Showing posts with label Faridabad News. Show all posts
Showing posts with label Faridabad News. Show all posts

Sunday, 26 May 2019

जनता ने फिर लगाई प्रधानमंत्री मोदी की नीतियों पर अपने विश्वास की मोहर : टोनी पहलवान

जनता ने फिर लगाई प्रधानमंत्री मोदी की नीतियों पर अपने विश्वास की मोहर : टोनी पहलवान

फरीदाबाद 26 मई । भारतीय जनता पार्टी के प्रत्याशी कृष्णपाल गूर्जर की रिकार्ड मतों से जीत पर आज ओल्ड फरीदाबाद सैय्यद वाडा में सैकड़ों क्षेत्रवासियों सहित गणमान्य लोगों के साथ लड्डू वितरित किये। इस मौके पर के.डी.शर्मा, पवन अरोड़ा, हरीश पाहवा, टीटू मटके वाला, धर्मवीर चौधरी, कुलदीप चौधरी, महेन्द्र सैनी, पप्पी सैनी, पिटूं सैनी, टेकचंद नन्द्राजोग टोनी पहलवान,पवन अरोडा, विक्रम मल्होत्रा, अशोक मल्होत्रा, गौरव गाबा, अनिल गुप्ता एडवोकेट, पिन्टू सैनी, पप्पी सैनी, महेश शर्मा, विजय अग्रवाल, विनोद दुआ, विकास नन्द्राजोग, गोलू दुआ,  रिकंू शर्मा सहित अन्य सैकड़ों लोगों ने इस जीत को सच्चाई व ईमानदारी की जीत बताया।

इस मौके पर समाजसेवी टेकचंद नन्द्राजोग टोनी पहलवान ने कहा कि फरीदाबाद के सांसद गूर्जर ने एक बार फिर फरीदाबाद में रिकार्ड मतो जीत हासिल कर फरीदाबाद सहित भाजपा का मान बढ़ाया है। उन्होंने कहा कि श्री गूर्जर को फरीदाबाद वासियों ने रिकार्ड मतों से विजयी इसलिए बनाया है कि गूर्जर ने समान विकास करवाकर हर वर्ग का सम्मान किया है। उन्होंने गांव हो या शहर, कालोनी हो या सेक्टर सभी जगह एक समान विकास कराया और उसी का प्रतिफल है कि आज उन्होंने रिकार्ड मतों से विजयी हासिल की है और एक रिकार्ड भी बनाया है।

टोनी पहलवान ने कहा कि हमें पूर्ण विश्वास है कि  श्री गूर्जर फरीदाबाद को उस मुकाम पर पहुंचाने का प्रयास करेंगे जिस पर फरीदाबाद का हक है पिछले कार्यकाल में भी उन्होंने फरीदाबाद को स्मार्ट सिटी का दर्जा दिलाया था जिससे फरीदाबाद वासी अपने आपको गौरवान्वित महसूस करते है।

टोनी पहलवान ने कहा कि आज फरीदाबाद वासी देश के माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी से अपील करते है कि वह श्री कृष्णपाल गूर्जर को केन्द्रीय मंत्रीमंडल में स्थान देकर फरीदाबाद का गौरव बढ़ाये।


Monday, 20 May 2019

 खजानी एनआईटी में वार्षिक प्रर्दशनी की तैयारियां जोरो पर

खजानी एनआईटी में वार्षिक प्रर्दशनी की तैयारियां जोरो पर

 फरीदाबाद 20 मई । एनआईटी स्थित खजानी वूमैनस वोकेशनल इस्ट्ीटयूट में लगने वाली वार्षिक प्रदर्शनी की तैयारियां जोरो पर है। इस प्रर्दशनी को लेकर छात्राओं में खासा उत्साह है और वे इसे यादगार बनाने के लिए पूरी मेहनत और जी जान से जुटी हुई है। छात्राएं कैम्पस की दिवारों पर रंग बिरंगी पैटिगस बना रही है और डिजाईनदार कागज के फूल लगाकर पूरे इस्टीटयूट में अलग ही छठा बिखेर रही है। सस्था के डायरेक्टर संजय चौधरी ने बताया कि हर वर्ष प्रर्दशनी का आयोजन किया जाता है 

इस वर्ष यह प्रर्दशनी 24 मई को शुरू होगी और इसका समापन 26 तारीख को होगा। उन्होनें बताया कि प्रदर्शनी लगाने का  मुख्य उददेश्य छात्राओं के अन्दर की प्रतिभा को उजागर करने के साथ साथ उनके मनोबल को भी बढ़ाना है। उन्होनें बताया कि छात्राएं अपने पूरे वर्ष की मेहनत को इस प्रर्दशनी के मध्यम से ना केवल प्रर्दशित करेंगी ब्लकि वे अपने बनाए गए उत्पादों की बिक्री भी कर सकेंगी। संजय चौधरी ने बताया कि इस प्रर्दशनी का मुख्य आर्कषण कृष्णा थीम पर आधारित मंडाला आर्ट होगा जिसमेें वृन्दावन को बहुत ही सुन्दर अंदाज में दिखाया जाएगा। इसके अलावा डिजाईनर ड्रेस,हेडमेड बेग,ज्वैलरी,सैरेमिक आर्ट,वेस्ट आईटम से बनाई गई चीजो का भी प्रर्दशन छात्राएं करेगीं। 


 मानव रचना में पाँच दिवसीय ‘ईको कनसल्ट मीट’ का आयोजन

मानव रचना में पाँच दिवसीय ‘ईको कनसल्ट मीट’ का आयोजन

फरीदाबाद, 20 मई: सेंटर फॉर एडवांस वाटर टेक्नोलॉजी एंड मैनेजमेंट (CAWTM), मानव रचना इंटरनेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ रिसर्च एंड स्टडीज एनसीएसटीसी समर्थित और डीएसटी परियोजना के तहत मानव रचना कैंपस में पांच दिवसीय इको कंसल्ट मीट का आयोजन किया जा रहा है।  इस कार्यक्रम का उद्घाटन सीएडब्ल्यूटीएम (CAWTM) के अध्यक्ष डॉ. डीके चड्ढा. मानव रचना के डीजी डॉ. एनसी वाधवा, एमआरआईआईआरएस के प्रो-वीसी डॉ. एमके सोनी की अगुवाई में हुआ।  

डॉ. डीके चड्ढा ने इस दौरान सभी रिसरचर्स से आग्रह किया कि वह  पानी के महत्व और रेन वाटर हार्वेस्टिंग की आवश्यकता के बारे में लोगों में जागरुकता फैलाएं। वहीं, डॉ. एनसी वाधवा ने पानी के संरक्षण की आवश्यकता पर जोर दिया, ताकि आने वाली पीढ़ियों को स्वच्छ पेयजल उपलब्ध हो सके।

इस कार्यक्रम में अलग-अलग संस्थाओं के लोगों ने हिस्सा लिया, जिनमें एनजीओ, डॉक्टर्स, पीजी स्टूडेंट्स और नए रिसचर्स शामिल थे। इस परियोजना का मुख्य मकसद प्रतिरूप योग्य मॉडल वाटर एंड इको हेल्थ क्लीनिक की स्थापना करना है, ताकि पानी से संबंधित स्वास्थ्य जोखिम को कम करके समुदाय के लक्षित समूहों के साथ विज्ञान संचार स्थापित किया जा सके।

यह परियोजना जल साक्षरता, पानी की गुणवत्ता में सुधार, स्वच्छता, प्रौद्योगिकी के हस्तक्षेप के माध्यम से स्वच्छता की स्थिति और मांग की ओर से पर्यावरणीय स्वास्थ्य सुधार और आपूर्ति पक्ष के जल प्रबंधन के बारे में छात्रों को शिक्षित करना चाहती है। साथ ही समाज के भीतर विज्ञान संचार को आगे बढ़ाने के लिए प्रतिभा शिकार के माध्यम से स्थायी स्थानीय नेतृत्व विकसित करने की भी परिकल्पना करती है।

Saturday, 18 May 2019

डॉ. ओपी भल्ला फाउंडेशन की ओर से लगाए जाने वाले फ्री हेल्थ कैंप संपन्न

डॉ. ओपी भल्ला फाउंडेशन की ओर से लगाए जाने वाले फ्री हेल्थ कैंप संपन्न

फरीदाबाद, 18 मई:  डॉ. ओपी भल्ला फाउंडेशन की ओर से सालाना लगाए जाने वाले हेल्थ कैंप्स संपन्न हुए। मार्च में शुरू हुए कैंप्स आज फरीदाबाद के गोठड़ा मोहब्बताबाद गांव में संपन्न हुए। आज 50 लोगों ने अपनी मुफ्त जांच करवाई।

फाउंडेशन की ओर से 10 फ्री हेल्थ कैंप लगाए गए जिनमें फरीदाबाद के अलग-अलग गांव, कालोनी और स्कूल शामिल रहे। कैंप्स में मानसिक स्वास्थ्य, पोषण और डायटेटिक्स,  दंत स्वास्थ्य, के बारे में मरीजों को जानकारी दी गई और मुफ्त में जांच भी की गई। इस बार 1500 से ज्यादा लोगों ने इसका लाभ उठाया।

आपको बता दें, तीन महीने तक चलने के बाद फिलहाल यह फ्री हेल्थ कैंप्स संपन्न हो गए हैं, लेकिन फाउंडेशन इस तरह के कैंप्स समय-समय पर आयोजित करता रहता है। 

Friday, 17 May 2019

Dr.Kasana - Expert homeopathic Doctor In Delhi

Dr.Kasana - Expert homeopathic Doctor In Delhi

डॉ.अभिषेक कसाना एम . डी  होम्योपैथी - एक प्रसिद्ध होम्योपैथ, एक प्रसिद्ध शिक्षाविद और प्रसिद्ध अंतर्राष्ट्रीय शिक्षक, होम्योपैथी में उनके बड़ेयोगदान के लिए जाने जाते हैं। 

 एलर्जी, अस्थमा, राइनाइटिस, टॉन्सिलिटिस, साइनोसाइटिस, एडेनोइड्स, गठिया, स्पॉन्डिलाइटिस, बीपीएच- प्रोस्टेट,लिचेन, मौसा, सोरायसिस, रोसैसिया, एक्ने, हर्ज़ल, एक्जिमा, मोलस्कैम, यूरेटिसारिया, यूरेट्रिकेरिया, जैसे विभिन्न विकारों के उपचार में उनकीविशेषज्ञता। , बांझपन, इरेक्टाइल डिसफंक्शन, शीघ्रपतन, अवसाद, पार्किंसंस रोग, माइग्रेन, और अंतःस्रावी विकार जैसे मधुमेह आदि से संबंधित रोगउल्लेखनीय हैं।

 उन्होंने अपने 20 वर्षों के नैदानिक अभ्यास में कई रोगियों का सफलतापूर्वक इलाज किया है और भारत में अग्रणी होम्योपैथों में से एकहै। उन्होंने विभिन्न देशों में अब तक असंख्य अंतर्राष्ट्रीय सेमिनार और कार्यशालाएं दी हैं और होम्योपैथी की गहन समझ और होम्योपैथी के आयामों से परेजाकर गहन कार्यक्रम बनाने के लिए एक संगठन की स्थापना की है।
वह होम्योपैथी और फाइंडिंग बेस्ट होम्योपैथिक मेडिसिन, क्लासिकल होम्योपैथी - होम्योपैथी में इसकी व्याख्या और व्यावहारिक अनुप्रयोग - के बारेमें अवधारणाओं और उपन्यास विचारों के लिए प्रसिद्ध है।

 मामलों को सुलझाने में उनके व्यावहारिक दृष्टिकोण ने उन्हें भारत और विदेशों में प्रशंसा औरप्रसिद्धि दिलाई है।
उनकी सफलता की कहानियों में से एक:
वह अपने मामलों को वैज्ञानिक दृष्टिकोण और बड़ी दक्षता के साथ हल करता है। यहां एक ऐसे मामले का उदाहरण दिया गया है जो उन्होंने मलेशिया मेंअंतर्राष्ट्रीय सेमिनार में प्रस्तुत किया था।
 एक पुरुष, जिसकी उम्र ५ ९ वर्ष है, वह पिछले ५ वर्षों से पतला और मधुमेह रोगी है।

 उनकी अन्य शिकायतों मेंबार-
बार पेशाब आना, सोरायसिस, पुरानी एसिडिटी, थायरॉयड, ऑस्टियोआर्थराइटिस और ब्रोंकाइटिस थे। रक्त की रिपोर्ट निम्नानुसार थी: उपवासरक्त शर्करा:
 190 मिलीग्राम / डीएल, पोस्ट प्रांडियल रक्त शर्करा: 223 मिलीग्राम / डीएल।

सज्जन एक चतुर व्यक्ति था, वह सभी के साथ पार था, किसी की बात नहीं मानता था, आहार प्रतिबंध या किसी भी अभ्यास का पालन नहीं करता था।
वह बहुत व्यंग्यात्मक और अक्सर अपमानजनक था, उसकी एक तेज जीभ थी।

 उनके व्यंग्यात्मक, तीखे व्यवहार और लक्षणों की अन्य समग्रता केआधार पर, उन्हें एसिड फॉस 0/1 निर्धारित किया गया था और 2-
3 साल की अवधि में इस मामले में सोरायसिस, थायराइड, रक्त रिपोर्ट सहित सभीस्तरों पर सुधार देखा गया था।

कृपया ध्यान दें कि होम्योपैथी दवा पूरी तरह से एक विशेषज्ञ डॉक्टर द्वारा लेने और विश्लेषण के बाद निर्धारित की जाती है। स्व दवा उचित नहीं है औरहानिकारक साबित हो सकती है।

डॉ कसाना एक बेहद सफल होम्योपैथ और होम्योपैथी की उन्नति के लिए एक महान योगदानकर्ता हैं। वह ऑरा होमियोपैथी इंडिया में एक विशेषज्ञपैनल डॉक्टर हैं, जो एक ऑनलाइन होम्योपैथिक स्वास्थ्य पोर्टल है जो लोगों की सेवा करने और उन्हें होम्योपैथी के साथ उनकी बीमारियों से राहतदिलाने का काम करता है।

 ऑरा होम्योपैथी इंडिया में सर्वश्रेष्ठ होम्योपैथिक डॉक्टरों का एक पैनल है जो अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रशंसित हैं और उनकेकई वर्षों के सफल नैदानिक अनुभव हैं।

डॉ.अभिषेक कसाना एम. डी  होमियोपैथी) और ऐसे कई विशेषज्ञ होम्योपैथ्स ऑफ़ इंटरनैशनल रीप्यूट से परामर्श करने के लिए हमें 9873537001पर कॉल करे या Homeopathic Doctor In Delhi पर लॉग इन करे I 


Thursday, 16 May 2019

हरियाणा रणजी कोच विजय यादव बने इंडिया ए टीम के फील्डिंग कोच

हरियाणा रणजी कोच विजय यादव बने इंडिया ए टीम के फील्डिंग कोच

फरीदबाद 16 मई :   बीसीसीआई ने हरियाणा रणजी कोच विजय यादव को इंडिया ए टीम का कोच नियुक्त किया गया  है श्रीलंका ए के खिलाफ 5 एक दिवसीय मैचों के लिए पूर्व भारतीय खिलाडी विजय यादव को  फील्डिंग कोच नियुक्त किया गया है। पूर्व भारतीय क्रिकेटर विजय यादव पहले ऐसे कोच हैं। और पिछले साल भी इंडिया अंडर 23 के फील्डिंग कोचिंग थे और इस बार भी कोच है , और विजय यादव को भारतीय टीम में जगह बनाने के लिए तैयार उभरते हुए क्रिकेटरों को संवारने की जिम्मेदारी सौंपी गई। इसके तहत ही पहले इंडिया ए टीम के विदेशी दौरे पर उनको विकेटकीपिंग-फिल्डिंग कोच के रूप में जा चुके है ।  और भारतीय इंडिया अंडर 19 टीम के कोच भी थे और पिछले साल भी अंडर 19 इंडिया टीम के साथ भी श्रीलंका के लिए टीम के साथ थे I

श्रीलंका ए टीम भारत दौरे पर आ रही है और इंडिया ए के साथ 25 मई से 15 जून तक दो टेस्ट मैच और 5 एकदिवस मैच खेले गई 


श्री विजय यादव 
हरियाणा रणजी प्रमुख कोच 
इंडिया ए टीम के फ़ील्डिंग कोच 
इंडिया 23 टीम कैंप के  फ़ील्डिंग कोच
इंडिया अंडर 19 टीम के  फ़ील्डिंग कोच


उनके साथ सीतांशु कोटक, नरेंद्र हिरवानी भी जिम्मेदारी निभाएंगे


जिला क्रिकेट एसोसिएशन एक्जुक्यूटिव प्रेजीडेंट रजत भाटिया ने उनकी इस नई जिम्मेदारी पर बधाई दी है। साथ ही विजय यादव ने अपनी इस उपलब्धि के लिए एचसीए का धन्यवाद किया है। यह सीरीज भारत मैं होगी और 25 मई से 15 जून तक चलेगी । जिसमें इंडिया ए टीम  टेस्ट मैच और वनडे मैच श्रीलंका ए  टीम के साथ खेले जाएंगे।

गौरतलब है कि पूर्व भारतीय क्रिकेटर विजय यादव पहले ऐसे कोच हैं। जोकि टीम के साथ जुड कर किसी दौरे पर जा रहे हैं। लेकिन विजय यादव को भारतीय टीम में जगह बनाने के लिए तैयार उभरते हुए क्रिकेटरों को संवारने की जिम्मेदारी सौंपी गई। इसके तहत ही पहले इंडिया ए टीम के विदेशी दौरे पर उनको विकेटकीपिंग-फिल्डिंग कोच के रूप में जा चुके है । विजय यादव का कहना है कि वह टीम के साथ जा रहे हैं। उन्हें पूरी उम्मीद है कि यह टीम श्रीलंका में बेहतर प्रदर्शन करेगी। बता दें कि 52 वर्ष के विजय यादव लेवल-सी कोच है। उन्होने 1992-93 में साउथ अफ्रीका के खिलाफ पहला वनडे और जिम्बाबे के खिलाफ एक मात्र टेस्ट खेला। यादव ने 19 वनडे में नाबाद 34 रन सर्वाधिक रकोर के साथ 118 रन बनाए और 12 कैच व 7 स्टंप अपने नाम किए। जबकि एकमात्र टेस्ट में 30 रन उनका सर्वाधिक रहा। फर्स्ट क्लास क्रिकेट में यादव ने 89 मैच में 201सर्वाधिक स्कोर के साथ 3988 रन बनाए है। 237 कैच व 46  स्टंप इसमें शामिल हैं। लिस्ट ए में 67 मैच 85 हाई स्कोर के साथ  748 रन, 92 कैच व33 स्टंप का उनका रिकार्ड है। उनके इंटरनेशनल करियर और हरियाणा में लंबे कोचिंग अनुभव को देख कर ही उन्हें बीते वर्ष हरियाणा रणजी टीम को संवारने की जिम्मेदारी हरियाणा क्रिकेट एसोसिएशन ने सौंपी थीं। इंटरनेशनल क्रिकेटर मोहित शर्मा और आईपीएल क्रिकेटर राहुल तेवतिया उनके ही शिष्य हैं। और उनके प्रशिक्षण में ही हरियाणा रणजी टीम का बीते सत्र में प्रदर्शन बेहतर रहा।

Tuesday, 14 May 2019

Homeopathic Doctor In Faridabad For Hairloss Alopecia Areata : Dr. Abhishek Kasana

Homeopathic Doctor In Faridabad For Hairloss Alopecia Areata : Dr. Abhishek Kasana


Homeopathic Doctor In Faridabad For Hairloss Alopecia Areata

डॉ.अभिषेक कसाना M.D होम्योपैथी (Homeopathic Doctor In Faridabad)

एलोपेशिया आरैटा सलाह देता है: -एएस डॉ। अभिषेक के अनुसार, होम्योपैथिक उपचार के लिए सख्त व्यक्तिगतकरण की आवश्यकता होती है। अपने होम्योपैथिक डॉक्टर की सलाह के बिना कोई दवा न लें।

एलोपेशिया एरियाटा हेयर लोस
  • कारण,
  • लक्षण,
  • उपचार,
  • होम्योपैथी दवा और
  • खालित्य areata के होम्योपैथिक उपचार।
एलोपेशिया एरेटा को गंजे क्षेत्रों को बनाने वाले गोल पैच में अचानक बालों के झड़ने की विशेषता है। यह एक अत्यधिक अप्रत्याशित त्वचा रोग है जो खोपड़ी और शरीर के अन्य हिस्सों पर हो सकता है।

अन्य ऑटोइम्यून विकारों के साथ कुछ समानताओं के कारण, यह सुझाव दिया जाता है कि एलोपेसिया अरीता एक ऑटोइम्यून बीमारी है। बालों का झड़ना आमतौर पर खोपड़ी पर गंजापन के एक या अधिक छोटे, गोल, चिकने पैच से शुरू होता है जो खोपड़ी पर कुल बालों के झड़ने में प्रगति कर सकता है।

एलोपेशिया आरैटा का विभेदक निदान
  • तिन्या कैपिटास
  • कर्षण द्वारा खालित्य
  • खालित्य जन्मजात
  • एनाफिलेक्टिक द्वारा प्रेरित रासायनिक ट्राइकोटिलोमेनिया
  • इफ्लुवियम एलोपेसिया
  • Trichodystrophies
  • ल्यूपस एरिथेमेटोसस
  • Pseudopelade
  • काई
  • planopilaris
  • बुलर स्क्लेरोडर्मा
  • पेम्फिगॉइड
  • उपदंश
  • फॉलिकुलिटिस अलोपेसिया
  • नियोप्लास्टिक कूपिक श्लेष्मा
एलोपेसिया अरेटा जेनेटिक ग्रैनुलोमैटस विकारों की पूर्वसूचना एटियलजि - परिवार के इतिहास में ऑटोइम्यून रोग के साथ सहयोग की संभावना बढ़ जाती है - (थायराइड रोग, एडिसन रोग, विटिलिगो) एक ऑटोइम्यून उत्पत्ति का सुझाव देता है; एनाजोन हेयर फॉलिकल में और उसके आसपास लिम्फोसाइटिक घुसपैठ की उपस्थिति अतिरिक्त प्रमाण है। एलोपेसिया अरीटा अन्य ऑटोइम्यून बीमारियों से अलग है, जिसके परिणामस्वरूप लक्ष्य अंग के कार्य का पूर्ण नुकसान नहीं होता है, लेकिन बाल कूप की गतिविधि के एक अस्थायी परिवर्तन में, जो सामान्य में वापस आ सकता है। इससे पता चलता है कि लक्ष्य वृद्धि कारक या उसके रिसेप्टर को नियंत्रित कर सकता है।

कारण

सूक्ष्मजीव, तंत्रिकाजन्य उत्तेजना, भावनात्मक तनाव और खराब मैथुन कौशल की पहचान संभावित कारणों या ट्रिगर के रूप में की गई है।

एलोपेशिया आरैटा क्लिनिकल प्रेजेंटेशन के लक्षण और लक्षण बालों के झड़ने के छोटे-छोटे गोल पैच से लेकर क्रॉनिक लॉस तक भिन्न होते हैं, स्कैल्प, भौंहों, पलकों, नाक, दाढ़ी और शरीर के बालों की कुल नॉनसर्किंग, स्पॉन्टेनियस रिमिशन देख सकते हैं।

खालित्य Areata मनोवैज्ञानिक रूप से दर्दनाक हो सकता है। एक अज्ञात ट्रिगर के कारण हेयर फॉलिकल एनाजेन, डायस्ट्रोफिक एनाजेन हेयर, कैटजेन या हेयर टेलोजेन चरण बदलते हैं।

नाखून का डंक लग सकता है। अन्य ऑटोइम्यून बीमारियों जैसे कि हाशिमोटो के थायरॉयडिटिस और विटिलिगो के साथ संबंध की एक उच्च घटना बताई गई है।

खालित्य आर्यता के मामले में अनुसंधान विस्तृत इतिहास और शारीरिक परीक्षण नैदानिक उद्देश्यों के लिए महत्वपूर्ण उपकरण हैं; अंग विशिष्ट एंटीबॉडी का प्रदर्शन किया जा सकता है। किसी अन्य विकार को बाहर करने के लिए स्कैल्प बायोप्सी उपयोगी हो सकती है।

एलोपेशिया आरैटा का उपचार इस स्थिति के लिए उपचार के विकल्पों की एक किस्म उपलब्ध है, यदि छोटे बालों के झड़ने की पहचान पैच, यह बेहतर है कि प्रतीक्षा करें और बालों को अपने आप वापस बढ़ने दें। अन्य उपचार विकल्पों में मुख्य रूप से शामिल हैं: मजबूत सामयिक स्टेरॉयड के आवेदन, एक स्टेरॉयड का इंजेक्शन, मिनोक्सिडिल का उपयोग बालों के विकास को बढ़ावा देने के लिए किया गया है और कुछ मामलों में स्वभाव परिणाम दिखाया गया है।

बालों के विकास को प्रोत्साहित करने के लिए, बालों के झड़ने की साइट पर एक संपर्क जिल्द की सूजन, या जलन पैदा करने के लिए एक अन्य प्रकार का उपचार तैयार किया गया है। इन मामलों में रिलैप्स के साथ फोटो कीमोथेरेपी भी टेंपररी परिणाम दे सकती है।

अलोपेसिया अरेटा का आभा होम्योपैथिक उपचार: - होम्योपैथी चिकित्सा की सबसे लोकप्रिय समग्र प्रणालियों में से एक है। डॉ.अभिषेक कसाना एम। डी। आभा होम्योपैथी के अनुसार, होम्योपैथी एलोपेसिया अरीटा और अन्य ऑटिइम्यून रोगों के लिए सर्वश्रेष्ठ उपचार प्रदान करती है। एलोपेशिया आरैटा के लिए सर्वश्रेष्ठ होम्योपैथिक दवा का चयन एक समग्र दृष्टिकोण के उपयोग के माध्यम से वैयक्तिकरण के सिद्धांत और लक्षणों की समानता पर आधारित है। यह एकमात्र तरीका है जिसके माध्यम से आप उन सभी संकेतों और लक्षणों को दूर कर सकते हैं जो रोगी पूर्ण स्वास्थ्य की स्थिति से पीड़ित हैं। होम्योपैथी का लक्ष्य न केवल एलोपेसिया आरिएटा के उपचार के लिए है, बल्कि इसके अंतर्निहित कारण और व्यक्तिगत संवेदनशीलता को संबोधित करना है। उपचारात्मक दवाओं के संबंध में, खालित्य areata के उपचार के लिए कई उपचार उपलब्ध हैं जिन्हें दावों के कारण, संवेदनाओं और तौर-तरीकों के आधार पर चुना जा सकता है। व्यक्तिगत उपाय और उपचार के चयन के लिए, रोगी को अपने पास के सर्वश्रेष्ठ होम्योपैथिक चिकित्सक से परामर्श करना चाहिए, या साइबर क्लिनिक की नियुक्ति का विकल्प चुनना चाहिए।


Alopecia areata के लिए कुछ सर्वश्रेष्ठ होम्योपैथिक दवा:

  • फेरम फॉस - एनीमिया के कारण सिर से बालों का झड़ना
  • एसिडम का आटा - बुजुर्गों की खालित्य या समय से पहले उम्र के साथ उपदंश, पैच में बालों का झड़ना, टाइफाइड बुखार के कारण बालों का गिरना
  • सीपिया - गर्भावस्था के दौरान बालों का झड़ना, दाद जैसे क्षेत्रों में, रूसी खोपड़ी की गंधक सल्फर - स्तनपान कराने वाली महिलाओं में बाल गिरते हैं, जब अच्छी तरह से चयनित दवाएं राहत देने में विफल रहती हैं।
  • सेलेनियम मिले - सिर, भौहें, पलकें और शरीर के अन्य हिस्से से बालों का झड़ना
  • नैट्रम म्यूर - बच्चे के जन्म के बाद बालों का झड़ना, एक बच्चे को उसके नर्सिंग से, पुराने सिरदर्द के बाद बालों का झड़ना
  • Mancinella - एक गंभीर तीव्र बीमारी के बाद बालों का झड़ना 
  • Vinca मामूली - बालों का झड़ना, मजबूत और अच्छी तरह से परिभाषित, परिचालित पैच जो नरम खोपड़ी को छोड़ देते हैं और सफेद या भूरे बाल सफेद ऊन जैसे गंजे क्षेत्रों में बढ़ सकते हैं।
  • फोस एसिड - एलोपेशिया आरैटा के लिए उल्लेखनीय उपाय, बालों का झड़ना एक गंभीर बीमारी के बाद गिरता है, बाल झड़ते हैं, भौंहें और पलकें गिरती हैं
  • लच्छी दाढ़ी के बाल झड़ते हैं - बाल झड़ते हैं
  • कार्बो वेग - गर्भावस्था के दौरान बाल गिरना

हमारे अन्य लेख बताते हैं कि होम्योपैथी के साथ इसका इलाज कैसे किया जाता है और एलोपेसिया अरीता के लिए सर्वश्रेष्ठ संकेतित होम्योपैथिक उपचार नीचे दिए गए हैं।


आभा होम्योपैथिक मेडिकल फाउंडेशन, फरीदाबाद, दिल्ली- NCR, भारत 31 अप्रैल 2018 और 17 अगस्त, 2018

© होम्योपैथिक मेडिकल फाउंडेशन ऑरा। सर्वाधिकार सुरक्षित।

ई-मेल: aurahomoeopathy@gmail.com

एलोपेशिया आरैटा सलाह देता है: -एएस डॉ। अभिषेक के अनुसार, होम्योपैथिक उपचार के लिए सख्त व्यक्तिगतकरण की आवश्यकता होती है। अपने होम्योपैथिक डॉक्टर की सलाह के बिना कोई दवा न लें।

मानव रचना डेंटल कॉलेज ने पीजी छात्रों का स्वागत किया

मानव रचना डेंटल कॉलेज ने पीजी छात्रों का स्वागत किया

फरीदाबाद, 15 मई: मानव रचना डेंटल कॉलेज में एमडीएस 2019-22 सत्र के छात्रों का स्वागत किया गया। ओरिएंटेशन प्रोग्राम की शुरुआत हवन के साथ की गई। इस दौरान मानव रचना के डीजी डॉ. एनसी वाधवा भी मौजूद रहे। ओरिएंटेशन प्रोग्राम के तहत छात्र एक दूसरे से रूबरू हुए। इस दौरान छात्रों को मानव रचना शैक्षणिक संस्थान के बारे में जानकारी दी गई। मानव रचना डेंटल कॉलेज के प्रिंसिपल डॉ. अरुणदीप सिंह ने सभी छात्रों का कॉलेज में स्वागत किया। उन्होंने उम्मीद जताई आने वाले तीन साल छात्रों को लिए उनके करियर के लिए बेहतरीन साबित होंगे। उन्होंने सभी छात्रों को सलाह दी कि इलाज के लिए आने वाले मरीजों की पूरी मदद करें और जितनी जल्दी हो उन्हें इलाज मुहैया करवाएं।

कार्यक्रम में मानव रचना शैक्षणिक संस्थान के एमडी डॉ. संजय श्रीवास्तव भी मौजूद रहे। उन्होंने कहा, यह आने वाले तीन साल उनकी जिंदगी के आगे की दिशा तय करेंगे, इसलिए अपनी गलतियों से सीखने की कोशिश करें।  उन्होंने छात्रों को तीन टिप्स दिए- सीखना, हंसना और हमेशा सकारात्मक चीजों पर ध्यान देना।

आपको बता दें, इस साल डेंटल कॉलेज में देशभर के अलग-अलग कॉलेज में बीडीएस कर के आए छात्रों ने मानव रचना को चुना है। इस साल भी सभी सीट्स फुल रही। ओरिएंटेशन प्रोग्राम में एमआरडीसी के वाइस प्रिंसिपल डॉ. आशिम अग्रवाल, डॉ. श्रीधर कानन, डॉ. मनीष भार्गव, डॉ. पूजा पनवलकर समेत कई फैकल्टी मेंबर्स और छात्र शामिल रहे।


Sunday, 12 May 2019

धन तेजस चन्द्रागुप्त मौर्या में राजा पोरस के बेटे राजकुमार मालायेकतु  के किरदार में

धन तेजस चन्द्रागुप्त मौर्या में राजा पोरस के बेटे राजकुमार मालायेकतु के किरदार में

फरीदाबाद : 12 मई I फरीदाबाद का 6 साल का धन तेजस नाम कर रहा है रोशन . नज़र आ रहा है सोनी टी वी के धार्वाहिक  चन्द्रागुप्त मौर्या में राजा पोरस के बेटे राजकुमार मालायेकतु  के किर्दार में . धन तेजस ने अपने टालेंन्ट के दम पर बोहुत से awards जीते हैं . उनकी मा का कहना हैं की 2.5 साल की ऊमर से ही तेजस ने मारशिएल आरटस सिखना शुरू किया ओर कम समय में  ही   बोहुत से गोलड मेडल जीत लिए| उसके बाद उसने बोहुत से fashion shows जीते  | 

Mr. Kid Glimmer and Gloss 2018 बना , ओर फिर  बोहुत सी मुविएस मै काम किया | ज़िन्दगी ज़िरो कीलोमीटर , shakalaka boom boom, gunehgaar, Rangberang आदी फिलमो मै काम कीया . डांस, मुयूसिक , खेलो मे रूची है| कई परोडक्टस की मोडलिग  कि है छोटे  से घनतेजस ने| 10  मेय से दिखाई देरहा है सोनी पर सबसे बडे शो चन्द्रागुप्त मौर्या मे| india fashion विक, हम है सुपरस्टार आदी बडे पलैटफार्म मै धनतेजस को देखा गयाहै|

Thursday, 9 May 2019

मानव रचना में ओपन शूटिंग चैंपियनशिप-2019 का आयोजन

मानव रचना में ओपन शूटिंग चैंपियनशिप-2019 का आयोजन

फरीदाबाद, 10 मई: मानव रचना में ओपन शूटिंग चैंपियनशिप का आयोजन किया गया। इस दौरान देशभर से 400 से ज्यादा शूटर्स ने हिस्सा लिया, जिनमें मनु भाकर, अनीश भनवाला, शहजार रिज्वी, यशवर्धन और दिव्यांश सिंह परमार भी शामिल थे। इस मौके पर मानव रचना शूटिंग अकादमी में पिस्टल शूटिंग के लिए रौनक पंडित शूटिंग अकादमी के एक्सीलेंस सेंटर की भी घोषणा की गई। अब यहां आने वाले खिलाड़ी रौनक पंडित और हिना सिद्धू से शूटिंग के गुर सीख पाएंगे। रौनक ने 2006 कॉमनवेल्थ गेम्स में गोल्ड मेडल हासिल किया था और हिना आईएसएसएफ वर्ल्ड कप में मेडल ला चुकी हैं।  

मानव रचना ओपन शूटिंह चैंपियनशिप-2019 का खिताब 10 मीटर एयर पिस्टल के खिलाड़ी 14 साल के सम्राट राणा और 10 मीटर एयर राइफल की खिलाड़ी 21 की आशी रस्तोगी के नाम रहा। इस दौरान भारतीय शूटर हिना सिद्धू, रौनक पंडित, रौंजन सोढी और मानव रचना उपाध्यक्ष डॉ. अमित भल्ला ने क्विड कार की चाबी देकर सम्मानित किया।

कार्यक्रम के दौरान मानव रचना शैक्षणिक संस्थान के उपाध्यक्ष डॉ. अमित भल्ला ने कहा, उन्हें पूरा भरोसा है कि आने वाले दिनों में ओलंपिक मेडल लाने में मानव रचना का बड़ा योगदान होगा।

Monday, 6 May 2019

सीबीएसई 10वीं के परिणामों में छाए मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल के छात्र

सीबीएसई 10वीं के परिणामों में छाए मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल के छात्र

फरीदाबाद, 6 मई:  मानव रचना इंटरनेशनल स्कूलों का 10वीं का सौ प्रतिशत रिजल्ट रहा। सेक्टर-14 और चार्मवुड स्थित स्कूलों के छात्रों ने बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए स्कूल का नाम रोशन किया है। चार्मवुड स्कूल में पढ़ने वाली  इशिका 99 प्रतिशत, जबकि सेक्टर-14 के गौरव बंसल और वाणी गुलाटी  ने 98.4 प्रतिशत अंक लाकर स्कूल टॉप किया।

 चार्मवुड स्कूल के सिद्धांत अरोड़ा, लावान्या मिश्रा, सय्यद और अराधना जुनेजा ने गणित में 100 अंक, किमी गोयल, इशिका अरोड़ा, प्रियल कपूर ने साइंस के साथ-साथ सोशल साइंस में भी 100 अंक हासिल किए इसी के साथ मुस्कान कुमार और कृति ढाका भी सोशल साइंस में 100 अंक लाने में कामयाब हुई। फ्रेंच में भी किमी और इशिका 100 अंक लाने में कामयाब हुई। वहीं कंप्यूटर एप्लिकेशन में इशिका अरोड़ा, प्रियल कपूर, मुस्कान कुमार, क्षितिज कौशिक, सुहैला भरारा, जसवंथ, संजना सूद, दीप्ति माहतोलिया, सिद्धांत अरोड़ा, आदित्य चोपड़ा, अनुभव गुप्ता 100 अंक लेकर आए।

सेक्टर-14 स्कूल के गौरव बंसल, मौली गुप्ता, प्रियांशु मित्तल, रुशिल खुल्लर, वाणी गुलाटी, सवलीन कौर, पार्थ गर्ग गणित में 100 अंक, संस्कृत में अखिल सेहगल और आरुषि सेठी 100 अंक, सोशल साइंस में मांसी सोमानी 100 अंक और फाउंडेशन ऑफ इन्फॉर्मेशन टेक्नॉलोजी में वंशुल कुमार और नवनीत सिंह 100 अंक लाने में कामयाब हुए।

सेक्टर-14 स्कूल की डायरेक्टर प्रिंसिपल ममता वाधवा और चार्मवुड स्कूल की प्रिंसिपल अर्पिता चक्रवर्ती ने सभी छात्रों को बधाई दी। 


अंडर-23 इंडिया कैंप के लिए हरियाणा रणजी कोच विजय यादव का चयन

अंडर-23 इंडिया कैंप के लिए हरियाणा रणजी कोच विजय यादव का चयन

फरीदाबाद : 6 मई । हरियाणा रणजी कोच विजय यादव का चयन अंडर-23 इंडिया कैंप के लिए किया गया  है। वह 7 मई से  6 जून  तक इस कैंप में इंडिया अंडर-23 आयुवर्ग के क्रिकेटरों को प्रशिक्षित करेंगे।  खिलाडियों को फील्डिंग की बारीकियां सिखाएंगे गौरतलब है कि पूर्व भारतीय क्रिकेटर विजय यादव पहले ऐसे कोच हैं। और पिछले साल भी इंडिया अंडर 23 के फील्डिंग कोच थे ,  लेकिन विजय यादव को भारतीय टीम में जगह बनाने के लिए तैयार उभरते हुए क्रिकेटरों को संवारने की जिम्मेदारी सौंपी गई। इसके तहत ही पहले इंडिया ए टीम के विदेशी दौरे पर उनको विकेटकीपिंग-फिल्डिंग कोच के रूप में जा चुके है । 

उनके साथ बेटिंग कोच भास्कर पिल्ले , स्पिनर कोच कँवल जीत सिंह , तेज गेंदबाज कोच सनथ कुमार भी इस कैंप की जिम्मेदारी निभाएंगे। यह कैंप बैंगलूरू स्थित एनसीए (नेशनल क्रिकेट अकादमी) में आयोजित किया जा रहा है। जिला क्रिकेट  एसोसिएशन के एक्जुक्यूटिव प्रेजीडेंट रजत भाटिया ने उनकी इस नई जिम्मेदारी पर बधाई दी है।  

इस मोके पर जिला क्रिकेट  एसोसिएशन के महासचिव  राजीव यादव , के पी तेवतिया , रविंदर मक्कड़ , प्रदीप मोहंती , गोविन्द गुप्ता , परवीन थापर , नवीन कौशिक , बी सी सी आई लेवल ए कोच अनिकेत , कोच सुनील चौधरी , राय साहब भी उपस्थित थे 

विजय यादव के पास भारतीय टीम में जगह बनाने के लिए तैयार उभरते हुए क्रिकेटरों को संवारने की जिम्मेदारी इस कैंप में रहेगी। विजय यादव का कहना है कि वह इस कैंप में विकेटकीपिंग व क्षेत्ररक्षण की जिम्मेदारी संभालेंगे। इसके अलावा उनके साथ के बाकी काेचों का भी अहम रोल इसमें रहेगा। बता दें कि  49 वर्ष के विजय यादव लेवल-3 के कोच है। उन्होने 1992-93 में साउथ अफ्रीका के खिलाफ पहला वनडे और जिम्बाबे के खिलाफ एक मात्र टेस्ट खेला। यादव ने 19 वनडे में नाबाद 34 रन सर्वाधिक रकोर के साथ 118 रन बनाए और 12 कैच व 7 स्टंप अपने नाम किए। जबकि एकमात्र टेस्ट में 30 रन उनका सर्वाधिक रहा।

फर्स्ट क्लास क्रिकेट में यादव ने 89 मैच में 201 सर्वाधिक स्कोर के साथ 3988 रन बनाए है। 237 कैच व 46  स्टंप इसमें शामिल हैं। लिस्ट ए में 67 मैच 85 हाई स्कोर के साथ  748 रन, 92 कैच व 33 स्टंप का उनका रिकार्ड है।

 उनके इंटरनेशनल करियर और लंबे कोचिंग अनुभव को देख कर ही उन्हें बीते वर्ष हरियाणा रणजी टीम को संवारने की जिम्मेदारी हरियाणा क्रिकेट एसोसिएशन ने सौंपी थीं। इंटरनेशनल क्रिकेटर मोहित शर्मा और आईपीएल क्रिकेटर राहुल तेवतिया भी उनके ही शिष्य हैं। हरियाणा टीम के बेहतर प्रदर्शन को देखते हुए ही उन्हें अब अंडर-23 इंडिया कैंप के लिए चयनित किया गया है।
द क्रिकेट गुरूकुल नई अकादमी की शुरुआत

द क्रिकेट गुरूकुल नई अकादमी की शुरुआत

फरीदाबाद : 6 मई I  सूरजकुंड रोड़ सिथत डिलाइट गार्डन के साथ शनिवार को द क्रिकेट गुरुकुल की नई अकादमी की शुरुआत की गई। अकादमी का शुभारंभ जिला क्रिकेट एसोसिएशन एग्जीक्यूटिव प्रेजिडेंट रजत भाटिया ओर हरियाणा रणजी टीम के प्रमुख कोच विजय यादव ने किया। इस दौरान जिला क्रिकेट एसोसिएशन के महासचिव राजीव यादव सहित अन्य सदस्य मौजूद रहे।

बी सी सी आई लेवल ए कोच और द क्रिकेट गुरुकुल के हेड कोच अनिकेत  ने अकादमी के शुभारंभ पर आए सभी अतिथियों का स्वागत किया। 

द  क्रिकेट गुरुकुल अकादमी का शुभारंभ करते हुए जिला क्रिकेट एसोसिएशन एग्जीक्यूटिव प्रेजिडेंट रजत भाटिया  ने कहा कि फरीदाबाद के युवा क्रिकेटर काफी प्रतिभाशाली है। बस उनको सही दिशा देने की जरूरत है। द क्रिकेट गुरुकुल की खुली नई अकादमी में युवा क्रिकेटरों को निखाकर सही प्लेटफार्म देने का प्रयास किया जाएगा। वहीं विजय यादव ने बताया कि एक अच्छा क्रिकेटर कभी भी सीखना नहीं छोड़ता। वह लगातार अपनी कमियों में सुधार करता है। उन्होंने कहा कि प्रतिस्पर्धा के दौर में अधिक मेहनत करने की जरूरत है। लेकिन इसके लिए कभी भी तनावग्रस्त नहीं होना चाहिए।

द क्रिकेट गुरुकुल अकादमी से आठ रणजी खिलाडी और अंडर 23 , 19 ,16 , 14 स्टेट खिलाडी खेल रहे है भारतीय तेज गेंदबाज आईपीएल चेन्नई सुपर किंग की टीम से मोहित शर्मा , आईपीएल  दिल्ली कैपिटल टीम खेल रहे राहुल तेवतिया , रणजी खिलाडी राहुल दलाल , रवि बलहारा , प्रशांत वशिठ , अरुण चपराना , प्रमोद चंदीला , रेलवे रणजी खिलाडी चन्दर पाल सैनी खेल रहे है

इस मोके पर के पी तेवतिया , रविंदर मक्कर , प्रदीप मोहन्ती , परवीन थापर , प्रमोद पोल , हरीश यादव , हर्ष , गोविंद गुप्ता ,  नवीन ,सुनील चौधरी उपस्थित थे 
कक्षा दसवीं के परिणाम में भी आयशर विद्यालय  शत-प्रतिशत परिणाम देकर चमका

कक्षा दसवीं के परिणाम में भी आयशर विद्यालय शत-प्रतिशत परिणाम देकर चमका

फरीदाबाद : 6 मई I आयशर विद्यालय के विद्यार्थियों ने एक बार फिर साबित कर दिया कि इरादे अगर मजबूत हो और मेहनत इमानदारी से की जाए तो सफलता हमेशा साथ देती हैं। सत्र 2018 _19 में सी.बी.एस.ई. कक्षा दसवीं में परिणाम शत प्रतिशत रहा ।परीक्षा देने वाले विद्यार्थियों की कुल संख्या 106 थी। सिम्मी अग्रवाल ने ९७.८ %लेकर विद्यालय में प्रथम स्थान प्राप्त किया तथा खुशी गोयल ने 97.6%लेकर द्वितीय स्थान प्राप्त किया। विद्यालय की प्राचार्या सुश्री रितु कोहली ने सभी बच्चों , अभिभावकों एवं शिक्षकों को बधाई दी व बच्चों के उज्जवल भविष्य की कामना की।विषय टापर्स इस प्रकार रहे_
रतन कान्वेंट स्कूल का क्षेत्र में रहा सर्वश्रेष्ठ परिणाम

रतन कान्वेंट स्कूल का क्षेत्र में रहा सर्वश्रेष्ठ परिणाम

फरीदाबाद : 6 मई I  रतन कान्वेंट स्कूल का दशवी का परीक्षा परिणाम 100 प्रतिशत रहा । 96% के साथ तिरुपति बालाजी ने स्कूल में प्रथम स्थान प्राप्त किया । विषयानुसार दीक्षा ने गणित में 98 , हिमांशी ने हिंदी में 98 , तिरुपति बालाजी ने अंग्रेजी में 97 , विज्ञान में अमन सिंह ने 95 , सामाजिक विज्ञान में सरिता रावत ,  भावना मालिक और तिरुपति बालाजी ने 95-95 तथा हिमांशी ने I.T. मे 94 अधिकतम अंक प्राप्त किये । 

इस मौके पर चेयरमैन यशवीर डागर और प्रधानाचार्य मनोज कुमार जी ने बच्चो को बेहतर परिणाम के लिए शुभ कामनाएँ दी और उनके उज्जवल भविष्य के लिए कामना की । 

Thursday, 2 May 2019

मानव रचना इंटरनेशनल स्कूलों का 100 प्रतिशत रहा रिजल्ट

मानव रचना इंटरनेशनल स्कूलों का 100 प्रतिशत रहा रिजल्ट

फरीदाबाद, 2 मई: इस साल भी मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल का 100 प्रतिशत रिजल्ट रहा। फरीदाबाद के सेक्टर-14 स्थित मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल की डायरेक्टर प्रिंसिपल ममता वाधवा और चार्मवुड स्थित स्कूल की प्रिंसिपल अर्पिता चक्रवर्ती ने छात्रों के उज्जवल भविष्य की कामना की और सभी छात्रों को बधाई दी।

सेक्टर-14 स्थित मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल की छात्रा मुस्कान ने ह्यूमैनिटीज में (बेस्ट ऑफ फोर) 99 प्रतिशत हासिल कर टॉप किया, आस्था गौर ने कॉमर्स स्ट्रीम (बेस्ट ऑफ फोर)  में 97.75% जबकि तान्या सूद और कुशाग्र महाजन ने साइंस स्ट्रीम (बेस्ट ऑफ फोर) 94 प्रतिशत हासिल किए। मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर-14 की मुस्कान मित्तल, हर्षिता कुकरेजा, शुभ अरोड़ा, राधिका रंजन, चहक सैनन, निष्ठा सेठी, रुचिका गोयल, अकंक्षी और इशान कंसल ने इकॉनोमिक्स में 100 अंक हासिल किए। आस्था गौर ने बिजनेस स्टडीज में 100 अंक और हर्षित कुकरेजा ने सोशिओलॉजी में 100 अंक हासिल किए।

वहीं, चार्मवुड स्थित मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल से कॉमर्स के छात्र वैभव गर्ग ने 96.5% और साइंस स्ट्रीम से मेघना से 95.75% अंक लाकर बाजी मारी। 12वीं के कुल 90 छात्रों में से 66 छात्रों के 90 से ज्यादा अंक हासिल किए हैं।




                                                             

     


रतन कान्वेंट स्कूल के बारहवी के छात्रों का बेहतरीन रिज़ल्ट

रतन कान्वेंट स्कूल के बारहवी के छात्रों का बेहतरीन रिज़ल्ट

फरीदाबाद 2 मई ।  रतन कान्वेंट स्कूल के कक्षा बारहवी  के छात्र – छात्राओ का बोर्ड पारेक्षा मे बेहतरीन  परिणाम रहा । स्कूल के सभी छात्र – छात्राओ ने उत्तम अंको से परीक्षा पास की । नॉन मैडिकल की छात्रा सिमरन धनकर ने ओवेरालल 96% प्राप्त करके क्षेत्र मे स्कूल का नाम रोशन किया ।  मैडिकल  संकाय मे सागर भारद्वाज ने 94.6 % प्राप्त करके द्वितीय स्थान पर रहे ।  आर्ट्स की छात्रा अंशिका ने 94.2% अंक प्राप्त कर स्कूल मे तृतीय स्थान पर रही । प्रत्येक विषय मे छात्रों ने बहुत बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए अजय ने 95 मार्क्स प्राप्त किए तथा योगेश रावत ने फ़िज़िक्स मे 95 , सागर भारद्वाज ने बयोलॉजी मे 95 , कैमिस्ट्रि मे 95 , अंशुल ने इक्नोमिक्स मे 95 अंक , तथा अंशिका ने हिन्दी मे 99 अंक प्राप्त किए।

प्रधानाचार्य मनोज कुमार जी ने बच्चो को अपना स्नेह और आशीर्वाद देकर उनके उज्ज्वल भविष्य की कामना की ।
विद्यासागर इंटरनेशनल स्कूल में मनाया गया अंतर्राष्ट्रीय मजदूर दिवस

विद्यासागर इंटरनेशनल स्कूल में मनाया गया अंतर्राष्ट्रीय मजदूर दिवस

फरीदाबाद 2 मई । विद्यासागर इंटरनेशनल स्कूल, सेक्टर-2 में अंतर्राष्ट्रीय श्रमिक दिवस मनाया गया। इस अवसर पर स्कूल के बच्चों ने स्कूल के कर्मचारियों को फूल भेंट कर उनका सम्मान किया। बच्चों ने उन्हें मिठाईयां एवं अपने द्वारा बनाए गए कार्ड भी भेंट किए। इस अवसर पर कई सांस्कृतिक कार्यक्रमों का भी आयोजन किया गया। इस अवसर पर स्कूल के चेयरमैन धर्मपाल यादव ने कहा कि मनुष्य के पास श्रम के अतिरिक्त कोई वास्तविक सम्पत्ति नहीं है। यदि यह कहा जाये कि, श्रम ही जीवन है तो यह गलत न होगा। जीवन में श्रम अनिवार्य है। गीता में श्रीकृष्ण ने कर्म करने पर बल दिया है। मानव देह मिली है तो कर्म करना ही पड़ेगा। यह सारा संसार बड़े-बड़े नगर, गगनचुंबी भवन, हवाई जहाज, रेलगाडिय़ाँ, स्कूटर तथा अन्य कई प्रकार के वाहन, विशाल कारखाने, टी.वी. तथा सिनेमा आदि सभी मानव के श्रम की कहानी कहते हैं ।

स्कूल की डॉयरेक्टर सुनीता यादव ने इस अवसर बच्चों को प्रेरित करते हुए कहा कि श्रम अपने आप में ही एक लक्ष्य है। श्रम करके चित्त प्रसन्न होता है। शरीर तंदरूस्त रहता है। श्रम करने वाला व्यक्ति सदैव उन्नति करता है। बड़े-से-बड़े तेज और समर्थ व्यक्ति तनिक आलस्य से जीवन की दौड़ में पिछड़ जाते हैं किन्तु श्रम करने वाले व्यक्ति तनिक दुर्बल भी दौड़ में आगे निकल जाते हैं। इस संबंध में कछुए और खरगोश की कहानी को स्मरण किया जा सकता है। सबको मालूम है कि कछुआ लगातार चलता रहता है तथा परिणामस्वरूप गंतव्य पर पहले पहुँच जाता है किन्तु खरगोश आलस्य करता है और पिछड़ जाता है। श्रम करने वाला व्यक्ति कभी भी हारता नहीं है। मेहनत के बूते पर अति साधारण छात्र चकित करने वाले परिणाम दे जाते हैं।

बच्चों को श्रमिक दिवस की जानकारी देते हुए स्कूल की प्रिंसिपल ज्योति चौधरी ने कहा कि एक मई को दुनिया के कई देशों में अंतरराष्ट्रीय श्रमिक दिवस मनाया जाता है। इन दिन को लेबर डे, मई दिवस, श्रमिक दिवस और मजदूर दिवस भी कहा जाता है। ये दिन पूरी तरह श्रमिकों को समर्पित है। इस दिन भारत समेत कई देशों में मजदूरों की उपलब्धियों को और देश के विकास में उनके योगदान को सलाम किया जाता है। ये दिन मजदूरों के सम्मान, उनकी एकता और उनके हक के समर्थन में मनाया जाता है। इसलिए हमें भी श्रम करने वाले लोगों का सम्मान करना चाहिए।

Tuesday, 30 April 2019

मैट्रो अस्पताल के डाक्टरों ने जटिल सर्जरी करके निकाला दिल तक पहुंचा गुर्दे का कैंसर

मैट्रो अस्पताल के डाक्टरों ने जटिल सर्जरी करके निकाला दिल तक पहुंचा गुर्दे का कैंसर

फरीदाबाद, 30 अप्रैल। मैट्रो अस्पताल के अनुभवी डाक्टरों की टीम ने चिकित्सा क्षेत्र में एक और कीर्तिमान स्थापित करते हुए इराकी मरीज के दिल तक पहुंचे गुर्दे के कैंसर को जटिल सर्जरी करके निकालने में सफलता हासिल की है। 49 वर्षीय इराकी मरीज अहमद (बदला हुआ नाम) को थकान और शरीर दर्द की जांच के दौरान इराक में पता चला कि उसे दांये गुर्दे का कैंसर है, जो कि खून की नली में से फैलता हुआ हृदय के दांये भाग तक फैल गया है। सुविधाओं एवं तकनीकी ज्ञान के अभाव में मरीज ईलाज के लिए भारत आया और यहां फरीदाबाद के सेक्टर-16ए स्थित मैट्रो अस्पताल पहुंचा।

 वहां उन्होंने वरिष्ठ यूरोलोजिस्ट एवं यूरो ओंकोलोजिस्ट डा. राजीव सेतिया को दिखाया। डा. राजीव सेतिया ने विस्तृत में पुन: जांच की और मरीज को इस बीमारी की गंभीरता के बारे में समझाया तथा आप्रेशन की सलाह दी। उन्होंने मरीज को बताया कि मैट्रो अस्पताल फरीदाबाद में सभी प्रकार के जटिल आप्रेशन किए जाते है। उन्होंने मरीज को विश्वास दिलाया कि आपकी सर्जरी भी सफलतापूर्वक कर दी जायेगी। मरीज ने दिल्ली एनसीआर के कई बड़े अस्पतालों में परामर्श करने के बाद मैट्रो अस्पताल फरीदाबाद में ही आप्रेशन करवाने का निर्णय लिया। 

7 घण्टे चले इस जटिल आप्रेशन में मैट्रो अस्पताल के यूरोलोजिस्ट डा. राजीव सेतिया, कार्डियोथौरोसिक सर्जन एस.एस. सिद्धू, लीवर सर्जन डा. शेलेंद्र लालवानी की एक टीम बनाकर इस सर्जरी को सफलतापूर्वक किया गया। डा. राजीव सेतिया ने बताया कि गुर्दे का कैंसर जो शरीर की सबसे बड़ी खून की नली (आईवीसी) से होते हुए दिल तक फैला हो उसे लेवल 4 कैंसर कहते है। उन्होंने यह भी बताया कि आमतौर पर इस तरह के ट्यूमर को हटाने के लिए मरीज को कार्डियोपलमोनरी बाईपास मशीन तक लेटाया जाता है, जबकि इस मामले में कार्डियोप्लायमेंटरी बायपास के बजाए वेनो-वेनस बाईपास तकनीक को अपनाया और बहुत ही कम निर्धारित समय में गुर्दे का ट्यूमर खून की नली से निकाल कर उसे रिपेयर कर दिया गया, जिससे कार्डियोपलमोनरी (सीपीबी) के दुष्प्रभाव से बचा जा सका। डा. सिद्धू ने बताया कि वेनो-वेनस बाईपास के रिजल्ट्स बहुत अच्छे होते है, इससे मरीज की तेजी से रिकवरी होती है और अत्यधिक रक्तस्त्राव भी नहीं होता है। 

वहीं अस्पताल के मैनेजिंग डायरेक्टर डा. एस.एस. बंसल ने इस जटिल सर्जरी को सफलतापूर्वक करने पर डा. राजीव सेतिया एवं डा. एस.एस. सिद्धू को बधाई देते हुए कहा कि यह गर्व की बात है कि ऐसे जटिल ट्यूमर सर्जरी को उत्कृष्ट परिणामों के साथ किया गया। उन्होंने कहा कि मैट्रो अस्पताल चिकित्सा क्षेत्र में निंरतर प्रगति की ओर अग्रसर हो रहा है और लोगों को एक ही छत के नीचे आधुनिक चिकित्सा सुविधाएं उपलब्ध करवाने का जो लक्ष्य है, उसे वह पूरी कत्र्तव्यनिष्ठा से निभाकर लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध करवा रहे है।
छात्रों ने कविता गायन के माध्यम से प्रतिभा का दिया परिचय

छात्रों ने कविता गायन के माध्यम से प्रतिभा का दिया परिचय

फरीदाबाद : 30 अप्रैल  I जीवा पब्लिक स्कूल के छात्रों ने कविता गायन प्रतियोगिता के माध्यम से अपनी प्रतिभा का परिचय दिया। विद्यालय के प्रांगण में समय-समय पर इस प्रकार की प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जाता है जिससे की छात्रों में आत्मविश्वास की वृद्घि हो एवं छात्र उत्साहित होकर और अधिक से अधिक कार्यक्रमों में भाग लें तथा उनका सर्वांगीण विकास हो। इस प्रतियोगिता में कक्षा पहली से लेकर तीसरी तक के छात्रों ने भाग लिया। प्रतियोगिता का विषय प्रकृति, परिवार एवं देश था। छात्रों ने इन विषयों पर अपने-अपने ढंग से अंग्रेज़ी में कविता गायन किया।

छात्रों का जोश, लयबद्घता एवं भाव अभिव्यक्ति भी देखने योय था। सभी छात्रों ने उच्चारण एवं प्रस्तुति पर विशेष प्रयास किए। उनकी प्रस्तुति बहुत सराहनीय रही। उपस्थित श्रोतागण भी कार्यक्रम देख मंत्रमुध हो गए। प्रतियोगिता में विजेता छात्रों की सूची इस प्रकार से है :- कक्षा पहली से पंशुल खन्ना सर्वश्रेष्ठï वक्ता, मनन कौशिक सर्वश्रेष्ठï प्रदर्शन, अवनी सोरोत सर्वश्रेष्ठï कविता, एशनी नलिनी सर्वश्रेष्ठï भावअभिव्यक्ति, रिशान पांडे एवं वंशिका को उनकी उत्तम प्रस्तुति के लिए पुरस्कृत किया गया। कक्षा दूसरी से लावण्या शर्मा सर्वश्रेष्ठï कविता, शौर्य चौहान सर्वश्रेष्ठï वक्ता, आदरिका जायसवाल सर्वश्रेष्ठï अभिव्यक्ति, भव्या नैन सर्वश्रेष्ठï प्रस्तुति व काव्या रतरा को प्रस्तुति के लिए पुरस्कृत किया गया। कक्षा तीसरी से लक्षिता सर्वश्रेष्ठï वक्ता, मनसाहिब सिंह सर्वश्रेष्ठï कविता, तनवी कथुरीया सर्वश्रेष्ठï अभिव्यक्ति, इशान सिंह सर्वश्रेष्ठï प्रदर्शन, जिगर जांगरा सर्वश्रेष्ठï प्रस्तुति के लिए पुरस्कृत किया गया।

इस अवसर पर विद्यालय की उपाध्यक्षा श्रीमती चंद्रलता चौहान, प्रधानाचार्या श्रीमती देविना निगम व संयोजिका श्रीमती विद्या चौहान भी उपस्थित रहीं।