Showing posts with label India News. Show all posts
Showing posts with label India News. Show all posts

Tuesday, 31 August 2021

 प्रीति दहिया और तीन अन्य युवा महिलाओं ने भारत की झोली में डाले स्वर्ण पदक

प्रीति दहिया और तीन अन्य युवा महिलाओं ने भारत की झोली में डाले स्वर्ण पदक

नई दिल्ली, 31 अगस्त, 2021 : प्रीति दहिया और तीन अन्य युवा महिला मुक्केबाज 2021 एएसबीसी एशियाई युवा और जूनियर मुक्केबाजी चैंपियनशिप के अंतिम दिन चैम्पियन बनकर उभरीं। इनकी स्वर्णिम सफलता की बदौलत भारत ने दुबई में आयोजित की गई इस महाद्वीपीय प्रतियोगिता में 14 स्वर्ण सहित कुल 39 पदक अपनी झोली में डाले।


 भारत इससे पहले खेले गए जूनियर इवेंट में आठ स्वर्ण, पांच रजत और छह कांस्य पदक सहित कुल 19 पदक पहले ही जीत चुका था। युवा मुक्केबाजों ने प्रतिष्ठित कॉन्टिनेंटल इवेंट में भारत की तालिका में 20 और पदक (छह स्वर्ण, नौ रजत और पांच कांस्य) जोड़े। खास बात यह रही कि पहली बार इस इवेंट के माध्यम से जूनियर और युवा दोनों आयु वर्ग के मुकाबले साथ-साथ खेले गए।



 बिश्वमित्र चोंगथम (51 किग्रा) ने एशियाई चैंपियनशिप में युवा पुरुष वर्ग में पिछले सात वर्षों में भारत का पहला स्वर्ण जीता और विशाल (80 किग्रा) ने पदक तालिका में एक और सोने का तमगा जोड़ा। इसी तरह नेहा (54 किग्रा) ने युवा महिला वर्ग में देश को स्वर्ण पदक दिलाया। उनका मुकाबला सोमवार की देर रात खेला गया। वह 3-2 से विभाजित निर्णय से कजाकिस्तान की ऐशागुल येलुबायेवा के खिलाफ जीत हासिल करने में सफल रही।



 बाद में, प्रीति दहिया ने 2021 युवा विश्व चैंपियनशिप की रजत पदक विजेता कजाकिस्तान की ज़ुल्दिज़ शायाखमेतोवा के खिलाफ 60 किग्रा भार वर्ग के फाइनल में इसी तरह की जीत के साथ एक और स्वर्ण पदक भारत की झोली में डाला। इसके बाद स्नेहा कुमारी (66 किग्रा) और खुशी (75 किग्रा) ने भी अपने-अपने फाइनल में जीत हासिल करते हुए स्वर्ण पदक जीता। स्नेहा ने रेफरी स्टॉपिंग द कॉन्टेस्ट (आरएससी) के माध्यम से स्थानीय दावेदार रहमा अलमुर्शिदी पर जीत दर्ज की जबकि  खुशी ने कजाकिस्तान की डाना दीडे को हराया।



 बॉक्सिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया (बीएफआई) अध्यक्ष अजय सिंह ने कहा, “यह हमारे जूनियर और युवा मुक्केबाजों के लिए एक शानदार प्रदर्शन रहा है। 39 पदक जीतना एक सराहनीय उपलब्धि है और यह केवल भारत में हमारे पास मौजूद मुक्केबाजी प्रतिभा की गहराई को दर्शाता है। एक महासंघ के रूप में, हम देश भर से अधिक से अधिक युवाओं की पहचान करने और उन्हें बढ़ावा देने के लिए प्रतिबद्ध हैं, ताकि उन्हें विशिष्ट स्तर पर भविष्य के चैंपियन के रूप में तैयार करने के लिए सर्वोत्तम कोचिंग और मार्गदर्शन सुनिश्चित किया जा सके। मुझे यकीन है कि इतने बड़े टूर्नामेंट में प्राप्त मूल्यवान अनुभव इन मुक्केबाजों को अपने लिए एक मजबूत रास्ता तय करने में मदद करेगा। बॉक्सिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया (बीएफआई) की ओर से, मैं एक बार फिर सभी विजेताओं और कोचों और सहयोगी स्टाफ को इस सफल अभियान के लिए बधाई देता हूं, और उन्हें भविष्य के टूर्नामेंट के लिए शुभकामनाएं देता हूं।“


इस बीच अंतिम दिन अन्य युवा मुक्केबाज विश्वनाथ सुरेश (48 किग्रा), निवेदिता कार्की (48 किग्रा), तमन्ना (50 किग्रा), सिमरन वर्मा (52 किग्रा), प्रीति (57 किग्रा), खुशी (63 किग्रा), वंशज (64 किग्रा), जयदीप रावत (71 किग्रा) और तनीशबीर कौर संधू (81 किग्रा) ने देश के लिए रजत पदक जीते।


इससे पहले एक महिला सहित पांच मुक्केबाजों ने सेमीफाइनल में पहुंचकर युवा वर्ग में कांस्य पदक जीता था। पुरुषों में, दक्ष सिंह (67 किग्रा), दीपक (75 किग्रा), अभिमन्यु लौरा (92 किग्रा) और अमन सिंह बिष्ट (92+ किग्रा) ने कांस्य पदक हासिल किया, जबकि लशु यादव (70 किग्रा) ने महिला वर्ग में कांस्य पदक जीता।


 युवा वर्ग में 20 पदकों के साथ, भारत ने 2019 में मंगोलिया के उलानबटार में हासिल किए गए पांच स्वर्ण सहित 12 पदकों के अपने पिछले संस्करण के पदकों की संख्या को भी बेहतर बनाया।



 युवा वर्ग में स्वर्ण पदक विजेताओं को 6,000 अमेरिकी डॉलर जबकि रजत और कांस्य पदक विजेताओं क्रमशः 3,000 अमेरिकी डॉलर और 1,500 अमेरिकी डॉलर का पुरस्कार दिया गया। हालांकि, जूनियर स्पर्धा में स्वर्ण, रजत और कांस्य पदक विजेताओं को क्रमशः 4,000 अमेरीकी डालर, ,000 अमेरीकी डालर और 1,000 अमेरीकी डालर से सम्मानित किया गया।



 चैंपियनशिप में इस साल कजाकिस्तान, उज्बेकिस्तान और किर्गिस्तान जैसे मजबूत मुक्केबाजी देशों ने हिस्सा लिया। इससे इस प्रतिष्ठित आयोजन में प्रतिस्पर्धा के स्तर में इजाफा देखा गया। महामारी के कारण युवा मुक्केबाज लम्बे समय से रिंग में प्रतिस्पर्धा नहीं कर पा रहे थे लेकिन इस आयोजन ने एशियाई स्तर पर होनहार युवा प्रतिभाओं को रिंग में उतरकर अपनी क्षमता का आकलन करने का बेहतरीन मौका प्रदान किया।

Thursday, 22 April 2021

 Indian women create history at 2021 AIBA Youth Men’s and Women’s World Boxing Championships, end campaign with seven gold medals

Indian women create history at 2021 AIBA Youth Men’s and Women’s World Boxing Championships, end campaign with seven gold medals


New Delhi, April 23, 2021: Indian women boxers put up sensational performances as they created history at the 2021 AIBA Youth Men’s and Women’s World Boxing Championships and concluded their campaign on highly successful note with seven gold medals in Kielce, Poland on Thursday.

 

All the women finalists in action--Gitika (48kg) Naorem Babyrojisana Chanu (51kg), Poonam (57kg), Vinka (60kg), Arundhati Choudhary (69kg), T Sanamacha Chanu (75kg) and Alfiya Pathan (+81kg)— registered victories and finished on the top of the podium. Previously Indian women had won five gold medals during the 2017 edition of Youth World Championships held in Guwahati. India women’s team also finished as the No.1 team in the ongoing Championship ahead of Russia with seven gold medals.


Asian Youth Champion Sanamacha, who trains at boxing great MC Mary Kom’s academy in Imphal, added the historic sixth gold for India when she outperformed Kazakhstan’s Dana Diday 5-0 in the 75kg final. Later Young boxing sensation from Maharashtra Alfiya clinched the seventh gold for the country as she stunned a strong contender European Youth Champion Moldova’s Daria Kozorez 5-0 in the final.


“This has been an amazing effort from our youth boxers especially when the players had to be confined at home for most part of the last year and only make do with online training sessions. Our coaches and support staff did a stellar job despite the limitations and challenges. I congratulate all the winners on this unprecedented medal haul. This achievement is a testament of the talent we have in the upcoming generation of Indian boxing,” Boxing Federation of India President, Ajay Singh said while talking about the unprecedented medal haul by India at the AIBA Youth World Championships.


Earlier, Gitika led the country’s dominance and provided a perfect start for the day. The Haryana boxer, who came into the match beating two-time European Champion Italy’s Erika Prisciandaro, knocked down local favourite Natalia Kuczewska 5-0 in the women’s 48kg final and secured first gold medal for India at the on-going Championship.


The Asian Youth Champion Babyrojisana (51kg) and Poonam (57kg) further extended Indian winning momentum as the duo secured identical 5-0 victories to add two more gold medals. While Manipur boxer Babyrojisana looked in great touch during her flawless win against the European Junior Champion Russian Valeriia Linkova, Poonam also hit the aggressive mode from the word go and dominated her experienced opponent Sthelyne Grosy. With sharp and precise punches Poonam did not allow her opponent from France to score any point before completing an easy 5-0 triumph in the final bout.


Vinka (60kg) also produced a spectacular show as her punches, packed with a lot of power, were too strong for Kazakhstan boxer Zhuldyz Shayakhmetova. Referee had to stop the contest and declare Indian as the winner. Rajasthan boxer Arundhati added one more gold for Indian when she completed a fine 5-0 win against Polish boxer Barbara Marcinkowska in the 69kg final.


A 20-member Indian contingent had already created history by securing 11 medals at the on-going Youth World Championships bettering their previous best of 10 medals in 2018 edition. The only Indian men in the final, Sachin (56kg) will be in action tomorrow. Earlier in the men’s section Bishwamitra Chongthom (49kg), Ankit Narwal (64kg) and Vishal Gupta (91kg) won three bronze medals for the country with the semi-finals finish.


A 10-day biennial event, which had the men’s and women’s championship played together for the first time during the 2018 edition in Hungary, has witnessed high competition in presence of 414 boxers from 52 countries.  

Saturday, 27 March 2021

रविंद्र फागना क्रिकेट अकादमी ने एंज़ल क्रिकेट अकादमी को 7 विकेट से हराया

रविंद्र फागना क्रिकेट अकादमी ने एंज़ल क्रिकेट अकादमी को 7 विकेट से हराया

फरीदाबाद : 28 मार्च I  सूरजकुंड इंटर्नैशनल गल्स क्रिकेट टूर्नामेंट मैच में रविंद्र फागना क्रिकेट अकादमी (पाली) ने एंज़ल क्रिकेट अकादमी (फ़रीदाबाद) टीम को 7 विकेट से हराया  I  यह मुकाबला रविंदर फागना क्रिकेट अकादमी सिथत मैदान पर खेला गया I इस मौके पर बीसीसीआई कोच धर्मेंदर फागना ने बताया की यह मैच 20-20 ओवर का था ये मैच रविंद्र फागना क्रिकेट अकादमी (पाली) ओर एंज़ल क्रिकेट अकादमी (फ़रीदाबाद) टीम के साथ खेला गया एंज़ल क्रिकेट अकादमी (फ़रीदाबाद) ने टॉस जीत कर  पहले बल्लेबाज़ी करने का निर्यण लिया टीम की ओर बल्लेबाजी करते हुए टीम ने 20 ओवर में 6 विकेट पर 171 रन बनाए टीम की और बल्लेबाजी करते हुए प्राज्ञा रावत ने 50 रन ,प्राशवी ने 38 रन ओर हिमांशी ने 29 रन बनाए    रविंद्र फागना क्रिकेट अकादमी (पाली) की और से गेंदबाजी करते हुए इशाबेल ओर अंचल ने 2-2 विकेट,वंदना सेन ओर सीमा ने 1-1 विकेट लिए ,


इस लक्ष्य का पीछा करते हुए रविंद्र फागना क्रिकेट अकादमी (पाली) टीम ने 16.3 ओवर में 3 विकेट में 172 रन बनाकर लक्स को हासिल किया टीम की और से बल्लेबाजी करते हुए रीमा सिसोदिया ने 89 रन,नीतिका करहाना ने 52 रन ओर आरती ने 18 रन बनाए एंज़ल क्रिकेट अकादमी (फ़रीदाबाद) की ओर से गेंदबाज़ी करते हुए अदिति ने 2 विकेट ओर  प्राशवी ने 1 विकेट लिया मेन ऑफ़ दा मैच का पुरस्कार रीमा सिसोदिया को दिया गया (रविंद्र फागना क्रिकेट अकादमी (पाली)  (रीमा सिसोदिया ने 49 बॉल में 7 चोंके 8 छक्के लगाकर 89 रन बनाए)

 मानव रचना (MREI) ने एशियन अस्पताल को  2 रनों से हराया 

मानव रचना (MREI) ने एशियन अस्पताल को 2 रनों से हराया 

फरीदाबाद 28 मार्च 2021: मानव रचना कैंपस में 14वें मानव रचना कॉरपोरेट किक्रेट चैलेंज का आखिरी मैच में मानव रचना (MREI) ने एशियन अस्पताल से जीता। एमआरईआई (MREI) और एशियन अस्पताल के बीच फाइनल मैच में डॉ. प्रशांत भल्ला, अध्यक्ष, एमआरईआई(MREI), डॉ. अमिल भल्ला, उपाध्यक्ष, एमआरईआई(MREI), डॉ. एम.एम कथूरिया, ट्रस्टी, मानव रचना, और मानव रचना के डीन और अन्य गणमान्य अतिथि शामिल हुए।


मानव रचना के ओपी भल्ला फाउंनडेशन ने विजेता टीम को एक लाख रुपये की राशि समेत चैंपियन ट्रॉफी से सम्मानित किया। मानव रचना ने टॉस जीता और पहले बल्लेबाजी करने के लिए चुना और टीम ने 20 ओवर में 8 विकेट के नुकसान पर 241 रन बनाए। एशियन अस्पताल की टीम 20 ओवर में 238 रन ही बना सकी। मानव रचना से निखिल को ‘मैन ऑफ द मैच’ घोषित हुए जिन्हें मानव रचना ओपी भल्ला फाउंनडेशन की तरफ से 21 हजार रूपये से सम्मानित किया गया वहीं मानव रचना के सचिन को टूर्नामेंट के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज के रूप में सम्मानित किया गया, एशियन अस्पताल के नीरज टूर्नामेंट के सर्वश्रेष्ठ गेंदबाज बने, मानव रचना के निखिल दिवाकर को टूर्नामेंट की सवश्रेष्ठ खिलाड़ी घोषित किया गया, ‘रर्नर अप’ की ट्राफी एशियन अस्पताल को मिली ।


एमआरईआई(MREI) के अध्यक्ष डॉ. प्रशांत भल्ला ने कहा कि यह खेल कॉरपोरेट जगत से जुड़ने का सुनहरा मौका देता है और खिलाड़ियों में उत्साह और बंधन पैदा करते है। कॉरपोरेट किक्रेट चैलेज 2021 मानव रचना के संस्थापक डॉ. ओपी भल्ला की याद में शुरू किया गया था। जिसमें इस साल किक्रेट कॉरपोरेट चैलेंज में 25 कॉरपोरेट टीम (दिल्ली और एनसीआर) से शामिल हुई जिसमें मारुति सुजुकी (गुरुग्राम), हीरो मोटोकॉर्प(गुरुग्राम), जेसीबी (फरीदाबाद), एस्कॉटर्स कंस्ट्रक्शन (फरीदाबाद), आकाश दर्शन(दिल्ली), एसीई(फरीदाबाद), होंडा कार्स(ग्रेटर नोएडा), आजतक(दिल्ली), एशियन अस्पताल(फरीदाबाद), सर्वोदय अस्पताल(फरीदाबाद), एनएचपीसी(फरीदाबाद), होंडा मोटरसाइकिल (गुरुग्राम), भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्रधिकरण(दिल्ली), IIFL-वेल्थ(दिल्ली), एडिडास(गुरुग्राम),डीडी न्यूज (दिल्ली),मेटाफब(फरीदाबाद), टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज(TCS), इरॉन इंटरनेशनल, प्रेस क्लब ऑफ इंडिया, एचपीएल, ग्लेन इंडिया, वेव इन्फ्राटेक, आर्किटेक्ट स्पोटर्स ट्रस्ट और मानव रचना MREI (फरीदाबाद) शामिल थे।14वें क्रिकेट कॉरपोरेट क्रिकेट कप 2021 में 51 मैच खेले गए जिसमें 6 समूहों में प्रत्येक समूह 4-5 टीमों के साथ बांटा गया था जिसमें पहले चरण में लीग मैच खेले गए और फिर नॉकआउट मैच। हर सूमह में से 2 टीम नॉकआउट मैचों के लिए क्वालीफाई हुई थी।

Saturday, 20 March 2021

ट्रांसफार्मेशन करने वाले शिक्षा महारथियों को गुरु द्रोणाचार्य अवार्ड

ट्रांसफार्मेशन करने वाले शिक्षा महारथियों को गुरु द्रोणाचार्य अवार्ड


फरीदाबाद :20 मार्च  ।  हरियाणा एडुकेटर्स क्लब ने देर रात होटल रेडिसन ब्ल्यू में गुरु द्रोणाचार्य अवॉर्ड का आयोजन किया। जिसमें ट्रांसफार्मेशन करने वाले शिक्षा महारथियों को यह अवॉर्ड प्रदान किए गए। मुख्य अतिथि सीबीएसई के डिप्टी सेके्रटरी एफिलिएशन श्री विजय यादव ने इस पहल का स्वागत किया। उन्होंने स्कूल एफिलिएशन : रीइंजीनियर्ड ऑटोमेशन सिस्टम विषय पर भी प्रकाश डाला। उन्होंने कहा कि आज के समय में सीबीएसई स्टेट ऑफ द आर्ट तकनीक का प्रयोग कर रही है जिससे शिक्षा संस्थान चलाने वालों को पहले से अधिक सुविधा महसूस हो रही है। उन्होंने बताया कि आज सीबीएसई में स्कूलों की संबंद्धता, पुनर्संबद्धता, अपगे्रडेशन आदि सभी कार्यों को पूरी तरह से ऑनलाइन कर दिया गया है। जिसके कारण आज एक भी एप्लीकेशन उनके विभाग में पेंडिंग नहीं है। श्री यादव ने बताया कि हम पूरी कोशिश करेंगे कि अकारण किसी स्कूल प्रबंधन को परेशानी न हो।


इस अवसर पर फरीदाबाद के एसडीएम श्री परमजीत सिंह चहल ने शिक्षा क्षेत्र से जुड़े व्यक्तियों द्वारा गुरु द्रोणाचार्य अवॉर्ड के आयोजन करने को बड़ी विशिष्ट पहल बताया। उन्होंने शिक्षकों की जिम्मेदारी की प्रशंसा की। वहीं जिला शिक्षा अधिकारी श्रीमती रितु चौधरी ने शिक्षा विभाग और शिक्षा संस्थाओं को एक दूसरे का पूरक बताते हुए भविष्य में पूर्व की भांति अधिक सहयोग के काम करने की बात कही। कार्यक्रम में पलवल के शिक्षा अधिकारी अशोक बघेल, महिला थाना प्रभारी श्रीमती नेहा राठी भी प्रमुख रूप से मौजूद रहे।

क्लब के अध्यक्ष रमेश डागर ने कहा कि शिक्षक अपना पूरा जीवन देश का भविष्य बनाने में बिता देता है, लेकिन अपने मनोरंजन की ओर वह सोच भी नहीं पाता है। उसे लगता है कि लोग क्या कहेंगे। ऐसे ही विचार के साथ हरियाणा एडुकेटर्स क्लब की नींव रखी गई। क्लब अपने सदस्यों के मनोरंजन के लिए न केवल कैंपों का आयोजन करता है बल्कि उनके योगदान के लिए उनकी सराहना भी करता है। आज का गुरु द्रोणाचार्य अवॉर्ड कोरोना काल में उनके द्वारा किए गए ट्रांसफार्मेशन फेज को बखूबी निभाने के लिए दिए जा रहे हैं। कार्यक्रम में फरीदाबाद सहित गुरुग्राम, पलवल, साहिबाबाद आदि एनसीआर शहरों से भी सदस्यों ने भागीदारी की। 

इससे पूर्व कार्यक्रम में पहुंचे सभी अतिथियों एवं सदस्यों का क्लब की ओर से भव्य स्वागत किया गया। इस आयोजन में हरियाणा एडुकेटर्स क्लब के कोर्डिनेटर अनिल रावल, महासचिव गौरव पाराशर, कोषाध्यक्ष दीपक यादव, सचिव राखी वर्मा आदि की प्रमुख भूमिका रही। वहीं कार्यक्रम का संचालन सीवी सिंह ने किया।