Showing posts with label Education. Show all posts
Showing posts with label Education. Show all posts

Sunday, 10 May 2020

प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन ने किया मुख्यमंत्री, शिक्षामंत्री एवं उपायुक्त का धन्यवाद :

प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन ने किया मुख्यमंत्री, शिक्षामंत्री एवं उपायुक्त का धन्यवाद :

फरीदाबाद : 10 मई  I प्रदेश सरकार ने निजी स्कूलों को राहत देते हुए स्कूलों में प्रशासनिक कार्यालय खोलने की अनुमति दे दी है। सरकार के आदेशानुसार प्रशासनिक कार्यालय के कार्यों को निपटाने के लिए सीमित स्टाफ के साथ काम करने की अनुमति मिली है। प्रदेश सरकार के इस फैसले पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन, हरियाणा ने मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल एवं  शिक्षा  मंत्री श्री कँवर पाल का धन्यवाद् प्रकट किया। एसोसिएशन के प्रधान श्री रमेश डागर, महासचिव गौरव पराशर एवं प्रवक्ता दीपक यादव ने आभार प्रकट करते हुए कहा कि प्रदेश सरकार का फैसला स्वागत योग्य है। इसके लिए वे उपायुक्त श्री यशपाल यादव का भी धन्यवाद् करते हैं जिन्होंने एसोसिएशन की बात को सरकार तक पहुंचाया।

 रमेश डागर ने विश्वास दिलाया हैं कि सभी स्कूल प्रदेश सरकार के तय मनको का पालन करते हुए स्कूल का संचालन करेंगे। दीपक यादव ने कहा की यह फैसला काफी सकारात्मक है। इससे काफी समय से बंद चल रहे स्कूल
में ऊर्जा का संचार  होगा। साथ ही उन अभिभावकों को भी राहत मिलेगी जो ऑनलाइन फीस जमा नहीं करा पा रहे थे। गौरतलब है कि प्रदेश सरकार ने कोविड-19 के चलते लॉकडाउन के कारण प्रदेश भर के सभी सरकारी व निजी स्कूल पूर्ण रूप से बंद कर दिए गए थे। ऐसा होने से निजी स्कूलों को उनके प्रशासनिक व दिन की गतिविधियों को पूरा करने में आ रही कठिनाइयों के कारण  प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन के प्रयास पर  हरियाणा के राज्य सरकार ने हरियाणा के निजी स्कूलों को अपने प्रशासनिक कार्यालय खोलने की अनुमति देने का फैसला किया है, ताकि वेतन की तैयारी और अन्य जरूरी और अपरिहार्य प्रशासनिक कार्य किए जा सकें।

Tuesday, 7 April 2020

डी ए वी पब्लिक स्कूल एनटीपीसी में ई-क्लास द्वारा शिक्षा आरम्भ : अलका अरोड़ा

डी ए वी पब्लिक स्कूल एनटीपीसी में ई-क्लास द्वारा शिक्षा आरम्भ : अलका अरोड़ा

फरीदाबाद : 7 अप्रैल I डी ए वी पब्लिक स्कूल ,एनटीपीसी फरीदाबाद ने शिक्षा के क्षेत्र में विद्यार्थियों के विकास हेतु 23 मार्च से ही ई -क्लास के माध्यम से विद्यार्थियों को पढ़ाना आरम्भ कर दिया है। विद्यालय का वार्षिक परीक्षा परिणाम 19 मार्च को ही ऑनलाइन तथा मोबाइल मैसेज के द्वारा घोषित कर दिया गया था।महामारी कोरोना से बचाव हेतु किए गए लॉक डाउन के समय में वर्क फ्रॉम होम होने के कारण स्कूल के सभी अध्यापकों के द्वारा 23 मार्च से लगातार सुबह 8बजे से 2 बजे तक ऑनलाइन शिक्षा दी जा रही है।सभी विद्यार्थियों को स्वनिर्मितऑडियो-वीडियो ,ऑनलाइन-क्लास तथा असाइनमेंट प्रकिया के द्वारा पढ़ाया जा रहा है। 

सभी अध्यापक मोबाइल के माध्यम से प्रत्येक विद्यार्थी से पूर्ण रूप से जुड़े हुए हैं।विद्यार्थी पूर्ण जोश ,सहयोग व उत्साह से प्रत्येक विषय की कक्षा में शामिल हो रहे हैं।अभिभावक अत्यंत प्रसन्नचित्त है तथा अध्यापकों के इस अथक परिश्रम की भरपूर सराहना कर रहे हैं तथा मोबाइल मैसेज के द्वारा विद्यार्थियों को शिक्षा में व्यस्त रखने के लिए आभार प्रकट कर रहे हैं।स्कूल प्रशासन भीविद्यार्थियों तथा अभिभावकों के पूर्ण सहयोग से अत्यंत प्रसन्न है। शिक्षा के साथ-साथ विद्यार्थियों की क्रियात्मक गतिविधियों के विकास हेतु चित्रकला तथा संगीत के वाद्य यंत्रों का भी ज्ञान दिया जा रहा है।स्कूल की प्रधानाचार्या श्रीमती अलका अरोड़ा विंग सुपरवाइजर के माध्यम से प्रत्येक अध्यापिका से जुड़ी हुई हैं।

Tuesday, 31 March 2020

जे.सी. बोस विश्वविद्यालय वार्षिक उत्सव ‘एलिमेंट्स कलमायका-2020’ का आनलाइन करेगा आयोजित : कुलपति प्रो. दिनेश कुमार

जे.सी. बोस विश्वविद्यालय वार्षिक उत्सव ‘एलिमेंट्स कलमायका-2020’ का आनलाइन करेगा आयोजित : कुलपति प्रो. दिनेश कुमार

 फरीदाबाद, 31 मार्च - कोरोना वायरस महामारी के चलते सभी कालेज बंद होने के कारण उबाऊपन से जूझ रहे युवाओं को रचनात्मक गतिविधियों के लिए प्रेरित करने के लिए जे.सी. बोस विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, वाईएमसीए, फरीदाबाद ने एक इनोवेटिव तरीका खोज निकाला है। विश्वविद्यालय अपना वार्षिक उत्सव ‘एलिमेंट्स कलमायका-2020’ पूर्वनिर्धारित तिथि पर ही आयोजित करेगा, लेकिन इस बार पूरा उत्सव आनलाइन आयोजित किया जायेगा। विश्वविद्यालय के डीन स्टूडेंट विभाग द्वारा आयोजित को लेकर सभी तरह की तैयारियों पूरी कर ली गई है। तीन दिवसीय वार्षिक उत्सव 9 से 11 अप्रैल, 2020 तक आयोजित किया जायेगा और इस बार का थीम है ‘द शो मस्ट गो ऑन’।

विभिन्न क्लबों के विद्यार्थियों के साथ सीधा आनलाइन संवाद करते हुए कुलपति प्रो. दिनेश कुमार ने आज वार्षिक उत्सव ‘एलिमेंट्स कलमायका-2020’ की विधिवत घोषणा की और कहा कि यह एक अच्छी और इनोवेटिव पहल है, जिससे प्रदेश विशेष रूप से उत्तर भारत के सभी प्रमुख विश्वविद्यालयों के विद्यार्थियों को जोड़ने का मौका मिलेगा। उन्होंने घोषणा की कि चूंकि विश्वविद्यालय द्वारा वार्षिक उत्सव के आयोजन पर साजो-सामान को लेकर किसी तरह का खर्च नहीं कर रहा है, इसलिए उत्सव के दौरान आयोजित होने वाले इवेंट्स में आकर्षक पुरस्कार राशि दी जायेगी। उल्लेखनीय है कि विश्वविद्यालय द्वारा प्रतिवर्ष वार्षिक उत्सव के आयोजन पर 20 से 30 लाख रुपये की राशि खर्च की जाती है। 


कुलपति ने प्रदेश के सभी विश्वविद्यालय के विद्यार्थियों से उत्सव में बढ़-चढ़कर हिस्सा लेने का आह्वान किया है। उन्होंने कहा कि यह ऐसा समय है जब सभी विद्यार्थी अपने घरों में उबाऊपन से जूझ रहे है। ऐसे में पढ़ाई के साथ-साथ रचनात्मक गतिविधियों में हिस्सा लेकर विद्यार्थी अपने समय का सही उपयोग कर करते है और खुद को व्यस्त भी रख सकते है। उन्होंने आशा जताई कि ‘एलिमेंट्स कलमायका-2020’ बेहद सफल होगा। यदि यह प्रयोग सफल होता है तो भविष्य में विश्वविद्यालय वार्षिक उत्सव के प्रारूप को बदलने पर विचार कर सकता है ताकि उत्सव में विद्यार्थियों की भागीदारी बढ़े। उन्होंने कहा कि एक संस्थान के रूप में विश्वविद्यालय ने 50 वर्ष पूरे कर लिये है और यह उत्सव लगभग 30 वर्षों से अधिक समय से निरंतर आयोजित किया जा रहा है। 


कुलसचिव डॉ. सुनील कुमार गर्ग ने ‘एलिमेंट्स कलमायका-2020’ के आनलाइन प्रारूप की सराहना की तथा कहा कि वार्षिक उत्सव में सभी संबद्ध कालेजों के विद्यार्थियों की भागीदारी को भी सुनिश्चित किया जायेगा।
डिप्टी डीन स्टूडेंट वेलफेयर डॉ. सोनिया बंसल ने बताया कि एलिमेंट्स कलमायका-2020 में इस बार 63 इवेंट करवाये जा रहे है। इनमें 40 कल्चरल एवं सोशल अवेयरनेस इवेंट रहेंगे तथा 20 से ज्यादा तकनीकी इवेंट्स होंगे। इस समय विश्वविद्यालय में 16 सक्रिय क्लब है, जो उत्सव में भागीदारी करेंगे तथा विभिन्न इवेंट्स की मेजबानी करेंगे। सभी इवेंट डीन स्टूडेंट वेलफेयर डॉ. नरेश चौहान की देखरेख में आयोजित किये जायेंगे। 

Monday, 30 March 2020

 जे.सी. बोस विश्वविद्यालय ने क्वारंटिन सेंटर के लिए हॉस्टल देने की पेशकश की ‘हरियाणा कोरोना रिलीफ फंड’ में दिया 25 लाख

जे.सी. बोस विश्वविद्यालय ने क्वारंटिन सेंटर के लिए हॉस्टल देने की पेशकश की ‘हरियाणा कोरोना रिलीफ फंड’ में दिया 25 लाख

फरीदाबाद, 30 मार्च - जहां एक तरफ सरकारी एजेंसियों तथा स्वास्थ्य कर्मियों द्वारा कोरोना वायरस से लड़ाई केे लिए हरसंभव प्रयास किये जा रहे है, इसी दिशा में पहल करते हुए जे.सी. बोस विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, वाईएमसीए, फरीदाबाद ने अपने बॉयज हॉस्टल की एक विंग क्वारंटिन सेंटर के लिए उपलब्ध करवाने की पेशकश की है। इस क्वारंटिन सेंटर में विश्वविद्यालय की यूथ रेड क्रॉस यूनिट के वाॅलियंटर्स भी जिला प्रशासन के सहयोग के लिए उपलब्ध रहेंगे। इसके अलावा, विश्वविद्यालय ने 25 लाख रुपये की राशि का हरियाणा कोरोना रिलीफ फंड में योगदान दिया है।

कोरोनवायरस महामारी की मौजूदा स्थिति से निपटने के लिए मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल और राज्य सरकार द्वारा किये जा रहे प्रयासों की सराहना करते हुए कुलपति प्रो दिनेश कुमार ने कहा कि कोरोनो वायरस के विरूद्ध लड़ाई केवल सभी के एकजुट प्रयासों से ही जीती जा सकती है। इसलिए, इस कठिन समय में राज्य सरकार को हर संभव सहायता प्रदान करना हम सभी की जिम्मेदारी है।

प्रो. दिनेश कुमार ने कहा कि विश्वविद्यालय का बॉयज हॉस्टल मुख्य कैंपस और अकादमिक खण्ड से अलग तथा मुख्य द्वार के निकट है और छात्रावास में बैड, पेयजल तथा वाॅशरूम की भी उचित व्यवस्था है जिसका उपयोग जरूरत के समय क्वारंटिन सेंटर में बदलने के लिए किया जा सकता है। इसके अलावा, विश्वविद्यालय में एक योग्य चिकित्सक और पैरामेडिकल स्टाफ के साथ अपना चिकित्सा केंद्र भी है। इस प्रकार, विश्वविद्यालय जिला प्रशासन को अपना हर संभव समर्थन देने के लिए सक्षम और प्रतिबद्ध है।

कुलपति ने बताया कि विश्वविद्यालय के यूथ रेड क्रॉस के समन्वयक सुशील पंवार और उनकी टीम द्वारा संचार माध्यमों के विभिन्न माध्यमों से कोरोनावायरस की रोकथाम के लिए एक जागरूकता अभियान भी चलाया जा रहा है। इसके अलावा, विश्वविद्यालय के शिक्षकों एवं कर्मचारियों द्वारा हरियाणा कोरोना रिलीफ फंड में भी अपने वेतन का 10 प्रतिशत योगदान दिया है जो कि कुल 25 लाख रुपये है।

Monday, 2 March 2020

सन ग्लो पब्लिक स्कूल में वार्षिक समारोह सम्पन्न

सन ग्लो पब्लिक स्कूल में वार्षिक समारोह सम्पन्न

फरीदाबाद, 2 मार्च। पर्वतीय कालोनी स्थित सन ग्लो पब्लिक स्कूल का वार्षिक समारोह धूमधाम से मनाया गया। इस अवसर पर सर्वप्रथम स्कूल के चेयरमैन विजेंद्र सिंह ने मां सरस्वती के चित्र के समक्ष दीप प्रज्जवलित कर पुष्प अर्पित किए। समारोह के मुख्य अतिथि के रूप में शहर के जाने माने फिल्म निर्माता, निर्देशक व लेखक मामेन्द्र कुमार उपस्थित थे। इस अवसर पर स्कूल चेयरमैन ने मुख्य अतिथि मामेन्द्र कुमार का बुक्के भेंट कर स्वागत किया।

इस अवसर पर स्कूल के नन्हें-मुन्हें बच्चों ने शानदार सांस्कृतिक कार्यक्रमों के माध्यम से अपनी प्रतिभा दिखाई। बच्चों ने कई लघु नाटिकाएं भी प्रस्तुत की तथा देशभक्ति के गीतों पर शानदार नृत्य व अभिनय का प्रदर्शन किया।

इस अवसर पर प्रस्तुति देने वाले सभी बच्चों को चेयरमैन विजेंद्र सिंह व मुख्य अतिथि मामेन्द्र कुमार ने बच्चों को पुरस्कार वितरित किए तथा बच्चों व टीचर्स को समारोह की बधाई दी। 

इस मौके पर उपस्थित छात्र-छात्राओं, अभिभावकों को सम्बोधित करते हुए कहा कि आज के छात्र कल देश का भविष्य होगें। छात्र-छात्राएं पूरी मेहनत, लग्न से आने वाली परीक्षाओं को पास करें ताकि पूरे साल कराई गई मेहनत का फल उन्हें मिल सकें। छात्र-छात्राओं के पास होने से केवल वह ही नही बल्कि माता-पिता, अध्यापकगण सहित पूरा स्कूल गौरवांवित महसूस करता है। 

इस अवसर पर मुख्य अध्यापिका सुनीता कठायत, सन्नी, मीना पटवाल  व भावना शर्मा आदि टीचर्स ने मेहनत करके इस शानदार कार्यक्रम का आयोजन किया। अभिभावक अपने बच्चों की प्रस्तुति देखकर गदगद हो गए। समारोह के अंत में चेयरमैन विजेंद्र सिंह ने मुख्य अतिथि, अभिभावक, अध्यापकों व छात्रों का धन्यवाद किया।

Thursday, 27 February 2020

मित्सुबिशी इलेक्ट्रिक कप-2020 में छाए मानव रचना के छात्र

मित्सुबिशी इलेक्ट्रिक कप-2020 में छाए मानव रचना के छात्र

फरीदाबाद, 28 फरवरी:  मानव रचना इंटरनेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ रिसर्च एंड स्टडीज के छात्रों ने बेंग्लुरू में आयोजित हुए मित्सुबिशी इलेक्ट्रिक कप 2020 में मोस्ट पॉपुलर टीम का अवॉर्ड अपने नाम किया है। एग्जीबिशन देखने आए लोग अंत के कैनोपी में लगी एक मशीन के जरिए मोस्ट पॉपुलर टीम का चयन करते हैं, जिस व्यक्ति को जो भी प्रोजेक्ट पसंद आता है वह उसके लिए वोट करता है। छात्रों ने एक ऐसी मशीन बनाई जिसके जरिए सिंगल यूज प्लास्टिक को री-यूजएबल बनाया जाता है। हम सब जानते हैं कि आज के समय में प्लास्टिक को जिंदगी से हटाया नहीं जा सकता लेकिन री-यूज जरूर किया जा सकता है।

इसी को ध्यान में रखते हुए छात्रों ने यह मशीन बनाई है। छात्रों द्वारा बनाया गए इस प्रोजेक्ट का नाम ‘Plastic Salvager’ और उनकी टीम का नाम ‘ईको वारियर्स’ है। यह मशीन अपनी मेंटर डॉ. आशीष ग्रोवर के नेतृत्व में इलेक्ट्रिकल एंड इलेक्ट्रॉनिक इंजीनियरिंग के फाइनल ईयर के छात्र राहुल सोनी, परवेज हसन, इकबाल आलम और अरविंद ने यह मशीन तैयार की है।

मित्सुबिशी इलेक्ट्रिक कप-2020 के जजिस और विजिटर्स द्वारा इस मशीन की सराहना की गई। MRIIRS के इलेक्ट्रिकल एंड इलेक्ट्रॉनिक इंजीनियरिंग डिपार्टमेंट की एचओडी डॉ. अनीता खोसला इस साल मित्सुबिशी इलेक्ट्रिक कप की ज्यूरी और एडवाइजर कमेटी की सदस्य भी रही।

Wednesday, 26 February 2020

जी एस टी रिटर्न भरना सीख छात्र बनाये अपना करियर : सचिन कथूरिया

जी एस टी रिटर्न भरना सीख छात्र बनाये अपना करियर : सचिन कथूरिया

फरीदाबाद, 26 फरवरी : एन.एच. 3  डी.ए.वी. शताब्दी कॉलेज,फरीदाबाद में वाणिज्य विभाग द्वारा  जीएसटी पर दो दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया |  कार्यशाला में सी एम ए सचिन कथूरिया मुख्य वक्ता के रूप में उपस्थित रहे | सचिन कथूरिया ने  कार्यशाला के माध्यम से विद्यार्थियों को जीएसटी फर्म रजिस्ट्रेशन,  जीएसटी रिटर्न और इनकम टैक्स रिटर्न भरने की प्रक्रिया की विधिवत जानकारी दी | साथ ही छात्रों को जी एस टी के क्षेत्र में ज्ञान में अर्जित कर करियर संवारने के लिए प्रोत्साहित किया | 

कॉलेज प्राचार्य डॉ सतीश आहुजा ने बताया की  वाणिज्य विभाग के छात्र ऐसे  कार्यशाला के माध्यम से वर्तमान में अत्यंत महत्वपूर्ण और अनिवार्य विषय की व्यवहारिक जानकारी प्राप्त कर अपने लिए रोजगार व् स्वरोजगार का अवसर बना सकते है | विभाग के कोऑर्डिनेटर मुकेश बंसल ने बताया की दो दिवसीय वर्कशॉप में लगभग 80 छात्रों ने भाग लिया इस वर्कशॉप के दौरान सभी छात्रों के साथ-साथ विभाग के शिक्षकों का भी भागीदारी रही | कार्यशाला में मुख्य रूप से वाणिज्य विभाग हेड रवि कुमार, डीन ललिता ढींगरा, पंकज झा आदि लोग मौजूद रहे | 

मानव रचना में बिल्डिंग सस्टेनेबल कॉम्पेटिटिव एज पर सम्मेलन

मानव रचना में बिल्डिंग सस्टेनेबल कॉम्पेटिटिव एज पर सम्मेलन

फरीदाबाद, 26 फरवरी: फैकल्टी ऑफ मैनेजमेंट स्टडीज (एफएमएस), मानव रचना इंटरनेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ रिसर्च एंड स्टडीज (एमआरआईआईआरएस) ने दो दिवसीय MR CON 2020: ‘कॉन्फ्रेंस ऑन बिल्डिंग सस्टेनेबल कॉम्पिटिटिव एज’ का आयोजन किया। इस दौरान 64 रिसर्च पेपर्स सब्मिट किए गए और 53 रिसर्च पेपर्स प्रेजेंट किए गए। यह सम्मेलन उद्योग जगत, शिक्षाविदों और सरकार के प्रतिष्ठित लोगों, नीति निर्माताओं को एक साथ लाने के लिए एक सार्थक प्रयास था।

ग्रुप ह्यूमन कैपिटल मैक्स इंडिया के निदेशक पी. द्वारकानाथ कार्यक्रम के गेस्ट ऑफ ऑनर रहे। उन्होंने कहा कि आज के इस दौर में कुछ परिवर्तनों की भविष्यवाणी की जा सकती है जबकि कुछ में नहीं, इसलिए आज के समय को हम VUCA (Volatility, uncertainty, complexity and ambiguity) वर्ल्ड कहते हैं। उन्होंने अपने संबोधन के दौरान "इन एक्सीलेंस ऑफ सर्च" जैसी पुस्तक के बारे में बातचीत की। उन्होंने बताया कि कल जो सच था, वह आज नहीं हो सकता। उन्होंने कहा कि कल के प्रतियोगी आज भी मौजूद नहीं हो सकते हैं। सस्टेनेबल कॉम्पिटिटिव एडीज (एससीई) के लिए लोग, कल्चर, इनोवेशन और लीडरशिप महत्वपूर्ण हैं।

दो दिन तक चले इस कार्यक्रम में पहले दिन तीन तकनीकी सत्रों में सतत विकास, कस्टमर लीडरशिप और कल्चर एंव एथिकल गवर्नेंस पर चर्चा की गई। वहीं दूसरे दिन दो तकनीकी सत्रों में बिल्डिंप पीपल पावर और स्पीडी इनोवेशन पर चर्चा हुई।

 कार्यक्रम में फोर स्कूल ऑफ मैनेजमेंट के प्रोफेसर डॉ. सुबीर वर्मा, इफ्को टोकियो के एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर रमेश कुमार, पद्मश्री डॉ. प्रीतम सिंह, मैनेजमेंट कंसल्टेंट बिजनेंस एंड स्ट्रैटेजी वाईवी वर्मा, एमआरआईआईआरएस के वीसी डॉ. संजय श्रीवास्तव,एफएमएस के डीन डॉ. हरि अरोड़ा, एमआरआईआईआरएस के प्रोवीसी डॉ. एमके सोनी, मानव रचना के डीजी डॉ. एनसी वाधवा समेत छात्र और फैकल्टी मेंबर्स मौजूद रहे।
इंटरनेट ऑफ थिंग्स से बदल रही है प्रौद्योगिकी, विद्यार्थी रहे अपडेटः कुलपति प्रो. दिनेश कुमार

इंटरनेट ऑफ थिंग्स से बदल रही है प्रौद्योगिकी, विद्यार्थी रहे अपडेटः कुलपति प्रो. दिनेश कुमार

फरीदाबाद, 26 फरवरी - जे.सी. बोस विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, वाईएमसीए, फरीदाबाद द्वारा सीईईआरआई पिलानी के सहयोग से इंटरनेट आफ थिंग्स (आईओटी) मॉड्यूल के प्रशिक्षण पर टीईक्यूआईपी प्रायोजित छह दिवसीय हैंड्स ऑन ट्रेनिंग कार्यशाला का आयोजन किया जा रहा है। कार्यशाला का संचालन विश्वविद्यालय के इलेक्ट्रॉनिक्स इंजीनियरिंग विभाग और कंप्यूटर इंजीनियरिंग विभाग द्वारा संयुक्त रूप से किया जा रहा है, जिसमें 50 से ज्यादा प्रतिभागी हिस्सा ले रहे है। 

कार्यशाला का उद्घाटन कुलपति प्रो दिनेश कुमार ने किया। उद्घाटन सत्र में सीईईआरआई पिलानी के वरिष्ठ वैज्ञानिक डॉ. कोटा सोलेमन राजू उपस्थित थे। इस अवसर पर कुलसचिव डॉ. एस. के. गर्ग, कंप्यूटर एप्लीकेशन विभागाध्यक्ष डॉ. अतुल मिश्रा, इलेक्ट्रॉनिक्स इंजीनियरिंग विभागाध्यक्षा डॉ. नीलम तुर्क, टीईक्यूआईपी कोर्डिनेटर डॉ. मुनीश वशिष्ठ और अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

कार्यशाला का उद्देश्य विद्यार्थियों तथा संकाय सदस्यों को आईओटी के अनुप्रयोगों की उपयोगिता के बारे में जानकारी प्रदान करना है। उद्घाटन सत्र को संबोधित करते हुए डाॅ. कोटा सोलेमन राजू ने आईओटी एनालिटिक्स एप्लिकेशस की विभिन्न क्षेत्रों में उपयोगिता पर चर्चा की और बताया कि किस तरह से हेल्थ माॅनिटरिंग सिस्टम, स्मार्ट होम और स्मार्ट सिटी जैसे क्षेत्रों में इस प्रौद्योगिकी का प्रभावी ढंग से उपयोग किया जा सकता है।

इस अवसर पर बोलते हुए कुलपति प्रो दिनेश कुमार ने कहा कि वर्तमान प्रौद्योगिकी इंटरनेट ऑफ थिंग्स की ओर बढ़ रही है और इस उन्नत तकनीक को लेकर संकाय सदस्यों तथा विद्यार्थियों को अपडेटिड रहने की आवश्यकता है। मौजूदा समस्याओं के समाधान खोजने और सीखने के महत्व पर बल देते हुए कुलपति ने विद्यार्थियों को बहु-विषयक अनुप्रयोगों की जानकारी लेने तथा रोबोटिक्स, इंटरनेट आफ थिंग्स, बिग-डेटा एनालिटिक्स और आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस जैसी नई तकनीकों को सीखने पर ध्यान केन्द्रित करने का आह्वान किया।

इलेक्ट्रॉनिक्स इंजीनियरिंग विभाग की अध्यक्षा डॉ. नीलम तुर्क ने कहा कि कार्यशाला के दौरान प्रतिभागियों के लिए आईओटी से संबंधित कई प्रेरक सत्रों का आयोजन किया जायेगा और उन्हें आईओटी मॉड्यूल के प्रशिक्षण का भी अनुभव मिलेगा। इस अवसर पर सीईईआरआई पिलानी से उपस्थित विशेषज्ञ वक्ताओं में डॉ. गौरव पुरोहित और डॉ. प्रमोद तंवर भी उपस्थित थे।

Tuesday, 18 February 2020

विद्यासागर इंटरनेशनल स्कूल में  हवनयज्ञ के साथ संपन्न हुआ  2019 शिक्षा सत्र

विद्यासागर इंटरनेशनल स्कूल में हवनयज्ञ के साथ संपन्न हुआ 2019 शिक्षा सत्र

फरीदाबाद 18 फ़रवरी  । विद्यासागर इंटरनेशनल स्कूल में हवन यज्ञ का आयोजन किया गया। 2019 के शिक्षा सत्र के समापन पर आयोजित इस हवन यज्ञ के अवसर पर कक्षा दसवीं एवं 12वीं के छात्रों को उनकी बोर्ड की परीक्षाओं के लिए शुभकामनाएं दी गईं। स्कूल के चेयरमैन धर्मपाल यादव के साथ स्कूल के डॉयरेक्टर दीपक यादव, शम्मी यादव, डॉयरेक्टर सीएल गोयल, प्रिंसिपल कुलविंदर कौर ने बच्चों के यज्ञ में आहुति डालकर उन्हें आने वाले दिनों में होने वाली परीक्षाओं में बेहतर परिणाम के लिए शुभकामनाएं दीं और प्रेरित किया। छात्रों को संबोधित करते हुए धर्मपाल यादव ने कहा कि बोर्ड एग्जाम एक ऐसी एग्जाम हैं, जिसमे सभी घबराते हैं, लेकिन इसमें घबराने वाली कोई बात नहीं हैं। एग्जाम का पैटर्न इतना भी कठिन नहीं होता, कि आप इस तरह से डरें। यादव ने कहा कि जिस तरह से बच्चे लोकल एग्जाम की तैयारी करते हैं, बोर्ड की एग्जाम भी वैसी ही होती हैं। 

अगर आप आत्म विश्वास के साथ अपना काम ठीक से करेंगे तो आपको निश्चित ही सफलता मिलेगी। छात्रों से बात करते हुए स्कूल के डॉयरेक्टर दीपक यादव ने उन्हें परीक्षा के टिप दिए। उन्होंने कहा कि छात्रों को चाहिए कि वे शुरुवात से अलर्ट रहें। एक साथ दिमाग पर बोझ ना बनाये। एक रूटीन बनाकर, शुरुवात से उसी के अनुसार काम करें। ऐसा करने से आखरी में आपके पास पर्याप्त समय होगा, जिसमे आप रिविज़न कर पायेंगे और एक्स्ट्रा तैयारी में समय दे पायेंगे। 

दीपक यादव ने कहा कि छात्रों के लिए यह बहुत जरूरी है कि टाइम टेबल बना कर पढाई करें। अपने डाउट जरुर समय रहते क्लियर कर लें, क्यूंकि समय कम बचने पर इससे चिंता बढ़ती हैं और आत्मविश्वास में कमी आती हैं।  दीपक यादव ने बच्चों से बातचीत करते हुए उन्हें समझाया कि परीक्षा के दिनों में हमें ठीक से नींद नहीं आती और जब भी पढऩे बैठते हैं सुस्ती सी लगती हैं इससे बचने के लिए रोजाना ठीक से 6 से 7 घन्टे की नींद लें और पढ़ाई करते समय बीच-बीच में थोड़ा अंतर लें। इस अवसर पर स्कूल के सभी अध्यापकगण एवं अन्य पदाधिकारी उपस्थित रहे।

Sunday, 16 February 2020

जीवा पब्लिक स्कूल वैल्यू एजूकेशन अवार्ड से सम्मानित

जीवा पब्लिक स्कूल वैल्यू एजूकेशन अवार्ड से सम्मानित

फरीदाबाद : 17 फ़रवरी I  जीवा पब्लिक स्कूल को उच्चकोटि की शिक्षा एवं नवीनतम शिक्षा प्रणाली की वजह से दो अत्यंत महत्त्वपूर्ण एवं शिक्षा संबंधित पुरस्कार से पुरस्कृत किया गया। वल्र्ड एजूकेशन कोनञ्चलेव की ओर से ‘क्रयूचर रेडी स्कूल अवार्ड’ से पुरस्कृत किया गया। दिल्ली द्वारका स्थित होटल रेडीसनद्ब्रलू में आयोजित यह कार्यक्रम अपने आप में शिक्षा क्षेत्र में विशिष्ट कार्यों एवं आधुनिक शिक्षा प्रणाली का आपस में अदभुत समायोजन था और सभी विषय पर विशेष ध्यान आकृष्ट किया गया। इस कार्यक्रम में उच्चकोटि की शिक्षा प्रदान करने के लिए अनेक विषयों को शामिल किया गया। वहीं विद्यालय को एलड्रोक इंडिया  की ओर से उत्कृष्टï वैल्यू एजूकेशन के लिए भी पुरस्कृत किया गया। विद्यालय को यह पुरस्कार वैल्यू एजूकेशन के आधार पर दिया गया।

विद्यालय की प्रधानाचार्या श्रीमती देविना निगम ने इन दोनों आयोजनों में भाग लिया व पुरस्कार भी ग्रहण किया। इन दोनों समारोह में जीवा पब्लिक  स्कूल के अलावा एन0 सी0 आर0 व देश के विभिन्न राज्यों के अनेक स्कूलों के प्राचार्यों व शिक्षाविदों ने भाग लिया। इन सभी विद्यालयों को आधुनिक शिक्षा प्रणाली के तहत प्रयोग होने वाली तकनीकी उपकरणों व साधनों के प्रयोग के लिए व पारंपरिक एवं सांस्कृतिक मूल्यों को बरकरार रखने के लिए ही पुरस्कृत किया गया। जीवा पद्ब्रिलक स्कूल के लिए यह गर्व का विषय है कि विद्यालय को भी इतने सारे शिक्षण संस्थानों के साथ उच्चकोटि की श्रृंखला में मनोनीत किया गया।


Wednesday, 10 July 2019

मानव रचना शैक्षणिक संस्थान में नए छात्रों का स्वागत

मानव रचना शैक्षणिक संस्थान में नए छात्रों का स्वागत

फरीदाबाद, 10 जुलाई:  मानव रचना शैक्षणिक संस्थान में मानव रचना इंटरनेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ रिसर्च एंड स्टडीज (एमआरआईआईआरएस) और मानव रचना यूनिवर्सिटी के इंजीनियरिंग और नॉन-इंजीनियरिंग कोर्सिस के छात्रों का ओरएंटेशन कार्यक्रम भी जारी है, यह 26 जुलाई तक चलेगा। हवन और पौधारोपण के साथ नए सत्र की शुरुआत की गई।

ओरिएंटेशन के दौरान छात्रों को मानव रचना के विजन, मिशन, उप्लब्धियों और उनके कोर्सिस के बारे में जानकारी दी जा रही है। इसके अलावा छात्रों को कैंपस की सुविधाओं और फैकल्टी मेंबर्स से रूबरू करवाया जा रहा है। ओरिएंटेशन कार्यक्रम के तहत छात्रों के लिए लाइब्रेरी, शूटिंग रेंज, स्पोर्ट्स एरीना, क्लास रूम्स में अलग-अलग कार्यक्रम रखे गए हैं। कॉलेज में पहले दिन छात्रों के साथ-साथ उनके अभिभावकों ने भी कैंपस में समय बिताया। इस दौरान फैकल्टी मेंबर्स ने अभिभावकों को एक्सपीरिएंशियल लर्निंग के बारे में जानकारी दी।

मानव रचना शैक्षणिक संस्थान के अध्यक्ष डॉ. प्रशांत भल्ला ने बताया कि, किसी भी कॉलेज में दाखिला लेने से पहले हर अभिभावक रैगिंग को लेकर चिंतित रहते हैं। उन्होंने अभिभावकों को यह जानकारी देकर निश्चिंत किया कि मानव रचना का कैंपस रैगिंग फ्री है। रैगिंग की शिकायत के लिए हर जगह हेल्प-लाइन नंबर के बोर्ड्स लगाए गए हैं। उन्होंने उम्मीद जताई, जिस तरह हमारे छात्रों को देश और विदेश में पहचान मिली है, आने वाले समय में नए छात्र मानव रचना का परचम देश और विदेश में लहराएंगे। 

Saturday, 6 July 2019

निरंतर कल्याणकारी कार्यों के लिए जीवा इन्ट्रैक्ट क्लब को पुरस्कृत किया गया

निरंतर कल्याणकारी कार्यों के लिए जीवा इन्ट्रैक्ट क्लब को पुरस्कृत किया गया

फरीदाबाद 6 जुलाई :  जीवा पब्लिक स्कूल के बारहवीं कक्षा के छात्र हिमांशु मित्तल को बेस्ट जेड0 आई0 आर0 केटेगरी के आधार पर पुरस्कृत किया गया। वहीं विद्यालय को भी प्लैटिनम अवॉर्डस से पुरस्कृत किया गया। रोटरी क्लब की ओर से प्रथम (डि0 आई0 आर0 ए0) डिस्ट्रिक्ट इन्ट्रैक्ट रिकॉगनाइज़ेशन सेरेमनी का आयोजन तीन जुलाई 2019 को नई दिल्ली के चाणक्यपुरी स्थित संस्कृति स्कूल में किया गया। इस आयोजन में एन0 सी0 आर0 के 50 विद्यालयों के इन्ट्रैक्ट क्लब ने भाग लिया, जिन्होंने वर्ष 2018-19 में समाज कल्याण कार्यों में बढ़-चढ़ कर हिस्सा लिया। कई स्कूलों को उनके श्रेष्ठï कार्यों के लिए नामांकित किया गया एवं उनके कल्याणकारी कार्यों के लिए पुरस्कृत भी किया गया। जीवा पब्लिक स्कूल के हिमांशु मित्तल को सर्वश्रेष्ठï नेतृत्व एवं उसकी कर्मठता के लिए इस उच्च पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

रोटरी क्लब एक सामाजिक संस्था है जो देश एवं विदेश में अनेक सामाजिक कार्य करती है और इसी के अंतर्गत स्कूल एवं कॉलेज के छात्र एवं छात्राओं को भी सामाजिक कार्यों के लिए प्रेरित करती हैं। जीवा पब्लिक स्कूल को प्लैटिनम अवॉर्ड उसके निरंतर श्रेष्ठï कल्याणकारी कार्यों के लिए दिया गया। साथ ही सभी इन्ट्रैक्ट ने प्रण किया कि वे इसी प्रकार निरंतर समाज कल्याण के कार्यों को करते रहेंगे और देश के कल्याण के लिए भी प्रतिबद्घ रहेंगे।

इस अवसर पर विद्यालय के अध्यक्ष श्री ऋषिपाल चौहान एवं उपाध्यक्षा श्रीमती चंद्रलता चौहान ने जेड0 आई0 आर0 हिमांशु मित्तल को उसकी उपलब्धि पर बधाई दी एवं उज्ज्वल भविष्य की कामना की। 

मानव रचना के छात्रों से रूबरू हुए राज्यसभा सांसद केजे अल्फोंस

मानव रचना के छात्रों से रूबरू हुए राज्यसभा सांसद केजे अल्फोंस

फरीदाबाद, 6 जुलाई: आज बीजेपी के राज्यसभा सांसद केजे अल्फोंस मानव रचना शैक्षणिक संस्थान में मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल के छात्रों से रूबरू हुए। उन्होंने इस दौरान छात्रों के साथ नए भारत पर चर्चा की। उन्होंने अपने आईएएस से नेता बनने के सफर के बारे में छात्रों के साथ अपना अनुभव साझा किया। अल्फोंस का मानना है जब भारत के लोग खुश होंगे तो पूरा देश तरक्की करेगा। उन्होंने बताया, कि वह दसवीं में महज 42 प्रतिशत लेकर पास हुए थे, लेकिन वह कभी भी इस बात को लेकर दुःखी नहीं हुए क्योंकि उनकी दिशा तय थी। अल्फोंस का मानना है कि छात्रों को वही राह चुननी चाहिए जिसमें उन्हें लगता है कि वह अपना करियर बनाना चाहते हैं, न कि समाज के दबाव में आकर। उन्होंने बताया कि, छात्रों को वर्क हार्ड नहीं वर्क स्मार्ट करना चाहिए।

अल्फोंस ने कहा, देश के हर छात्र का जन्म बदलाव लाने के लिए हुए है, हर छात्र को अपने सपने देखने और उसे साकार करने का हक है। उन्होंने सभी छात्रों को सलाह दी की वह अपने पूरे दिन का शेड्यूल बनाएं और किस वक्त क्या करना है इसका चयन वह खुद करें। इस विशेष कार्यक्रम के दौरान केजे अल्फोंस ने इस दौरान छात्रों के कई सवालों का दिया। उन्होंने मानव रचना कैंपस की सभी लैब्स, शूटिंग रेंज, स्पोर्ट्स साइंस सेंटर, रेडियो मानव रचना भी विजिट किया।

कार्यक्रम में एमआरआईआईआरएस के वीसी डॉ. संजय श्रीवास्तव, प्रो वीसी डॉ. एमके सोनी, डीन एफएमईएच डॉ. नीमो धर, मानव रचना इंटरनेशनल स्कूलों की डायरेक्टर संयोगिता शर्मा समेत शिक्षक और करीब 400 छात्र मौजूद रहे।

Monday, 20 May 2019

 मानव रचना में पाँच दिवसीय ‘ईको कनसल्ट मीट’ का आयोजन

मानव रचना में पाँच दिवसीय ‘ईको कनसल्ट मीट’ का आयोजन

फरीदाबाद, 20 मई: सेंटर फॉर एडवांस वाटर टेक्नोलॉजी एंड मैनेजमेंट (CAWTM), मानव रचना इंटरनेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ रिसर्च एंड स्टडीज एनसीएसटीसी समर्थित और डीएसटी परियोजना के तहत मानव रचना कैंपस में पांच दिवसीय इको कंसल्ट मीट का आयोजन किया जा रहा है।  इस कार्यक्रम का उद्घाटन सीएडब्ल्यूटीएम (CAWTM) के अध्यक्ष डॉ. डीके चड्ढा. मानव रचना के डीजी डॉ. एनसी वाधवा, एमआरआईआईआरएस के प्रो-वीसी डॉ. एमके सोनी की अगुवाई में हुआ।  

डॉ. डीके चड्ढा ने इस दौरान सभी रिसरचर्स से आग्रह किया कि वह  पानी के महत्व और रेन वाटर हार्वेस्टिंग की आवश्यकता के बारे में लोगों में जागरुकता फैलाएं। वहीं, डॉ. एनसी वाधवा ने पानी के संरक्षण की आवश्यकता पर जोर दिया, ताकि आने वाली पीढ़ियों को स्वच्छ पेयजल उपलब्ध हो सके।

इस कार्यक्रम में अलग-अलग संस्थाओं के लोगों ने हिस्सा लिया, जिनमें एनजीओ, डॉक्टर्स, पीजी स्टूडेंट्स और नए रिसचर्स शामिल थे। इस परियोजना का मुख्य मकसद प्रतिरूप योग्य मॉडल वाटर एंड इको हेल्थ क्लीनिक की स्थापना करना है, ताकि पानी से संबंधित स्वास्थ्य जोखिम को कम करके समुदाय के लक्षित समूहों के साथ विज्ञान संचार स्थापित किया जा सके।

यह परियोजना जल साक्षरता, पानी की गुणवत्ता में सुधार, स्वच्छता, प्रौद्योगिकी के हस्तक्षेप के माध्यम से स्वच्छता की स्थिति और मांग की ओर से पर्यावरणीय स्वास्थ्य सुधार और आपूर्ति पक्ष के जल प्रबंधन के बारे में छात्रों को शिक्षित करना चाहती है। साथ ही समाज के भीतर विज्ञान संचार को आगे बढ़ाने के लिए प्रतिभा शिकार के माध्यम से स्थायी स्थानीय नेतृत्व विकसित करने की भी परिकल्पना करती है।

Tuesday, 14 May 2019

मानव रचना डेंटल कॉलेज ने पीजी छात्रों का स्वागत किया

मानव रचना डेंटल कॉलेज ने पीजी छात्रों का स्वागत किया

फरीदाबाद, 15 मई: मानव रचना डेंटल कॉलेज में एमडीएस 2019-22 सत्र के छात्रों का स्वागत किया गया। ओरिएंटेशन प्रोग्राम की शुरुआत हवन के साथ की गई। इस दौरान मानव रचना के डीजी डॉ. एनसी वाधवा भी मौजूद रहे। ओरिएंटेशन प्रोग्राम के तहत छात्र एक दूसरे से रूबरू हुए। इस दौरान छात्रों को मानव रचना शैक्षणिक संस्थान के बारे में जानकारी दी गई। मानव रचना डेंटल कॉलेज के प्रिंसिपल डॉ. अरुणदीप सिंह ने सभी छात्रों का कॉलेज में स्वागत किया। उन्होंने उम्मीद जताई आने वाले तीन साल छात्रों को लिए उनके करियर के लिए बेहतरीन साबित होंगे। उन्होंने सभी छात्रों को सलाह दी कि इलाज के लिए आने वाले मरीजों की पूरी मदद करें और जितनी जल्दी हो उन्हें इलाज मुहैया करवाएं।

कार्यक्रम में मानव रचना शैक्षणिक संस्थान के एमडी डॉ. संजय श्रीवास्तव भी मौजूद रहे। उन्होंने कहा, यह आने वाले तीन साल उनकी जिंदगी के आगे की दिशा तय करेंगे, इसलिए अपनी गलतियों से सीखने की कोशिश करें।  उन्होंने छात्रों को तीन टिप्स दिए- सीखना, हंसना और हमेशा सकारात्मक चीजों पर ध्यान देना।

आपको बता दें, इस साल डेंटल कॉलेज में देशभर के अलग-अलग कॉलेज में बीडीएस कर के आए छात्रों ने मानव रचना को चुना है। इस साल भी सभी सीट्स फुल रही। ओरिएंटेशन प्रोग्राम में एमआरडीसी के वाइस प्रिंसिपल डॉ. आशिम अग्रवाल, डॉ. श्रीधर कानन, डॉ. मनीष भार्गव, डॉ. पूजा पनवलकर समेत कई फैकल्टी मेंबर्स और छात्र शामिल रहे।


Monday, 6 May 2019

सीबीएसई 10वीं के परिणामों में छाए मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल के छात्र

सीबीएसई 10वीं के परिणामों में छाए मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल के छात्र

फरीदाबाद, 6 मई:  मानव रचना इंटरनेशनल स्कूलों का 10वीं का सौ प्रतिशत रिजल्ट रहा। सेक्टर-14 और चार्मवुड स्थित स्कूलों के छात्रों ने बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए स्कूल का नाम रोशन किया है। चार्मवुड स्कूल में पढ़ने वाली  इशिका 99 प्रतिशत, जबकि सेक्टर-14 के गौरव बंसल और वाणी गुलाटी  ने 98.4 प्रतिशत अंक लाकर स्कूल टॉप किया।

 चार्मवुड स्कूल के सिद्धांत अरोड़ा, लावान्या मिश्रा, सय्यद और अराधना जुनेजा ने गणित में 100 अंक, किमी गोयल, इशिका अरोड़ा, प्रियल कपूर ने साइंस के साथ-साथ सोशल साइंस में भी 100 अंक हासिल किए इसी के साथ मुस्कान कुमार और कृति ढाका भी सोशल साइंस में 100 अंक लाने में कामयाब हुई। फ्रेंच में भी किमी और इशिका 100 अंक लाने में कामयाब हुई। वहीं कंप्यूटर एप्लिकेशन में इशिका अरोड़ा, प्रियल कपूर, मुस्कान कुमार, क्षितिज कौशिक, सुहैला भरारा, जसवंथ, संजना सूद, दीप्ति माहतोलिया, सिद्धांत अरोड़ा, आदित्य चोपड़ा, अनुभव गुप्ता 100 अंक लेकर आए।

सेक्टर-14 स्कूल के गौरव बंसल, मौली गुप्ता, प्रियांशु मित्तल, रुशिल खुल्लर, वाणी गुलाटी, सवलीन कौर, पार्थ गर्ग गणित में 100 अंक, संस्कृत में अखिल सेहगल और आरुषि सेठी 100 अंक, सोशल साइंस में मांसी सोमानी 100 अंक और फाउंडेशन ऑफ इन्फॉर्मेशन टेक्नॉलोजी में वंशुल कुमार और नवनीत सिंह 100 अंक लाने में कामयाब हुए।

सेक्टर-14 स्कूल की डायरेक्टर प्रिंसिपल ममता वाधवा और चार्मवुड स्कूल की प्रिंसिपल अर्पिता चक्रवर्ती ने सभी छात्रों को बधाई दी। 


कक्षा दसवीं के परिणाम में भी आयशर विद्यालय  शत-प्रतिशत परिणाम देकर चमका

कक्षा दसवीं के परिणाम में भी आयशर विद्यालय शत-प्रतिशत परिणाम देकर चमका

फरीदाबाद : 6 मई I आयशर विद्यालय के विद्यार्थियों ने एक बार फिर साबित कर दिया कि इरादे अगर मजबूत हो और मेहनत इमानदारी से की जाए तो सफलता हमेशा साथ देती हैं। सत्र 2018 _19 में सी.बी.एस.ई. कक्षा दसवीं में परिणाम शत प्रतिशत रहा ।परीक्षा देने वाले विद्यार्थियों की कुल संख्या 106 थी। सिम्मी अग्रवाल ने ९७.८ %लेकर विद्यालय में प्रथम स्थान प्राप्त किया तथा खुशी गोयल ने 97.6%लेकर द्वितीय स्थान प्राप्त किया। विद्यालय की प्राचार्या सुश्री रितु कोहली ने सभी बच्चों , अभिभावकों एवं शिक्षकों को बधाई दी व बच्चों के उज्जवल भविष्य की कामना की।विषय टापर्स इस प्रकार रहे_
रतन कान्वेंट स्कूल का क्षेत्र में रहा सर्वश्रेष्ठ परिणाम

रतन कान्वेंट स्कूल का क्षेत्र में रहा सर्वश्रेष्ठ परिणाम

फरीदाबाद : 6 मई I  रतन कान्वेंट स्कूल का दशवी का परीक्षा परिणाम 100 प्रतिशत रहा । 96% के साथ तिरुपति बालाजी ने स्कूल में प्रथम स्थान प्राप्त किया । विषयानुसार दीक्षा ने गणित में 98 , हिमांशी ने हिंदी में 98 , तिरुपति बालाजी ने अंग्रेजी में 97 , विज्ञान में अमन सिंह ने 95 , सामाजिक विज्ञान में सरिता रावत ,  भावना मालिक और तिरुपति बालाजी ने 95-95 तथा हिमांशी ने I.T. मे 94 अधिकतम अंक प्राप्त किये । 

इस मौके पर चेयरमैन यशवीर डागर और प्रधानाचार्य मनोज कुमार जी ने बच्चो को बेहतर परिणाम के लिए शुभ कामनाएँ दी और उनके उज्जवल भविष्य के लिए कामना की । 

Thursday, 2 May 2019

मानव रचना इंटरनेशनल स्कूलों का 100 प्रतिशत रहा रिजल्ट

मानव रचना इंटरनेशनल स्कूलों का 100 प्रतिशत रहा रिजल्ट

फरीदाबाद, 2 मई: इस साल भी मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल का 100 प्रतिशत रिजल्ट रहा। फरीदाबाद के सेक्टर-14 स्थित मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल की डायरेक्टर प्रिंसिपल ममता वाधवा और चार्मवुड स्थित स्कूल की प्रिंसिपल अर्पिता चक्रवर्ती ने छात्रों के उज्जवल भविष्य की कामना की और सभी छात्रों को बधाई दी।

सेक्टर-14 स्थित मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल की छात्रा मुस्कान ने ह्यूमैनिटीज में (बेस्ट ऑफ फोर) 99 प्रतिशत हासिल कर टॉप किया, आस्था गौर ने कॉमर्स स्ट्रीम (बेस्ट ऑफ फोर)  में 97.75% जबकि तान्या सूद और कुशाग्र महाजन ने साइंस स्ट्रीम (बेस्ट ऑफ फोर) 94 प्रतिशत हासिल किए। मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर-14 की मुस्कान मित्तल, हर्षिता कुकरेजा, शुभ अरोड़ा, राधिका रंजन, चहक सैनन, निष्ठा सेठी, रुचिका गोयल, अकंक्षी और इशान कंसल ने इकॉनोमिक्स में 100 अंक हासिल किए। आस्था गौर ने बिजनेस स्टडीज में 100 अंक और हर्षित कुकरेजा ने सोशिओलॉजी में 100 अंक हासिल किए।

वहीं, चार्मवुड स्थित मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल से कॉमर्स के छात्र वैभव गर्ग ने 96.5% और साइंस स्ट्रीम से मेघना से 95.75% अंक लाकर बाजी मारी। 12वीं के कुल 90 छात्रों में से 66 छात्रों के 90 से ज्यादा अंक हासिल किए हैं।