Showing posts with label Police. Show all posts
Showing posts with label Police. Show all posts

Sunday, 30 December 2018

मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने फरीदाबाद पुलिस को दी 384 आवास की सौगात

मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने फरीदाबाद पुलिस को दी 384 आवास की सौगात

फरीदाबाद, 31 दिसंबर -फरीदाबाद में मेगा पुलिस हाउसिंग कॉम्प्लेक्स के उद्घाटन के बाद सभा को संबोधित करते हुए, मुख्यमंत्री जी, ने कहा कि एएसआई, एसआई और इंस्पेक्टरों सहित एनजीओज़ को 4000 रुपये वर्दी भत्ता दिया जाएगा। कांस्टेबल और हेड कांस्टेबल को 3000 रुपये वर्दी भत्ते के रुप में प्रदान किये जाएगे। उन्होंने सभी पुलिस अधिकारियों को मोबाइल सुविधा प्रदान करने के लिए पुलिस विभाग में कॉलर्स यूजर ग्रुप (सीयूजी) बनाने की घोषणा करते हुए कहा कि यह सीयूजी नंबर सभी को दिया जाएगा और बिल का भुगतान पुलिस विभाग करेगा। इसके अतिरिक्त, सेवानिवृत्ति के छह महीने पहले एग्जम्पटी सब-इंस्पेक्टर (ईएसआई) को आनरेरी इंस्पेक्टर बनाया जाएगा।


            उन्होंने पुलिसकर्मियों की दी जाने वाली राशन मनी 600 रुपये से बढाकर 1000 रुपये प्रति माह करने की घोषणा की। उन्होने कहा कि महिला पुलिसकर्मियों के शिशुओं व छोटे बच्चों की देखभाल के लिए क्रेच की व्यवस्था की जाएगी और महिला पुलिसकर्मियों के लिए कार्यालयों में, जहां जरुरत होगी चेंजिंग रूम की सुविधा भी उपलब्ध करवाई जाएगी। इसके अलावा, साल के मध्य में स्थानांतरण के मामले में, पुलिस कर्मी 31 मार्च तक अपने पूर्ववर्ती जिले या नए स्थान का मकान किराया भत्ता क्लेम सकता है।


          उन्होंने पुलिसकर्मियों के लिए अतिरिक्त आवास के निर्माण के लिए हुडको के माध्यम से पुलिस हाउसिंग कॉर्पोरेशन को 1050 करोड़ रुपये का अतिरिक्त फंड प्रदान करने की भी घोषणा की। उन्होने कहा कि इससे पुलिस आवास की संतुष्टि का स्तर और बढ़ेगा। इससे पहले, निगम को 550 करोड़ रुपये की वित्तीय सहायता प्रदान की गई थी जिसके द्वारा विभिन्न जिलों में 3060 घरों का निर्माण विभिन्न स्तर पर जारी है।


             इसके अतिरिक्त हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने पुलिस कर्मियों को नए साल का तोहफा देते हुए उनके कल्याण के लिए सरकार द्वारा दी जा रही मैचिंग ग्रांट की राशि 4 करोड रुपये से बढाकर 6 करोड रुपये प्रतिवर्ष करने सहित कई अन्य घोषणाएं भी की। 


  श्री मनोहर लाल ने कहा कि पुलिस विभाग में बुनियादी ढांचे को मजबूत करने के साथ-साथ पुलिसकर्मियों के मनोबल को बढ़ाने के लिए कई कदम उठाए गए हैं।


         इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने लगभग 65 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित 384 घरों को पुलिस कर्मियों को समर्पित किया। उन्होंने पुलिसकर्मियों को अपनी कार्यशैली और व्यवहार में और सुधार लाने का आग्रह किया ताकि हरियाणा पुलिस को देश का सर्वश्रेष्ठ पुलिस बल बनाया जा सके । उन्होंने कहा कि अगले साल पुलिस विभाग में लगभग 7000 और पदों पर भर्ती की जाएगी।

  इस अवसर पर बोलते हुए, अतिरिक्त मुख्य सचिव, गृह, श्री एस.एस. प्रसाद ने मुख्यमंत्री को एक ही दिन में इस तरह के मेगा पुलिस आवास परिसर को पुलिसकर्मियों को समर्पित करने के लिए धन्यवाद दिया। उन्होंने स्मार्ट पुलिसिंग पर भी बल दिया।


  इससे पहले, पुलिस महानिदेशक (डीजीपी), श्री बी.एस. संधू एवं श्रीमान पुलिस आयुक्त फरीदाबाद ने मुख्यमंत्री का स्वागत करते हुए कहा कि इन 384 घरों का निर्माण हरियाणा पुलिस हाउसिंग कॉर्पोरेशन के माध्यम से लगभग 65 करोड़ रुपये की लागत से किया गया है। श्री संधू ने राज्य पुलिस बल में पारदर्शी भर्ती प्रक्रिया सुनिश्चित करने के लिए मुख्यमंत्री को धन्यवाद किया। उन्होंने कहा कि इस साल हुई 4225 सिपाहियों की भर्ती में लगभग 2600 पुलिसकर्मी या तो स्नातकोत्तर या स्नातक हैं।


  डीजीपी ने पुलिस अधिकारियों व कर्मचारियों से वर्ष 2019 में जनता के साथ बेहतर व्यवहार करने का भी आग्रह किया। उन्होंने पुलिस कर्मियों के हित में कल्याणकारी निर्णय लेने के लिए मुख्यमंत्री का धन्यवाद भी किया।

  हरियाणा पुलिस हाउसिंग कॉर्पोरेशन के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक, श्री परमिंदर राय ने इस अवसर पर धन्यवाद भाषण प्रस्तुत किया।


श्रीमान पुलिस आयुक्त ने माननीय श्री मनोहर लाल खटटर, पुलिस महानिदेशक हरियाणा श्री बी.एस. संधू एवं कार्यक्रम में पधारे अन्य गण मान्य व्यक्त्यिों धन्यवाद किया।


इस अवसर पर कृषि और किसान कल्याण मंत्री श्री ओम प्रकाश धनखड़, उद्योग मंत्री, श्री विपुल गोयल, विधायक सीमा त्रिखा, नागेंद्र भड़ाना, मूलचंद शर्मा और टेक चंद शर्मा, महानिदेशक पुलिस (मुख्यालय) श्री केके मिश्रा, महानिदेशक (अपराध) श्री पी.के. अग्रवाल, एडीजीपी (कानून व्यवस्था) मोहम्मद अकील, पुलिस आयुक्त श्री संजय कुमार सहित पुलिस विभाग के अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी उपस्थित थे।

Monday, 10 December 2018

 हनी ट्रैप के मामले का खुलासा : युवती को 50000 लेते रंगे हाथ किया गिरफ्तार

हनी ट्रैप के मामले का खुलासा : युवती को 50000 लेते रंगे हाथ किया गिरफ्तार

फरीदाबाद 10 दिसंबर।  बलात्कार के मामले में फंसाने की धमकी देकर पहले लाखो रुपए लेकर फिर और पैसे  मांग रही युवती को पुलिस ने 50000 रुपए लेते रंगे हाथों गिरफ्तार कर जिला अदालत में पेश किया जहा से उसे 14 दिंनो की न्यायिक  हिरासत में भेज दिया गया है । फिलहाल पुलिस ने महिला को जिला  मामला फरीदाबाद का है जहां हनी ट्रेप के इस मामले के सामने आने के बाद लोग भी सन्न है । 

 बल्लभगढ़ महिला थाना पुलिस की गिरफ्त में नजर आ रही इस युवती पर आरोप है कि इसने  एक फौजी पर  बलात्कार का आरोप लगाकर समझौता करने के नाम पर उससे 3 लाख रुपए ले लिए  और फिर भी जब इसका दिल नहीं भरा  तो इसने 8 लाख रुपए और मांगे ।  जिसके बाद फौजी का परिवार महिला थाने जा पहुंचा  और उसने इसकी शिकायत दर्ज  कराई । परिवार ने बताया कि युवती उन्हें ब्लैकमेल कर रही है पहले ही वो उन्हें फसाने के नाम पर 3 लाख रुपए दे चुके है । बलात्कार जैसे आरोप से बचने के लिए उन्होंने ये पैसे दे दिए पर अब युवती फिर 8 लाख रुपए मांग रही है ।

 पीड़ित के पिता

 पुलिस के मुताबिक कुछ दिनों पहले उन्हें इस युवती ने शिकायत दी थी कि एक फौजी ने उसके साथ बलात्कार किया है पर जब तक वो मामला दर्ज करती तब तक युवती ने केस दर्ज न कराने की बात कही और बापस चली गयी । इसके कुछ दिन बाद उस फौजी का परिवार सामने आया जिसके खिलाफ युवती ने शिकायत दी थी ।  इसके बाद पुलिस ने एक टीम बनाकर जांच शुरू की और  फिर  युवती को 50000 रिश्वत लेते हुए  रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया । 

सविता रानी ( एसएचओ महिला थाना )

Saturday, 8 December 2018

एनआईटी में 13 वर्षीय नाबालिक दुष्कर्म के मामले में पुलिस ने तीनों ओर आरोपियों को किया गिरफ्तार

एनआईटी में 13 वर्षीय नाबालिक दुष्कर्म के मामले में पुलिस ने तीनों ओर आरोपियों को किया गिरफ्तार


आरोपी पूर्व उर्फ़ अंकित उर्फ भूत पहले किया जा चुका था गिरफ्तार जिसका 5 दिन का पुलिस रिमांड पूरा होने पर आज जेल भेजा गया है।

पीड़ित लड़की ने आज कुछ और नामों का किया  खुलासा ।

 इस संबंध में जज साहब के सम्मुख पिडिता के दोबारा बयान कराए गए और उसके आधार पर 3 आरोपियों को किया गया गिरफ्तार।

गिरफ्तार आरोपी शकील अहमद पुत्र यसुफ निवासी फरीदाबाद जो कैंटर चलाता है विवाहित है और बाल बच्चे दार है।

दूसरा आरोपी आशिक पुत्र इलियास निवासी फरीदाबाद जो टैक्सी चलाता है बालिग है लेकिन अविवाहित है।

तीसरा आरोपी हरि भगत पुत्र सुभाष विवाहित है बाली गए और दुकान चलाता है।

तीनों आरोपियों को आज गिरफ्तार कर लिया गया है मेडिकल कराया जा रहा है।

कल आरोपियों को कोर्ट में पेश कर पुलिस रिमांड लेकर पूछताछ की जाएगी।

एक आरोपी अभी फरार है लेकिन पुलिस के रडार पर है जिसको जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा। PRO CP Office

Tuesday, 4 December 2018

सावधान :  नो पार्किंग में गाड़ी खड़ी करने वाले वाहनों पर दर्ज होगी एफआईआर : संजय कुमार पुलिस आयुक्त

सावधान : नो पार्किंग में गाड़ी खड़ी करने वाले वाहनों पर दर्ज होगी एफआईआर : संजय कुमार पुलिस आयुक्त

फरीदाबाद 4 दिसम्बर । ट्रैफिक सुधार हेतु पुलिस आयुक्त फरीदाबाद ने ट्रैफिक पुलिस अधिकारियों और रोड सेफ्टी ऑफिसर के साथ की मीटिंग। पुलिस आयुक्त श्री संजय कुमार ने आज दिनांक 3 दिसंबर 2018 को अपने कार्यालय में सभी ट्रैफिक पुलिस अधिकारियों एवं कर्मचारियों के साथ मीटिंग कर फरीदाबाद शहर में ट्रैफिक को सुचारू रूप से चलाने के बारे में चर्चा की।

इस दौरान पुलिस आयुक्त के अलावा मुख्यालय श्रीमती नीतिका गहलोत, डीसीपी ट्रेफिक श्री लोकेंद्र, एसीपी ट्रैफिक श्री देवेंद्र यादव, एसीपी ट्रैफिक श्री रविंद्र कुंडू के अलावा एसएचओ ट्रैफिक एवं सभी जोनल ऑफिसर और आरएसओ मौजूद थे।

फरीदाबाद में ट्रैफिक को सुचारू रूप से चलाने के लिए श्रीमान पुलिस आयुक्त ने मीटिंग में चर्चा करते हुए कहा कि जिस जिस एरिया में पीक आवर के समय जाम की समस्या रहती है वहां पर और पुलिसकर्मी तैनात किए जाएंगे ताकि ट्रैफिक को सुचारु रुप से चलाया जा सके।

हाईवे एवं अन्य रोड पर बने कटो पर विशेष ध्यान दिया जाएगा कि वह कट ठीक है या गलत है। यह देखा जाएगा कि कोई कट ट्रैफिक को सुचारू रूप से चलाने में अवरुद्ध तो नहीं कर रहे हैं तो ऐसे कट को बंद किया जाएगा।

पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने बताया की पुलिस आयुक्त ने सभी ट्रैफिक पुलिस अधिकारियों कर्मचारियों को निर्देश दिए हैं कि नो पार्किंग जोन में गाड़ी खड़ी करने वाले वाहन चालको के खिलाफ चालान के अलावा एफआईआर दर्ज की जाए।

उन्होंने कहा कि रोड पर अव्यवस्थित रूप से चलने वाले ऑटो के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी अगर कोई भी ऑटो ड्राइवर ट्रैफिक नियमों का उल्लंघन करता पाया गया तो उनको बख्शा नहीं जाएगा।

पुलिस प्रवक्ता ने बताया कि पुलिस आयुक्त ने कहा है कि ट्रैफिक पुलिस चालान काटते समय पब्लिक के साथ अच्छा व्यवहार करें और उनको बताएं कि उन्होंने ड्राइविंग करते समय क्या गलती की है जिसके कारण उनका चालान किया जा रहा है।

उन्होंने वाहन चालकों से कहा कि वो ट्रैफिक नियमों का पालन करें और ट्रफिक को सुचारू रूप से चलाने में पुलिस के सहायक बने। नियमों की उल्लंघना करने वालों के खिलाफ सख्ती से कार्रवाई की जाएगी

Monday, 26 November 2018

पुलिस की जो जिम्मेवारी है उसे बखूबी निभाया जाएगा: संजय सिंह नवनियुक्त पुलिस कमिश्नर

पुलिस की जो जिम्मेवारी है उसे बखूबी निभाया जाएगा: संजय सिंह नवनियुक्त पुलिस कमिश्नर

फरीदाबाद 26 नवंबर । कमजोर तबके की पहुंच भी कानून तक हो यह सुनिश्चित किया जाएगा - अपनी हद से बाहर जाकर काम करने वाली पुलिस पर भी होगी कार्यवाही - फरीदाबाद के नवनियुक्त पुलिस कमिश्नर संजय सिंह ने आज प्रेस वार्ता के जरिये साफ़ किया पुलिस की मुख्य जिम्मेवारी कानून व्यवस्था बनाय रखने की होती है जिसे फरीदाबाद जिले में और पुख्ता किया जाएगा। उन्होंने कहा की कानून की पालना का मतलब सिर्फ पब्लिक से कानून की पालना करवाना नहीं होता उसमे पुलिस भी शामिल है और यदि कोई पुलिसकर्मी अपनी हद से बाहर जाकर काम करेगा तो उसके खिलाफ भी कार्यवाही होगी। 

 फरीदाबाद जिले के पुलिस कमिश्नर आफिस का है जहाँ आज नवनियुक्त पुलिस कमिश्नर संजय सिंह आज मीडिया से रूबरू हुए.गौरतलब है की पुलिस कमिश्नर संजय सिंह कुछ साल पहले एडिशनल पुलिस कमिश्नर के तौर पर फरीदाबाद में अपनी सेवाएं दे चुके है और अब वह एक बार फिर पुलिस कमिश्नर के रूप में जिले की कमान संभाल रहे है. मिडिया को सम्बोधित करते हुए नवनियुक्त पुलिस कमिश्नर संजय सिंह ने अपनी प्राथमिकताएं बताते हुए कहा की संविधान के अनुसार पुलिस की जो जिम्मेवारी है उसे बखूबी निभाया जाएगा। उन्होंने कहा की पुलिस की मुख्य जिम्मेवारी कानून व्यवस्था बनाय रखने की होती है जिसे और पुख्ता किया जाएगा और जिले में  बढ़ते अपराधों पर नियंत्रण रखते हुए उसमे कमी की जायेगी। उन्होंने कहा की उनकी कोशिश होगी की कमज़ोर तबके के लोगो को न्याय मिल सके ताकि कमजोर तबके की पहुंच कानून तक बनी रहे. वहीँ ट्रेफिक व्यवस्था के मुद्दे पर उन्होंने कहा की सिमित साधनो के चलते ट्रेफिक व्यवस्था में सुधार किया जाएगा जिसमे हम मीडिया और पब्लिक का सहयोग भी लेना चाहेंगे।  उन्होंने साफ़ किया की कानून की पालना का मतलब यह नहीं की सिर्फ पब्लिक ही कानून की पालना करे. जबकि पुलिस भी इसी दायरे में आती है और अगर पुलिस भी अपनी हद से बाहर जाकर काम करेगी तो उसके खिलाफ भी कार्यवाही निश्चित रूप से होगी। 

Wednesday, 21 November 2018

क्राइम ब्रांच प्रभारी विमल कुमार ने देशभर में 7 मर्डर करने वाले मुख्य आरोपी को किया गिरफ्तार

क्राइम ब्रांच प्रभारी विमल कुमार ने देशभर में 7 मर्डर करने वाले मुख्य आरोपी को किया गिरफ्तार

फरीदाबाद 21 नवंबर । फरीदाबाद में हुए ब्लाइंड मर्डर केस का भी हुआ खुलासा ,आरोपियों के खिलाफ कई राज्यों में चोरी एवं लूट के सैकड़ों मामले हैं, दर्ज । आपको बताते चलें कि दिनांक 29-04-2018 को सेक्टर 24 इंडस्ट्रियल एरिया फरीदाबाद में लगभग 25 वर्षीय युवक की आरोपी जगतार और उसके साथी जहांगीर निवासी दिल्ली ने मिलकर लोहे की रॉड से पीट-पीटककर हत्या कर दी थी जिस पर थाना मुजेसर में  मुकदमा नंबर 284 धारा 302 201, 34, आईपीसी  के तहत  दर्ज किया गया था। 

मृतक की शिनाख्त ना होने की वजह से पुलिस ने इस मामले में अदम पता रिपोर्ट दाखिल कर दी थी।

पुलिस कार्यवाही:- श्रीमान पुलिस आयुक्त श्री संजय कुमार IPS के दिशा निर्देश पर श्री लोकेंद्र सिंह डीसीपी क्राईम के नेतृत्व में कार्य करते हुए क्राइम ब्रांच सेक्टर 17 ने फरीदाबाद में हुए ब्लाइंड मर्डर केस  सहित 7 मर्डर करने वाले एवं लूट और चोरी करने वाले तीन आरोपियों को पकड़ने में कामयाबी हासिल की है।

पुलिस टीम:- प्रभारी क्राइम ब्रांच सेक्टर 17 इंस्पेक्टर विमल कुमार, एएसआई अशोक कुमार, एचसी संदीप कुमार, एचसी सोमवीर।

गिरफ्तार किए गए आरोपियों का विवरण:- 

1. जगतार सिंह उर्फ सरदार पुत्र माल सिंह निवासी गांव इस्माइलपुर जिला कुरुक्षेत्र हरियाणा।

2. प्रेम नाथ उर्फ पिंटू पुत्र राम भरत निवासी गांव फूलपुर कलवारी जिला बस्ती उत्तर प्रदेश।

3. गणेश गिरी पुत्र मोहन गिरी निवासी गांव सिमर स्वरूप जिला छपरा बिहार।

डीसीपी क्राइम श्री लोकेंद्र सिंह ने बताया कि आरोपियों को विशेष सूत्रों से मिली सूचना के आधार पर गिरफ्तार किया गया है।

उन्होंने बताया कि दिनांक 29 अप्रैल 2018 को मामूली कहासुनी पर आरोपी जगतार एवं उसके साथी जहांगीर ने मिलकर मृतक अरविंद की हत्या कर दी थी। मृतक अरविंद जगतार के साथ बेलदारी का काम करता था और लेबर चौक मुजेसर पर ही बैठता था जो बिहार का रहने वाला था।

इसके अलावा आरोपियों ने अन्य हत्या एवं लूट की वारदात करने की बात कबूली है जो इस प्रकार है:- 

वारदात नं. 1 :- 

दिनांक 8 नवंबर 2018 को आरोपी जगतार, प्रेमनाथ, एवं गणेश व उसके साथी मिथलेश मिश्रा और राजेश शर्मा ने मिलकर सूरत गुजरात में कपड़ा फैक्ट्री के गार्ड की पत्थर से बर्बरता पूर्वक हत्या करके फैक्ट्री से माल लूट कर भाग गए थे।

वारदात नं. 2 :- 

दिनांक 8 नवंबर 2015 को कुरुक्षेत्र हरियाणा में आरोपी जगतार ने घर में घुसकर एक औरत का गला चाकू से रेत कर उसकी हत्या कर दी थी महिला के द्वारा पहने हुए गहने एवं घर से नगदी वगैरह लूट कर फरार हो गया था मृतक महिला मूर्ति देवी आरोपी जगतार की जानकार थी।

वारदात नं. 3 :- 

दिनांक 31 अगस्त 2008 को शहर संगरूर पंजाब मे आरोपी जगतार ने बर्फ तोड़ने वाले सुए से कबाड़ा गोदाम मालिक पर ताबड़तोड़ वार कर के मौत के घाट उतार दिया था व उसके घर में रखे कैश तथा गहने लेकर फरार हो गया था।

वारदात नं.  4:- 

दिनांक 14 जून 2005 को कुरुक्षेत्र हरियाणा मे आरोपी जगतार ने अपने जानकार युवक पवन की सूचना पर लूट की नियत से घर में घुसकर मकान मालिक कारोबारी कि उस्तरा से गला रेत कर हत्या कर दी थी तथा नगदी व जेवरात चोरी करके फरार हो गया था।

वारदात नं. 5 :- 

वर्ष 2016 में पलवल रेलवे स्टेशन पर आरोपी जगतार ने 30 वर्षीय युवक की गर्दन में चाकू मारकर हत्या कर दी थी व करीब ₹10,000 रुपया छीनकर फरार हो गया था।

वारदात नं. 6 :- 

वर्ष 2016 में नरेला रेलवे स्टेशन दिल्ली में आरोपी जगतार ने एक व्यक्ति को रुपया गिनते हुए देख लिया था जिसके बाद आरोपी ने उस व्यक्ति की अपने साथी जहांगीर के साथ मिलकर हत्या कर दी थी तथा ₹50,000 रुपया लेकर फरार हो गया था।

वारदात नं.  7:- 

आरोपी ने थाना मुजेसर फरीदाबाद एरिया में दिनांक 19 नवंबर 2018 को घातक हथियारों के साथ लुट एवं डकैती करने के लिए योजना बनाई थी।

प्रभारी क्राइम ब्रांच सेक्टर 17 इंस्पेक्टर विमल ने बताया कि देशभर के लगभग 10 जेलों में मुख्य आरोपी जगतार रह चुका है। 

आरोपी जगतार आर्म्स एक्ट एवं एनडीपीएस एक्ट एवं चोरी के विभिन्न मामलों में पकड़े जाने के बाद भी मर्डर के बारे में आरोपी से कोई भी पुलिस खुलासा नहीं करवा पाई थी।

पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने बताया कि  मुख्य आरोपी जगतार देश भर की इन जेलों में रह चुका है:- 

सेंट्रल जेल लुधियाना, सेंट्रल जेल पटियाला, सिक्योरिटी जेल संगरूर, अंबाला जेल, कुरुक्षेत्र जेल, जींद जेल, सोनीपत जेल, डासना जेल गाजियाबाद, हरदोई जेल एवं आगरा जेल।

उन्होंने बताया कि आरोपी देश के लगभग 50 शहरों में वारदातों को अंजाम दे चुका है जिसमें से कुछ प्रमुख स्थान इस प्रकार है:- 

मुंबई, गोवा, सिलीगुड़ी, औरंगाबाद, नरवाना, मोहाली, चंडीगढ़, रोहतक, दिल्ली, लुधियाना, सूरत, संगरूर, कुरुक्षेत्र, अंबाला, नोएडा, और फरीदाबाद प्रमुख स्थान है।

आरोपी जगतार ने बताया कि वह काली माता का भगत है और किसी भी वारदात को अंजाम देने से पहले काली माता के  मंत्रों का 108 बार जाप करता था।

गिरफ्तार 3 आरोपियों से दो पिस्टल एक चाकू एवं दो जिंदा कारतूस बरामद किए गए हैं।

आज आरोपियों को अदालत में पेश कर अदालत से 3 दिन का रिमांड लिया गया है जो आरोपियों से और भी वारदात के खुलासा होने की संभावना है।,,,, फरीदाबाद के ब्लाइंड एरिया में शामिल आरोपी जहांगीर की गिरफ्तारी अभी बकाया है जिसको भी जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

Sunday, 18 November 2018

नवनियुक्त पुलिस आयुक्त संजय कुमार ने कार्यालय पहुच कर पदभार संभाला

नवनियुक्त पुलिस आयुक्त संजय कुमार ने कार्यालय पहुच कर पदभार संभाला

फरीदाबाद, 18 नवंबर:  फरीदाबाद पहुंचने पर उनको, पुलिस आयुक्त कार्यालय में गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया,  इसके उपरान्त डीसीपी मुख्यालय श्रीमती नीतिका गहलोत, डीसीपी एनआईटी श्री विक्रम कपूर, डीसीपी बल्लभगढ़ श्री राजेश कुमार, एसीपी सेंट्रल श्री आत्माराम व पुलिस आयुक्त कार्यालय के कानूनी विशेषज्ञ श्री जोगिंदर सिंह जांगड़ा के द्वारा प्लांटर देकर उनका स्वागत किया गया।

कम उम्र में आईपीएस बनने वाले 1972  में जन्मे श्रीमान संजय कुमार जी 1997 बैच के हरियाणा काडर आईपीएस अधिकारी हैं।

मृदुभाषी और शांत स्वभाव के श्री कुमार हिसार मंडल के पुलिस महानिरीक्षक के पद पर तैनात थे, जो हाल ही में हुए स्थानांतरण पर फरीदाबाद के पुलिस आयुक्त नियुक्त किए गए हैं।

नवनियुक्त पुलिस आयुक्त महोदय पूर्व मे भी फरीदाबाद में बतौर डीसीपी और ज्वाइंट सीपी रह चुके हैं। इसीलिए उन्हें फरीदाबाद की भौगोलिक स्थिति व अपराधिक ग्राफ, पुलिस की कार्यप्रणाली से भलीभांति अवगत है।

फरीदाबाद पुलिस उनके मार्गदर्शन में जनता के साथ तालमेल रखते हुए अपराधिक गतिविधियों और अपराध पर अंकुश लगाने की अपने प्रयास और भी बेहतर करेगी,,, नवनियुक्त पुलिस आयुक्त महोदय का फरीदाबाद की जनता में एक अच्छा नाम है।

Monday, 29 October 2018

क्राइम ब्रांच प्रभारी संदीप मोर ओर रविंदर ने पुलिस की गिरफ्त से छुड़ा कर भागने वाला आरोपी किया ग्रिफ्तार

क्राइम ब्रांच प्रभारी संदीप मोर ओर रविंदर ने पुलिस की गिरफ्त से छुड़ा कर भागने वाला आरोपी किया ग्रिफ्तार

फरीदाबाद 29 अक्टूबर । 3 जिलों के कुख्यात बदमाशों से पूछताछ के बाद दर्जनों हत्याओ और हत्या के प्रयासों के जुर्म में जेल में बंद आरोपी विकास दलाल को पुलिस की गिरफ्त से हथियारों के बल पर छुड़ाने के जुर्म में 7 बदमाश काबू।

जेल में बंद आरोपी विकास दलाल जो दर्जनों भर हत्याओं हत्या के प्रयासों लूट डकैती फिरौती इत्यादि की वारदातों में फरीदाबाद नीमका जेल में बंद था। दिनांक 8 अक्टूबर 2018 की सुबह जब आरोपी विकास दलाल को पुलिस गार्द मेडिकल के लिए लेकर आई तो अचानक से एक लड़का फायर करता हुआ विकास दलाल को पुलिस की गिरफ्त से छुड़ा कर भागने लगा इसी दौरान उसने कई फायर किए जिसमें एक व्यक्ति आम आदमी भी घायल हो गया था।

प्लान के मुताबिक दूसरा लड़का बाइक स्टार्ट कर मेन गेट के पास खड़ा था आरोपी विकास दलाल बाइक पर बैठा और वहां से फरार  हो गए थे।

पुलिस कमिश्नर साहब ने तुरंत इस पर संज्ञान लेते हुए इस अपराध की जांच सेक्टर 30 क्राइम ब्रांच इंचार्ज इंस्पेक्टर संदीप मोर को सौप थी।

 पुलिस कमिश्नर के आदेशानुसार पुलिस उपायुक्त श्री लोकेन्द्र सिंह आईपीएस के दिशा निर्देश पर कार्य करते हुए  क्राइम ब्रांच इंचार्ज संदीप मोर ने अपने स्टाफ व  क्राइम ब्रांच सैक्टर 85 इंचार्ज सब इंस्पेक्टर रविंदर की टीम से तकनीकी टीम व रेडिंग टीम, व  अपने खास मुखबरो इत्यादि को तुरंत प्रभाव से गठित कर इन अपराधियों को पकड़ने के  निर्देश दिए थे।

करीब 100 से ज्यादा सीसीटीवी फुटेज खंगालने के बाद पता लगा कि आरोपी विकास दलाल अपने साथियों के साथ हाईवे मथुरा रोड से होते हुए यूपी की तरफ भागा है सीसीटीवी फुटेज में युवकों की पहचान के लिए अलग-अलग टीमें जिला झज्जर यूपी सोनीपत इत्यादि एरिया में जहां पर विकास दलाल के  केसवार साथी पहले से जेलों में बंद है और जेल से रिहा हो चुके हैं या फिर जमानत पर है ये मनजीत महाल गैंग के सदस्य अपराधी प्रदीप सोलंकी , ललित उर्फ़ लादेन , राहुल व् मोहित उर्फ़ माया , प्रदीप उर्फ़ धोला को जेल से प्रोडक्शन वारंट पर लेकर भगोड़े विकास दलाल के सम्बन्ध में पुछताछ की गई  और अन्य करीब 35 से 40 ऐसे कुख्यात अपराधियों से भी पूछताछ की गई जिन्होंने सीसीटीवी फुटेज में आये सभी आरोपियों की पहचान करवा दी।

तकनीकी टीम में सैक्टर 85 क्राइम ब्रांच की टीम से स्वयम इंचार्ज रविंदर कुमार ,सैक्टर 30 क्राइम ब्रांच से सिपाही मनोज कुमार साइबर सेल की समस्त टीम का से केस को सुलझाने में अहम योगदान रहा

आरोपियों ने पूछताछ पर बताया कि संदीप निवासी छपरौला जो आरोपी विकास दलाल के साथ जेल नीमका में काफी समय तक बंद था दोनो में गहरी दोस्ती है आरोपी संदीप की एक मर्डर के केस में 20 साल की सजा हो चुकी है जो जमानत पर बाहर आया हुआ है आरोपी संदीप ने पूरे घटनाक्रम को करवाने के लिए योजनाबद्ध तरीके से हॉस्पिटल के आसपास की रेकी करवाई व 3 दिन पहले ही बदमाशों 7 बदमाशो को फरीदाबाद बुला लिया और घटना के दिन सभी बदमाशों को अलग अलग फिल्मी स्टाइल में कार्य सौंप दिया जिनमें से एक बदमाश को विकास के साथ पुलिस गार्द पार्टी पर फायर करते हुए भागने की ,दो बदमाशों को बाइक स्टार्ट रख कर  मेंन गेट पर खड़े रहने की ओर आरोपी विकास दलाल को हॉस्पिटल से लेकर तिकोना पॉर्क के पास खड़ी गाड़ीयो तक पहुँचाने की व दो बदमाशों को अलग अलग दो गाड़ियों को तिकोना पार्क के पास  स्टार्ट कर तैयार रहने की, एक बदमाश को  इसलिए चिली स्प्रे दिया गया था की यदि कोई भी आम जनता या पुलिस के साथ झड़प इत्यादि हो तो उनकी आंखों में स्प्रे मार देना है , दो बदमाशो को असला लेकर मेंन गेट पे तैनात किया गया था ताकि कोई भी घटना के समय गेट को बंद न कर दे और इन सब के बावजूद भी बात ना बने तो पब्लिक और पुलिस पार्टी पर फायर करने को कहा गया था सभी बदमाशो के पास अवैध असले थे ।

गिरफ्तार आरोपी :-
1. संदीप पुत्र विजेंदर निवासी गांव छपरौला थाना सदर पलवल 
2. आशीष पुत्र राम कुमार निवासी गाँव रोहना जिला मुजफ्फरनगर यू.पी 
3. कविंदर पुत्र पुष्कर निवासी कसौली जिला मुजफ्फरनगर यू.पी 
4. सोहन सिंह उर्फ सोनू पुत्र कुंवरपाल निवासी गाँव हताना थाना छाता मथुरा यूपी 
5. प्रशांत उर्फ सोनू पुत्र रामप्रसाद निवासी पलवल 
6. प्रदीप उर्फ धोला पुत्र बेड़ा सिंह निवासी गांव बहराणा जिला झज्जर 
7. हासिम पुत्र इलियास निवासी गाँव नंगला सिरौली थाना कोसी मथुरा यू.पी 

आरोपियों के कब्जे से वारदात में प्रयोग 

एक पल्सर मोटरसाइकिल 
एक गाड़ी टोयोटा कोरोला 
एक गाड़ी मारुति स्विफ्ट 
तीन तमंचे 315 बोर 
2 तमंचे 12 बोर 
4 रौंद 12 बोर 
6 रोंद 315 बोर 
आरोपी विकास दलाल की शर्ट 

सभी आरोपी पुलिस रिमांड पर थे जिनसे उपरोक्त असला, व्हीकल इत्यादि बरामद कर आज सभी आरोपियों को अदालत में पेश कर जेल भेज दिया है।

Wednesday, 24 October 2018

क्राइम ब्रांच प्रभारी संदीप मोर और रविंदर की टीम ने जान से मारने की धमकी और फिरौती मांगने वाले युवक को किया गिरफ्तार

क्राइम ब्रांच प्रभारी संदीप मोर और रविंदर की टीम ने जान से मारने की धमकी और फिरौती मांगने वाले युवक को किया गिरफ्तार

फरीदाबाद 24 अक्टूबर । पुलिस आयुक्त  अमिताभ सिंह  ढिल्लों व  पुलिस उपायुक्त अपराध  श्री  लोकेंद्र सिंह आईपीएस के दिशा निर्देश पर  कार्य करते हुए टीम संदीप मोर ने शहर के महापौर मनमोहन गर्ग पुत्र श्री पोखर मल गर्ग निवासी 1306 डी सेक्टर 14 फरीदाबाद से गवाही ना देने और जान से मारने की धमकी देकर ₹500000 की फिरौती पत्र द्वारा मांगने के जुर्म में दीपक उर्फ दीपू निवासी अजरौंदा को गिरफ्तार कर लिया है

आपको अवगत करा दे की  मनमोहन गर्ग जो कि जिला फरीदाबाद में महापौर के पद पर कार्यरत है करीब 1 साल पहले मनमोहन गर्ग  के बेटे व आरोपी दीपक उर्फ दीपू निवासी अजरौंदा के बीच झगड़ा हो गया था जिसमें मनमोहन गर्ग के बेटे सिद्धार्थ के दीपक उर्फ दीपू ने हाथ पैर तोड़ दिए थे जिस पर दीपक के खिलाफ थाना सेंट्रल में मुकदमा दर्ज रजिस्टर हुआ था अब उसी मुकदमा में गवाही की तारीख  आने के बाद दीपक उर्फ दीपू ने अपने खिलाफ गवाही ना देने का दबाव बनाकर जान से मारने की धमकी देकर एक पत्र 13 अक्टूबर 2018 को डाक द्वारा मनमोहन के घर भिजवा दिया जिसमें साफ-साफ लिखा गया था कि यदि तुमने मेरे खिलाफ गवाही दी तो इसका अंजाम बुरा होगा जान से मारने की धमकी देते हुए ₹500000 की रंगदारी भी मांगी मनमोहन सिंह ने समय रहते इसकी सूचना पुलिस को दे दी

 जिस पर अभियोग संख्या 1057 दिनांक 20 10 2018 धारा 387 506 भारतीय दंड संहिता थाना फरीदाबाद सेंट्रल दर्ज रजिस्टर किया गया 

इस पर कार्रवाई करते हुए आज दिनांक 24.10.18 को 

पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने बताया कि आरोपी दीपक उर्फ दीपू पुत्र घनश्याम निवासी अजरौंदा को गिरफ्तार को गिरफतार कर अदालत मे पेश कर  पूछताछ के लिए 1 दिन का पुलिस रिमाण्ड लिया गया है।
क्राइम ब्रांच प्रभारी संदीप मोर ने शहर में भय का माहौल बनाने वाले युवकों को किया गिरफ्तार

क्राइम ब्रांच प्रभारी संदीप मोर ने शहर में भय का माहौल बनाने वाले युवकों को किया गिरफ्तार

फरीदाबाद 24 अक्टूबर । रक्षा का सेक्टर 30 की टीम ने श्रीमान पुलिस आयुक्त अमिताभ ढिल्लों व पुलिस उपायुक्त अपराध फरीदाबाद श्री लोकेंद्र सिंह आईपीएस के दिशा निर्देश पर कार्य करते हुए 5 नौजवान युवकों को जान से मारने की नियत से मारपीट गोली चलाने के जुर्म में गिरफ्तार किया है आपको अवगत करा दें कि दिनांक 26.09.2018 को सेक्टर 24 मुजेसर पेट्रोल पंप के पास सरूरपुर के रहने वाले सचिन को गोविंदा ,सूरज सिंह ,राहुल ,राजीव अनूप  जो कि पर्वतीय कॉलोनी संजय कॉलोनी तिवारी के रहने वाले हैं ने सचिन को धोखे से पेट्रोल पंप के पास बुलाकर उसके साथ जबरन  हथौडो,लोहे की रॉड ,डंडो,कुल्हाड़ी इत्यादि से मारकर यह सोच कर वहां से चले गए कि सचिन तो मर चुका है



जिस पर अभियोग संख्या 640 दिनांक 26 नौ 2018 धारा 148 149 323 506 307 379b भारतीय दंड संहिता व 25 54 59 आर्म्स एक्ट थाना मुजेसर फरीदाबाद दर्ज रजिस्टर किया गया


 जिस पर कार्रवाई करते हुए टीम संदीप मोर ने 5 लड़कों को गिरफ्तार कर लिया है 


गिरफ्तार शुदा आरोपीगण

1. गोविंदा पुत्र अखे सिंह निवासी मकान नंबर D 73 नजदीक नीमस हॉस्पिटल संजय कॉलोनी सेक्टर 23 फरीदाबाद 

2. सूरज सिंह उर्फ गढ़वाली पुत्र रविंदर रावत निवासी मकान नंबर 1039 गली नंबर 7 नियर प्रेम डेरी पर्वतीय कॉलोनी थाना सारण फरीदाबाद 

3. राहुल पुत्र कमल किशोर निवासी एमसीएफ 5591 गली नंबर 24,  33 फुटा रोड संजय कॉलोनी सेक्टर 23 फरीदाबाद

4.  राजीव उर्फ राजू पुत्र श्यामलाल यादव निवासी गांव थावे  थाना गोपालगंज जिला गोपालगंज बिहार हाल मकान नंबर 12  बीपीटीपी ए ब्लॉक सेक्टर 84 फरीदाबाद 

5. अनूप पुत्र हरिराम गुप्ता निवासी मकान नंबर 3575 गली नंबर 13 संजय कॉलोनी सेक्टर 23 फरीदाबाद 

पुलिस प्रवक्ता सुबे सिह ने बताया की आरोपियों से वारदात प्रयोग में स्कोर्पियो गाड़ी व स्कूटी, कुल्हाड़ी, हथोड़ा,लोहे की पाइप व राड ,लकड़ी के डंडे इत्यादि बरामद कर सभी आरोपियों को आज कोर्ट में पेश कर नीमका जेल भेज दिया है। PRO CP office Fbd

Saturday, 20 October 2018

क्राइम ब्रांच बड़खल के प्रभारी अनिल छिल्लर ने 4 साल पुराने ब्लाइंड मर्डर केस का किया खुलासा

क्राइम ब्रांच बड़खल के प्रभारी अनिल छिल्लर ने 4 साल पुराने ब्लाइंड मर्डर केस का किया खुलासा

फरीदाबाद 21 अक्टूबर । दो आरोपियों को गिरफ्तार करने में मिली सफलता अभी तक मृतक और हत्यारों का कोई सुराग नही लगा था। 
आपको बताते चलें कि 26 जनवरी 2014 को थाना भूपानी के नहरपार एरिया में एक अधजली डेड बॉडी मिली थी, जो ककांल मात्र था।

इस संदर्भ में थाना भूपानी में मुकदमा नंबर 23 दिनांक 26 जनवरी 2014, धारा 302, 201, 34 आईपीसी के तहत हत्या का मुकदमा दर्ज किया गया था ।

 श्रीमान पुलिस कमिश्नर श्री अमिताभ सिंह ढिल्लो व् DCP Crime श्री लोकेंद्र जी के दिशा निर्देश पर कार्यवाही करते हुए क्राइम ब्रांच बड़खल  प्रभारी PSI अनिल छिल्लर व उनकी टीम के सब इंस्पेक्टर शमशेर हवलदार सतीश, कुलदीप, सिपाही अनिल ,विकास और कृष्ण  ने  कार्य करते  हुये  दो अपरापियो को  गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है।

 जिनसे 2014 के ब्लाइंड मर्डर का खुलासा हुआ हैं।


मनोज उर्फ सेठी पुत्र जयराम निवासी शंकर एनक्लेव, कॉलोनी भूपानी

मोंटी पुत्र हुकम सिंह निवासी भारत कॉलोनी, कच्चा खेड़ी रोड भूपानी।

उपरोक्त दोनों आरोपियों को मुखबिर की सूचना पर दिनांक 17 अक्टूबर 2018 को मास्टर रोड थाना भूपानी ऐरिया से गिरफ्तार कर पुलिस रिमांड पर लिया गया था।

पुलिस रिमांड के दौरान  पूछताछ पर पता लगा कि दोनो आरोपियो मोंटी व मनोज @सेठी , जिन्होंने 2014 में दीपक @काकू को थाना भूपानी के एरिया में एसआरएस की बिल्डिंग के पीछे खाली मैदान में, दीपक @काकू को सर पर पत्थर मारकर मार दिया था और फिर पेट्रोल डाल कर नाश को आग लगा दी थी। 

 उपरोक्त केश अभी तक ब्लाइंड मर्डर था जिसकी मृतक की शिनाख्त नही हो पाई थी और ना ही आरोपियों के बारे कोई सुराग लग पाया था । 

पूछताछ में खुलासा हुआ कि इस वारदात में सुनील @अंडा भी शामिल था जो अभी फरार है। सुनील उर्फ अंडा मृतक से चोरी का सामान लेता था।

 सुनील@अंडा, मनोज @सेठी व मोंटी ने मिलकर काकू का मर्डर कर दिया व बाद में पेट्रोल डाल कर नाश को आग लगा कर मौके से भाग गए थे। 

मृतक दीपक @काकू स्वयं चौर था उस पर चौरी के काफी मुकदमे दर्ज थे । आरोपियों के साथ काकू का पैसों का लेनदेन था उसकी वजह से ही उपरोक्त आरोपियो ने काकू को मौत के घाट उतार दिया और  उसकी डेड बॉडी पर पेट्रोल डाल कर आग लगा दी। ताकी डेड बॉडी की पहचान ना हो सके।

पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने बताया कि मनोज उर्फ शेट्टी और मोंटी दोनों आरोपियों का रिमांड पूरा होने पर आज पेश अदालत किया गया जहां से अदालत है उनको जेल भेज दिया है। तीसरे फरार आरोपी को जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा।
स्पा सेंटर की आड़ में चल रहे देह व्यपार का धंधा करने वाली 4 लड़कियों को किया गिरफ्तार : भारत भूषण एसएचओ

स्पा सेंटर की आड़ में चल रहे देह व्यपार का धंधा करने वाली 4 लड़कियों को किया गिरफ्तार : भारत भूषण एसएचओ

फ़रीदाबाद 21 अक्टूबर । स्पा सेंटर की आड़ में देह व्यापार का अड्डा चलाने वाले स्पा सेंटर पर पुलिस का छापा । 4 लड़कियां और एक युवक गिरफ्तार । मामला दिल्ली से सटे फरीदाबाद का है जहां पुलिस ने एक शिकायत पर कार्यवाही करते हुए सैक्स रैकेट का धंदा करने वाली चार युवतियों और एक पुरुष ग्राहक को गिरफ्तार किया है । 


  भारत भूषण ( एसएचओ कोतवाली ) : पुलिस की गिरफ्त में नजर आ रही इन चार लड़कियों पर आरोप है कि यह स्पा सेंटर की आड़ में देह व्यापार का अड्डा चला रहे थी । एसएचओ कोतवाली भारतभूषण के मुताबिक जैसे ही उन्हें सूचना मिली तुरंत उन्होंने रेड पार्टी बनाई और सपा सेंटर पर छापा मारा जहां चार लड़कियों और एक युवक को  आपत्तिजनक हालत में  पाया गया  । पुलिस के मुताबिक  स्पा सेंटर की तलाशी के दौरान काफी संख्या में  कंडोम और  सेक्स पावर बढ़ाने वाली चीजें भी मिली है ।  फिलहाल पुलिस ने 4 लड़कियों और एक ग्राहक  सहित  इन पांचों को गिरफ्तार कर लिया है । पुलिस ने लोगो से ये अपील की है  कि उन्हें कहीं भी स्पा सेंटर की आड़ में सेक्स रैकेट चलाने की सूचना हो तो पुलिस के साथ शेयर जरूर करे ।  



Monday, 15 October 2018

क्राइम ब्रांच के प्रभारी रविंदर ने करीब 19 लाख रुपए नकद व 25 किलो गांजा सहित एक आरोपी को किया गिरफ्तार

क्राइम ब्रांच के प्रभारी रविंदर ने करीब 19 लाख रुपए नकद व 25 किलो गांजा सहित एक आरोपी को किया गिरफ्तार

फरीदाबाद 15 अक्टूबर : पुलिस आयुक्त श्री अमिताभ सिंह ढिल्लों के द्वारा त्यौहार के सीजन पर नशाखोरी करने व बेचने वाले आरोपियो के विरुद्ध कार्यवाही करने के दिए गए निर्देश पर श्री लोकेंद्र सिंह उयायुक्त अपराध, के मार्गदर्शन मे कार्य करते हुए क्राइम ब्रांच सैक्टर 85 प्रभारी रविंदर कुमार और उसकी टीम ने एसएचओं मुझेसर के साथ सुयुक्त रूप से कार्यवाही करते हुए मुखबिर की सूचना पर शहर में नशे के एक एसे अड्डे पर छापा मारी कर नशीले प्रदार्थ की एक बड़ी खेप पकड़ी है। 

जैसा की विदित है कि शहर के सेक्टर 22 में मछली मार्किट के आस पास नशीले प्रदार्थ जैसे शराब,स्मेक गांजा इत्यादि बेचा जाता है। और पहले भी कई बार पुलिस ने कार्यवाही करते हुये बिजेंदर उर्फ़ लाला को मादक प्रदार्थ बेचने के आरोप में मछली मार्कीट से गिरफ्तार किया है।   

सैक्टर 85 क्राइम ब्रांच प्रभारी रविन्द्र ने बताया की हमारी टीम ने सैक्टर 22 मछली मार्किट के पास बसी झुग्गियो में छापे मारी कर जोनी नाम के एक शक्स को गिरफ्तार किया है जिसके कब्जा से गांजा शराब इत्यादि बेचकर कमाई गई रकम करीब 19 लाख रूपये,25 किलो मादक प्रदार्थ गांजा,10 पेट्टी अंग्रेजी शराब व् एक देशी कट्टा बरामद किया है।

आरोपी ने पूछताछ पर बतलाया है उसके साथ इस धन्धे मे उसका लड़का लाला भी शामिल है और यह गांजा उड़ीसा बिहार इत्यादि से लाते है और यहाँ लाकर फुटकर में बेचा जाता है।

अवेध रूप से चल रहे इस धन्दे का पर्दाफास कर आरोपी के खिलाफ थाना मुजेसर में 
मुकदमा न- 695  दिनांक 14/10/18  निम्न धाराओ के 20-61-85 NDPS ACT 61-1-14 EX ACT 25-54-59 A.ACT दर्ज  किया गया ।

पुलिस प्रवक्ता सुबे सिंह ने बताया कि आरोपी जोनी नरोना पुत्र लोरेन निवासी शिवाजी नगर झुग्गी सैक्टर 22 मुजेसर को गिरफ्तार कर ,,, 
उसके कब्जे से करीब 25 किलो गांजा, 10 पेट्टी अंग्रेजी शराब , 18 लाख 69 हजार 240 रूपये नकद और एक देशी कट्टा बरामद किया गया है। आरोपी को आज कोर्ट पेश कर जेल भेजा जाए भेजा गया।

आरोपी का पुत्र लाला उर्फ वीरेंद्र भी इस धंधे में काफी समय से  सम्मिलित रहा है उसको भी जल्द गिरफ्तार किया जाएगा।PRO CP Office Fbd

Saturday, 13 October 2018

चाचा चौक से एटीएम उखाड़ने वाले चार अरोर्पी ग्रिफ्तार

चाचा चौक से एटीएम उखाड़ने वाले चार अरोर्पी ग्रिफ्तार

फरीदाबाद, 13 अक्टूबर: पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने बताया कि दिनांक 30.9.18 को पर्वतीय कॉलोनी चाचा चोक स्थित HDFC BANK ATM को रात के समय 10 लोगो द्वारा हथियार से लैश होकर बलेरो गाड़ी द्वारा ATM मशीन को जड़ से उखाड़ कर गाड़ी में लाद कर ले गये थे | 

विरोध करने पर गिरोह के सदस्यों द्वारा हथियार व पत्थरों का प्रयोग किया गया था | 

जिसपर मुकदमा न० 678 दिनांक 30.9.18 धारा 395,397, IPC 25.54.59 A.ACT  थाना सारन फरीदाबाद में दर्ज किया गया था।
श्रीमान पुलिस आयुक्त अमिताभ सिंह ढिल्लो के दिशा निर्देश पर श्रीमान पुलिस उपायुक्त श्री लोकेन्द्र सिंह के मार्ग दर्शन में कार्य करते हुये निरीक्षक आनन्द कुमार प्रभारी सेक्टर 56 फरीदाबाद ने वारदात के स्थान पर जुटाए गए सबूतों के आधार पर मेवाती गैंग के मुख्य सरगना दिलावर सहित 4 आरोपियों को दिनांक 7.10.18 को  गिरफ्तार करने में कामयाबी हासिल की है।

पुलिस टीम :-INSP.  आनंद कुमार,ASI नरेश कुमार, ASI जसबीर सिंह, EASI दुशियंत, HC सुनील कुमार, CT विक्रम कुमार, CT गिर्राज, CT सुभाष कुमार, CT मोहन श्याम, CT सहाबुदीन,CT  राहुल, CT मनीष, CT सनीम।

प्रभारी क्राइम ब्रांच ने  बताया कि सभी आरोपी दिनांक 14.10.18 तक पुलिस रिमाण्ड पर हैं | अब तक रिमाण्ड के दोरान गिरफ्तार किये गये आरोपियान से घटना में प्रयोग की गई गाड़ी बलेरो पिकप HR55X2269, ATM काट कर निकाली गई रकम में से 45000/- रूपये व ATM मशीन के कुछ पार्ट आरोपियान से बरामद किये गये हैं |

पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि मुख्य सरगना दिलावर को अपना कर्जा उतारने के लिये पैसो की अवश्यकता थी | जिसने पहले अपने साथियों के साथ मिल कर नगीना से भैस चोरी की | इसके बाद अपने अन्य साथियों के साथ सलाह मशोरा करके ATM मशीन को ही उखाड़ कर पैसे निकलने वालो से मिलकर रात के समय घटना को अंजाम दिया और ATM ले जाने के बाद दिलावर ने ही अपने मुख्य साथी अकरम व तारीफ सिग्गंर को साथ ले कर ATM मशीन को काटने के लिये गैस कटर का इंतजाम अपनी ससुराल गाँव बजाड़ ईलाका थाना नुहं मेवात से किया था।

गिरफ्तार आरोपीयान:-

1. शाहून @ हाकिल पुत्र सरफुदीन निवासी नगीना थाना नगीना जिला नुह {मेवात }

2.  दिलावर पुत्र कमालदीन निवासी गाँव अलीपुर तिगरा थाना फिरोजपुर झिरका जिला नुह {मेवात } को ईलाका थाना नगीना से गिरफ्तार किया गया |

3. तारीफ पुत्र बुद्दू निवासी गाँव सिंगार थाना बिछोर जिला नुहं {मेवात } को रिलाइंस पैट्रोल पंप  पुन्हाना से गिरफ्तार किया गया |

4. तारीफ पुत्र मकशुद @ मग्गर निवासी नगीना थाना नगीना जिला नुह {मेवात } को दिनांक 10.10.18 को गिरफ्तार किया गया था |

Monday, 8 October 2018

 बीके हॉस्पिटल में जमकर हुई फायरिंग

बीके हॉस्पिटल में जमकर हुई फायरिंग

फरीदाबाद 8 अक्टूबर । फरीदाबाद में पुलिस और झज्जर के मंजीत महाल गिरोह के बदमाशों में हुई मुठभेड़ ,CCTV में कैद हुई तस्वीरें ,विचाराधीन अपने कैदी साथी को पुलिस से छुड़ा कर भागे बदमाश ,दोनों तरफ़ से हुई जमकर फायरिंग,दो बाइकों पर अपने साथी को लेकर भागे बदमाश।

इस तस्वीर को जरा ध्यान से देखिए । किस तरह मुंह पर कपड़ा बांधे  दो बदमाश फायरिंग करते और भागते हुए नजर आ रहे हैं और साफ दिख रहा है कि किस तरह उनके पीछे एक पुलिसकर्मी भाग रहा है । मामला  दिल्ली से सटे फरीदाबाद के बीके हॉस्पिटल का है  जहा  कुछ बदमाश अपने  साथी को छुड़ाने पहुंचे  और अस्पताल में फायरिंग शुरू कर दी ।  अस्पताल में फायरिंग की आवाज सुनकर  अफरा तफरी मच गई और गोली  एक व्यक्ति को जा लगी ।  इसी बीच बदमाश अपने साथी विकास दलाल को पुलिस की गिरफ्त से छुड़ाने में कामयाब हो गए । आरोपी विकास पर 17 हत्याओ के मामले बताये जा रहे है ।  विकास दलाल को आज बीके हॉस्पिटल में दांत के इलाज के लिए लाया गया था जैसे ही डॉक्टर को दिखा कर पुलिसकर्मी विकास को लेकर बाहर निकले वैसे ही विकास के साथी ने  अस्पताल में फायरिंग शुरू कर दी और उसे छुड़ा कर भाग गए । 

सुनील  ,नीमका जेल से आया पुलिसकर्मी - हम उसे दिखाने के लिए बीके हॉस्पिटल आए थे जैसे ही बाहर निकले उसके एक साथी ने फायरिंग शुरू कर दी जबकि 2 साथी बाहर रुके हुए थे इस बीच विकास हमसे हाथ छुड़ा कर भाग गया.


इस दौरान पुलिस और बदमशों में हुई कई राउंड फायरिंग में अस्पताल के गेट पर चाय पी रहे एक शख्स को छाती में गोली लग गई ।  जिसे तुरन्त अस्पताल में भर्ती करवाया गया जहाँ उसकी गंभीर हालत को देखते हुए दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल रेफर कर दिया गया।


दिनदहाड़े हॉस्पिटल में हुई फायरिंग और बदमाश को छुड़ा कर ले जाने के मामले में पुलिस अधिकारी कुछ भी कहने से बच रहे हैं । 

Thursday, 4 October 2018

लापता 3 छात्रों को पुलिस टीम द्वारा अंबाला से बरामद कर सकुशल उनके परिजनों को सौंपा

लापता 3 छात्रों को पुलिस टीम द्वारा अंबाला से बरामद कर सकुशल उनके परिजनों को सौंपा

फरीदाबाद ,4 अक्टूबर । 3 अक्टूबर 2018 को घर से अमृतसर गोल्डन टैंपल देखने निकले टैंगोर स्कूल के आठवीं कक्षा के तीन बच्चों के लापता होने की खबर  पर पुलिस ने तुरंत थाना सेक्टर 7 में मुकदमा दर्ज कर मामले को अधिकारियों के संज्ञान में लाया गया। 

श्रीमान पुलिस आयुक्त श्री अमिताभ सिंह ढिल्लों ने तीन बच्चों की गुमशुदगी के मामले को गंभीरता से लेते हुए तुरंत डीसीपी क्राइम , एसीपी सिटी बल्लभगढ़ को निर्देश देते हुए क्राइम ब्रांच, मिसिंग पर्सन सेल सहित 7 टीम तैयार की गई।

एसीपी सिटी बल्लभगढ़ के नेतृत्व में सभी  टीमों ने तालमेल से कार्य करते हुए पुलिस ने मात्र छह घंटे में अंबाला कैंट से तीनों बच्चों को तलाश कर बरामद किया गया है।

एसीपी सिटी बलबीर सिंह की जीआरपी पुलिस का सहयोग लेकर इन तीनों बच्चों बरामदगी मे अहम भूमिका रही। 

एसीपी कार्यालय में आयोजित पत्रकार वार्ता में गुरुवार को एसीपी बलवीर सिंह ने बताया कि सेक्टर-तीन स्थित टैंगोर स्कूल के आठवीं कक्षा के तीन बच्चे अर्जुन, तुषार व अमनदीप उम्र 12-13 साल स्कूल की छुट्टी होने के बाद घर नहीं पहुंचे। वह मेट्रो स्टेशन से पुरानी दिल्ली स्टेशन पहुंच गए। यह अपने स्कूल बैग में अपने कुछ कपड़े व पैसे भी ले गए। इसके बाद वह जम्मू को जाने वाली उत्तरक्रांति नामक ट्रेन में बैठने के लिए टिकट लेने की जुगत में थे, लेकिन उन्हें टिकट नहीं मिली। इधर, इन बच्चों के माता-पिता ने पुलिस चौकी सेक्टर 3 में गुम गुमशुदगी लिखवाई थी।
-------------------- 
उत्तर क्रांति ट्रेन में यात्रा कर रही महिला जमीला के सहयोग से बच्चों तक पहुंची पुलिस।

इस प्रकरण में मीडिया और सोशल मीडिया का योगदान भी रहा सराहनीय।

अुर्जन, तुषार व अमनदीप जब रेलवे स्टेशन पर थे, तभी उन्हें जमीला पत्नी जसवंत निवासी मालदा मिली। जिसे लुधियाना जाना था। उन्होंने इन बच्चों से पूछा कि कहां जाओगे। बच्चों को देखकर महिला को शक हो गया। उसने इन बच्चों से कहा कि वह अपने माता-पिता से बात कराओं। इनमें से अमनदीप ने अपने एक अन्य सहपाठी दोस्त अभय से जमीला की बात करा दी।

 पूछताछ में पुलिस ने अभय से बातचीत की तो उसने बताया कि जमीला के फोन से उसके पास फोन आया है। शायद तीनों उसके पास ही है। पुलिस ने तुरंत जमीला से बातचीत कर तीनों को अपने पास रखते हुए अपने साथ ले जाने के लिए कहा। पुलिस महिला के संपर्क में लगातार बनी रही।

 पुलिस आयुक्त श्री अमिताभ सिंह ढिल्लों के द्वारा जीआरपी के आला अधिकारियों से बातचीत की गई। आखिर महिला तीनों बच्चों को लेकर उत्तरक्रांति ट्रेन में बैठ गई। इसके बाद जीआरपी की मदद से अंबाला कैंट में ट्रैन को करीब 30 मिनट रूकवाकर देर रात बच्चों को ट्रेन से सकुशल बरामद किया गया। 

------------------------ सेक्टर 3 पुलिस चौकी इंचार्ज रामनाथ और उनकी टीम तीनों बच्चों को लेकर  गुरुवार सुबह फरीदाबाद पहुंची। उसके बाद तीनों बच्चों की उचित कानूनी प्रक्रिया का पालन करते हुए  तीनों को उनके माता-पिता के हवाले कर दिया गया। पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह

Friday, 21 September 2018

क्राइम ब्रांच के प्रभारी संदीप मोर ने दो  चोर और एक गांजा तस्कर को किया  गिरफ्तार

क्राइम ब्रांच के प्रभारी संदीप मोर ने दो चोर और एक गांजा तस्कर को किया गिरफ्तार

फरीदाबाद, 21 सितंबर।  अपराध शाखा सेक्टर 30 ने कई चोर उचक्कों को दबोचा है। अपराध शाखा सेक्टर 30 के प्रभारी इंस्पेक्टर संदीप मोर ने बताया कि सुधीर पुत्र दर्शन लाल को गांजे के साथ दबोचा गया है जो तीन नंबर के पास राहुल कालोनी में रहता था और इसके पास से एक किलो 100 ग्राम गांजा बरामद किया है। उन्होंने बताया कि एक अन्य मामले में प्रमोद पुत्र धनेश्वर को गिरफ्तार किया गया है जिसके पास से 52 00 रूपये बरामद किये गए हैं। उन्होंने बताया कि ये उड़ीशा का रहने वाला है और वर्तमान में सेक्टर 20 के पास रामनगर की झुग्गियों में रहता था और इस पर थाना सेक्टर 31 में मामला दर्ज है। इंस्पेक्टर मोर ने बताया कि एक और मामले में अमर सिंह पुत्र तेज सिंह को गिरफ्तार किया गया है जिसके पास से एक मोटरसाइकिल बरामद की गई है और इस पर थाना पल्ला में मामला दर्ज है और ये पलवल का रहने वाला है।

Thursday, 20 September 2018

गैंगरेप मामले में तीन आरोपी गिरफतार, एक फरार

गैंगरेप मामले में तीन आरोपी गिरफतार, एक फरार

फरीदाबाद,20 सितम्बर। फरीदाबाद बाईपास रोड पर अपने दोस्त के संग बातचीत कर रही युवती के साथ किये गये गैंगरेप मामले में पुलिस ने 36 घंटे में 3 आरोपियों को पकडने में सफलता हासिल की है, मगर एक आरोपी अभी भी पुलिस की गिरफत से बाहर हैै। दो दिन पहले फरीदाबाद बाईपास रोड पर 4 युवकों ने एक युवती के दोस्त को बंधक बनाकर उसके साथ मारपीट करने के बाद गैंगरेप की घटना को अंजाम दिया था।

फरीदाबाद बाईपास रोड गैंगरेप मामले में फरीदाबाद पुलिस आयुक्त अभिताभ सिंह ढिल्लो ने प्रेसवार्ता कर खुलासा किया है कि पुलिस ने कडी मेहनत के बाद 36 घंटों के अंदर ही पूरे गैंगरेप मामले को सुलझाने में सफलता हासिल की है। पुलिस आयुक्त ने बताया कि दो दिन पहले युवती अपने साथी के साथ दवा लेने के लिये बाईपास के रास्ते बाजार जा रही थी, आगरा नहर के पास दोनों खडे होकर आपस में बातचीत कर रहे थे तभी 4 युवक आये और युवक और युवती के साथ मारपीट करने लगे, मारपीट करने के बाद युवकों ने युवती को झाडियों में ले जाकर गैंगेरेप की वारदात को अंजाम दिया, जिसकी शिकायत महिला थाने में मिलने के बाद एसआईटी गठित की और टीम ने 3 आरोपियों को गिरफतार कर लिया। जिसमें एक आरोपी अभी भी फरार है। चारों आरोपी 25 साल की उम्र से कम के हैं जो के बल्लभगढ क्षेत्र में चोरी जैसी वारदातों को अंजाम देते थे। पुलिस शिनाख्त परेड के लिये कोर्ट से समय मांगेगी और मौके पर जाकर आरोपियों की शिनाख्त परेड करवाई जायेगी।

  अभिताभ सिंह ढिल्लो, फरीदाबाद पुलिस आयुक्त।

Wednesday, 22 August 2018

 क्राइम ब्रांच 56 के प्रभारी आनंद कुमार ने अवैध रूप से आधार कार्ड बनाने वाले दो आरोपियों को दबोचा

क्राइम ब्रांच 56 के प्रभारी आनंद कुमार ने अवैध रूप से आधार कार्ड बनाने वाले दो आरोपियों को दबोचा

फरीदाबाद 22 अगस्त । पुलिस आयुक्त अमिताभ सिंह ढिल्लों के दिशा निर्देश पर व श्रीमान पुलिस उपायुक्त श्री लोकेंद्र सिंह के मार्ग दर्शन पर कार्य करते हुये निरीक्षक आनंद कुमार प्रभारी क्राइम ब्रांच सेक्टर 56 फरीदाबाद ने थाना मुजेसर के एरिया में अवैध रूप से आधार कार्ड बनाने व बने हुए आधार कार्ड में नाम पता वह उम्र में जानकारी छुपाकर बदलने वाले गिरोह को गिरफ्तार करने में कामयाबी हासिल की है।

गिरफ्तार किए गए आरोपियों का विवरण:-

1. विकास गुप्ता उर्फ जितेंद्र निवासी गांव लुचियान जिला गाजीपुर बिहार।

2. दीपक गुप्ता निवासी गांव लुचियान जिला गाजीपुर बिहार।


प्रभारी क्राइम ब्रांच ने बताया कि उनकी टीम ने दिनांक 18 अगस्त 2018 को विकास गुप्ता उर्फ जितेंद्र  व साथी दीपक गुप्ता को संजय कॉलोनी थाना मुझे सर इलाके से गिरफ्तार किया था।

आरोपी आधार कार्ड बनाए जाने मैं प्रयोग लाई जा रहे कंप्यूटर नए बनाए बदलाव किए 43 आधार कार्ड पर 22 रसीदें बरामद की है।

प्रभारी क्राइम ब्रांच ने बताया दोनों आरोपी समय में बदलाव करते हुए शाम 5:00 से 10:00 बजे तक राजेंद्र चौक किराए के कार्यालय में अवैध रूप से कार्ड बनाने का काम करते थे पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि आरोपी दीपक और विकास अब तक करीब डेढ़ सौ नए आधार कार्ड बना चुके हैं और करीब 400 आधार कार्डों में बदलाव कर चुके हैं कार्ड बनाने वह बदलाव करने में 200 से ₹500 प्रत्येक कार्ड के लेते थे।

आपको बताते चलें कि आरोपी दीपक ने साल 2017 में RO ऑफिस पटना में काम किया था और वहां से 1 दिन नाटकीय ढंग से अपने साथी कर्मचारी के लैपटॉप तोड़कर बदले में अपना नया लैपटॉप दे दिया और पुराने लैपटॉप को दिल्ली आकर ठीक करा लिया जिसमें आधार कार्ड से संबंधित डाटा पहले से ही लोड था।

पूर्व आपराधिक रिकॉर्ड आरोपी दीपक के खिलाफ मुकदमा नंबर 16/18 धारा 420,406 IPC थाना कोतवाली फरीदाबाद में गिरफ्तार हो चुका है इसके और अपराधिक रिकॉर्ड बारे में पता किया जा रहा है।

पुलिस प्रवक्ता सुबे सिंह ने बताया की दोनो आरोपियों से 22 रसीद 43 आधार कार्ड बरामद कर दोनों को जेल भेज दिया गया है।

Monday, 20 August 2018

क्राइम ब्रांच प्रभारी संदीप मोर ने नशीला पदार्थ पिलाकर लूटने वाले गिरोह के तीन लुटेरे को किया ग्रिफ्तार

क्राइम ब्रांच प्रभारी संदीप मोर ने नशीला पदार्थ पिलाकर लूटने वाले गिरोह के तीन लुटेरे को किया ग्रिफ्तार


पुलिस उपायुक्त  क्राइम  श्री लोकेंद्र सिंह ने प्रेस वार्ता के दौरान बताया कि आरोपियों ने फरीदाबाद शहर में लुट की दो वारदातो को अंजाम देना स्वीकार किया है।

 आरोपियों ने पुलिस की पूछताछ पर बतलाया है की हम रात के समय फरीदाबाद शहर के बाई पास रोड पर ई रिक्शा चालकों को अपना शिकार बनाते है उनकी ई रिक्शा को किराए पर बुक करके किसी सुनसान एरिया में ले जा कर ई रिक्शा के ड्राइवर को नशीला प्रदार्थ चाय , कोल्डड्रिंक इत्यादि में पीला देते थे ओर ड्राइवर को नशा होने के बाद उसकी ई रिक्शा पैसे वगेरह लूट लेते थे ।

तीनों आरोपियों को एचपीसी चौक से गिरफ्तार किया गया था तो फिर से वारदात को अंजाम देने की फिराक में थे।

फरीदाबाद की दो व दिल्ली की एक वारदात को सुलझाया गया।

1. मुकदमा न0 860/17 धारा 379A थाना सैक्टर 31 

2. मुकदमा न0 236/18 धारा 379 A/328/34 IPC थाना सराय ख्वाजा

3. मुकदमा no 697dt 14 6/18 u/s 379 ipc ps मंगोलपुरी।

1. निजाम पुत्र जुबेर खान गांव व थाना काली बाग जिला चंपारण बिहार हाल किराएदार लाल कुआं दिल्ली 

2. अख्तर शाह पुत्र अमीन साईं निवासी घरबरा थाना प्रतापपुर चतरा झारखंड हाल भजनपुरा गामडी जमनापार दिल्ली

3. नरेंद्र कुमार पुत्र रामचंद निवासी मकान नंबर 208 गली नंबर 1 गौतमपुरी थाना सीलमपुर दिल्ली

पुलिस टीम :-

इंस्पेक्टर संदीप मोर, Asi अनूप ,Asi सतीश ,Easi दीपक, सिपाही प्रदीप ,सिपाही योगेश


पुलिस प्रवक्ता सूबे सिंह ने बताया कि आरोपियों से एक ई रिक्शा व दो ई रिक्शा बैटरी और 5000 रुपये बरामद कर कर जेल भेज दिया गया है।

 मंगोलपुरी दिल्ली से लूटी हुई ई रिक्शा के बारे में दिल्ली पुलिस को सूचित किया गया है।