Showing posts with label Education. Show all posts
Showing posts with label Education. Show all posts

Monday, 20 May 2019

 मानव रचना में पाँच दिवसीय ‘ईको कनसल्ट मीट’ का आयोजन

मानव रचना में पाँच दिवसीय ‘ईको कनसल्ट मीट’ का आयोजन

फरीदाबाद, 20 मई: सेंटर फॉर एडवांस वाटर टेक्नोलॉजी एंड मैनेजमेंट (CAWTM), मानव रचना इंटरनेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ रिसर्च एंड स्टडीज एनसीएसटीसी समर्थित और डीएसटी परियोजना के तहत मानव रचना कैंपस में पांच दिवसीय इको कंसल्ट मीट का आयोजन किया जा रहा है।  इस कार्यक्रम का उद्घाटन सीएडब्ल्यूटीएम (CAWTM) के अध्यक्ष डॉ. डीके चड्ढा. मानव रचना के डीजी डॉ. एनसी वाधवा, एमआरआईआईआरएस के प्रो-वीसी डॉ. एमके सोनी की अगुवाई में हुआ।  

डॉ. डीके चड्ढा ने इस दौरान सभी रिसरचर्स से आग्रह किया कि वह  पानी के महत्व और रेन वाटर हार्वेस्टिंग की आवश्यकता के बारे में लोगों में जागरुकता फैलाएं। वहीं, डॉ. एनसी वाधवा ने पानी के संरक्षण की आवश्यकता पर जोर दिया, ताकि आने वाली पीढ़ियों को स्वच्छ पेयजल उपलब्ध हो सके।

इस कार्यक्रम में अलग-अलग संस्थाओं के लोगों ने हिस्सा लिया, जिनमें एनजीओ, डॉक्टर्स, पीजी स्टूडेंट्स और नए रिसचर्स शामिल थे। इस परियोजना का मुख्य मकसद प्रतिरूप योग्य मॉडल वाटर एंड इको हेल्थ क्लीनिक की स्थापना करना है, ताकि पानी से संबंधित स्वास्थ्य जोखिम को कम करके समुदाय के लक्षित समूहों के साथ विज्ञान संचार स्थापित किया जा सके।

यह परियोजना जल साक्षरता, पानी की गुणवत्ता में सुधार, स्वच्छता, प्रौद्योगिकी के हस्तक्षेप के माध्यम से स्वच्छता की स्थिति और मांग की ओर से पर्यावरणीय स्वास्थ्य सुधार और आपूर्ति पक्ष के जल प्रबंधन के बारे में छात्रों को शिक्षित करना चाहती है। साथ ही समाज के भीतर विज्ञान संचार को आगे बढ़ाने के लिए प्रतिभा शिकार के माध्यम से स्थायी स्थानीय नेतृत्व विकसित करने की भी परिकल्पना करती है।

Tuesday, 14 May 2019

मानव रचना डेंटल कॉलेज ने पीजी छात्रों का स्वागत किया

मानव रचना डेंटल कॉलेज ने पीजी छात्रों का स्वागत किया

फरीदाबाद, 15 मई: मानव रचना डेंटल कॉलेज में एमडीएस 2019-22 सत्र के छात्रों का स्वागत किया गया। ओरिएंटेशन प्रोग्राम की शुरुआत हवन के साथ की गई। इस दौरान मानव रचना के डीजी डॉ. एनसी वाधवा भी मौजूद रहे। ओरिएंटेशन प्रोग्राम के तहत छात्र एक दूसरे से रूबरू हुए। इस दौरान छात्रों को मानव रचना शैक्षणिक संस्थान के बारे में जानकारी दी गई। मानव रचना डेंटल कॉलेज के प्रिंसिपल डॉ. अरुणदीप सिंह ने सभी छात्रों का कॉलेज में स्वागत किया। उन्होंने उम्मीद जताई आने वाले तीन साल छात्रों को लिए उनके करियर के लिए बेहतरीन साबित होंगे। उन्होंने सभी छात्रों को सलाह दी कि इलाज के लिए आने वाले मरीजों की पूरी मदद करें और जितनी जल्दी हो उन्हें इलाज मुहैया करवाएं।

कार्यक्रम में मानव रचना शैक्षणिक संस्थान के एमडी डॉ. संजय श्रीवास्तव भी मौजूद रहे। उन्होंने कहा, यह आने वाले तीन साल उनकी जिंदगी के आगे की दिशा तय करेंगे, इसलिए अपनी गलतियों से सीखने की कोशिश करें।  उन्होंने छात्रों को तीन टिप्स दिए- सीखना, हंसना और हमेशा सकारात्मक चीजों पर ध्यान देना।

आपको बता दें, इस साल डेंटल कॉलेज में देशभर के अलग-अलग कॉलेज में बीडीएस कर के आए छात्रों ने मानव रचना को चुना है। इस साल भी सभी सीट्स फुल रही। ओरिएंटेशन प्रोग्राम में एमआरडीसी के वाइस प्रिंसिपल डॉ. आशिम अग्रवाल, डॉ. श्रीधर कानन, डॉ. मनीष भार्गव, डॉ. पूजा पनवलकर समेत कई फैकल्टी मेंबर्स और छात्र शामिल रहे।


Monday, 6 May 2019

सीबीएसई 10वीं के परिणामों में छाए मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल के छात्र

सीबीएसई 10वीं के परिणामों में छाए मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल के छात्र

फरीदाबाद, 6 मई:  मानव रचना इंटरनेशनल स्कूलों का 10वीं का सौ प्रतिशत रिजल्ट रहा। सेक्टर-14 और चार्मवुड स्थित स्कूलों के छात्रों ने बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए स्कूल का नाम रोशन किया है। चार्मवुड स्कूल में पढ़ने वाली  इशिका 99 प्रतिशत, जबकि सेक्टर-14 के गौरव बंसल और वाणी गुलाटी  ने 98.4 प्रतिशत अंक लाकर स्कूल टॉप किया।

 चार्मवुड स्कूल के सिद्धांत अरोड़ा, लावान्या मिश्रा, सय्यद और अराधना जुनेजा ने गणित में 100 अंक, किमी गोयल, इशिका अरोड़ा, प्रियल कपूर ने साइंस के साथ-साथ सोशल साइंस में भी 100 अंक हासिल किए इसी के साथ मुस्कान कुमार और कृति ढाका भी सोशल साइंस में 100 अंक लाने में कामयाब हुई। फ्रेंच में भी किमी और इशिका 100 अंक लाने में कामयाब हुई। वहीं कंप्यूटर एप्लिकेशन में इशिका अरोड़ा, प्रियल कपूर, मुस्कान कुमार, क्षितिज कौशिक, सुहैला भरारा, जसवंथ, संजना सूद, दीप्ति माहतोलिया, सिद्धांत अरोड़ा, आदित्य चोपड़ा, अनुभव गुप्ता 100 अंक लेकर आए।

सेक्टर-14 स्कूल के गौरव बंसल, मौली गुप्ता, प्रियांशु मित्तल, रुशिल खुल्लर, वाणी गुलाटी, सवलीन कौर, पार्थ गर्ग गणित में 100 अंक, संस्कृत में अखिल सेहगल और आरुषि सेठी 100 अंक, सोशल साइंस में मांसी सोमानी 100 अंक और फाउंडेशन ऑफ इन्फॉर्मेशन टेक्नॉलोजी में वंशुल कुमार और नवनीत सिंह 100 अंक लाने में कामयाब हुए।

सेक्टर-14 स्कूल की डायरेक्टर प्रिंसिपल ममता वाधवा और चार्मवुड स्कूल की प्रिंसिपल अर्पिता चक्रवर्ती ने सभी छात्रों को बधाई दी। 


कक्षा दसवीं के परिणाम में भी आयशर विद्यालय  शत-प्रतिशत परिणाम देकर चमका

कक्षा दसवीं के परिणाम में भी आयशर विद्यालय शत-प्रतिशत परिणाम देकर चमका

फरीदाबाद : 6 मई I आयशर विद्यालय के विद्यार्थियों ने एक बार फिर साबित कर दिया कि इरादे अगर मजबूत हो और मेहनत इमानदारी से की जाए तो सफलता हमेशा साथ देती हैं। सत्र 2018 _19 में सी.बी.एस.ई. कक्षा दसवीं में परिणाम शत प्रतिशत रहा ।परीक्षा देने वाले विद्यार्थियों की कुल संख्या 106 थी। सिम्मी अग्रवाल ने ९७.८ %लेकर विद्यालय में प्रथम स्थान प्राप्त किया तथा खुशी गोयल ने 97.6%लेकर द्वितीय स्थान प्राप्त किया। विद्यालय की प्राचार्या सुश्री रितु कोहली ने सभी बच्चों , अभिभावकों एवं शिक्षकों को बधाई दी व बच्चों के उज्जवल भविष्य की कामना की।विषय टापर्स इस प्रकार रहे_
रतन कान्वेंट स्कूल का क्षेत्र में रहा सर्वश्रेष्ठ परिणाम

रतन कान्वेंट स्कूल का क्षेत्र में रहा सर्वश्रेष्ठ परिणाम

फरीदाबाद : 6 मई I  रतन कान्वेंट स्कूल का दशवी का परीक्षा परिणाम 100 प्रतिशत रहा । 96% के साथ तिरुपति बालाजी ने स्कूल में प्रथम स्थान प्राप्त किया । विषयानुसार दीक्षा ने गणित में 98 , हिमांशी ने हिंदी में 98 , तिरुपति बालाजी ने अंग्रेजी में 97 , विज्ञान में अमन सिंह ने 95 , सामाजिक विज्ञान में सरिता रावत ,  भावना मालिक और तिरुपति बालाजी ने 95-95 तथा हिमांशी ने I.T. मे 94 अधिकतम अंक प्राप्त किये । 

इस मौके पर चेयरमैन यशवीर डागर और प्रधानाचार्य मनोज कुमार जी ने बच्चो को बेहतर परिणाम के लिए शुभ कामनाएँ दी और उनके उज्जवल भविष्य के लिए कामना की । 

Thursday, 2 May 2019

मानव रचना इंटरनेशनल स्कूलों का 100 प्रतिशत रहा रिजल्ट

मानव रचना इंटरनेशनल स्कूलों का 100 प्रतिशत रहा रिजल्ट

फरीदाबाद, 2 मई: इस साल भी मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल का 100 प्रतिशत रिजल्ट रहा। फरीदाबाद के सेक्टर-14 स्थित मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल की डायरेक्टर प्रिंसिपल ममता वाधवा और चार्मवुड स्थित स्कूल की प्रिंसिपल अर्पिता चक्रवर्ती ने छात्रों के उज्जवल भविष्य की कामना की और सभी छात्रों को बधाई दी।

सेक्टर-14 स्थित मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल की छात्रा मुस्कान ने ह्यूमैनिटीज में (बेस्ट ऑफ फोर) 99 प्रतिशत हासिल कर टॉप किया, आस्था गौर ने कॉमर्स स्ट्रीम (बेस्ट ऑफ फोर)  में 97.75% जबकि तान्या सूद और कुशाग्र महाजन ने साइंस स्ट्रीम (बेस्ट ऑफ फोर) 94 प्रतिशत हासिल किए। मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर-14 की मुस्कान मित्तल, हर्षिता कुकरेजा, शुभ अरोड़ा, राधिका रंजन, चहक सैनन, निष्ठा सेठी, रुचिका गोयल, अकंक्षी और इशान कंसल ने इकॉनोमिक्स में 100 अंक हासिल किए। आस्था गौर ने बिजनेस स्टडीज में 100 अंक और हर्षित कुकरेजा ने सोशिओलॉजी में 100 अंक हासिल किए।

वहीं, चार्मवुड स्थित मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल से कॉमर्स के छात्र वैभव गर्ग ने 96.5% और साइंस स्ट्रीम से मेघना से 95.75% अंक लाकर बाजी मारी। 12वीं के कुल 90 छात्रों में से 66 छात्रों के 90 से ज्यादा अंक हासिल किए हैं।




                                                             

     


रतन कान्वेंट स्कूल के बारहवी के छात्रों का बेहतरीन रिज़ल्ट

रतन कान्वेंट स्कूल के बारहवी के छात्रों का बेहतरीन रिज़ल्ट

फरीदाबाद 2 मई ।  रतन कान्वेंट स्कूल के कक्षा बारहवी  के छात्र – छात्राओ का बोर्ड पारेक्षा मे बेहतरीन  परिणाम रहा । स्कूल के सभी छात्र – छात्राओ ने उत्तम अंको से परीक्षा पास की । नॉन मैडिकल की छात्रा सिमरन धनकर ने ओवेरालल 96% प्राप्त करके क्षेत्र मे स्कूल का नाम रोशन किया ।  मैडिकल  संकाय मे सागर भारद्वाज ने 94.6 % प्राप्त करके द्वितीय स्थान पर रहे ।  आर्ट्स की छात्रा अंशिका ने 94.2% अंक प्राप्त कर स्कूल मे तृतीय स्थान पर रही । प्रत्येक विषय मे छात्रों ने बहुत बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए अजय ने 95 मार्क्स प्राप्त किए तथा योगेश रावत ने फ़िज़िक्स मे 95 , सागर भारद्वाज ने बयोलॉजी मे 95 , कैमिस्ट्रि मे 95 , अंशुल ने इक्नोमिक्स मे 95 अंक , तथा अंशिका ने हिन्दी मे 99 अंक प्राप्त किए।

प्रधानाचार्य मनोज कुमार जी ने बच्चो को अपना स्नेह और आशीर्वाद देकर उनके उज्ज्वल भविष्य की कामना की ।
विद्यासागर इंटरनेशनल स्कूल में मनाया गया अंतर्राष्ट्रीय मजदूर दिवस

विद्यासागर इंटरनेशनल स्कूल में मनाया गया अंतर्राष्ट्रीय मजदूर दिवस

फरीदाबाद 2 मई । विद्यासागर इंटरनेशनल स्कूल, सेक्टर-2 में अंतर्राष्ट्रीय श्रमिक दिवस मनाया गया। इस अवसर पर स्कूल के बच्चों ने स्कूल के कर्मचारियों को फूल भेंट कर उनका सम्मान किया। बच्चों ने उन्हें मिठाईयां एवं अपने द्वारा बनाए गए कार्ड भी भेंट किए। इस अवसर पर कई सांस्कृतिक कार्यक्रमों का भी आयोजन किया गया। इस अवसर पर स्कूल के चेयरमैन धर्मपाल यादव ने कहा कि मनुष्य के पास श्रम के अतिरिक्त कोई वास्तविक सम्पत्ति नहीं है। यदि यह कहा जाये कि, श्रम ही जीवन है तो यह गलत न होगा। जीवन में श्रम अनिवार्य है। गीता में श्रीकृष्ण ने कर्म करने पर बल दिया है। मानव देह मिली है तो कर्म करना ही पड़ेगा। यह सारा संसार बड़े-बड़े नगर, गगनचुंबी भवन, हवाई जहाज, रेलगाडिय़ाँ, स्कूटर तथा अन्य कई प्रकार के वाहन, विशाल कारखाने, टी.वी. तथा सिनेमा आदि सभी मानव के श्रम की कहानी कहते हैं ।

स्कूल की डॉयरेक्टर सुनीता यादव ने इस अवसर बच्चों को प्रेरित करते हुए कहा कि श्रम अपने आप में ही एक लक्ष्य है। श्रम करके चित्त प्रसन्न होता है। शरीर तंदरूस्त रहता है। श्रम करने वाला व्यक्ति सदैव उन्नति करता है। बड़े-से-बड़े तेज और समर्थ व्यक्ति तनिक आलस्य से जीवन की दौड़ में पिछड़ जाते हैं किन्तु श्रम करने वाले व्यक्ति तनिक दुर्बल भी दौड़ में आगे निकल जाते हैं। इस संबंध में कछुए और खरगोश की कहानी को स्मरण किया जा सकता है। सबको मालूम है कि कछुआ लगातार चलता रहता है तथा परिणामस्वरूप गंतव्य पर पहले पहुँच जाता है किन्तु खरगोश आलस्य करता है और पिछड़ जाता है। श्रम करने वाला व्यक्ति कभी भी हारता नहीं है। मेहनत के बूते पर अति साधारण छात्र चकित करने वाले परिणाम दे जाते हैं।

बच्चों को श्रमिक दिवस की जानकारी देते हुए स्कूल की प्रिंसिपल ज्योति चौधरी ने कहा कि एक मई को दुनिया के कई देशों में अंतरराष्ट्रीय श्रमिक दिवस मनाया जाता है। इन दिन को लेबर डे, मई दिवस, श्रमिक दिवस और मजदूर दिवस भी कहा जाता है। ये दिन पूरी तरह श्रमिकों को समर्पित है। इस दिन भारत समेत कई देशों में मजदूरों की उपलब्धियों को और देश के विकास में उनके योगदान को सलाम किया जाता है। ये दिन मजदूरों के सम्मान, उनकी एकता और उनके हक के समर्थन में मनाया जाता है। इसलिए हमें भी श्रम करने वाले लोगों का सम्मान करना चाहिए।

Tuesday, 30 April 2019

छात्रों ने कविता गायन के माध्यम से प्रतिभा का दिया परिचय

छात्रों ने कविता गायन के माध्यम से प्रतिभा का दिया परिचय

फरीदाबाद : 30 अप्रैल  I जीवा पब्लिक स्कूल के छात्रों ने कविता गायन प्रतियोगिता के माध्यम से अपनी प्रतिभा का परिचय दिया। विद्यालय के प्रांगण में समय-समय पर इस प्रकार की प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जाता है जिससे की छात्रों में आत्मविश्वास की वृद्घि हो एवं छात्र उत्साहित होकर और अधिक से अधिक कार्यक्रमों में भाग लें तथा उनका सर्वांगीण विकास हो। इस प्रतियोगिता में कक्षा पहली से लेकर तीसरी तक के छात्रों ने भाग लिया। प्रतियोगिता का विषय प्रकृति, परिवार एवं देश था। छात्रों ने इन विषयों पर अपने-अपने ढंग से अंग्रेज़ी में कविता गायन किया।

छात्रों का जोश, लयबद्घता एवं भाव अभिव्यक्ति भी देखने योय था। सभी छात्रों ने उच्चारण एवं प्रस्तुति पर विशेष प्रयास किए। उनकी प्रस्तुति बहुत सराहनीय रही। उपस्थित श्रोतागण भी कार्यक्रम देख मंत्रमुध हो गए। प्रतियोगिता में विजेता छात्रों की सूची इस प्रकार से है :- कक्षा पहली से पंशुल खन्ना सर्वश्रेष्ठï वक्ता, मनन कौशिक सर्वश्रेष्ठï प्रदर्शन, अवनी सोरोत सर्वश्रेष्ठï कविता, एशनी नलिनी सर्वश्रेष्ठï भावअभिव्यक्ति, रिशान पांडे एवं वंशिका को उनकी उत्तम प्रस्तुति के लिए पुरस्कृत किया गया। कक्षा दूसरी से लावण्या शर्मा सर्वश्रेष्ठï कविता, शौर्य चौहान सर्वश्रेष्ठï वक्ता, आदरिका जायसवाल सर्वश्रेष्ठï अभिव्यक्ति, भव्या नैन सर्वश्रेष्ठï प्रस्तुति व काव्या रतरा को प्रस्तुति के लिए पुरस्कृत किया गया। कक्षा तीसरी से लक्षिता सर्वश्रेष्ठï वक्ता, मनसाहिब सिंह सर्वश्रेष्ठï कविता, तनवी कथुरीया सर्वश्रेष्ठï अभिव्यक्ति, इशान सिंह सर्वश्रेष्ठï प्रदर्शन, जिगर जांगरा सर्वश्रेष्ठï प्रस्तुति के लिए पुरस्कृत किया गया।

इस अवसर पर विद्यालय की उपाध्यक्षा श्रीमती चंद्रलता चौहान, प्रधानाचार्या श्रीमती देविना निगम व संयोजिका श्रीमती विद्या चौहान भी उपस्थित रहीं।


Sunday, 28 April 2019

मानव रचना यूनिवर्सिटी में आंत्रप्रन्योरशिप समागम का आयोजन

मानव रचना यूनिवर्सिटी में आंत्रप्रन्योरशिप समागम का आयोजन

फरीदाबाद, 28 अप्रैल: मानव रचना यूनिवर्सीटी में डिपार्टमेंट ऑफ मैनेजमेंट एंड कॉमर्स की ओर से आंत्रप्रन्योरशिप मीट का आयोजन किया गया। इस दौरान स्टार्ट-अप में सफल हुए उद्यमियों ने छात्रों के साथ अपने विचार साझा किए। कार्यक्रम की शुरआत पौधारोपण के साथ हुई। ट्री मैन के नाम से मशहूर दीपक गौर ने मानव रचना यूनिवर्सिटी में पौधारोपण किया। उन्होंने इस दौरान बताया कि ‘ट्रीन मैन’ का नाम उन्हें पूर्व राष्ट्र डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम ने उन्हें दिया था। उन्होंने कहा, यह सिर्फ नाम नहीं एक बहुत बड़ी जिम्मेदारी है।

कार्यक्रम में एलसीबीएस के संस्थापक अभय गुप्ता, टेस्ट पैन लिमिटेड के संस्थापक राजेश सेतिया, माइ येलो प्लेट डॉट कॉम के संथापक और फूड एंड ट्रेवल ब्लॉगर हिमांशु सेहगल (मानव रचना के पूर्व छात्र), इसके अलावा द हाउस ऑफ आर्टिसंस चलाने वाली शिनील ने छात्रों को अपने सफर के बारे में बताया।

इस कार्यक्रम के जरिए छात्रों को आंत्रप्रन्योशिप के गुर सीखने को मिले। स्पीकर्स ने उनके सफर के दौरान आई परेशानियों के बारे में भी बताया, साथ ही उन्होंने कहा कि हर किसी को अपनी गलतियों से सीखना चाहिए, दूर नहीं भागना चाहिए।

इस दौरान मानव रचना यूनिवर्सिटी से डॉ. पारुल झझारिया, प्रोफेसर जयदीप सिंह, हनु भारद्वाज, डॉ. प्रदीप वार्ष्णेय, सुबोध सलूजा समेत कई फैकल्टी मेंबर्स  और छात्र मौजूद रहे।
सांस्कृतिक कार्यक्रम के साथ पेरेन्टस टीचर मीटिंग का आयोजन

सांस्कृतिक कार्यक्रम के साथ पेरेन्टस टीचर मीटिंग का आयोजन

फरीदाबाद 28 अप्रैल। जीवा पब्लिक स्कूल के प्रांगण में पेरेन्टस टीचर मीटिंग के दौरान बच्चों द्वारा एक सांस्कृतिक व रंगारंग कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम का मुख्य उद्ïदेश्य अभिभावकों को उनके बच्चों के विकास के संबंध में जागरूक करना था। अभिभावक अपने बच्चों की प्रत्येक बात का जानें व समझें तथा उनकी प्रतिभा को पहचानें जिससे वे भविष्य में सफल हों तथा समाज में भी अपनी पहचान बना सकें। कार्यक्रम के प्रारंभ में विद्यालय के नन्हें-मुन्नें बच्चों ने स्वागत गीत प्रस्तुत किया। इसके उपरांत छात्रों ने समूह में एक वाद्ययंत्रों का आकर्षक कार्यक्रम प्रदर्शित किया। अभिभावकों को यह समझाया गया कि प्रत्येक छात्र में अपनी एक क्षमता व गुण विद्यमान होते हैं, उसे निखारने की आवश्यकता होती है। जीवा पब्लिक स्कूल में इसी विकास पर कार्य किया जा सकता है।

इस अवसर पर विद्यालय के कुछ छात्रों एवं अभिभावकों को इंडिया इन एक्शन कार्यक्रम के तहत पुरस्कृत किया गया जिनके नाम इस प्रकार से है :- कक्षा नौवीं से पलक के अभिभावक प्रोमिला एवं हेमराज, कक्षा छठी की छात्रा यशिका चौधरी के अभिभावक नेहा और अमरदीप, दसवीं की छात्रा निकिता गोला के अभिभावक सुभाष, दसवीं के प्रतीकराज के अभिभावक राजेश कुमार, गौतम शर्मा के अभिभावक गीता शर्मा, आठवीं की लावण्या के अभिभावक राजेश एवं सातवीं की छात्रा भूमि के अभिभावक यतेंद्र शामिल थे। 

जीवा स्कूल जि़ले का एकमात्र ऐसा स्कूल है जहाँ छात्र, अध्यापक एवं अभिभावक मिलकर अनेक सामाजिक कार्य करते हैं जिसमें वे लोगों को ट्रैफिक के नियमों से अवगत कराते हैं व उनका पालन करने के लिए आग्रह करते हैं। इसके अलावा जिन बच्चों ने ओलपिंयाड में विज्ञान, गणित, अंग्रेज़ी व कॉमर्स में अपना उच्च कोटि का प्रदर्शन किया उनको भी पुरस्कृत किया गया। इसके अलावा स्कूलस ऑफ इंडिया पेंटिंग प्रतियोगिता में विजेता छात्रों को भी पुरस्कृत किया गया। स्पोटर्स के लिए छात्रों को भी पुरस्कृत किया गया जिसमें छात्र कराटे प्रतियोगिता में विजेता रहे। इस रंगारंग कार्यक्रम में छात्रों ने कश्मीरी एवं राजस्थानी नृत्य प्रस्तुत कर समां बांध दिया। 

इस अवसर पर विद्यालय की प्रधानाचार्या ने अपने विचार व्यक्त किए एवं कहा कि एक बच्चे के पहले गुरू उसके अभिभावक ही होते हैं। अभिभावकों को ही अपने बच्चे क्षमता और गुणों का पता होता है अत: अभिभावक ही अपने बच्चों के गुण और क्षमता को निखारने का प्रयत्न करें। विद्यालय के अध्यक्ष श्री ऋषिपाल चौहान ने भी उपस्थित दर्शकों को समझाया कि विद्यालय में सिखाए गए विषयों को जब बच्चा सुंदर ढंग से प्रदर्शित करता है तो यह स्कूल के लिए एक बहुत प्रशंसनीय उपलब्धि होती है अत: विद्यालय में छात्रों का सर्वांगीण विकास होना चाहिए। 



Monday, 15 April 2019

नन्हें मुन्नें बच्चों व अभिभावकों के लिए भागीदारी ओरियन्टेशन कार्यक्रम

नन्हें मुन्नें बच्चों व अभिभावकों के लिए भागीदारी ओरियन्टेशन कार्यक्रम

फरीदाबाद 16 अप्रैल  । जीवा पब्लिक स्कूल के प्रांगण में किंडरगार्टन के बच्चों एवं उनके अभिभावकों के लिए ‘भागीदारी’ नाम से ओरियन्टेशन कार्यक्रम का आयोजन किया गया जिसमें विशेष रूप से नये बच्चों व उनके अभिभावकों को संबोधित किया गया। इस कार्यक्रम का मुख्य उद्ïदेश्य अभिभावकों को उनके बच्चों के विकास के संबंध में जागरूक करना था। अभिभावक अपने बच्चों की प्रत्येक बात को जानें व समझें तथा उनकी प्रतिभा को पहचानें जिससे वे भविष्य में सफल हों तथा समाज में भी अपनी पहचान बना सकें। कार्यक्रम के प्रारंभ में विद्यालय के नन्हें-मुन्नें बच्चों ने स्वागत गीत पर मनमोहक नृत्य प्रस्तुत किया। वहीं बैसाखी के अवसर पर छात्रों ने एक रंगारंग व जोशपूर्ण नृत्य कर समा बांध दिया। 

अभिभावकों को इस ओरियन्टेशन कार्यक्रम के द्वारा यह समझाया गया कि जीवा पब्लिक स्कूल का उद्ïदेश्य छात्रों में शैक्षणिक योयताओं के साथ-साथ सर्वांगीण विकास करना है, साथ ही अभिभावकों को विद्यालय के सिद्घान्तों से अवगत कराया गया। कार्यक्रम में अभिभावकों के लिए एक मिनट की एक प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। इस स्पर्धा में अभिभावकों में पापा ने एक मिनट में बच्चों के लिए बैग पैक किया व मम्मी के लिए बैलून गेम था जिसमें उन्होंने डोंट्ïस वाले बैलून फोड़े ताकि बच्चें अच्छे कार्यों पर ध्यान दें। इसके अतिरिक्त एक प्रश्नोत्तरी भी आयोजित की गई जिसमें अभिभावकों को डायरी में दिए गए महत्वपूर्ण व आवश्यक जानकारियों को बताना था। इस प्रतियोगिता में विजेता अभिभावकों को पुररस्कृत किया गया। इस अवसर पर कुछ अभिभावकों को ‘इंडिया इन एक्शन’ कार्यक्रम के तहत भी पुरस्कृत किया गया जिनके नाम इस प्रकार से हैं :- श्री हरि शर्मा, श्रीमती नीरा नगदली, श्री किशोर, श्री जितेन्द्र, श्री नीरज नागर, श्रीमती कंवलजीत कौर। जीवा स्कूल जि़ले का एकमात्र ऐसा स्कूल है जहाँ छात्र, अध्यापक एवं अभिभावक मिलकर अनेक सामाजिक कार्य करते हैं जिसमें वे लोगों को ट्रैफिक के नियमों से अवगत कराते हैं व उनका पालन करने के लिए आग्रह करते हैं। 
अभिभावकों को विस्तार पूर्वक वात, पित्त, कफ इत्यादि के विषय में भी समझाया गया तथा इसी के आधार पर भोजन करने के विषय में भी बताया गया जिससे उनके बच्चे स्वस्थ रहकर स्वस्थ समाज का निर्माण कर सकें। इस कार्यक्रम में एम0 आई0 एवं एम0 एन0 गतिविधियाँ भी करवाई गई जिसमें अनेक प्रकार के खेल शामिल थे। मूल रूप से कार्यक्रम का उद्ïदेश्य यह रहा कि बच्चे के सर्वांगीण विकास के लिए अभिभावक एवं अध्यापकों की भागीदारी समान रूप से बनती है। इस कार्यक्रम में अभिभावकों को मल्टीपल नेचर एवं मल्टीपल इन्टेलिजेंस पर आधारित मनोरंजक गेम भी खिलाए गए जिसमें अभिभावकों ने बहुत मनोरंजन प्राप्त किया एवं अनेक विषयों को जाना। अभिभावकों ने इस कार्यक्रम में जीवा के इस प्रयास की बहुत प्रशंसा की। साथ ही यह भी बताया गया कि दोनों के सहयोग से ही एक बच्चे का पूर्ण विकास होता है तथा एक स्वस्थ समाज का निर्माण होता है। इसके अलावा उन नन्हें-मुन्ने छात्रों को भी पुरस्कृत किया गया जिन्होंने नैशनल लेवल पर स्कूल इंडिया ड्रॉइंग प्रतियोगिता में भाग लिया व अपना स्थान भी बनाया। इनको बच्चों को मेडल, प्रश्स्ति पत्र व एक बच्चे को कैश इनाम भी दिया। 

प्रधानाचार्या श्रीमती देविना निगम ने भी अभिभावकों को संबोधित करते हुए कहा कि बच्चे अपने अभिभावकों का ही अनुसरण करते हैं अत: माता-पिता बच्चों के समक्ष उच्च चरित्र का निर्माण करें। 

इस अवसर पर विद्यालय के अध्यक्ष ऋषिपाल चौहान ने कहा कि बालक अपने बड़ों एवं आसपास की चीज़ों को देखकर ही सीखते हैं। मनुष्य ही एक मात्र प्राणी है जिसे विद्या एवं संस्कार की आवश्यकता होती है और वह दोनों ही विषयों का अनुसरण करके ही आगे बढ़ता है। 

कैप्शन :- 3 - किंडरगार्टन के नन्हें-मुन्ने छात्र कार्यक्रम के दौरान प्रस्तुति देते हुए
4-स्कूल के द्वारा प्रायोजित इंडिया इन एक्शन कार्यक्रम में सक्रीय रूप से भाग लेने वाले अभिभावकों को अध्यक्ष ऋषिपाल चौहान, उपाध्यक्षा श्रीमती चंद्रलता चौहान पुरस्कृत करते हुए साथ में प्रशासनिका श्रीमती मुक्ता सचदेव, प्रधानाचार्या श्रीमती देविना निगम

5-स्कूल इंडिया ड्राइंग प्रतियोगिता में सर्वश्रेष्ठï प्रस्तुति देने वाले छात्र एवं उनके अभिभावकों को पुरस्कृत करते हुए अध्यक्ष  
6-उपस्थित अभिभावकों को संबोधित करते हुए जीवा के संस्थापक श्री ऋषिपाल चौहान

Tuesday, 2 April 2019

आयशर विद्यालय सैक्टर.46में पी प्राइमरी द्वारा आयोजित वार्षिक उत्सव श्मंथनश्

आयशर विद्यालय सैक्टर.46में पी प्राइमरी द्वारा आयोजित वार्षिक उत्सव श्मंथनश्

फरीदाबाद 2 अप्रैल । आयशर विद्यालय सेक्टर 46 फरीदाबाद में दिनांक 30 मार्च 2019 को चतम.चतपउंतल द्वारा वार्षिक उत्सव श्मंथनश्  आयोजन किया गया ।जहां प्री नर्सरी से कक्षा दूसरी तक के छात्रों ने उत्साह पूर्वक भाग लिया। कार्यक्रम का शुभारंभ अभिभावकों द्वारा दीप प्रज्वलित करके हुआ । इस अवसर पर विशिष्ट अतिथि के रूप में प्रसिद्ध शिक्षा विद सुश्री अंशु बेनीवाल एप्रसिद्ध रंगमंच कलाकार प्रोफ़ेसर मनोहर खुश लानी जी उपस्थित रहे। इन्हीं के साथ गुड अथ फाउंडेशन के निर्देशक श्री अर्जुन जोशीए सिस्टर स्कूल किड्स रिपब्लिक की प्रिंसिपल सुश्री रितु भटनागर गुड अथफाउंडेशन के सलाहकार श्री इवान थंक्पप्न विशेष रूप से उपस्थित रहे। आयशर विद्यालय की प्रिंसिपल सुश्री रितु कोहली ने बच्चों को प्रेरित करते हुए कहा कि प्रत्येक बच्चा विशेष व कार्यक्रम का महत्वपूर्ण हिस्सा है ।

हमें बच्चों के मन में कभी भी डर पैदा नहीं करना चाहिए बल्कि मन के भय को दूर करके उन्हें प्रेरित करते रहना चाहिए। वे निडर जीवन जीकर ही विकसित हो सकते हैं। कार्यक्रम की शुरुआत एक गीत श्ए ब्यूटीफुल डे श्से हुई। जिसने दर्शकों को मंत्रमुग्ध कर दिया ।बच्चों ने बांसुरी पर गाना बजाया जिसे सुनकर पूरा हॉल तालियों से गूंज उठा। कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य यह बताना था कि सभी में सकारात्मक विचार एवं नकारात्मक विचार होते हैं। यह हमारे ऊपर है कि हम क्या सोचते हैं ।बच्चों ने जहां एक और नकारात्मक संवेगों  लालच एक्रोधए पूर्वाग्रहए चिंता और असंतोष की भूमिका निभाई वहीं दूसरी ओर सकारात्मक संवेगों खुशीए साहस एआशा ए संतुष्टिआदि की भी भूमिका निभाई। 

नाटक ने संदेश दिया कि अपने लिए दुनिया में बेहतर जगह बनाने के लिए आपको अपने अंदर इन गुणों को उपयोग करने का तरीका चुनना है। हम सभी के पास सुपर हीरो की शक्ति के साथ.साथ एक विलन की भी शक्ति है। यह हम पर निर्भर करता है कि हमें कौन सी राह चुन्नी हैए   करुणा या घृणा की एक्षमा या बदले कीए उदारता या लालच की। कार्यक्रम के अंत में प्रोफेसर मनोहर खुशलानी जी ने बच्चों के प्रदर्शन की सराहना करते हुए कहा कि लगभग 480 बच्चों के बीच तालमेल अद्भुत रहा । उन्होंने शिक्षकों और अभिभावकों की भी सराहना की जिन्होंने इतने छोटे बच्चों को मंच हेतु तैयार किया ।उन्होंने कहा कि नाटक के दौरान बच्चों की समझए आपसी सहयोगए आत्मनिर्भरता अद्भुत थीं ।अंशु बेनीवाल ने भी दर्शकों को संबोधित करते हुए कहा कि प्रत्येक बच्चा अद्भुत है सभी का कार्य प्रशंसा के योग्य है । सभी बच्चों ने अपनी भूमिका बेहतर ढंग से निभाई।
आशा ज्योति विद्यापीठ का चौथा सत्र आज विशाल यज्ञ के साथ प्रारभ्भ

आशा ज्योति विद्यापीठ का चौथा सत्र आज विशाल यज्ञ के साथ प्रारभ्भ

फरीदाबाद 2 अप्रैल । आशा ज्योति विद्यापीठ का चौथा सत्र आज विशाल यज्ञ के साथ प्रारभ्भ हुआए इस मौके पर विद्यालय के चैयरमेन सत्यवीर डागर सहित सभी बच्चों व स्टाफ ने अग्नि देवता के सामने यह शपथ ली कि वह स्कूल में आने वाले प्रत्येक बच्चे के सर्वांगणी विकास के लिए पूरी तरह से समर्पित रहेगें। उल्ललेखनीय है कि सेक्टर 65 वाईपास पर शहूपूरा स्थित आशा ज्योति विद्यापीठ जहां सभी अत्याधुनिक सुविधाओ से युक्त दस एकड में फैला विद्यालय है वहीं इस स्कूल का नया सत्र हर साल यज्ञ के साथ शुरु होता है।  

यज्ञ के बाद उपस्थित बच्चोंए अभिभावकों व स्टाफ को सम्बोधित करते हुए विद्यालय के चैयरमेन सत्यवीर डागर ने कहा कि पिछले चार सलों में जिस प्रकार से परिणाम स्कूल के आए हैं और जो लोगों का रुझान इस स्कूल की तरफ बढा है वह उनकी सोच व फैसले के लिए एक मील का पत्थर साबित हुआ हैएउनके अनुसार उनकी एक सोच है कि बच्चों को आधुनिक शिक्षा के साथ.साथ संस्कार व मानवता की शिक्षा भी मिले और आशा ज्योति विद्यापीठ उसी तरफ अग्रसार है। उन्होंने कहा कि इस विद्यालय में उन्होने हर वह सुविधा उपलब्ध कराने का प्रयास किया है जो कि आज एक सुशिक्षिकत बच्चे के लिए जरुरी है। उन्होंने अपने स्कूल के स्टाफ को इस बात के लिए भी बधाई दी कि स्कूल को सीबीएसई ने अब 12 तक मान्यता दे दी है 

उन्होंने कहा कि यह स्कूल के स्टाफ की कडी मेहनत का ही परिणाम है। इस मौके पर उपस्थित लोगों को सम्बोधित करते हुए स्कूल की प्राचार्या श्रीमती इंदू अग्रवाल ने कहा कि आशा ज्योति विद्यापीठ एकमात्र ऐसा शिक्षण  संस्थान है जो कि बच्चों को हर प्रकार की शिक्षा उपलब्ध कराता हैए उन्होंने कहा कि इस स्कूल के नए सत्र का यज्ञ से शुरु करने का फैसला ही इस कारण से लिया गया है कि यहां पर आने वाला हर छात्र पाश्चात्य संस्कृति सीखे पर अपनी भारतीय संस्कृति को न भूले। उन्होंने अभिभावकों को विश्वास दिलाया कि उन्होंने उन पर विश्वास किया है तथा वह उनके विश्वास पर पूरा खरा उतरेंगीं। 

Wednesday, 27 March 2019

मानव रचना में  पर्यावरण पर राष्ट्रीय संगोष्ठी का आयोजन

मानव रचना में पर्यावरण पर राष्ट्रीय संगोष्ठी का आयोजन

फरीदाबाद, 27 मार्च: मानव रचना इंटरनेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ रिसर्च एंड स्टडीज और सीएसएआर ने मिलकर सतत विकास, पर्यावरण संरक्षण और सामान्य जागरुकता पर राष्ट्रीय संगोष्ठी का आयोजन किया। इस दौरान मानव रचना यूनिवर्सिटी, एमआरआईआईआरएस, मानव रचना डेंटल कॉलेज और केएल मेहता दयानंद कॉलेज के छात्रों ने हिस्सा लिया। कार्यक्रम शुरू होने से पहले एग्जिबीशन का आयोजन किया गया, इसके आधार पर छात्रों के लिए 25 मिनट का एक पेपर रखा गया, जिसमें कुल 250 में से टॉप 16 छात्रों का चयन किया गया। इन 16 छात्रों ने एक क्विज कॉम्पिटीशन में हिस्सा लिया जिसके बाद बेस्ट छह छात्रों का डिबेट के लिए चयन हुआ। 

छात्रों ने “Increase in the number and intensity of natural hazards like floods, cyclones or earthquakes is an indicator of Global Warming” पर चर्चा की।  विजेता छात्रा स्वाति को CSAR-मानव रचना क्वीन और संचित को CSAR-मानव रचना किंग के खिताब से नवाजा गया और 7-7 हजार रुपए के कैश प्राइज से सम्मानित किया गया, जबकि बाकी चार छात्रों को तीन-तीन हजार के कैश प्राइज दिए गए। इस दौरान कल्चरल कॉम्पिटीशन का भी आयोजन किया गया, जिसमें लाइव आर्ट करने वाले शिवम और जगबीर ने पहला ईनाम और सात हजार रुपए कैश प्राइज और फैशन सोसाइटी आयरा को दूसरा ईनाम और तीन हजार कैश प्राइज से नवाजा गया।

कार्यक्रम में नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा के पूर्व निदेशक मोहन महाऋषि, पद्म भूषण विरेंद्र दयाल और यूनिवर्सिटी ऑफ द वेस्ट ऑफ इंग्लैंड से वैज्ञानिक डॉ. मार्क एवरार्ड ने बतौर सम्मानीय अतिथि हिस्सा लिया।

ग्लोनेट नॉलेज सर्विसेज, सीएसएआर और इंटरनेशनल सोशिलॉजिकल एसोसिएशन के वर्किंग ग्रुप (5) के चेयरमैन डॉ. एचएस आनंद की ओर से इस कार्यक्रम का आयोजन करवाया गया था। इस दौरान उन्होंने मानव रचना परिवार का धन्यवाद किया साथ ही सतत विकास लक्ष्यों पर छात्रों के साथ चर्चा की। इस दौरान मानव रचना के डीजी डॉ. एनसी वाधवा, एमआरआईआईआरएस के वीसी डॉ. संजय श्रीवास्तव, प्रो-वीसी डॉ. एमके सोनी समेत कई गणमान्य लोग मौजूद रहे।

Wednesday, 20 March 2019

नए सत्र में संपन्न हुआ रचनात्मक और अनुभवशील ऑरेन्टेशन कार्यक्रम

नए सत्र में संपन्न हुआ रचनात्मक और अनुभवशील ऑरेन्टेशन कार्यक्रम

फरीदाबाद 20 मार्च ।  जीवा पब्लिक स्कूल में छात्रों को नए सत्र के प्रारंभ में विद्यालय के नियमों इत्यादि से परिचित करने के लिए तीन दिवसीय ऑरेन्टेशन ’ कार्यक्रम का आयोजन किया गया। 18 मार्च को विद्यालय का नया सत्र प्रारंभ हुआ नए सत्र में छात्रों को 20 मार्च तक विद्यालय से संबंधित विभिन्न विषयों से अवगत करवाया गया जिससे छात्र नियमों का उल्लंघन न करें व विद्यालय का अनुशासन भी भंग न हो तथा विद्यालय में सभी कार्य नियमानुसार हों। कार्यक्रम में विशेष तौर पर छात्रों को स्वास्थ्य संबंधी जानकारी देकर जागरूक भी किया गया इसलिए इस तीन दिवसीय कार्यक्रम में छात्रों का विशेष रूप से पोर्टफोलियो के माध्यम से उनके शारीरिक संरचना एवं गठन का परिक्षण किया गया एवं उन्हें उनके शारीरिक संरचना एवं गठन के अनुरूप भोजन करने की सलाह भी दी गई। 

इस विशेष आयोजन का मुख्य उद्ïदेश्य छात्रों को स्वस्थ रखना है।

इसके अलावा छात्रों ने विभिन्न प्रकार के क्रिया कलापों व गतिविधियों के द्वारा विद्यालय के मुख्य विषयों का जानकारी भी प्राप्त की। छात्रों ने विद्यालय की डायरी में दिए गए नियमों की जानकारी भी प्राप्त की। इस दौरान छात्रों को दैनिक दिनचर्या के नियमों से भी अवगत कराया गया। जीवा पब्लिक स्कूल के मुख्य सिद्घान्तों में एस0 ओ0 ई0 प्रमुख है। इस दौरान छात्रों को एस0 ओ0 ई0 की महत्ता से भी परिचित किया गया। इसके साथ-साथ छात्रों ने सडक़ सुरक्षा नियमों को भी जाना। छात्रों को लाइफ स्किल विषयों से भी अवगत किया गया। छात्रों को स्वच्छता के प्रति भी जागरूक किया गया तथा उन्होंने समूह विचार विर्मश भी किया। 

छात्रों ने इंडिया इन एक्शन एक्टिविटी के माध्यम से अनेक समाज सेवा से संबंधित कार्यों के लिए भी विचार विमर्श किया जिसमें पुरानी किताबें दान करना प्रमुख रहा। इसके अलावा छात्रों ने एम0 आई0 एवं एम0 एन0 एक्टिविटी के द्वारा अपनी प्रवृत्ति और प्रकृति को भी फ्लैश कार्ड के माध्यम से जाना। छात्रों को मेंटल मास्ट्री में सत्व गुणों से भी अवगत कराया गया। छात्रों ने साल भर अनुशासन में रहने के लिए स्वयं निर्मित नियमों का निर्माण किया जिससे सभी छात्र अनुशासन का पालन करें। जीवा पब्लिक स्कूल में शिक्षा के साथ-साथ इन विषयों पर विशेष ध्यान दिया जाता है। यही कारण है कि विद्यालय के छात्रों में नैतिक मूल्य एवं संस्कार आवश्य पाए जाते हैं। विद्यालय में इस दौरान छात्रों का एम0 आई0 एवं एम0 एन0 परिक्षण भी किया गया जिससे वे स्वयं की दक्षता भली भांति जान सकें। छात्रों ने इस कार्यक्रम के दौरान प्रकृति के विषय में भी जानकारी प्राप्त की एवं विज्ञान संबंधित विषय की भी जानकारी प्राप्त की।

विद्यालय के अध्यक्ष श्री ऋषिपाल चौहान ने छात्रों को नए सत्र के प्रारंभ की बधाई दी एवं उनको संबोधित करते हुए कहा कि सभी छात्र अपना एक महत्वपूर्ण लक्ष्य अवश्य बनाए एवं उसी को केंद्रित कर जीवन पथ पर आगे बढ़ते जाएँ। उपाध्यक्षा श्रीमती चंद्रलता ने भी छात्रों को संबोधित किया एवं कहा कि छात्रों को सदैव चुनौतियों को स्वीकार करना चाहिए और परिश्रम से आगे बढ़ते रहना चाहिए। प्रधानाचार्या श्रीमती देविना निगम ने भी नये सत्र में सभी छात्रों को उनके परीक्षाफल के लिए बधाई दी एवं उज्ज्वल भविष्य की कामना की। 



Saturday, 16 March 2019

नन्हें मुन्नों का हाॅमर्टन ग्रामर स्कूल में वार्षिक दीक्षांत सामरोह सम्पन्न

नन्हें मुन्नों का हाॅमर्टन ग्रामर स्कूल में वार्षिक दीक्षांत सामरोह सम्पन्न

फरीदाबाद 17 मार्च : हर साल की तरह पफरीदाबाद के सैक्टर 21ए स्थित हाॅमर्टन ग्रामर स्कूल अपने मुख्य द्वार से ट्रिनटी हाॅल तक सजा हुआ था अपने बच्चों के स्वागत के लिए। अवसर था के.जी. कन्वोकेशन सेरेमनी -2018 का ‘पफंतासिया’ जिसमें हाॅमर्टन स्कूल के प्रबंध निदेशक श्री राजदीप सिंह, प्रधानाचार्या श्रीमती अर्चना डोगरा के साथ स्कूल में पधारी। सम्मानित अतिथियों श्रीमती राजविन्दर कौर तथा श्रीमती रीता चैधरी ने बच्चों को उनकी सपफलताओं पर बधाईयां देते हुए उन्हें उपाधियों से विभूषित किया।

कार्यक्रम में पधारे सभी अतिथियों का स्वागत के.जी. कक्षा के मंत्राम् सिंगारी ने अपनी मधुर वाणी में किया। उसके बाद हाॅमर्टन ग्रामर के संस्थापक प्रधानाचार्य श्री कुदलपी सिंह ने के साथ सभी गणमान्य अतिथियों ने गणपति वंदना के साथ दीप प्रज्जवलन किया। सभी छात्रा छात्राओं ने करतल ध्वनि से सबका सवागत किया। तो के.जी. के छात्रा-छात्राओं ने नृत्य नाटिका द्वारा सभी का स्वागत अभिनन्दन किया। इसके बाद छोटे बच्चों ने  अपने बैंड धुनो पर आधारित जीवन परिवर्तन और विकास को प्रदर्शित करना नृत्य प्रस्तुत किया। श्री राजदीप सिंह तथा प्रधानाचार्या श्रीमती अर्चना डोगरा द्वारा सभी सम्मानित अतिथियों को स्मृति चिह्न प्रदान किए गए। तत्पश्चात् हाॅमर्टन ग्रामर स्कूल की विशिष्ट बाल प्रतिभा अपर्णा शर्मा ने ‘पफूल की वाह’ कविता का जोशीला पाठ कर सभी को देश गर्व की अनुभूति से भर दिया।

कार्यक्रम में पधारे सभी अभिभावकों ने हाॅमर्टन ग्रामर स्कूल के प्रति अपना हार्दिक प्रेम और आभार प्रदर्शित करते हुए बच्चों की प्रगति और विकास पर संतोष जाहिर किया और अपना सम्पूर्ण सहयोग और समर्थन स्कूल को देते रहने का वायदा भी किया। अंत में सभी विशिष्ट बाल प्रतिभाओं को उनकी विशेष दक्षता का पुरस्कार प्रमाण पत्रा तथा सपफलता प्रमाण पत्रा (सभी को) श्री राजदीप सिंह, श्रीमती अर्चना डोगरा, श्रीमती राजविन्दर कौर (प्रधानाचार्या कैरी आॅन टाॅडलर्स) तथा श्रीमती रीता चैधरी (प्रधानाचार्या लिटिल मिलेनियम स्कूल) द्वारा मंच पर प्रदान किए गए। अंत में विद्यालय के संस्थापक प्रधानाचार्य श्री कुलदीप सिंह ने अपना आशीर्वाद सभी को प्रदान कतरे हुए विद्यालय के शिक्षण विकास की सराहना की। प्रधानाचार्या श्रीमती अर्चना डोगरा ने सभी को पधारने के लिए धन्यवाद किया। कार्यक्रम समापन सभी के जलपान ग्रहण के सथ समाप्त हुआ।

विद्यालय में इस अवसर पर बच्चों के मनोरंजन के लिए तरह-तरह के खेल कूद और खाने पीने के स्टाल्स भी लगाए गए थे जिनमें बाउन्सी और अन्य खेलकूद में सभी बच्चों ने मेले जैसे आनंद उठाया।

Thursday, 14 March 2019

मानव रचना डेंटल कॉलेज में फेस्ट का आयोजन

मानव रचना डेंटल कॉलेज में फेस्ट का आयोजन

फरीदाबाद, 14 मार्च:  मानव रचना डेंटल कॉलेज में चल रहे तीन दिवसीय फेस्ट के दूसरे दिन खासा उत्साह देखने को मिला। दूसरे दिन दिल्ली-एनसीआर स्थित एसआरडीसी, जामिया मीलिया इस्लामिया,  ईएसआईसी और आईपी के छात्रों ने हिस्सा लिया। इस दौरान रंगोली, फेस पेंटिंग, वायर बेंडिंग, टैलेंट शो, नुक्कड़ नाटक, प्लास्टर मानिया जैसे अलग-अलग कार्यक्रमों का आयोजन किया गया।

यह रहे नतीजे

नुक्कड़ नाटक में जामिया- पहला स्थान

फेस पेंटिंग में मानव रचना डेंटल कॉलेज- पहला स्थान

रंगोली में जामिया- पहला स्थान

वायर बेंडिंग में ईएसआईसी- पहला स्थान

प्लास्टर मानिया में मानव रचना डेंटल कॉलेज- पहला स्थान

टैलेंट शो---- सोलो सिंगिंग में जामिया पहला स्थान, डूएट और ग्रुप सिंगिंग में मानव रचना डेंटल कॉलेज में पहला स्थान हासिल किया।

मानव रचना डेंटल कॉलेज में प्रिंसिपल डॉ. अरुणदीप सिंह ने कहा, इस तरह के ईवेंट्स के जरिए छात्रों और अध्यापकों के बीच भी अच्छा रिश्ता बना रहता है, हर किसी को एक दूसरे से कुछ न कुछ सीखने को मिलता है। मानव रचना डेंटल कॉलेज में वाइस प्रिंसिपल डॉ. आशिम अग्रवाल ने, बाहर से आए सभी छात्रों का धन्यवाद किया।   

Friday, 22 February 2019

स्वर्गीय डॉ. ओपी भल्ला लाइफटाइम अचीवमेंट अवॉर्ड से सम्मानित

स्वर्गीय डॉ. ओपी भल्ला लाइफटाइम अचीवमेंट अवॉर्ड से सम्मानित

फरीदाबाद, 22 फरवरी : मानव रचना शैक्षणिक संस्थान के संस्थापक (स्वर्गीय) डॉ. ओपी भल्ला को एसोचैम की ओर से नवाचार के माध्यम से शिक्षा के क्षेत्र में बेहतरीन कार्य करने के लिए लाइफटाइम अचीवमेंट अवॉर्ड से सम्मानित किया गया। भारत के पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की उपस्थिति में संस्थान के एमडी डॉ. संजय श्रीवास्तव ने केंद्रीय मंत्री सुरेश प्रभु से यह अवॉर्ड ग्रहण किया। कार्यक्रम में एसोचैम के महासचिव उदय कुमार वर्मा, मानव रचना शैक्षणिक संस्थान के अध्यक्ष और एसोचैम नेशनल काउंसिल फॉर एजुकेशन के चेयरमैन डॉ. प्रशांत भल्ला, एआईसीटीई के वाइस चेयरमैन डॉ. एमपी पूनिया समेत शिक्षा क्षेत्र से जुड़े कई गणमान्य लोग मौजूद थे।

व्यवसायात्मिका बुद्धिरेकेह कुरुनन्दन ।

बहुशाखा ह्यनन्ताश्च बुद्धयोव्यवसायिनाम् ॥४१॥

हे अर्जुन ! इस कर्मयोग में निश्चयात्मिका बुद्धि एक ही होती है; किंतु विवेकहीन सकाम मनुष्योंकी बुद्धियाँ निश्चय ही बहुत भेदोंवाली और अनंत होती हैं । ४१

डॉ. ओपी भल्ला, केवल एक व्यक्ति नहीं, बल्कि एक दूरदर्शी और गतिशील शिक्षाविद थे, जिन्होंने बेहतर मानव के निर्माण के इरादे से मानव रचना नाम से एक शैक्षिक आंदोलन को आकार दिया। उन्होंने शिक्षा के क्षेत्र में पूरे हरियाणा का नक्शा बदल दिया। एक वक्त था जब उत्तर भारत के छात्रों को इंजीनियरिंग की पढ़ाई करने के लिए दूसरे राज्यों में जाना पड़ता था, जिसके लिए उन्हें कई परेशानियों का सामना करना पड़ता था, फिर चाहे वो भाषा हो या फिर खान-पान।

मिशन ‘मानव रचना’ शैक्षिक संस्थानों के साथ जारी है, जो हमेशा अपने छात्रों को भारतीय लोकाचार और मूल्यों की पृष्ठभूमि में चुने हुए क्षेत्रों में नवीनतम ज्ञान और कौशल के साथ प्रशिक्षित और लैस करने के लिए प्रतिबद्ध है ताकि उन्हें बदलने के लिए किसी भी वैश्विक चुनौती का सामना करने में सक्षम बनाया जा सके। इस महान देश के व्यावहारिक, सम्मानजनक और जिम्मेदार नागरिकों में और ज्ञान के निर्माण और प्रसार के लिए अग्रणी सैद्धांतिक और व्यावहारिक अनुसंधान की एक कार्य संस्कृति को लागू करने के लिए।

आज, डॉ. ओपी भल्ला हमारे साथ नहीं हैं, लेकिन उत्कृष्टता में  उनकी समृद्ध विरासत एक स्थायी गवाही है जिसकी खुशबू हमें प्रेरित करती रहेगी।



बुलंद हौसले से कर गए वो काम

शिक्षित समाज के लिए रचा इतिहास

‘मानव रचना’ दे रहा सपनों को उड़ान

हर मानुष आज कर रहा उनका सम्मान

Tuesday, 1 January 2019

मानव रचना को नई ऊंचाइयो पर लेकर जाएं – सत्या भल्ला

मानव रचना को नई ऊंचाइयो पर लेकर जाएं – सत्या भल्ला

फरीदाबाद 1 जनवरी : सुख, समृद्धि और शांति की कामना के साथ मानव रचना परिवार में नए साल की शुरुआत हवन और भंडारे के साथ की जाती है। कुछ इसी तरह साल 2019 की भी शुरुआत की गई। इस दौरान समस्त मानव रचना परिवार ने बढ़चढ़ कर हिस्सा लिया। 26 दिसंबर से महामृत्युंजय यज्ञ की शुरुआत की गई थी और आज (पहली जनवरी को) संस्थान में यज्ञ की पूर्णाहूति दी गई। जाने-माने गायक सिद्धार्थ मोहन के भजन से कार्यक्रम में चार-चाँद लगा दिए। इस दौरान मानव रचना शैक्षणिक संस्थान की मुख्य संरक्षक सत्या भल्ला, अध्यक्ष डॉ. प्रशांत भल्ला, उपाध्यक्ष डॉ. अमित भल्ला, दीपिका भल्ला, निशा भल्ला, मानव रचना के ट्रस्टी डॉ. एमएम कथूरिया समेत सभी वीसी, डीन, डायरेक्टर्स, ईडी, फैकल्टी मेंबर्स और उच्च अधिकारी मौजूद रहे। इस कार्यक्रम में फरीदाबाद के  डिस्ट्रिक्ट एवं सेशन्स जज दीपक गुप्ता ने बतौर मुख्य अतिथि हिस्सा लिया।  उन्होंने अपने संबोधन मानव रचना शैक्षणिक संस्थान में यज्ञ के साथ नए साल की शुरुआत कर संस्कृति को बढ़ावा देने वाले इस कदम की बेहद तारीफ की और सभी को नए साल की शुभकामनाएं दी।

नए साल के मौके पर उन 92 कर्मचारियों को सम्मानित किया गया जिन्होंने 10 साल संस्थान में पूरे गए। चार्मवुड स्थित मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल की म्यूजिक टीचर चांदना कपूर की सीडी ‘सॉग्स ऑफ वाटर’ भी रिलीज की गई। यह सीडी सेंट्रल बोर्ड ऑफ ग्राउंड वाटर के सहयोग से बनाई गई है। कार्यक्रम में अपने संबोधन में मानव रचना शैक्षणिक संस्थान की मुख्य संरक्षक सत्या भल्ला ने सभी को नववर्ष की शुभकामनाएं दी और सभी से आग्रह किया कि जिस तरह साल 2018 में हम सबने एकजुट होकर संस्थान को आगे बढ़ाने के कार्य किया है, वैसे ही हम नए साल में भी करेंगे।

अध्यक्ष डॉ. प्रशांत भल्ला ने बताया कि साल 2018 में संस्थान ने कई उपलब्धियां हासिल की हैं और  मुझे उम्मीद है कि इस साल में भी हमारे छात्र मानव रचना का परचम लहराएंगे।  डॉ. अमित भल्ला ने कहा, मैं आशा करते हूं की नया वर्ष सभी को एकजुट करते हुए मंगलमय और सेहत से परिपूर्ण रहे।

कार्यक्रम में  नवदीप चावला, एचके बत्रा जेबी गुप्ता और रवि वासदेव भी मौजूद रहे।