Showing posts with label Education. Show all posts
Showing posts with label Education. Show all posts

Monday, 15 October 2018

मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल में स्टूडेंट एक्सचेंज प्रोग्राम

मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल में स्टूडेंट एक्सचेंज प्रोग्राम

फरीदाबाद, 16 अक्टूबर: मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर-14 में चीन से स्टूडेंट एक्सचेंज प्रोग्राम के तहत आए  छात्रों ने साइंस प्रोजेक्ट शो-केस किए। इस दौरान चीनी छात्रों ने स्कूल का दौरा किया और स्कूल में मौजूद सुविधाओं की काफी तारीफ की। छात्रों ने चीन के एजुकेशन सिस्टम के बारे में जानकारी साझा की। चीनी छात्रों ने चाइनीज़ सॉन्ग गाकर सभी का मनोरंजन किया तो वहीं, स्कूली छात्रों ने कथक पर्फॉर्मेंस देकर समां बांधा। चाइनीज डेलिगेशन ने स्पोर्ट्स अकादमी में टेबल टेनिस और बैडमिंटन का लुत्फ उठाया। Foundation for Glocal Science Initiatives (FGSI) की ओर से छात्रों को भारत का न्योता दिया गया है। 

आपको बता दें, इस  कार्यक्रम के तहत 12 देशों से छात्र मानव रचना का दौरा करने आने वाले हैं। 16 अक्तूबर को छात्रों को ताज महल ले जाया जाएगा। इसके अलावा होटल ताज फरीदाबाद और गुरुग्राम हयात में छात्रों के लिए अलग-अलग वर्कशॉप्स रखी गई हैं। 17 अक्तूबर को सूरजकुंड स्थित मानव रचना शैक्षणिक संस्थान में इस कार्यक्रम का उद्घाटन किया जाएगा और 20 अक्तूबर को वैलेडिक्ट्री प्रोग्राम रखा जाएगा।

Saturday, 13 October 2018

सुधा रुस्तगी कॉलेज ऑफ  डेंटल साइंस एंड रिसर्च फरीदाबाद में सेमीनार एवं कार्यशाला का आयोजन

सुधा रुस्तगी कॉलेज ऑफ डेंटल साइंस एंड रिसर्च फरीदाबाद में सेमीनार एवं कार्यशाला का आयोजन

फरीदाबाद, 13 अक्टूबर:   पेरिओडोंटोलॉजी विभाग द्वारा सुधा रुस्तगी कॉलेज ऑफ  डेंटल साइंसेज एंड रिसर्च फरीदाबाद में उन्नत मौखिक इम्प्लांटोलॉजी विषय को लेकर एक सेमीनार एवं कार्यशाला का आयोजन किया गया जिसमें स्पेन के ल्लेडा विश्वविद्यालय से डॉ.पाउलो वेरेला द्वारा सेमीनार को सम्बोधित किया गया। इस अवसर पर डॉ. पाउलो ने स्नातक और स्नातकोत्तर छात्रों के साथ अपने अनुभव को साझा भी किया।

इस सेमीनार में मुख्य रूप से विभागाध्यक्ष, संकाय सदस्यों, स्नातकोत्तर छात्रों और इंटर्न के सभी प्रमुखों ने बढ़चढ़ कर भाग लिया। इसी अवसर पर ओरल इम्प्लांट्स पर कार्यशाला का भी आयोजन किया गया। इस मौके पर कालेज के अध्यक्ष श्री धर्मवीर गुप्ता और संस्थान के सचिव श्री दीपक गुप्ता मुख्य रूप से उपस्थित रहेे। 
इस सेमीनार में डॉ.सीएम मडिय़ा प्रिंसिपल, डॉ.विशाल जुनेजा सीईओ, डॉ. सी.एस बैजू  पीरियडोंटिक्स विभाग के प्रोफेसर और प्रमुख, डॉ.सलिल पाहवा  आदि शामिल हुए।

इस सेमीनार को सफल बनाने में विभाग के संकाय सदस्यों और स्नातकोत्तर छात्रों की अहम भूमिका रही। 


हाॅमर्टन ने अभिवावकों को दी नयी दिशा-नई सोच

हाॅमर्टन ने अभिवावकों को दी नयी दिशा-नई सोच

फरीदाबाद 13 अक्टूबर । हाॅमर्टन ग्रामर स्कूल में बच्चों और उनके अभिभावकों से संबंधित कई कार्यक्रम हुए। हाॅमर्टन के ट्रिनटी हाॅल में दो प्रमुख सेमिनार और कार्यशाला का आयोजन हुआ जो अभिभावकों को अपने बच्चों के संबंध में नयी प्रेरणा देने के लिए था और सभी अतिथियों और अभिभावकों ने प्रस्तुत कार्यक्रमों की हृदय से सराहना की। इंडियनिका पब्लिकेशन के निमन्त्रण पर पधारी सुश्री वर्षा शेहलात ने अपनी विशिष्ट शैली में लगभग बीसों स्कूलों से पधारे माता-पिता और अभिभावकों को बदलते समय के अनुसार अपने बच्चों के प्रति विशेष रूप से सतर्क और क्रियाशील रहने की सलाह दी। दूसरी कार्यशाला में हाॅमर्टन ग्रामर स्कूल के संस्थापक प्रधानाचार्य श्री कुलदीप सिंह ने अपने बच्चों के लिए ‘‘स्कूल का चुनाव कैसे करें’’ इस विषय पर बोलते हुए माता पिताओं और अभिभावकों आज के स्कूलों के बदलते स्वरूपों और व्यवसायिक व्यवहारों के प्रति जागरूक रहने और स्कूल-प्रबंधन से निरंतर सम्पर्क में रहने की सलाह दी।

आज बाहरी स्कूलों से लगभग 250 बच्चों ने हाॅमर्टन ग्रामर स्कूल में कैनवस बैग बनाना और उसका महत्व जाना साथ ही प्रदूषकारी प्लास्टिक से दूर रहने की भी शिक्षा प्राप्त की। उनके लिए विशेष नाटक और संगीत कार्यक्रमों और खेलों का आयोजन भी किया गया था।

हाॅमर्टन ग्रामर स्कूल के ट्रिनटी हाॅल में स्कूल की छात्रा ज्ञानंदा नलवा पद आधारित एक चलचित्र ;पिक्चरद्ध का भी प्रमोशन किया गया जो श्री कुनाल वी सिंह द्वारा निर्देशित है और पिक्चर ‘समर कैम्प’ बच्चों पर आधारित मूवी है।

आज भरे हुए ट्रिनटी हाॅल में सभी अतिथियों के सामने स्कूल की सभी क्षेत्रों छात्र-छात्रा प्रतिभाओं ने भी अपनी मौलिक प्रतिभा का प्रदर्शन विज्ञान कला संबंधी प्रर्दशिनी लगाकर किया तो अनेक प्रतियोगिताओं में प्राप्त शील्डों और ट्राॅफियों से स्टेज की शोभा बढ़ा दी। कार्यक्रम का समपन- स्कूल के प्रबंध निदेशक श्री राजदीप सिंह के धन्यवाद प्रस्ताव से हुआ।

तीन दिवसीय मानव रचना- मॉडल युनाइटेड नेशन का आयोजन

तीन दिवसीय मानव रचना- मॉडल युनाइटेड नेशन का आयोजन

फरीदाबाद, 13 अक्टूबर:  मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर-14 में तीन दिवसीय एमआर-मून का आयोजन किया गया। इस दौरान दिल्ली-एनसीआर के करीब 23 स्कूलों के 400 छात्रों ने हिस्सा लिया। इस कार्यक्रम में थर्ड वर्ल्ड वॉर में महिलाओं के अधिकार, देश की सुरक्षा, वॉर के दौरान रोबोट का इस्तेमाल, मार्वेल वर्सेस डीसी समेत 11 कमेटियों ने अलग-अलग मुद्दों पर चर्चा की। इस दौरान द हिंदू अखबार के स्पोर्ट्स एडिटर विजय राजपल्ली ने बतौर मुख्य अतिथि हिस्सा लिया। वह छात्रों को देखकर स्तब्द रह गए। उन्होंने कहा, बच्चों के साथ समय बिताना सबसे बेहतरीन समय होता है। उन्होंने सभी छात्रों को प्रोत्साहित करते हुए कहा कि, आज मैंने इन छात्रों से बहुत कुछ सीखा है। विजय राजपल्ली ने एमआर-मून की तारीफ करते हुए कहा कि, छात्रों का कॉन्फिडेंस देखकर मैं हैरान हूं, यकीन नहीं हो रहा है कि, यह छात्र छठी और आठवीं के हैं। उन्होंने मानव रचना शैक्षणिक संस्थान के अध्यक्ष डॉ. प्रशांत भल्ला की तारीफ करते हुए कहा कि, हमारे देश का भविष्य सही हाथों में है।

इस दौरान स्कूल की  प्रिंसिपल ममता वाधवा, डायरेक्टर दीपिका भल्ला, स्पोर्ट्स डायरेक्टर सरकार तलवार, मानव रचना के ट्रस्टी डॉ. एमएम कथूरिया समेत स्कूल के शिक्षक मौजूद रहे।  इस कार्यक्रम में उन सभी छात्रों को सम्मानित किया गया,  जिनकी रिसर्च और नॉलेज अव्वल थी। बेस्ट कंट्री का अवॉर्ड मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर-14 फरीदाबाद और बेस्ट डेलिगेट का अवॉर्ड गुरुग्राम सेक्टर-46 स्थित मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल ने अपने नाम किया।

स्कूल की प्रिंसिपल ममता वाधवा ने दिल्ली-एनसीआर से आए सभी छात्रों का धन्यवाद किया। उन्होंने इस कार्यक्रम को सफल बनाने का श्रेय छात्रों को दिया, जिन्होंने दिन-रात की मेहनत कर इस कार्यक्रम को सफल बनाया। ममता वाधवा ने उम्मीद जताई कि एमआर-मून के पांचवें एडिशन में और भी स्कूल हिस्सा लेंगे।

Wednesday, 22 August 2018

 सरकारी स्कूल में अध्यापक ने फोडा छात्र का सिर, गर्दन पर भी आये नाखूनों के गहरे निशान

सरकारी स्कूल में अध्यापक ने फोडा छात्र का सिर, गर्दन पर भी आये नाखूनों के गहरे निशान

फरीदाबाद 22 अगस्त । फरीदाबाद के गांव सोतई के राजकीय उच्च विद्यालय में एक नौंवी कक्षा के छात्र का विज्ञान के अध्यापक ने सिर फोड दिया, स्कूल प्रबंधन द्वारा छात्र को आनन फानन में अस्पताल ले जाया गया, जहां उसका उपचार करवाया गया । अध्यापक ने दो छात्रों में हुए आपसी झगडे की सजा देते हुए एक छात्र की गर्दन पकडकर उसे फेंक दिया, धक्का लगने के कारण मेज पर गिरने से छात्र का सिर फट गया और गर्दन पर नाखूनों के जख्म भी बन गये हैं।  

 वहीं आरोपी विज्ञान के अध्यापक ने भी स्वीकार करते हुए कहा कि उसने जानबूझकर उसे धक्का नहीं दिया था गलती से तेज धक्का लग गया और छात्र का सिर फट गया, इसके लिये वह अपनी गलती मानते हैं आगे से ऐसा कभी नहीं करेंगे। इस पूरे मामले में स्कूल प्रबंधन से डीडीओ राजेश ने बताया कि उनके अध्यापक ने गलती की है जिसे उन्होंने स्वीकार किया है, छात्र का सिर फटने के बाद उसके परिजनों को बुला लिया गया था और पूरे मामले की जानकारी दे दी गई थी।
टीचर द्वारा छात्रों चप्पल की माला पहनाने का मामला, कार्यवाही बच्चों के कहने पर किया टीचर को माफ, सबके सामने हाथ जोडकर मांगी  माफी

टीचर द्वारा छात्रों चप्पल की माला पहनाने का मामला, कार्यवाही बच्चों के कहने पर किया टीचर को माफ, सबके सामने हाथ जोडकर मांगी माफी


गांव सागरपुर के सरकारी स्कूल का जहां पर खबर चलने के बाद जिला शिक्षा अधिकाारी मौके पर पहुंची और ग्राीमोणों व पीडितों बच्चों तथा उनके परिजनों को भी मौके पर बुलाया गया। उसके बाद शिक्षा अधिकारी ने किस तरह से बच्चों से बात की आप भी देख लिजिए और बच्चों के कहने पर टीचर को माफ भी कर दिया। वहीं आरोपी टीचर ने भी सार्वजैनिक तौर पर सभी के सामने हाथ जोडते हुए आगे से ऐसा ना करने का आश्वसन भी दिया है। शिक्षा अधिकारी की मानें तो उन्हें पता चला था कि बच्चों की पनिशमेंट का मामला है। लेकिन बच्चे कह रहे हैं जो वह सच है या झूठ इसका कोई सबूत तो है नहीं लेकिन बच्चों कहा कि मैडम को माफ कर दो तो उन्होंने तुरंत मान लिया और मैडम को माफ कर दिया। लेकिन उन्होंने आगे से ऐसा करने पर कार्यवाही करने की बात कही है।
  
सतेन्द्र कौर वर्मा जिला शिाक्षा अधिकारी।



वहीं परिजनों ने बताया कि बच्चों ने जिला शिक्षा अधिकारी के सामने सबकुछ सच बता दिया  है कि उनके गले में चप्पलों की माला डाली गई है लेकिन बच्चों ने मैडम को माफ कर दिया है। वहीं पीडित बच्चों ने बताया कि उनसे जिला शिक्षा अधिकारी ने पूछा था तो उन्होंने बता दिया और अब मैडम को माफ कर दिया गया है। 

Tuesday, 21 August 2018

रावल शिक्षण संस्थान के चेयरमैन सीबी रावल को लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड से सम्मानित

रावल शिक्षण संस्थान के चेयरमैन सीबी रावल को लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड से सम्मानित

फरीदाबाद 22 अगस्त । रावल शिक्षण संस्थान के चेयरमैन सीबी रावल को शिक्षा के क्षेत्र में अमूल्य योगदान के लिए लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड से सम्मानित किया गया होटल रेडिसन ब्लू में प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन आयोजित द्वारा आयोजित समारोह में उद्योग मंत्री विपुल गोयल ने रावल संस्थान के चेयरमैन सीबी रावल को यह अवार्ड प्रदान किया समारोह की अध्यक्षता विश्वकर्मा कौशल यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर राज नेहरु ने की समारोह में विभिन्न स्कूलों भी उपस्थित रहे I 

 इस अवसर पर पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय अटल बिहारी वाजपेई की स्मृति में दो मिनट का मौन रखकर श्रद्धांजलि भी दी गई अपने संबोधन में मुख्य अतिथि विपुल गोयल ने सीबी रावल के योगदान को सराया आयोजकों ने उद्योग मंत्री विपुल गोयल वाइस चांसलर राज नेहरू को भी शॉल ओढ़ाकर व स्मृति चिन्ह भेंट कर उनका अभिनंदन

राजकीय विद्यालय के छात्रों ने स्कूल के बहार किया पर्दशन ,काफी लंबे समय से मूलभूत सुविधाएं नहीं मिल पा रही

राजकीय विद्यालय के छात्रों ने स्कूल के बहार किया पर्दशन ,काफी लंबे समय से मूलभूत सुविधाएं नहीं मिल पा रही

फरीदाबाद 21 अगस्त । फरीदाबाद के तिगांव विधानसभा क्षेत्र में पड़ने वाले गांव अगवानपुर के राजकीय विद्यालय मैं छात्रों ने उस वक्त ताला लगा दिया तब उनकी मांगों को अनसुना किया जा रहा था I  छात्रों का कहना था कि काफी लंबे समय से उनको मूलभूत सुविधाएं नहीं मिल पा रही हैं जैसे कि क्लास रूम में पंखों का ना होना ,बेंच का ना होना ,पीने के पानी की कमी ,शौचालय में नल की कमी ,लाइट ना होना ,टीचरों की कमी ,बरसात के मौसम की वजह से ग्राउंड में पानी भरा होना  पानी की निकासी का कोई साधन नहीं I  छात्रों ने बताया यह सारी समस्याएं काफी समय से चली आ रही थी उन्होंने बार-बार प्रिंसिपल मैडम को इस समस्या से अवगत कराया लेकिन समस्या ज्यों की त्यों बनी रही जब छात्रों ने यह सारी समस्याएं अपने परिवार वालों को बताएं तो परिवार के लोगों ने छात्रों के साथ मिलकर स्कूल में ताला जड़ दिया I

स्कूल में ताला जड़ जाने की खबर जैसे ही शिक्षा विभाग और प्रशासन को मिली तो शिक्षा विभाग के अधिकारी एवं प्रशासन हड़कंप मच गया और उन्होंने मौके पर पहुंचकर स्थिति को काबू में लिया I पुलिस प्रशासन ने मौके पर पहुंचकर बच्चों और पेरेंट्स को समझा कर ताला खुलवाया एवं शिक्षा विभाग के अधिकारियों ने बच्चों की समस्याओं को सुना एवं बच्चों की मूलभूत समस्याओं को का समाधान करने का वादा किया I

अगवानपुर गांव में पहुंचे शिक्षा विभाग से पहुंची DEO मैडम ने पेरेंट्स एवं छात्रों को समझाते हुए कहा कि उनकी जितनी भी मूलभूत सुविधाएं और समस्याएं हैं उनका जल्द ही समाधान कर दिया जाएगा I  मैडम ने कहा कि वह स्कूल प्रिंसिपल को साथ लेकर जा रहे हैं जब तक उनका ट्रांसफर नहीं हो जाता तो उसका उनकी जगह कोई और स्कूल की देखरेख करेगा I

हरियाणा में इस तरह के विवाद पहली बार नहीं है आए दिन ऐसी खबरें आती रहती हैं लेकिन सोचने वाली बात यह है कि फरीदाबाद एक स्मार्ट सिटी शहर है स्मार्ट सिटी शहर के विद्यालयों का यह हाल है तो आप इस बात से अंदाजा लगा सकते हैं कि ग्रामीण क्षेत्र के स्कूलों का क्या हाल होगा हरियाणा की सरकार बड़े बड़े वादे करती है बेटी पढ़ाओ बेटी बचाओ लेकिन उन बेटियों के लिए स्कूलों में कोई भी मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध नहीं है क्या विद्यालयों में मूलभूत सुविधाओं की कमी है तो बेटी पढ़ाओ बेटी बचाओ नारा कितना सार्थक होगा यह सोचने की बात है I

Sunday, 19 August 2018

आयशर विद्यालय में स्पिकमैके द्वारा आयोजित कार्यक्रम ‘विरासत’

आयशर विद्यालय में स्पिकमैके द्वारा आयोजित कार्यक्रम ‘विरासत’

फरीदाबाद 19 अगस्त I आयशर विद्यालय सैक्टर-46, फरीदाबाद में स्पिक मैके द्वारा आयोजित कार्यक्रम विरासत के तीसरेचरणका शुभारंभ हुआ।कार्यक्रम के तीसरे चरण के मुख्य कलाकार पद्मश्री की उपाधि से सम्मानित बिरजूमहाराज की शिष्या प्रसिद्ध कथक नृत्यागंना गुरु शोवनानारायण एवं पद्मभूषण से विभूषित विश्व प्रसिद्ध श्री राजन एवं साजन मिश्र बंधु रहे।कार्यक्रम का शुभारंभ दीप प्रज्ज्वलन से हुआ। कार्यक्रम के दौरान सिटमजिस्ट्रेट श्री मतिबलिना, आई.जी. आलोक मित्तल एच.सी.एस. काली रमणा, गुडअर्थफाउन्डेशन के चेयरमैन एच.डी.एस. मल्होत्रा, श्री मति बेला मल्होत्रा, स्कूल प्रबंधक श्री अर्जुन जोशी एवं स्पिकमैके के मूलक (फाउन्डर) श्री किरण सेठ विशेष रुप से उपस्थित रहे। बिरजूमहाराज की शिष्या प्रसिद्ध कथक नृत्यांगना गुरु शोवनानारायण जी ने सर्वप्रथम ‘कथक’ नृत्य’ के अर्थ से परिचित करवाते हुए कहा कि यह वैदिक शब्द कथा से लिया गया ह ैजिसका अर्थ है ‘कहानी’। यह हाथ व पैरों का लयबद्ध संगम है 

जिसमें भावों की प्रधानता है।उन्होंने स्पिकमैके व आयशर विद्यालय की सराहना करते हुए कहा कि उन्होंन बच्चों के लिए ऐसे अवसर प्रदान किए है ंजिनसे वे अपनी संस्कृति के और करीब आ सके। उन्होंन सर्वप्रथम ‘विष्णुवंदना’ प्रस्तुत की। उसके बाद कृष्ण व शिव को समर्पित नृत्य किया। महाभारत, का द्रौपदी चीरहरण, कृष्ण व राधा का झूला दृश्य महात्माबुद्ध की कथा को नृत्य के रुप में इस प्रकार प्रस्तुत किया मानों दर्शक उन सभी दृश्यों को सजीव रुपमें देख रहे हो। उनके साथ हारमोनियम पर संगत एवं बोल श्री माधव प्रसाद जी ने दिए घुंघरुओं के साथ तबले पर संगत उस्ताद शकील अहमद खान जी ने दी।पखावज पर संगत महावीर गंगानीजी ने दी। उनके बाघयंत्रों ने शोवना जी के नृत्य में चार चाँद लगा दिए। उन्होंने पाँच घूंघट व पाँच नजर को नृत्य द्वारा दर्शाया तब सारा हाॅल तालियों से गूंज उठा। कथकनृत्य शैली में पांवों द्वारा भाव प्रस्तुति अद्भुत थी। कार्यक्रम का अंत उन्होंने कबीर के इस दोहे से किया ‘‘जब मैं था तब हरि नाहि अब हरि हैं मैं नाहि’’। 
कार्यक्रम के दूसरे कलाकार पद्मभूषण की उपाधि से सम्मानित विश्वविख्यात राजन व साजन मिश्र बन्धु थे। उन्होंने विद्यालय के बच्चों के संस्कारों की प्रशंसा करते हुए उनके उज्ज्वल भविष्य की शुभ कामना की उन्होंने बताया कि संगीत एक पूजा है तपस्या है निरंतर अभ्यासरत होकर ही हम इसमें पारंगत हो सकते हैं। उन्होंने सबसे पहले ‘मेघराग’गाया उनके राग को सुनकर ऐसा लगा कि वे दो शरीर एक आत्मा हैं। कार्यक्रम के अंतमें ए.पी.एस. प्रीता जैन के अनुरोध पर उन्होंने भजन, चलो मन बृन्दावन की ओर गया, जिससे मन श्री कृष्ण के चरणों मे ंचला गया व दर्शक आनन्द में सरोबार हो गए। स्पिकमैके द्वारा आयोजित कार्यक्रम‘ विरासत’ का आयशर विद्यालय सैक्टर-46, फरीदाबाद में यह समापन दिवस था। विद्यालय की ओर से सभी कलाकारो ंको आभार स्वरुप स्मृति चिन्ह दिया गया। स्पिकमैके के इस कृत्य पर भारत को ही नही ंपूरे विश्व को गर्व है।

Thursday, 16 August 2018

 हैप्पी किड्स प्ले स्कूल में हर्षाेल्लास से मनाया गया स्वतंत्रता दिवस

हैप्पी किड्स प्ले स्कूल में हर्षाेल्लास से मनाया गया स्वतंत्रता दिवस

फरीदाबाद 16 अगस्त ।  प्रखर गर्मी में मानसून की पहली बारिश के बीच हैप्पी किड्स प्ले स्कूल और डिस्कवरी कान्वेंट स्कूल में 72 वां स्वतंत्रता दिवस समारोह धूमधाम से मनाया गया। कार्यक्रम की शुरूआत स्कूल डायरेक्टर मिस्टर बिशन दत्त कौशिक और मुख्यातिथि प्रमोद कुमार भारद्धाज ने ध्वजारोहण के साथ की। इस दौरान नन्हे-मुन्ने बच्चों ने सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत कर सबका मन मोह लिया। इसके उपरात विद्यार्थियों द्वारा गीत, संगीत, नृत्य सहित अन्य कार्यक्रमों की प्रस्तुतियां दी गई। नन्हे-मुन्ने बच्चों ने नन्ना मुन्ना राही है , देश का सिपाही है, बोल मेरे साथ जय हिंद, यह देश है वीर जवानों का, फिर भी दिल है हिन्दुतानी जैसे गीतों से लोगो का मन मोह लिया। बच्चों ने पतंगबाजी की और तीन रंगो केसरिया , हरे और सफेद रंग के गुब्बारे उड़ाए और आसमान में अपने भारतीय होने का परचम लहराया। 

आसमान में चारों तरफ केसरिया, हरे और सफेद रंग को देख कर किसी भी भारतीय का सीना गर्व से चौड़ा हो जाया। स्कूल की मैनेजिंग डायरेक्टर डॉ कमलेश शर्मा एंड प्रिंसिपल ललित शर्मा ने बच्चों को स्वतंत्रता दिवस के बारे में में बताते हुए अपने जवानों के बलिदान के बारे में जानकारी देते हुए बताया स्वतंत्रता दिवस वो दिन है, जब भारत अंग्रेजो के चंगुल से आजाद हुआ था। भगत सिंह, चंद्रशेखर आजाद जैसे क्रांतिवीरों की शहादत का ही नतीजा है कि आज हम आजादी से खुली हवा में सांस ले रहे हैं। इस अवसर पर स्कूल के हेडमिस्ट्रेस उषा उपाध्याय ने सभी माता पिता, बच्चो, अध्यपिकायों और कर्मचारियों का तहे दिल से धन्यवाद किया और सभी को स्वतंत्रता दिवस की बधाइयां दी। अंत में डायरेक्टर मैडम श्रीमति गीता शर्मा ने बच्चों को मिठाई बांटी और शुभकामनाये दी और जय हिन्द- जय भारत- जय मातृभूमि-जय जवान-जय किसान- वन्दे मातरम जैसे नारो के साथ के कार्यक्रम का समापन कराया। 

Tuesday, 14 August 2018

देश का भविष्य शिक्षित और नियोक्ता युवाओं पर निर्भर : डॉ. प्रशांत भल्ला

देश का भविष्य शिक्षित और नियोक्ता युवाओं पर निर्भर : डॉ. प्रशांत भल्ला

फरीदाबाद :14 अगस्त । मेरी ओर से आप सभी को 72वें स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं। हमारे देश का भविष्य शिक्षित और नियोक्ता युवाओं पर निर्भर करता है। हमने देश में शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए बहुत कुछ किया है। देश के सभी कोनों में 'शिक्षा की स्वतंत्रता' स्थापित करने और भारतीय युवाओं को नियोजित कौशल के साथ लैस करने के लिए अभी भी बहुत कुछ हासिल करने की जरूरत है। अपस्कलिंग हमारे देश में कुशल जनशक्ति की कमी को संबोधित करने की कुंजी है। मानव रचना में  हम युवाओं को सशक्त बनाने के लिए एनएसडीसी के साथ मिलकर काम कर रहे हैं।

आइए, भारत को अधिक ऊंचाइयों पर ले जाने के लिए इसे एक नए संकल्प के साथ आगे बढ़ने के अवसर के रूप में उपयोग करें।“


डॉ. प्रशांत भल्ला, अध्यक्ष, मानव रचना शैक्षणिक संस्थान




Friday, 10 August 2018

हाॅमर्टन ग्रामर में नए पुस्तकालय भवन तथा कम्प्यूटर भवन का उद्घाटन

हाॅमर्टन ग्रामर में नए पुस्तकालय भवन तथा कम्प्यूटर भवन का उद्घाटन












फरीदाबाद : 10 अगस्त I हाॅमर्टन ग्रामर स्कूल में, शहर के ओजस्वी युवा नेता श्री अमन गोयल ने पधारकर छात्रों के लिए नवनिर्मित आधुनिक कम्प्यूटर केन्द्र तथा पुस्तकालय भवनों का उद्घाटन अपने कर कमलों से रिबन काटकर किया। श्री गोयल ने दोनों आधुनिक सुसज्जित शिक्षा केन्द्रों की प्रशंसा की और छात्रों के लिए विद्यालय का एक और सपफल प्रयास बताया।

आज हाॅमर्टन ग्रामर ने युवा शक्ति को सम्मानित करने का प्रशस्ति कार्यक्रम भी आयोजित किया था जिसमें विद्यालय के ट्रिनटी हाॅल में हैड ब्याव के रूप में गौरांग बेसोया, हेड गर्ल के यप में सुश्री अवलीन कौर तथा स्पोर्टस वाइस कैप्टन के रूप में तुषार शर्मा को बैजेज प्रदान कर उनके ही अभिभावकों ने मंच पर सम्मानित किया। कार्यक्रम की अध्यक्षता हाॅमर्टन ग्रामर स्कूल के संस्थापक, प्रधानाचार्य श्री कुलदीप सिंह की। कार्यक्रम में विद्यालय के वरिष्ठ प्रबंधक श्री राजदीप सिंह, प्रधानाचार्य श्रीमती अर्चना डोकरा, प्रबंध समिति अध्यक्ष श्रीमती राजिन्द्र कौर तथा प्रबंध समिति के अन्य सम्मानित सदस्य गण भी उपस्थित थे।

आज के कार्यक्रम में गत वर्ष के सर्वाधिक अंक प्राप्त करने वाले छात्रों को भी पुरस्कृत कर सम्मानित किया गया। कार्यक्रम में सभी सम्मानित छात्रों के माता-पिता भी उपस्थित थे। आज के कार्यक्रम का सर्वाधिक महत्वपूर्ण भाग था। श्री कुदलीप सिंह जी भूतपूर्व प्रधानाचार्य हाॅमर्टन ग्रामर स्कूल द्वारा लिखित पुस्तक ‘बिगिनर्स वेक्टर्स एंड पिफजिक्स’ का श्री अमन गोयल द्वारा विमोचन जो सीनियर सैकेण्डरी के विज्ञान वर्ग के छात्रों के सुगम अध्ययन के लिए और उन्हें अधिक, सपफल बनाने के लिए एक सुन्दर सौगात है। वास्तव में विज्ञान वर्ग के छात्रों को विज्ञान को समझने में जो कठिनाईयां आती हैं, उसी को ध्यान में रखकर इस पुस्तक की रचना हुई है।

गतवर्ष के कक्षा 6 से कक्षा 12 तक के सभी सम्मानित छात्रों और माता-पिता ने कार्यक्रम की भूरि-भूरि प्रशंसा की। अंत में श्री राजदीप सिंह ने सभी छात्रों को शुभकामनाएं देते हुए सभी को धन्यवाद दिया।

Monday, 6 August 2018

खट्टर सरकार की छात्र विरोधी नीतियों के खिलाफ अनिश्चितकालीन धरना : कृष्ण अत्री

खट्टर सरकार की छात्र विरोधी नीतियों के खिलाफ अनिश्चितकालीन धरना : कृष्ण अत्री

  
फरीदाबाद 6 अगस्त । 
 छात्रहितों को ध्यान में रखतेहुए एनएसयूआई फरीदाबाद ने हरियाणा के प्रदेश सचिवकृष्ण अत्री के नेतृत्व में अनिश्चितकालीन धरना प्रदर्शन शुरूकर दिया। यह धरना प्रतिदिन 24 घंटे यानी दिन रात चलेगा।प्रदर्शनकारियों को संबोधित करते हुए एनएसयूआई हरियाणाके प्रदेश सचिव ने कहा कि फरीदाबाद ही नही बल्कि पूरेहरियाणा में छात्र-

छात्राएं दाखिले को लेकर लगातार शांतिपूर्णढंग से प्रदर्शन कर रहे थे लेकिन अभी तक खट्टर सरकार औरयूनिवर्सिटी प्रशासन ने यूजीपीजी कक्षाओ में 20 प्रतिशतसीट नही बढ़ाई है। उन्होंने कहा कि इसके साथ ही हम पिछलेकाफी समय से रीजनल सेंटर एवं छात्र संघ चुनाव के लिएप्रदर्शन कर रहे थे लेकिन वो मांग भी अभी तक पूरी नही होपाई है। अत्री ने कहा कि यही कारण है कि अब छात्रों नेपरेशान होकर एनएसयूआई के तत्वाधान में शांतिपूर्ण ढंग सेधरना प्रदर्शन करने का निर्णय लिया है 

धरने की प्रमुख मांगे इस प्रकार है -

1) सभी सरकारी कॉलेजों में यूजीपीजी कक्षाओ में 20 प्रतिशत सीट बढ़ाने के लिए 
2) छात्रसंघ चुनाव बहाल तथा प्रत्यक्ष रूप से बहाल करने केलिए 
3) फरीदाबाद में रीजनल सेंटर बनवाने के लिए 
4) नेहरू कॉलेज की जर्जर पड़ी इमारत का निर्माण कराने केलिए 
5) सभी सरकारी कॉलेजो में मूलभूत सुविधाएं एवं स्टाफ पूराकराने के लिए 
6) मैगपाई चौक पर छात्रों को रोड पार कराने के लिएफुटओवर ब्रिज का निर्माण जल्द कराने के लिए 

वही जिला उपाध्यक्ष सुनील मिश्रा एवं छात्र नेता विक्रम यादवने संयुक्त रूप से कहा कि हम पिछले काफी समय से छात्रोंको लेकर कुछ मांगे सरकार के समक्ष रख रहे हैंजगह जगहसरकार के नुमाइंदों को ज्ञापन भी सौंपा है लेकिन खट्टरसरकार के कान पर जूं तक नहीं रेंग रही है। उन्होंने कहा किहमारी कुछ मांगे तो ऐसी हैं जोकि खट्टर सरकार ने स्वयं छात्रोंसे अपने चुनावी घोषणा पत्र में वायदे किए थे लेकिन उन्हें पूरानहीं किया। उन्होंने कहा कि समय रहते अगर सरकार नेहमारी मांगे नही मानी तो यह धरना अनिश्चतकालीन चलतारहेगा और हम भूख हड़ताल करने से भी पीछे नही हटेंगे।

इस मौके पर मुख्य रूप से नेहरू कॉलेज अध्यक्ष मोहितत्यागीगौरव कौशिकवरुण पंडितअजय कुमार ,दीपक,राजदीपक नरवतरवि रावतराहुल कौशिकमनीष कुमार,अनिल कुमारअवतार सिंहशिवमनिखिल भारद्वाजअक्कीपंडितअंकितराजेशकन्हैयाउज्जवल पटेलआमिर खान,राहुल भारद्वाजआरिफ खानसोनू सिंहसोनू सैनीबिंदु,पूजाअर्चनाआरतीकवितानेहाशिवानीचंचलसुलेखा,अनामिकादीप्तिकाजलनंदितामहिमाशालू आदि मौजूदथे 

Saturday, 4 August 2018

जीवा पब्लिक स्कूल में मल्टीपल इंटेलिजेंस एवं नेचर के आधार पर टीम लीडरों का चुनाव

जीवा पब्लिक स्कूल में मल्टीपल इंटेलिजेंस एवं नेचर के आधार पर टीम लीडरों का चुनाव

फरीदाबाद, 5 अगस्त, ।  जीवा पब्लिक स्कूल में प्रात:कालीन विशेष प्रार्थना सभा में जुलाई में आयोजित हुए चुनाव में चयनित लीडर छात्रों को शपथ दिलवाई गई। यह चुनाव प्रक्रिया छात्रों को समाज के प्रति कत्र्तव्यनिष्ठद्द बनाने के लिए आयोजित की गई  थी। कत्र्तव्यपरायण की भावना को समझाने के लिए चुनाव की सभी प्रक्रियाओं को अपनाया गया था। छात्रों ने शपथ ली कि जीवा विद्यालय द्वारा ह्यस्थापित सामाजिक, धार्मिक, नैतिक तथा शैक्षिक मूल्यों की रक्षा के लिए एक सजग एवं कर्मठ प्रहरी के रूप में सदैव तत्पर रहेंगे। उन्हें जिस कार्य के लिए, 

उनके सहपाठियों ने चुना है, उस कार्य को पूरा करना ही उनका परम धर्म होगा यह चुनाव छात्रों के मल्टीपल नेचर एवं मल्टीपल इंटेलिजेंस के आधार पर आयोजित किए गए थे जिससे छात्र अपनी प्रवृत्ति एवं प्रकृति के अनुसार कार्य करें तथा कत्र्तव्यों का पालन पूरी निष्ठा से करना सीखें। आज के इस कार्यक्रम के आयोजन का मुय उद्देश्य था छात्रों में कत्र्तव्य के प्रति समर्पण की भावना को जागृत करना है। इस चुनाव प्रक्रिया को दो चरणों में बांटा गया था। पहले चरण की चुनाव प्रक्रिया में क्लास प्रतिनिधि एवं दूसरे चरण में टीम लीडर, सेक्रेटरी तथा ज्वाइंट सेक्रेटरी का चुनाव किया गया।  इस चुनाव प्रक्रिया का लक्ष्य छात्रों को जि़मेदार नागरिक बनाना है तथा उनको कत्र्तव्यों के प्रति सजग करना है।

इस चुनाव प्रक्रिया में विभिन्न विभागों एवं टीमों के लिए टीम लीडरों का चुनाव किया गया। सभी उमीदवारों ने ह्यइंडिया इन एक्शनह्ण कार्यक्रम के माध्यम से समाज कल्याणकारी कार्य किए। छात्रों ने उन कार्यों की रिकॉर्डिंग की एवं चुनाव अभियान के दौरान कोई वादे न करके अपनी कार्यशैली एवं सामाजिक कार्यों का प्रदर्शन किया व उसी आधार पर उन्हें वोट भी प्राप्त हुए। चुने गए विभागों के नाम कुछ इस प्रकार से हैं :- प्रोवाईडिंग टीम, विजुअल टीम , एन्टरप्रिनोरियल टीम, एस्कोर्ट टीम एवं नैचुरलिस्टिक टीम। इन सभी टीमों के लीडरों को प्रात:कालीन प्रार्थना सभा के दौरान कार्यभार सौंपे गए एवं सभी टीमों ने सुचारू रूप से कार्य करने के लिए प्रसन्नतापूर्वक कार्यभार ग्रहण किया। इस अवसर पर छात्रों ने चुनाव प्रक्रिया को विस्तारपूर्वक समझाते हुए एक लघु नाटिका  प्रस्तुत की। 

इस अवसर पर चयनित उम्मीदवारों को विद्यालय के अध्यक्ष, उपाध्यक्षा एवं प्रधानाचार्या द्वारा बैजेज़ भी प्रदान कर समानित किया गया। चयनित उमीदवारों ने अपने-अपने कार्यभार को संभाला। अध्यक्ष श्री ऋषिपाल चौहान ने सभी चयनित उमीदवारों को बधाई दी तथा सौंपे कार्यों को लगन एवं ईमानदारी से करने के लिए प्रेरित किया।



Thursday, 2 August 2018

HVSU और HDFC में M.Voc के लिए हुआ MoU साइन

HVSU और HDFC में M.Voc के लिए हुआ MoU साइन

GURUGRAM 3 AUGUST I HVSU एंड HVSU ने किया M.Voc  बैंकिंग एंड फाइनेंस के लिए अनुबंध: स्नातकों के लिए बैंकिंग प्रशिक्षण के नए अवसर HDFC बैंक और हरियाणा विश्वकर्मा कौशल विश्वविदयालय के बीच यूनिवर्सिटी के पहले पोस्ट ग्रेजुएट कार्यक्रम M.Voc के लिए    अनुबंध पर हस्ताक्षर हुए। 

इस अवसर पर माननीय कुलपति श्री राज नेहरू जी ने कहा कि यूनिवर्सिटी का यह स्नातकोत्तर कोर्स फाइनेंस और बैंकिंग के क्षेत्र में युवाओ को एक विशेष अवसर प्रदान करेगा।

बैंकिंग और फाइनेंस रोजगार की दृष्टि से उभरते हुए क्षेत्र है तथा इसमें युवाओं के विकास के लिए पर्याप्त अवसर उपलब्ध हैं । यूनिवर्सिटी ने हाल ही में ऑटोमोबाइल मैन्युफैक्चरिंग, मेकाट्रोनिक्स, रोबोटिक्स , टूल एंड डाई , बी पी एम आदि तकनीकी  क्षेत्रों के साथ साथ स्वास्थ्य सेवाओं में  10 नए कोर्सेज शुरू किये है।  उन्होंने कहा कि उन्हें ख़ुशी है कि राज्य की विभिन्न औद्योगिक इकाईयां यूनिवर्सिटी के दोहरी शिक्षा के मॉडल को विकास के मॉडल के रूप में अपना रहें हैं । उन्होंने  HDFC बैंक का धन्यवाद किया तथा कहा कि उनकी यह पहल इस इंडस्ट्री में एक उदाहरण के रूप में उभर कर आने वाले समय में अधिक  से अधिक युवाओं को इस दिशा में विभिन्न अवसर उपलब्ध के लिए प्रेरणादायक रहेगी। 

 श्री राज नेहरू ने कहा कि यूनिवर्सिटी का उद्देश्य वर्तमान तथा भविष्य में उभरने वाले सभी क्षेत्रों में विभिन्न स्तर के कार्यकर्मो द्वारा युवाओं को संबधित क्षेत्रो में इंडस्ट्री के सहयोग से बेहतर अवसर प्रदान करना है। उन्होंने साँझा किया कि राष्ट्रीय तथा अंतर्राष्ट्रीय विकास और अवसरों को ध्यान में रख कर इस दिशा में रिसर्च करने के लिए यूनिवर्सिटी की टीम निरंतर प्रयासरत हैं ।

यूनिवर्सिटी द्वारा फाइनेंस और बैंकिंग के इस पोस्ट ग्रेजुएट प्रोग्राम में छात्रों को प्रत्येक सत्र में  3 महीने की क्लास रूम ट्रेनिंग के साथ 3 महीने का प्रशिक्षण गुरुग्राम स्थित बैंक की विभिन्न शाखाओं में दिया जायेगा। प्रोग्राम की अवधि दो साल की है। इस  प्रोग्राम को इसी वर्ष अक्टूबर में लांच किया जायेगा और आवेदन आमंत्रित किये जायेंगे। 

माननीय कुलपति महोदय राज नेहरू की विशेष उपस्थिति में HDFC बैंक की ओर से रीजनल हेड जसमीत सिंह आनंद व यूनिवर्सिटी की तरफ से डीन प्रो आर एस राठौड़ ने अनुबंध पर हस्ताक्षर किये। 

प्रशिक्षण कार्यक्रम पर  बात करते हुए, एचडीएफसी बैंक के क्षेत्रीय प्रमुख श्री जसमीत सिंह आनंद ने कहा कि स्नातक स्तर के छात्रों के लिए यह कोर्स एक मील का पत्थर साबित होगा तथा उन्हें उम्मीद है कि इस के माध्यम से जहाँ एक तरफ  हम बैंक की आवश्यकताओं के अनुरूप छात्रों को तैयार कर पायेंगें अपितु पूरी बैंकिंग इंडस्ट्री के लिए   एक अच्छी प्रतिभा पूल का निर्माण करेंगे। "

डीन प्रो आर एस राठौर ने बताया कि किस प्रकार यूनिवर्सिटी ने थोड़े ही समय में माननीय कुलपति श्री राज नेहरू जी ने मार्ग दर्शन में यूनिवर्सिटी अपना  कैंपस न होते हुए भी दोहरी शिक्षा प्रणाली के तहत विभिन्न कोर्सेज का सञ्चालन कर रही है कार्यक्रम पर प्रकाश डालते हुए उन्होंने कहा कि HDFC के साथ मिलकर अंतर्राष्ट्रीय जरूरतों के मुताबिक इसकी रुपरेखा तैयार की जाएगी

बैंकिंग और फाइनेंस में M.Voc यह प्रोग्राम NSQF दिशानिर्देशों के अनुरूप यूजीसी द्वारा प्रमाणित मापदंडो पर आधारित होने के साथ साथ बैंकिंग इंडस्ट्री की आधुनिक व भविष्य की जरूरतों के अनुरूप इंडस्ट्री और अकादमिक विशेषज्ञों द्वारा डिजाईन किया जायेगा। 

इस अवसर पर HDFC से अखिल मल्होत्रा क्लस्टर प्रमुख , कल्पना व मिनाक्षी,  युनिवेर्सिटी से कर्नल उत्कर्ष राठौर सह निदेशक, डॉ राज सिंह सह निदेशक, डॉ संजय भारद्वाज उप निदेशक, सिमी सोमसुंदरम, सतीश  भूटानी , डॉ ललित शर्मा, मिनाक्षी कॉल, संजीव तायल, परवीन, अनिल जांगड़ा आदि अधिकारी भी मौजूद रहे।
लिंग्याज विद्यापीठ ने किया नए सत्र का शुभारम्भ

लिंग्याज विद्यापीठ ने किया नए सत्र का शुभारम्भ

फरीदाबाद, 3 अगस्त, । लिंग्याज विद्यापीठ ने आज ओरिन्टेशन दिवस मनाकर नए सत्र का शुभारम्भ किया। आयोजित समारोह में विद्यापीठ में प्रवेश लेने वाले नए छात्रों का पुराने छात्रों एवं स्टाफ ने हार्दिक स्वागत किया गया। कार्यक्रम का शुभारम्भ सरस्वती वन्दना एवं द्वीप प्रज्ज्वलन द्वारा हुआ। इस अवसर पर रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम का भी आयोजन किया गया। 

समारोह को सम्बोधित करने से पहले विद्यापीठ के कुलाधिपति डॉ. पिचेश्वर गड्डे ने विद्यापीठ के संस्थापक डॉ. जी.वी.के. सिन्हा को श्रद्धांजलि अर्पित की। उपस्थित जनों को सम्बोधित करते हुए डॉ. गड्डे ने नए छात्रों को विश्वास दिलाया कि उन्हें शिक्षा के क्षेत्र में किसी प्रकार की कमी नहीं आने दी जाएगी। उन्होंने सात मुख्य शैक्षिक मूल्यों पर प्रकाश डाला—जिसमें अनुशासन, समय प्रबन्धन, वित्तीय प्रबन्धन, सुसंगति, कक्षा में पूर्ण उपस्थिति, पूर्ण विकास तथा व्यक्तित्व विकास शामिल थे।

विद्यापीठ के कुलपति डॉ. डी.एन. राव ने अपने सम्बोधन में लिंग्याज विद्यापीठ की विशेषताएँ बताते हुए कहा कि शिक्षा हेतु आए हुए छात्र अपना पूरा ध्यान अध्ययन में लगाकर कॉलेज तथा अपने परिवार का नाम रोशन करें, यही उनका उद्देश्य होना चाहिए। डॉ. राव ने कहा कि आज से तीन सप्ताह का ऑरिएन्टेशन प्रोग्राम नए छात्रों के लिए विशेष रूप से शुरू किया जा रहा है, जिसमें कला, संचार, कौशल, मानवीय मूल्य, औद्योगिक क्षेत्र एवं अतिथि व्याख्यान पर छात्रों को विशेष जानकारी दी जाएगी।

समारोह में सह-कुलपति डॉ. आर.के. चौहान ने विद्यार्थियों के उज्ज्वल भविष्य की कामनाएँ करते हुए शिक्षा में नवीनीकरण लाने एवं शोध कार्यों पर बल दिया। इस अवसर पर विद्यापीठ में 500 पौधों का रोपण भी किया गया। कार्यक्रम में निदेशक दिनेश सदाना सहित विभागाध्यक्ष उपस्थित रहे। समारोह में विभिन्न सांस्कृतिक गतिविधियों जैसे वन्दना, भाँगड़ा, पश्चिमी नृत्य एवं फैशन शो का आयोजन किया गया। विद्यापीठ में पूर्व छात्रों ने अपनी शिक्षा ग्रहण करने के उपरान्त अपने मूल्यवान अनुभवों पर प्रकाश डाला। समारोह के उपरान्त डीन (एकेडिमिक) डॉ. पामिला चावला ने धन्यवाद ज्ञापित किया। कार्यक्रम का समापन राष्ट्रीय गान से हुआ।
एम वी एन विश्वविद्यालय मैं नए छात्र छात्राओं के लिए ओरिएंटेशन प्रोग्राम का आयोजन

एम वी एन विश्वविद्यालय मैं नए छात्र छात्राओं के लिए ओरिएंटेशन प्रोग्राम का आयोजन

फरीदाबाद 3 अगस्त ।  एम वी एन विश्वविद्यालय के तत्वाधान में फार्मेसी संकाय द्वारा नए छात्र छात्राओं के लिए ओरिएंटेशन प्रोग्राम किया गया। कार्यक्रम का शुभारंभ मां सरस्वती और गणपति वंदना और मुख्य अतिथि डॉक्टर अरुण गर्ग, जनरल सेक्रेटरी, इंडियन फार्मेसी ग्रेजुएट एसोसिएशन, नई दिल्ली द्वारा दीप प्रज्वलन करके किया गया।

इस अवसर पर मुख्य अतिथि ने इस वर्ष दाखिल नए छात्र व छात्राओं को बताया कि "सक्सेस मांगे मोर" अर्थात सक्सेस प्राप्त करने के लिए बच्चे विफल होने से ना डरें, अपनी खूबियों को खोजें, लक्ष्य और लय को बरकरार रखें और साथ-साथ प्रैक्टिकल नॉलेज पर फोकस करें इससे उन्हें आने वाले समय में अपॉर्चुनिटी का फ़ायदा ले सके।

इस अवसर पर विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो.(डॉ.) जे.वी.देसाई ने सभी बच्चों का स्वागत किया और कहा कि फार्मेसी एक नोबेल प्रोफेशन है जिसके द्वारा छात्र-छात्राएं समाज में सेवा भाव से योगदान कर सकते हैं।

फार्मेसी संकाय की संकायाध्यक्षा डॉ. ज्योति गुप्ता ने छात्र/छात्राओं का स्वागत करते हुए कहा कि बच्चों को 3 C का ध्यान रखना चाहिए पहला C - पढ़ाई के प्रति कमिटमेंट, दूसरा C - प्रोफेशन के लिए करैक्टर, तीसरा C - सफल होने का कॉन्फिडेंस।

इस अवसर पर विश्वविद्यालय के रजिस्ट्रार डॉ राजीव रतन जी ने फार्मेसी डिपार्टमेंट की सराहना की और कहा फार्मेसी डिपार्टमेंट आसपास के ग्रामीण क्षेत्रों में काफी अच्छा काम कर रहा है और करता रहेगा।

कार्यक्रम के समापन पर फार्मेसी संकाय के विभागाध्यक्ष तरुण विरमानी ने कार्यक्रम में आए हुए सभी अभिभावकों/ छात्र-छात्राओं का धन्यवाद दिया और मुख्य अतिथि का विशेष धन्यवाद दिया कि उन्होंने बहुमूल्य समय निकाल कर बच्चों को ज्ञानवर्धन/ मार्गदर्शन किया।

इस कार्यक्रम में बच्चों ने सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किए और परीक्षा विभाग के अधिकारी मुकेश सैनी, प्लेसमेंट सेल के अधिकारी गौरव सैनी, पुस्तकालय से के के झा और संकाय के सभी लोग रेशू विरमानी, माधुरी ग्रोवर, मोहित संधूजा, विकास जोगपाल, सतवीर सौरोत, मोहित मंगला, चरन सिंह, कीर्ति शर्मा, गिरीश मित्तल, गीता, शादाब आलम, त्रिलोक शर्मा, नीतीश, यशपाल, विनोद आदि उपस्थित थे।

Sunday, 29 July 2018

मानव रचना शैक्षणिक संस्थान के अध्यक्ष डॉ. प्रशांत भल्ला को AIAVCA का संरक्षक नियुक्त

मानव रचना शैक्षणिक संस्थान के अध्यक्ष डॉ. प्रशांत भल्ला को AIAVCA का संरक्षक नियुक्त

फरीदाबाद, 29 जुलाई:   मानव रचना शैक्षणिक संस्थान में ऑल इंडिया एसोसिशएन ऑफ वाइस चांसलर एंड अकैडमीशियंस (AIAVCA) की नेशनल कन्वेंशन ऑन हायर एजुकेशन का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम में मिनिस्ट्री ऑफ एचआरडी के एमओएस डॉ. सत्यपाल सिंह ने बतौर मुख्य अतिथि हिस्सा लिया। इस दौरान AIAVCA के अध्यक्ष प्रोफेसर लोकेश शेखावत, मानव रचना इंटरनेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ रिसर्च एंड स्टडीज के वीसी और AIAVCA के उप-प्रधान डॉ. एनसी वाधवा, मानव रचना यूनिवर्सिटी के वीसी डॉ. संजय श्रीवास्तव, मानव रचना शैक्षणिक संस्थान के अध्यक्ष और AIAVCA के संरक्षक डॉ. प्रशांत भल्ला, AIAVCA के सचिव प्रोफेसर बीएन पांडे, हरियाणा सेंट्रल यूनिवर्सिटी (महेंद्रगढ़) के चांसलर डॉ. पीएल चतुर्वेदी, जेएस यूनिवर्सिटी (शिकोहाबाद) के चांसलर सुकेश कुमार, अकैडमिक अवेकनिंग के चीफ एडिटर कर्नल (डॉ.) प्रो. एसएस सारंगदेवत मौजूद रहे। इस कार्यक्रम में राजस्थान, महाराष्ट्र, ओडीशा, तमिलनाडु, यूपी, बिहार, असम, उत्तरांचल, हिमाचल प्रदेश, गुजरात, मध्य प्रदेश, पंजाब, दिल्ली, हरियाणा समेत देशभर के शिक्षाविदों ने हिस्सा लिया।

इस दौरान अकैडमिक अवेकनिंग नाम की एक राष्ट्रीय मैगजीन का भी विमोचन किया गया। यह मैगजीन साल में तीन से चार बार छापी जाएगी। इसमें शिक्षा से जुड़ी जानकारियां होंगी। 

अपने संबोधन में डॉ. सत्यपाल सिंह ने कहा, शिक्षा का मूल रूप मानव की रचना करना है और डॉ. ओपी भल्ला ने अपने शैक्षणिक संस्थान के लिए बहुत ही बेहतरीन नाम चुना, उसके लिए मैं उनकी सराहना करता हूं। उन्होंने कहा कि, शिक्षा को दो भागों में बांटा गया है, लोअर और हायर, मैं इस बात से बिल्कुल भी सहमत नहीं हूं। शिक्षा हमेशा ही हायर होती है। डॉ. सत्यपाल ने कहा कि, मैं इस बात से भी सहमत नहीं हूं कि हमारे मंत्रालय का नाम एमएचआरडी है, इसका नाम शिक्षा मंत्रालय ही होना चाहिए, क्योंकि रिसोर्स जमीन होती है, मशीन होती है, पैसा होता है लेकिन इंसान नहीं। 

उन्होंने कहा कि, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शिक्षा में सुधार की उम्मीद करते हैं। हमारी सरकार का मकसद पूरी दुनिया को चरित्र की शिक्षा देना है। शिक्षा चरित्रवान होगी तभी फायदा होगा। उन्होंने अपने ही अंदाज में कहा कि, राजनीतिक लोग ज्यादा पढ़े लिखे नहीं होते हैं, पढ़े-लिखे तो सिर्फ शिक्षाविद होते हैं, हमें आपसे बहुत उम्मीदें हैं। उन्होंने कहा, जब तक स्कूलों में शिक्षा का स्तर नहीं सुधरेगा तब-तक बच्चे आगे नहीं बढ़ेंगे। बच्चों को क्रिएटिव बनाना शिक्षकों के हाथ में है। कुछ भी करने से पहले एक अच्छा इंसान बनो। ज्ञान और विज्ञान सूर्य की तरह है। पीएचडी करने वाले अपना फायदा सोचते हैं और अलग-अलग  सब्जेक्ट में रिसर्च करते हैं, मेरा मानना है कि उन्हें एक ही सब्जेक्ट में रिसर्च करनी चाहिए। हमें क्वालिटी में विश्वास रखना चाहिए, क्वांटिटी में नहीं। हम विदेश से लोगों को बुलाते हैं, अपने लोगों पर हमें विश्वास क्यों नहीं है।