता दें, इस  कार्यक्रम के तहत 12 देशों से छात्र मानव रचना का दौरा करने आने वाले हैं। 16 अक्तूबर को छात्रों को ताज महल ले जाया जाएगा। इसके अलावा होटल ताज फरीदाबाद और गुरुग्राम हयात में छात्रों के लिए अलग-अलग वर्कशॉप्स रखी गई हैं। 17 अक्तूबर को सूरजकुंड स्थित मानव रचना शैक्षणिक संस्थान में इस कार्यक्रम का उद्घाटन किया जाएगा और 20 अक्तूबर को वैलेडिक्ट्री प्रोग्राम रखा जाएगा।

Saturday, 13 October 2018

सुधा रुस्तगी कॉलेज ऑफ  डेंटल साइंस एंड रिसर्च फरीदाबाद में सेमीनार एवं कार्यशाला का आयोजन

सुधा रुस्तगी कॉलेज ऑफ डेंटल साइंस एंड रिसर्च फरीदाबाद में सेमीनार एवं कार्यशाला का आयोजन

फरीदाबाद, 13 अक्टूबर:   पेरिओडोंटोलॉजी विभाग द्वारा सुधा रुस्तगी कॉलेज ऑफ  डेंटल साइंसेज एंड रिसर्च फरीदाबाद में उन्नत मौखिक इम्प्लांटोलॉजी विषय को लेकर एक सेमीनार एवं कार्यशाला का आयोजन किया गया जिसमें स्पेन के ल्लेडा विश्वविद्यालय से डॉ.पाउलो वेरेला द्वारा सेमीनार को सम्बोधित किया गया। इस अवसर पर डॉ. पाउलो ने स्नातक और स्नातकोत्तर छात्रों के साथ अपने अनुभव को साझा भी किया।

इस सेमीनार में मुख्य रूप से विभागाध्यक्ष, संकाय सदस्यों, स्नातकोत्तर छात्रों और इंटर्न के सभी प्रमुखों ने बढ़चढ़ कर भाग लिया। इसी अवसर पर ओरल इम्प्लांट्स पर कार्यशाला का भी आयोजन किया गया। इस मौके पर कालेज के अध्यक्ष श्री धर्मवीर गुप्ता और संस्थान के सचिव श्री दीपक गुप्ता मुख्य रूप से उपस्थित रहेे। 
इस सेमीनार में डॉ.सीएम मडिय़ा प्रिंसिपल, डॉ.विशाल जुनेजा सीईओ, डॉ. सी.एस बैजू  पीरियडोंटिक्स विभाग के प्रोफेसर और प्रमुख, डॉ.सलिल पाहवा  आदि शामिल हुए।

इस सेमीनार को सफल बनाने में विभाग के संकाय सदस्यों और स्नातकोत्तर छात्रों की अहम भूमिका रही। 


हाॅमर्टन ने अभिवावकों को दी नयी दिशा-नई सोच

हाॅमर्टन ने अभिवावकों को दी नयी दिशा-नई सोच

फरीदाबाद 13 अक्टूबर । हाॅमर्टन ग्रामर स्कूल में बच्चों और उनके अभिभावकों से संबंधित कई कार्यक्रम हुए। हाॅमर्टन के ट्रिनटी हाॅल में दो प्रमुख सेमिनार और कार्यशाला का आयोजन हुआ जो अभिभावकों को अपने बच्चों के संबंध में नयी प्रेरणा देने के लिए था और सभी अतिथियों और अभिभावकों ने प्रस्तुत कार्यक्रमों की हृदय से सराहना की। इंडियनिका पब्लिकेशन के निमन्त्रण पर पधारी सुश्री वर्षा शेहलात ने अपनी विशिष्ट शैली में लगभग बीसों स्कूलों से पधारे माता-पिता और अभिभावकों को बदलते समय के अनुसार अपने बच्चों के प्रति विशेष रूप से सतर्क और क्रियाशील रहने की सलाह दी। दूसरी कार्यशाला में हाॅमर्टन ग्रामर स्कूल के संस्थापक प्रधानाचार्य श्री कुलदीप सिंह ने अपने बच्चों के लिए ‘‘स्कूल का चुनाव कैसे करें’’ इस विषय पर बोलते हुए माता पिताओं और अभिभावकों आज के स्कूलों के बदलते स्वरूपों और व्यवसायिक व्यवहारों के प्रति जागरूक रहने और स्कूल-प्रबंधन से निरंतर सम्पर्क में रहने की सलाह दी।

आज बाहरी स्कूलों से लगभग 250 बच्चों ने हाॅमर्टन ग्रामर स्कूल में कैनवस बैग बनाना और उसका महत्व जाना साथ ही प्रदूषकारी प्लास्टिक से दूर रहने की भी शिक्षा प्राप्त की। उनके लिए विशेष नाटक और संगीत कार्यक्रमों और खेलों का आयोजन भी किया गया था।

हाॅमर्टन ग्रामर स्कूल के ट्रिनटी हाॅल में स्कूल की छात्रा ज्ञानंदा नलवा पद आधारित एक चलचित्र ;पिक्चरद्ध का भी प्रमोशन किया गया जो श्री कुनाल वी सिंह द्वारा निर्देशित है और पिक्चर ‘समर कैम्प’ बच्चों पर आधारित मूवी है।

आज भरे हुए ट्रिनटी हाॅल में सभी अतिथियों के सामने स्कूल की सभी क्षेत्रों छात्र-छात्रा प्रतिभाओं ने भी अपनी मौलिक प्रतिभा का प्रदर्शन विज्ञान कला संबंधी प्रर्दशिनी लगाकर किया तो अनेक प्रतियोगिताओं में प्राप्त शील्डों और ट्राॅफियों से स्टेज की शोभा बढ़ा दी। कार्यक्रम का समपन- स्कूल के प्रबंध निदेशक श्री राजदीप सिंह के धन्यवाद प्रस्ताव से हुआ।

तीन दिवसीय मानव रचना- मॉडल युनाइटेड नेशन का आयोजन

तीन दिवसीय मानव रचना- मॉडल युनाइटेड नेशन का आयोजन

फरीदाबाद, 13 अक्टूबर:  मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर-14 में तीन दिवसीय एमआर-मून का आयोजन किया गया। इस दौरान दिल्ली-एनसीआर के करीब 23 स्कूलों के 400 छात्रों ने हिस्सा लिया। इस कार्यक्रम में थर्ड वर्ल्ड वॉर में महिलाओं के अधिकार, देश की सुरक्षा, वॉर के दौरान रोबोट का इस्तेमाल, मार्वेल वर्सेस डीसी समेत 11 कमेटियों ने अलग-अलग मुद्दों पर चर्चा की। इस दौरान द हिंदू अखबार के स्पोर्ट्स एडिटर विजय राजपल्ली ने बतौर मुख्य अतिथि हिस्सा लिया। वह छात्रों को देखकर स्तब्द रह गए। उन्होंने कहा, बच्चों के साथ समय बिताना सबसे बेहतरीन समय होता है। उन्होंने सभी छात्रों को प्रोत्साहित करते हुए कहा कि, आज मैंने इन छात्रों से बहुत कुछ सीखा है। विजय राजपल्ली ने एमआर-मून की तारीफ करते हुए कहा कि, छात्रों का कॉन्फिडेंस देखकर मैं हैरान हूं, यकीन नहीं हो रहा है कि, यह छात्र छठी और आठवीं के हैं। उन्होंने मानव रचना शैक्षणिक संस्थान के अध्यक्ष डॉ. प्रशांत भल्ला की तारीफ करते हुए कहा कि, हमारे देश का भविष्य सही हाथों में है।

इस दौरान स्कूल की  प्रिंसिपल ममता वाधवा, डायरेक्टर दीपिका भल्ला, स्पोर्ट्स डायरेक्टर सरकार तलवार, मानव रचना के ट्रस्टी डॉ. एमएम कथूरिया समेत स्कूल के शिक्षक मौजूद रहे।  इस कार्यक्रम में उन सभी छात्रों को सम्मानित किया गया,  जिनकी रिसर्च और नॉलेज अव्वल थी। बेस्ट कंट्री का अवॉर्ड मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर-14 फरीदाबाद और बेस्ट डेलिगेट का अवॉर्ड गुरुग्राम सेक्टर-46 स्थित मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल ने अपने नाम किया।

स्कूल की प्रिंसिपल ममता वाधवा ने दिल्ली-एनसीआर से आए सभी छात्रों का धन्यवाद किया। उन्होंने इस कार्यक्रम को सफल बनाने का श्रेय छात्रों को दिया, जिन्होंने दिन-रात की मेहनत कर इस कार्यक्रम को सफल बनाया। ममता वाधवा ने उम्मीद जताई कि एमआर-मून के पांचवें एडिशन में और भी स्कूल हिस्सा लेंगे।

Wednesday, 22 August 2018

 सरकारी स्कूल में अध्यापक ने फोडा छात्र का सिर, गर्दन पर भी आये नाखूनों के गहरे निशान

सरकारी स्कूल में अध्यापक ने फोडा छात्र का सिर, गर्दन पर भी आये नाखूनों के गहरे निशान

फरीदाबाद 22 अगस्त । फरीदाबाद के गांव सोतई के राजकीय उच्च विद्यालय में एक नौंवी कक्षा के छात्र का विज्ञान के अध्यापक ने सिर फोड दिया, स्कूल प्रबंधन द्वारा छात्र को आनन फानन में अस्पताल ले जाया गया, जहां उसका उपचार करवाया गया । अध्यापक ने दो छात्रों में हुए आपसी झगडे की सजा देते हुए एक छात्र की गर्दन पकडकर उसे फेंक दिया, धक्का लगने के कारण मेज पर गिरने से छात्र का सिर फट गया और गर्दन पर नाखूनों के जख्म भी बन गये हैं।  

 वहीं आरोपी विज्ञान के अध्यापक ने भी स्वीकार करते हुए कहा कि उसने जानबूझकर उसे धक्का नहीं दिया था गलती से तेज धक्का लग गया और छात्र का सिर फट गया, इसके लिये वह अपनी गलती मानते हैं आगे से ऐसा कभी नहीं करेंगे। इस पूरे मामले में स्कूल प्रबंधन से डीडीओ राजेश ने बताया कि उनके अध्यापक ने गलती की है जिसे उन्होंने स्वीकार किया है, छात्र का सिर फटने के बाद उसके परिजनों को बुला लिया गया था और पूरे मामले की जानकारी दे दी गई थी।
टीचर द्वारा छात्रों चप्पल की माला पहनाने का मामला, कार्यवाही बच्चों के कहने पर किया टीचर को माफ, सबके सामने हाथ जोडकर मांगी  माफी

टीचर द्वारा छात्रों चप्पल की माला पहनाने का मामला, कार्यवाही बच्चों के कहने पर किया टीचर को माफ, सबके सामने हाथ जोडकर मांगी माफी


गांव सागरपुर के सरकारी स्कूल का जहां पर खबर चलने के बाद जिला शिक्षा अधिकाारी मौके पर पहुंची और ग्राीमोणों व पीडितों बच्चों तथा उनके परिजनों को भी मौके पर बुलाया गया। उसके बाद शिक्षा अधिकारी ने किस तरह से बच्चों से बात की आप भी देख लिजिए और बच्चों के कहने पर टीचर को माफ भी कर दिया। वहीं आरोपी टीचर ने भी सार्वजैनिक तौर पर सभी के सामने हाथ जोडते हुए आगे से ऐसा ना करने का आश्वसन भी दिया है। शिक्षा अधिकारी की मानें तो उन्हें पता चला था कि बच्चों की पनिशमेंट का मामला है। लेकिन बच्चे कह रहे हैं जो वह सच है या झूठ इसका कोई सबूत तो है नहीं लेकिन बच्चों कहा कि मैडम को माफ कर दो तो उन्होंने तुरंत मान लिया और मैडम को माफ कर दिया। लेकिन उन्होंने आगे से ऐसा करने पर कार्यवाही करने की बात कही है।
  
सतेन्द्र कौर वर्मा जिला शिाक्षा अधिकारी।



वहीं परिजनों ने बताया कि बच्चों ने जिला शिक्षा अधिकारी के सामने सबकुछ सच बता दिया  है कि उनके गले में चप्पलों की माला डाली गई है लेकिन बच्चों ने मैडम को माफ कर दिया है। वहीं पीडित बच्चों ने बताया कि उनसे जिला शिक्षा अधिकारी ने पूछा था तो उन्होंने बता दिया और अब मैडम को माफ कर दिया गया है। 

Tuesday, 21 August 2018

रावल शिक्षण संस्थान के चेयरमैन सीबी रावल को लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड से सम्मानित

रावल शिक्षण संस्थान के चेयरमैन सीबी रावल को लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड से सम्मानित

फरीदाबाद 22 अगस्त । रावल शिक्षण संस्थान के चेयरमैन सीबी रावल को शिक्षा के क्षेत्र में अमूल्य योगदान के लिए लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड से सम्मानित किया गया होटल रेडिसन ब्लू में प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन आयोजित द्वारा आयोजित समारोह में उद्योग मंत्री विपुल गोयल ने रावल संस्थान के चेयरमैन सीबी रावल को यह अवार्ड प्रदान किया समारोह की अध्यक्षता विश्वकर्मा कौशल यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर राज नेहरु ने की समारोह में विभिन्न स्कूलों भी उपस्थित रहे I 

 इस अवसर पर पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय अटल बिहारी वाजपेई की स्मृति में दो मिनट का मौन रखकर श्रद्धांजलि भी दी गई अपने संबोधन में मुख्य अतिथि विपुल गोयल ने सीबी रावल के योगदान को सराया आयोजकों ने उद्योग मंत्री विपुल गोयल वाइस चांसलर राज नेहरू को भी शॉल ओढ़ाकर व स्मृति चिन्ह भेंट कर उनका अभिनंदन

राजकीय विद्यालय के छात्रों ने स्कूल के बहार किया पर्दशन ,काफी लंबे समय से मूलभूत सुविधाएं नहीं मिल पा रही

राजकीय विद्यालय के छात्रों ने स्कूल के बहार किया पर्दशन ,काफी लंबे समय से मूलभूत सुविधाएं नहीं मिल पा रही

फरीदाबाद 21 अगस्त । फरीदाबाद के तिगांव विधानसभा क्षेत्र में पड़ने वाले गांव अगवानपुर के राजकीय विद्यालय मैं छात्रों ने उस वक्त ताला लगा दिया तब उनकी मांगों को अनसुना किया जा रहा था I  छात्रों का कहना था कि काफी लंबे समय से उनको मूलभूत सुविधाएं नहीं मिल पा रही हैं जैसे कि क्लास रूम में पंखों का ना होना ,बेंच का ना होना ,पीने के पानी की कमी ,शौचालय में नल की कमी ,लाइट ना होना ,टीचरों की कमी ,बरसात के मौसम की वजह से ग्राउंड में पानी भरा होना  पानी की निकासी का कोई साधन नहीं I  छात्रों ने बताया यह सारी समस्याएं काफी समय से चली आ रही थी उन्होंने बार-बार प्रिंसिपल मैडम को इस समस्या से अवगत कराया लेकिन समस्या ज्यों की त्यों बनी रही जब छात्रों ने यह सारी समस्याएं अपने परिवार वालों को बताएं तो परिवार के लोगों ने छात्रों के साथ मिलकर स्कूल में ताला जड़ दिया I

स्कूल में ताला जड़ जाने की खबर जैसे ही शिक्षा विभाग और प्रशासन को मिली तो शिक्षा विभाग के अधिकारी एवं प्रशासन हड़कंप मच गया और उन्होंने मौके पर पहुंचकर स्थिति को काबू में लिया I पुलिस प्रशासन ने मौके पर पहुंचकर बच्चों और पेरेंट्स को समझा कर ताला खुलवाया एवं शिक्षा विभाग के अधिकारियों ने बच्चों की समस्याओं को सुना एवं बच्चों की मूलभूत समस्याओं को का समाधान करने का वादा किया I

अगवानपुर गांव में पहुंचे शिक्षा विभाग से पहुंची DEO मैडम ने पेरेंट्स एवं छात्रों को समझाते हुए कहा कि उनकी जितनी भी मूलभूत सुविधाएं और समस्याएं हैं उनका जल्द ही समाधान कर दिया जाएगा I  मैडम ने कहा कि वह स्कूल प्रिंसिपल को साथ लेकर जा रहे हैं जब तक उनका ट्रांसफर नहीं हो जाता तो उसका उनकी जगह कोई और स्कूल की देखरेख करेगा I

हरियाणा में इस तरह के विवाद पहली बार नहीं है आए दिन ऐसी खबरें आती रहती हैं लेकिन सोचने वाली बात यह है कि फरीदाबाद एक स्मार्ट सिटी शहर है स्मार्ट सिटी शहर के विद्यालयों का यह हाल है तो आप इस बात से अंदाजा लगा सकते हैं कि ग्रामीण क्षेत्र के स्कूलों का क्या हाल होगा हरियाणा की सरकार बड़े बड़े वादे करती है बेटी पढ़ाओ बेटी बचाओ लेकिन उन बेटियों के लिए स्कूलों में कोई भी मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध नहीं है क्या विद्यालयों में मूलभूत सुविधाओं की कमी है तो बेटी पढ़ाओ बेटी बचाओ नारा कितना सार्थक होगा यह सोचने की बात है I

Sunday, 19 August 2018

आयशर विद्यालय में स्पिकमैके द्वारा आयोजित कार्यक्रम ‘विरासत’

आयशर विद्यालय में स्पिकमैके द्वारा आयोजित कार्यक्रम ‘विरासत’

फरीदाबाद 19 अगस्त I आयशर विद्यालय सैक्टर-46, फरीदाबाद में स्पिक मैके द्वारा आयोजित कार्यक्रम विरासत के तीसरेचरणका शुभारंभ हुआ।कार्यक्रम के तीसरे चरण के मुख्य कलाकार पद्मश्री की उपाधि से सम्मानित बिरजूमहाराज की शिष्या प्रसिद्ध कथक नृत्यागंना गुरु शोवनानारायण एवं पद्मभूषण से विभूषित विश्व प्रसिद्ध श्री राजन एवं साजन मिश्र बंधु रहे।कार्यक्रम का शुभारंभ दीप प्रज्ज्वलन से हुआ। कार्यक्रम के दौरान सिटमजिस्ट्रेट श्री मतिबलिना, आई.जी. आलोक मित्तल एच.सी.एस. काली रमणा, गुडअर्थफाउन्डेशन के चेयरमैन एच.डी.एस. मल्होत्रा, श्री मति बेला मल्होत्रा, स्कूल प्रबंधक श्री अर्जुन जोशी एवं स्पिकमैके के मूलक (फाउन्डर) श्री किरण सेठ विशेष रुप से उपस्थित रहे। बिरजूमहाराज की शिष्या प्रसिद्ध कथक नृत्यांगना गुरु शोवनानारायण जी ने सर्वप्रथम ‘कथक’ नृत्य’ के अर्थ से परिचित करवाते हुए कहा कि यह वैदिक शब्द कथा से लिया गया ह ैजिसका अर्थ है ‘कहानी’। यह हाथ व पैरों का लयबद्ध संगम है 

जिसमें भावों की प्रधानता है।उन्होंने स्पिकमैके व आयशर विद्यालय की सराहना करते हुए कहा कि उन्होंन बच्चों के लिए ऐसे अवसर प्रदान किए है ंजिनसे वे अपनी संस्कृति के और करीब आ सके। उन्होंन सर्वप्रथम ‘विष्णुवंदना’ प्रस्तुत की। उसके बाद कृष्ण व शिव को समर्पित नृत्य किया। महाभारत, का द्रौपदी चीरहरण, कृष्ण व राधा का झूला दृश्य महात्माबुद्ध की कथा को नृत्य के रुप में इस प्रकार प्रस्तुत किया मानों दर्शक उन सभी दृश्यों को सजीव रुपमें देख रहे हो। उनके साथ हारमोनियम पर संगत एवं बोल श्री माधव प्रसाद जी ने दिए घुंघरुओं के साथ तबले पर संगत उस्ताद शकील अहमद खान जी ने दी।पखावज पर संगत महावीर गंगानीजी ने दी। उनके बाघयंत्रों ने शोवना जी के नृत्य में चार चाँद लगा दिए। उन्होंने पाँच घूंघट व पाँच नजर को नृत्य द्वारा दर्शाया तब सारा हाॅल तालियों से गूंज उठा। कथकनृत्य शैली में पांवों द्वारा भाव प्रस्तुति अद्भुत थी। कार्यक्रम का अंत उन्होंने कबीर के इस दोहे से किया ‘‘जब मैं था तब हरि नाहि अब हरि हैं मैं नाहि’’। 
कार्यक्रम के दूसरे कलाकार पद्मभूषण की उपाधि से सम्मानित विश्वविख्यात राजन व साजन मिश्र बन्धु थे। उन्होंने विद्यालय के बच्चों के संस्कारों की प्रशंसा करते हुए उनके उज्ज्वल भविष्य की शुभ कामना की उन्होंने बताया कि संगीत एक पूजा है तपस्या है निरंतर अभ्यासरत होकर ही हम इसमें पारंगत हो सकते हैं। उन्होंने सबसे पहले ‘मेघराग’गाया उनके राग को सुनकर ऐसा लगा कि वे दो शरीर एक आत्मा हैं। कार्यक्रम के अंतमें ए.पी.एस. प्रीता जैन के अनुरोध पर उन्होंने भजन, चलो मन बृन्दावन की ओर गया, जिससे मन श्री कृष्ण के चरणों मे ंचला गया व दर्शक आनन्द में सरोबार हो गए। स्पिकमैके द्वारा आयोजित कार्यक्रम‘ विरासत’ का आयशर विद्यालय सैक्टर-46, फरीदाबाद में यह समापन दिवस था। विद्यालय की ओर से सभी कलाकारो ंको आभार स्वरुप स्मृति चिन्ह दिया गया। स्पिकमैके के इस कृत्य पर भारत को ही नही ंपूरे विश्व को गर्व है।