Showing posts with label palwal. Show all posts
Showing posts with label palwal. Show all posts

Wednesday, 26 September 2018

वार्ड नंबर 11 स्वच्छ्ता की एक मिसाल

वार्ड नंबर 11 स्वच्छ्ता की एक मिसाल



फरीदाबाद 26 सितंबर। बड़खल विधानसभा क्षेत्र  वार्ड नंबर 11 के पार्षद मनोज नासवा ने आज सफाई अभियान चलाया गया । मनोज नासवा ने कहा कि स्वच्छता ही सेवा है इस अभियान को देश के प्रधानमंत्री ने पूरे देश में चला रखा है। इसी अभियान के तहत आज वार्ड नम्बर 11 के  पार्षद मनोज नासवा ने रामायण बाग चौक ओर 2 E ब्लॉक , 2 ओर 3 के चौक , खत्री चौक , लखानी धर्मशाला चौक , विद्यानिकेतन चौक , शिवालय मार्किट  ओर  साथ वाले रोड पर स्वच्छता अभियान में अपना श्रमदान किया 1 स्वच्छता अभियान में उनके साथ में नगर निगम कर्मचारियों ने भी में अपना योगदान दिया ।
  पार्षद मनोज नासवा ने कहा कि पूरे देश में 15 सितंबर से 2 अक्टूबर तक स्वच्छता अभियान पखवाड़ा मनाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि स्वच्छता अभियान की शुरुआत भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 2 अक्टूबर 2014 को शुरू की थी। आज  इस अभियान में प्रत्येक भारतीय नागरिक ने अपनी सहभागिता देकर इसे सफल बनाने में अपना योगदान दिया है । यह परिणाम स्वच्छता अभियान में आम जन भागीदारी का है।

पार्षद मनोज नासवा ने आमजन से अपील करते हुए कहा कि वे हर रोज एक घंटा श्रमदान अवश्य करें। श्रमदान के लिए अपने आप में आदत डालने का प्रयास करें। इसके साथ ही उन्होंने लोगों से अपील की कि वे अपने घर के साथ-साथ आसपास गंदगी ना फैलाएं और स्वच्छता रखें। उन्होंने कहा कि यह सफाई अभियान तभी सफल होगा, जब इस में आमजन भागीदार सहयोगी बनेगा।

इस मोके पर नगर निगम के ASI निर्मल सिंह , विशाल ,नरेंद्र उपस्थित थे ।

Sunday, 16 September 2018

मानव रचना ने पहला पीएनजी शवदाह गृह लोगों को समर्पित

मानव रचना ने पहला पीएनजी शवदाह गृह लोगों को समर्पित

फरीदाबाद, 17 सितंबर: डॉ. ओपी भल्ला फाउंडेशन एवं बंसल और ढल परिवार के सहयोग से फरीदाबाद के अजरौंदा स्थित शव दाह गृह में पीएनजी की सुविधा उपलब्ध करवाई गई है। यह शहर का पहला पीएनजी शह दाह गृह होगा।  मानव रचना के फाउंडर डॉ. ओपी भल्ला की पुण्यतिथि पर मानव रचना की संरक्षक सत्या भल्ला और हरियाणा कैबिनेट मंत्री विपुल गोयल ने यह शवदाह गृह लोगों को समर्पित किया। इस दौरान उनके दोनों बेटे डॉ. प्रशांत भल्ला, डॉ. अमित भल्ला साथ ही बंसल परिवार की ओर से आरके बंसल और ढल परिवार से सविता ढल मौजूद रहीं।

इस मौके विपुल गोयल ने इस पहल की सराहना की और उन्होंने डॉ. ओपी भल्ला को भी याद किया। उन्होंने बताया डॉ. ओपी भल्ला समाज की भलाई करने का काम करते थे। फरीदाबाद के लोगों को बेहतर शिक्षा देने का सपना देखा, उनके जाने के बाद आज उनके दोनों बेटे उनका यह सपना पूरा कर रहे हैं। आज अगर हम संरक्षण नहीं करेंगे तो हमारी आने वाली पीढ़ी को ऑक्सिजन खरीद कर सांस लेनी पड़ेगी।विपुल गोयल और सत्या भल्ला ने इस दौरान एक पौधा भी लगाया। उन्होंने लोगों से निवेदन किया की वह हर किसी को इसके बारे में जानकारी दें।

मानव रचना शैक्षणिक संस्थान के अध्यक्ष डॉ. प्रशांत भल्ला ने अपने पिता की पुण्यतिथि पर उन्हें याद किया। हमने पिता जी के अधूरे काम को पूरा किया। उन्होंने इस दौरान बताया, गैस आधारित शव दहन से सबसे बड़ा फायदा पर्यावरण को होता है जिसमें लकड़ी आदि का इस्तेमाल न होने से प्रदूषण नहीं होता है। पीएनजी श्मशान प्रणाली द्वारा शव का संस्कार करते समय पारंपरिक अनुष्ठान अभी भी किया जा सकता है। इसके आलावा गैस आधारित दहन तुलना में जल्दी हो जाता है और डेढ़ घंटे के भीतर ही अस्थियां भी दे दी जाती हैं। शहदाह गृह में आधुनिक कैमरे भी लगाए हैं। परिजन इस आईपी एड्रेस 192.168.225.1 पर लॉन-इन कर घर बैठकर भी लाइव देख सकेंगे। लॉग-इन करने के लिए यूजरनेम- admin और पासवर्ड- admin123 डालें। एंड्रायड मोबाइल फोन पर ऐप डाउनलोड करने के लिए प्ले-स्टोर से gcmob ऐप डाउनलोड करें और आईफोन पर ऐप डाउनलोड करने के लिए प्ले-स्टोर में जाकर icmob ऐप डाउनलोड करें।

आपको बता दें, इससे पहले सूरजुकंड स्थित मानव रचना शैक्षणिक संस्थान में डॉ. ओपी भल्ला की याद में उनके स्मृति स्थल पर हवन और भजन किया गया। मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल के छात्रों ने भजन गाए। गायक पदमजीत सहरावत ने भी इस मौके पर एक गीत डॉ. ओपी भल्ला को समर्पित किया। कार्यक्रम में शम्मी कपूर, के सी लखानी, नवदीप चावला, गुडगाँव के डिप्टी कमिश्नर विनय प्रताप, मानव रचना के ट्रस्टी डॉ. एमएम कथूरिया, एमआरआईआईआरएस के वीसी डॉ. एनसी वाधवा, मानव रचना के एमडी डॉ. संजय श्रीवास्तव, रजिस्ट्रार, डीन, डायरेक्टर्स समेत मानव रचना परिवार के कई लोगों ने हिस्सा लिया।
 जम्लों के रूप में जुल्म ढ़हा रही है भाजपा: अशोक तंवर

जम्लों के रूप में जुल्म ढ़हा रही है भाजपा: अशोक तंवर

पलवल/हथीन, 16 सितंबर। हरियाणा प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष एवं पूर्व सांसद डॉ. अशोक तंवर ने भाजपा सरकार पर बडा हल्ला बोलते हुए कहा कि समापन के अवसर पर आयोजित रैली में 40 मिनट से अधिक के  संबोधन में तंवर ने केंद्र और हरियाणा की बीजेपी सरकार पर सीधे हमले किए और एसवाईएल के मामले में सुप्रीम कोर्ट से फैसला आने के बाद इनेलो को राजनीति करने के लिए आगे कर केंद्र की मोदी सरकार अपनी जिम्मेवारी से बच रही है। पूर्व प्रधानमंत्री स्व. इंदिरा गांधी और स्व. राजीव गांधी हरियाणा को उसके हक का पानी देना चाहते थे।  उन्होंने केंद्र और हरियाणा में कांग्रेस की सरकार बनने पर वायदा करते हुए कहा कि राहुल गांधी के नेतृत्व में कांग्रेस एसवाईएल में पानी लेकर आएगी ताकि दक्षिण हरियाणा के पलवल, मेवात, रेवाड़ी, महेंद्रगढ़, झज्जर और भिवानी को उसका हक मिल सके। 

इतना ही नहीं हरियाणा में कांग्रेस की सरकार बनने पर तंवर ने दोबारा बीपीएल सर्वेक्षण कराने तथा पुरानी सूची को दुरुस्त करने की घोषणा भी की।  अशोक तंवर कांग्रेस कार्यकर्ताओं के साथ साइकिलों के लंबे काफिले के साथ रविवार की सुबह होडल से अपना कार्यक्रम शुरू किया। गांव सोंध, नांगल जाट, बहीन, कोट, उटावड़, उटावड़ मोड़, रूपड़ाका, मालपुरी, पाचनका आदि बड़े गांवों से होते तंवर हथीन अनाज मंडी पहुंचे। साइकिल यात्रा के स्वागत में सभी गांवों में बड़ी संख्या में लोग उमड़े। पीढ़ी दर पीढ़ी कांग्रेसी परिवारों के बुजुर्गो ने हरियाणा कांग्रेस अध्यक्ष को आशीर्वाद दिया और भाजपा सरकार को उखाडऩे की लड़ाई को दोगुने हौंसले व मजबूती से लडऩे की दुआए दी। यात्रा में शामिल साइकिल सवारों के लिए मेवात जिला में दूध, शिकंजी, लस्सी आदि का इंतजाम भी किया गया था। इस दौरान पीर-फकीरों की मजारों व मंदिरों में भी अशोक तंवर ने माथा टेका। 

डा. अशोक तंवर ने हथीन से चण्डीगढ़ तक परिवहन विभाग की बस सेवा बंद करने पर खट्टर सरकार पर कटाक्ष करते हुए कहा कि अब चण्डीगढ़ में किसी का काम नहीं होता तो लोग बस में बैठ कर क्यों जाएंगे। पलवल जिला में सडकों की बदहाली, चरमराई बिजली-पानी की आपूर्ति, शिक्षा, चिकित्सा सेवाओं की बदहाली को मोदी-खट्टर सरकार का कहर बताया। उन्होंने कहा कि मेवात, पलवल, फरीदाबाद के साथ बीजेपी की केंद्र और हरियाणा सरकार सौतेला बर्ताव कर रही है। रेवाड़ी में सीबीएसई टापर छात्रा के साथ गैंगरेप की घटना को लेकर राज्य में जंगलराज और बीजेपी के बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ अभियान को भी तंवर ने विफल करार दिया। 

उन्होंने पीडि़ता को इंसाफ दिलाने के लिए निकाले गए कांग्रेस नेत्री वंदना पोपली के कैंडल मार्च की सराहना करते हुए कहा कि वे खुद भी इस रैली के बाद सीधे पीडि़ता से मिलने जाएंगे। होडल से हथीन के बीच हरियाणा कांग्रेस अध्यक्ष का जगह-जगह फूल-मालाओं, ढोल नगाड़ों, पगड़ी बांध कर  स्वागत किया गया। यात्रा को मार्ग में मिले अभूतपूर्व जनसमर्थन के चलते पूर्व सांसद अशोक तंवर रैली के लिए निर्धारित 11 बजे के समय से दो घण्टा देरी से पहुंचे। फरीदाबाद को स्मार्ट सिटी बनाने की घोषणा को भी अच्छे दिनों की तर्ज पर बीजेपी का जुमला करार देते हुए अशोक तंवर ने राफेल डील में अंबानी को फायदा पहुंचाने के लिए पीएम मोदी की भूमिका पर सवाल उठ रहे। हरियाणा के पानीपत में 30 सितंबर को राफेल पोल खोल राज्य स्तरीय रैली आयोजित होगी। बीते विधानसभा चुनाव के बाद राज्य में कांग्रेस की पहली राज्य स्तरीय रैली है और अगले चुनावों की तैयारी करने वालों के लिए यह रैली टेस्टिंग के समान होगी। उन्होंने कहा कि इस रैली की तैयारी को लेकर 20 सितंबर को चण्डीगढ़ में पार्टी के राज्य मुख्यालय में बैठक रखी गई है इसी दिन हरियाणा में कांग्रेस के शक्तिएप की शुरुआत भी होगी। वहीं साइकिल यात्रा के छठे चरण की घोषणा करते हुए तंवर ने कहा कि अगली यात्रा जींद जिले से शुरू होगी। इस चरण की घोषणा पानीपत में होने वाली पोल-खोल रैली के बाद होगी।   


पलवल जिला की प्रभारी एवं प्रदेश उपाध्यक्ष राधा नरूला ने तो कहा कि उन्होंने पहली बार हरियाणा में कांग्रेस का इतना संघर्षशील व मेहनती अध्यक्ष देखा है। रैली के दौरान अनेक बार लोगों ने हाथ उठाकर केंद्र और हरियाणा में कांग्रेस की सरकार बनाने का भरोसा दिलाया। वहीं विभिन्न बिरादरियों व इलाके की सरदारी की ओर से अशोक तंवर को पगड़ी, स्मृति चिन्ह व बड़ी माला से सम्मानित किया गया। 

रैली के आयोजक प्रदेश महासचिव मोहम्मद बिलाल उटावड ने सभी का आभार व्यक्त किया वहीं क्षेत्र की समस्याएं रखी। इस अवसर पर पूर्वमंत्री बिजेन्द्र कायदयान, पूर्व विधायक राधेश्याम शर्मा, प्रदेश महासचिव प्रदीप जेलदार, पलवल जिला की प्रभारी एवं प्रदेश उपाध्यक्ष डॉ. राधा नरूला, लोकसभा क्षेत्र के वरिष्ठ नेता यशपाल नागर, कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता विकास चौधरी, पंडित उमेश शर्मा गोहाना, पूर्वप्रदेश महासचिव नेत्रपाल अधाना, ओबीसी मोर्चा के प्रदेश चेयरमैन राकेश भडाना, प्रदेश महासचिव राजकुमार तेवतिया, प्रदेश सचिव सत्यवीर डागर, सुमित गौड व संतराम मेघवाल, इन्द्र दलाल, युवा कांग्रेस के जिला उपाध्यक्ष रोहित नागर, राजीव लांबा, वीरेन्द्र चौहान, ज्ञान वंद आहुजा, बलजीत कौशिक, नरेश गोदारा, जयपाल सिंह लाली, मनोमहन भडाना, कुलदीप सोनी, डॉ. साहिद, हाजी साहब खान पटवारी, पूर्व विधायक मा. अजमत खान, अख्तर हुसैन, राजेश तेवतिया,  राजेन्द्र शर्मा, सुभाष चौधरी, रेनु चौहान, अमन अहमद, मनोज अग्रवाल, अनीश पाल, राजेश आर्य, एसएल शर्मा, महेन्द्र शर्मा, सुनील नागर, अजीत फागाट, कुलताज सिंह, वंदना पोपली, नवीन शर्मा, सत्यभान दहिया, पवन खरखोंदा, सुनील खेडी, रोहित दलाल, ओमप्रकाश देवीनगर, मोहम्मद सलमान, मोहम्मद अरसद आदि अनेकों वरिष्ठ कांग्रेसी नेता मौजूद थे।  




Friday, 14 September 2018

बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का नारा देने वाली भाजपा सरकार फेल : अशोक तंवर

बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का नारा देने वाली भाजपा सरकार फेल : अशोक तंवर

फरीदाबाद, 14 सितंबर : हरियाणा प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष डा. अशोक तंवर ने देश-प्रदेश की बिगड़ती कानून व्यवस्था का ठीकरा भाजपा सरकार पर फोड़ते हुए कहा कि इस सरकार में हालात इतने बदत्तर हो गए है कि आज बहन-बेटियां अपनी आबरु बचाने के लिए चिंतित है। उन्होंने गुरुवार को रेवाड़ी-महेंद्रगढ़ में राष्ट्रपति अवार्ड से सम्मानित युवती से हुए सामूहिक दुष्कर्म की घटना पर गहरा दुख जताते हुए कहा कि बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का नारा देने वाली सरकार बेटियों की आबरु बचाने में पूरी तरह से नाकाम साबित हो रही है। दिन-प्रतिदिन बलात्कारों की घटनाओं ने भारत देश की छवि पूरे विश्व में धूमिल हो रही है। 

श्री तंवर आज अपनी पांचवें चरण की साईकिल यात्रा के तीसरे दिन मोहना में आयोजित विशाल सभा में उपस्थित जनसमूह को संबोधित कर रहे थे। तीसरे दिन साइकिल यात्रा तिगांव से शुरु होकर नीमका होते हुए पृथला विधानसभा क्षेत्र के गांवों मुजेड़ी, आईएमटी वीटा चौक, चंदावली, मच्छगर, दयालपुर, अटाली, छांयसा, मोहना, अटेरना, जवां, फतेहरपुर बिल्लौच, डींग, प्याला, सीकरी, पृथला, बाघौला, हुडा सेक्टर-2 से होकर गुजरती हुई पलवल के महाराणा प्रताप भवन पहुंची। यात्रा का जगह-जगह गांवों में प्रदेश कांग्रेस के सचिव सत्यवीर डागर के संयोजन में आयोजित स्वागत समारोहों में पगड़ी बांधकर एवं फूल मालाओं से भव्य स्वागत किया। इस दौरान सत्यवीर डागर ने पृथला क्षेत्र में आगमन करने पर श्री तंवर का स्वागत करते हुए उन्हें विश्वास दिलाया कि कांग्रेस कार्यकर्ता पार्टी संगठन को मजबूत करने में पूरी तरह से तत्पर है और घर-घर जाकर भाजपा सरकार की जनविरोधी नीतियों से लोगों को अवगत कांग्रेस पार्टी को पुन: सत्ता में लाने का काम करेंगे। 

श्री तंवर ने आज कहा कि भाजपा सरकार की जनविरोधी नीतियों के चलते प्रदेश का हर वर्ग आज परेशान है, गरीब आदमी के समक्ष दो जून की रोटी कमाना भी दूभर हो गया है। उन्होंने भाजपा सरकार पर प्रहार करते हुए कहा कि 70 हजार करोड़ के राफेल घोटाला ने साबित कर दिया कि भाजपा सरकार निजी स्वार्थ के लिए देश की आन-बान और शान को भी दांव लगा सकती है। इस अवसर पर जगह-जगह ग्राम वासिायों को तीन लाख करोड़ के अवैध खनन घोटाले, हरियाणा स्वास्थ्य विभाग घोटाला, कृषि घोटाला, पेपर लीक घोटाला, हरियाणा के मंत्रियों का परिवहन भत्ता घोटालों के बारे में विस्तारपूर्वक बताते हुए कहा कि भाजपा की नीति और नीयत दोनों ही खराब है। लोगों को झूठे जुमले सुनाकर सत्ता हथियाने वाली भाजपा सरकार से आज लोगों का मोह पूरी तरह से भंग हो गया है और जिस प्रकार से साईकिल यात्रा में लोगों का हजूम उमड़ रहा है, उससे साफ हो गया है कि अब इस सरकार का सत्ताविहिन होना निश्चित है। 

यात्रा के दौरान पूर्व मंत्री बिजेंद्र कादियान, पूर्व विधायक आनंद कौशिक, यशपाल नागर राधा नरुला, सत्यवीर डागर, विकास चौधरी, सुमित गौड़ , पं. राजेंद्र शर्मा, राकेश भडाना, सुभाष चौधरी, राजीव लाम्बा, महावीर सिंह, वंदना पोपली, राजेश तेवतिया, नरेश गोदारा, रेनू चौहान, देवेंद्र बबली, रोहित नागर, गजेंद्र सिंह, सत्यनारायण, राकेश तंवर, तरूण भंडारी कोषाध्यक्ष, कुलदीप सोनी मीडिया इंचार्ज, राज कुमार कटारिया, सुरेन्द्र दलाल, सीतल मान, नवदीप गोदारा, रोहित दलाल, सुनील खेड़ी, कंवर खत्री, मनोज बेगमपुर, निखिल मदान, धर्मपाल कटारिया, राजेश जून, सतीश छिकारा, भूपेन्द्र राणा, सतीश दताना, कुलदीप गदराना, विशाल वर्मा, वीरेन्द्र चौहान, सुरेन्द्र सुंदर गुडग़ांव, देवेन्द्र वर्मा, सुरेश ढांडा, बूटा सिंह, रामफल कमांडो, सतपाल कौशिक, प्रदीप जैलदार, प्रौ. कुलताज, नवदीप दलाल, पवन खरखौदा, वंदना पोपली, खजान सिंह, राजेन्द्र ठाकुर, अमान अहमद, हवा सिंह जांगड़ा, सुजीत भारद्वाज, चेयरमैन पर्यावरण प्रकोष्ठ, डॉ. हिम्मत यादव चेयरमैन विचार-विभाग, पंकज खरबंदा प्रमुख आईटी प्रकोष्ठ, भूपेन्द्र गंगवा, डॉ. कपूर सिंह, मिथुन वर्मा, मनोज अग्रवाल, सचिन गुप्ता, पिछले विधान सभा में पार्टी उम्मीदवार,अनुसूचित जाति विभाग, महिला कांग्रेस, एनएसयूआई, सेवा दल और युवा कांग्रेस के पदाधिकारी आदि मौजूद थे। 

Wednesday, 12 September 2018

साइकिल यात्रा’ को मिल रहे भारी जनसमर्थन से बौखलाई भाजपा-इनेलो : अशोक तंवर

साइकिल यात्रा’ को मिल रहे भारी जनसमर्थन से बौखलाई भाजपा-इनेलो : अशोक तंवर

फरीदाबाद 12 सितंबर :  हरियाणा प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष डा. अशोक तंवर ने फरीदाबाद के ऐतिहासिक सूरजकुंड से आज अपने पांचवें चरण की ‘साइकिल यात्रा’ की विधिवत रुप से शुरुआत की। साईकिल यात्रा में कांग्रेसी नेताओं ने बढ़चढक़र भाग लेते हुए पूरे उत्साह के साथ ‘राहुल गांधी जिंदाबाद’ ‘कांग्रेस पार्टी जिंदाबाद’ ‘अशोक तंवर’ जिंदाबाद के नारे लगाकर पूरे माहौल को कांग्रेसमय कर दिया। जहां-जहां से यह यात्रा गुजरीं, वहां-वहां कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने पूरे जोश-खरोश के साथ श्री तंवर का स्वागत किया। ‘साइकिल यात्रा’ के आरंभ में हुई जनसभा को संबोधित करते हुए डा. अशोक तंवर ने भाजपा सरकार पर जमकर प्रहार किए। उन्होंने कहा कि केंद्र व प्रदेश की भाजपा सरकार हर मोर्चे पर विफल साबित हुई है। 

इस सरकार में जनता को केवल महंगाई, भ्रष्टाचार व बेरोजगारी की सौगात मिली है, जबकि विकास के नाम पर केवल और केवल लोगों को जुमले सुनाए गए है। उन्होंने कहा कि राफेल घोटाले ने भाजपा सरकार की नीति और नीयत को सार्वजनिक कर दिया है और यह घोटाला देश के इतिहास में अब तक का सबसे बड़ा घोटाला है परंतु कितनी बड़ी विंडबना है कि इतना कुछ होने के बावजूद अपने आपको देश का चौकीदार बताने वाले नरेंद्र मोदी चुप्पी साधे हुए है। श्री तंवर ने कहा कि भाजपा ने देश को जात-पात के नाम पर बांटने का काम किया है और चार वर्षाे के दौरान देश व प्रदेश में जितने दंगे हुए है, वह इस बात की गवाही दे रहे है कि यह सरकार राजनैतिक फायदे के लिए कुछ भी कर सकती है। श्री तंवर ने स्मार्ट सिटी फरीदाबाद पर तंज कसते हुए कहा कि इससे गंदा शहर उन्होंने आज तक नहीं देखा, यहां जगह-जगह गंदगी, सडक़ों पर भरा पानी भाजपा के विकास की कहानी बयां कर रहे है। उन्होंने कहा कि यह वही स्मार्ट सिटी है, जहां से प्रदेश के मुख्यमंत्री मनोहरलाल ने स्वच्छता अभियान की शुरुआत की थी और आज यह शहर अपनी बदहाली पर आंसू बहा रहा है। यहां के लोगों को पीने के पानी, बिजली, सडक़ें जैसी सुविधाओं की कमी के चलते लोग त्राहि-त्राहि कर रहे है और भाजपाई स्मार्ट सिटी का राग अलापकर कागजों में खानापूर्ति करने में जुटे है। उन्होंने कहा कि अगर इस शहर को स्मार्ट बनाया था तो वह कांग्रेस ने बनाया था, बदरपुर फ्लाईओवर, आईएमटी, सिक्स लेन हाईवे व मेट्रो परियेाजनाएं जैसी अनेकों योजनाएं ऐसी है, जिसने फरीदाबाद के एक विकास को नई दिशा देने का काम किया है। 

उन्होंने कहा कि प्रदेश में चल रही ‘साइकिल यात्रा’ से भाजपा-इनेलो बौखला गई है और वह इस यात्रा को लेकर अपनी खींज़ मिटाने के लिए अर्नगर्ल बयानबाजी कर रही है, जबकि साइकिल दौड़ रही है, सबको जोड़ रही है, चंडीगढ़ व दिल्ली में कब्जा करने के बाद ही यह यात्रा रुकेगी। उन्होंने कांग्रेस कार्यकर्ताओं की हौंसला अफजाई करते हुए कहा कि साइकिल यात्रा में कार्यकर्ताओं का उत्साह बेहतर है और मेहनती व कर्मठ कार्यकर्ताओं को उनकी मेहनत का फल भी अवश्य मिलेगा। श्री तंवर ने जोर देते हुए कहा कि ‘साइकिल यात्रा’ निकालने का मुख्य उद्देश्य प्रदेश की जनता को भाजपा सरकार द्वारा किए राफेल घोटाला, पेट्रोल-डीजल-रसोई गैस के बढ़ते दाम, भ्रष्टाचार, बेरोजगारी, जाति धर्म के नाम पर लोगों को बांटना आदि के बारे में जागरुक करना है। उन्होंने कहा कि वह आज भाजपा व इनेलो को चुनौती देते है कि कांग्रेस ने साइकिल से चुनावी जंग की शुरुआत कर दी है और यह साईकिल देश व प्रदेश में कांग्रेस को सत्तासीन करके ही थमेगी। सभा में श्री तंवर ने पूर्वमंत्री पं. शिवचरण लाल शर्मा के निधन पर दुख जताते हुए उन्हें भावभीनी श्रद्धांजलि दी।  

इसके उपरांत यह यात्रा ऐतिहासिक स्थान सूरजकुंड से शुरु होकर अनंगपुर, अनखीर, सैनिक कालोनी, बडखल गांव, एसजीएम नगर, मुल्ला चौक, एन.एच.-5, एन.एच.-1,2,3,4,5, नीलम, बीके, दशहरा मैदान, हार्डवेयर, डबुआ कालोनी, प्याली चौक, सारन, सेक्टर-55, राजीव कालोनी होते सेक्टर-62 साहूपुरा पहुंची। इस मौके पर पूर्वमंत्री बिल्लू कादियान, ए.सी. चौधरी, यशपाल नागर, पूर्व विधायक आनंद कौशिक, राधा नरुला, मोहम्मद बिलाल, विकास चौधरी, सुमित गौड़, सत्यवीर डागर, राकेश भड़ाना, स.परमजीत गुलाटी, ज्ञानचंद आहुजा, बलजीत कौशिक, पं. राजेंद्र शर्मा, एस.एल. शर्मा, महेंद्र शर्मा, रिंकू चंदीला, नरेश गोदारा, अनीशपाल, राजेश आर्य, संजय सोलंकी, राजकुमार तेवतिया, धर्मदेव आर्य, मनमोहन भड़ाना, जितेंद्र भड़ाना, सुभाष चौधरी, रोहित नागर, नीरज गुप्ता, सुनील नागर, संजीव चौधरी, देवेंद्र बबली, प्रदीप जैलदार, गजे सिंह कबलाना, पंकज खरबंदा, जतिन भाटिया, पंकज डाबर, अशोक गर्ग, विजय कौशिक, देवेंद्र दीक्षित, इंद्र दलाल, संतराम मेघवाल, साहबखां पटवारी सहित हजारों की तादाद में कांग्रेसी कार्यकर्ता मौजूद थे। 
रावल डिस्ट्रिक्ट क्रिकेट एसोसिएशन  ( डीसीए )  का ग्राउंड बनकर हुआ तैयार : रजत भाटिया

रावल डिस्ट्रिक्ट क्रिकेट एसोसिएशन ( डीसीए ) का ग्राउंड बनकर हुआ तैयार : रजत भाटिया

भूपानी में रावल डिस्ट्रिक्ट क्रिकेट एसोसिएशन  ( डीसीए )  का ग्राउंड बनकर हुआ तैयार, ग्राउंड में बनाई गई पांच विकेट 
-ग्राउंड में बनाई गई 80 यार्ड की बाउंड्री : रजत भाटिया 

-तेज गेंदबाजों के लिए बनाई गई ग्रासी विकेट   

7.5 एकड़ मैं बना   रावल डिस्ट्रिक क्रिकेट एसोसिएशन का क्रिकेट मैदान 

फरीदाबाद 12 सितंबर  : तीन माह के भीतर रावल डिस्ट्रिक क्रिकेट एसोसिएशन ने भूपानी गांव में अपना नया ग्राउंड तैयार कर लिया है। 7.5 एकड़ में बनाए गए इस ग्राउंड में पांच विकेट बनाई गई है। इस ग्राउंड में मिनी स्टेडियम का रूप दिया गया है। यह जिले का सबसे बड़ा मैदान होगा । डीसीए प्रेजीडेंट रजत भाटिया ने बताया कि ग्राउंड पर विकेट तैयार होने के बाद सभी ट्रायल और टूर्नामेंट ग्राउंड पर ही करवाए जाएंगे। 

इंडिया ए एवं हरियाणा रणजी के प्रमुख कोच विजय यादव के अनुसार ग्राउंड को नेशनल लेवल के मैचों के अनुसार तैयार किया गया है। और तेज गेंदबाजों के लिए बनाई गई ग्रासी विकेट ताकि खिलाडिय़ों को ऐसी विकेट पर खेलकर नया अनुभव होगा ।  

इंटरनेशनल स्तर का बनाया गया मैदान 

रजत भाटिया ने बताया कि इस मैंदान को इंटरनेशनल स्तर पर बनाया जाएगा ,इस मैंदान मैं 80 यार्ड ( गज ) की बॉण्डरी है और ड्रेसिंग रूम और पवेलियन और आदि की सुविधाए भी रखी और पिच का निर्माण ग्रासी स्तर पर कराया गया ताकि गेंदबाजो और बल्लेबाजो को तेज पिच का अनुभव कराए जा सके । 

3 महीने मैं तैयार हो गया मैदान 

रजत भाटिया ने बताया कि इस पूरे मैंदान को 3 महीने मैं पूरा हो जाएगा तैयार, इस मैंदान पर 5 पिच बनाई गई है और हर प्रकार की पिच पर सिखने का अनुभव क्रिकेटरों को देगी I

महासचिव राजीव यादव ने बताया कि मैदान का निर्माण होने के बाद डिस्ट्रिक लीग मैच और डिस्ट्रिक्ट ट्रॉयल भी अपने मैदान पर ही होंगे । अब डिस्ट्रिक की कोई भी एक्टिविटी अपने मैदान पर ही करेगी । वैसे हमारे क्रिकेटर आगे निकल कर आ रहे हैं। और हरियाणा की ओर से बेहतर प्रदर्शन भी कर रहे हैं।

Friday, 7 September 2018

एस्कॉर्ट्स ने वार्षिक इनोवेशन प्लेटफॉर्म एस्क्लुसिव में लॉन्च किया भारत का प्रथम स्वचालित कॉन्सेप्ट ट्रैक्टर : निखिल नंदा

एस्कॉर्ट्स ने वार्षिक इनोवेशन प्लेटफॉर्म एस्क्लुसिव में लॉन्च किया भारत का प्रथम स्वचालित कॉन्सेप्ट ट्रैक्टर : निखिल नंदा

नई दिल्ली, 6 सितंबर, 2018: एस्कॉर्ट्स के वार्षिक इनोवेशन प्लेटफॉर्म ‘एस्क्लुसिव 2018’ मंं भारत की अग्रणी इंजीनियरिंग कंपनी एस्कॉर्ट्स लिमिटेड ने भारत का प्रथम ऑटोमेटेड कॉन्सेप्ट ट्रैक्टर लॉन्च करते हुए अपने विशिष्ट स्वचालित कृषि समाधानों की घोषणा की। यह नए 22 ट्रैक्टर गुणवत्तापूर्ण कृषि प्रक्रियाओं के लिए आधुनिक डिजिटल वाहन तकनीकों की शक्ति से लैस है। इसके लिए एस्कॉर्ट्स ने सात दिग्गज तकनीकी कंपनियों Microsoft, Reliance Jio, Trimble, Samvardhana Motherson Group, WABCO, AVL एवं BOSCH से हाथ मिलाया है। इन साझेदारियों के जरिये विभिन्न फार्म मशीनें विकसित की जाएंगी, जिनमें इलेक्ट्रिक ट्रांसमिशन, ऑटोनोमस एप्लिकेशंस, रिमोट वेहिकल मैनेजमेंट, डेटा आधारित सॉइल एवं क्रॉप मैनेजमेंट और सेंसर से संचालित होने वाले कृषि एप्लिकेशन्स का समावेश होगा। 

भारतीय कृषि प्रक्रियाओं के लिए व्यापक मशीनीकरण और सूक्ष्म समाधानों की ज़रूरत है। इनके जरिये फसल पैदावार और किसानों की आय में वृद्धि की जा सकती है। किसानों को बेहतर पैदावार और आमदनी बढ़ाने के साथ ही मिट्टी की गुणवत्ता, बीज, जल प्रबंधन से जुड़ी विशेषज्ञ जानकारियां प्राप्त करने के लिए अधिक से अधिक तकनीकी समाधान एवं डिजिटल प्लेटफॉर्म्स की ज़रूरत है। इसी उद्देश्य के साथ एस्कॉर्ट्स ने विभिन्न दिग्गज कंपनियों के साथ भागीदारी की है। इनमें AVL के साथ इलेक्ट्रिक ट्रांसमिशन तकनीक के लिए और ट्रिम्बल के साथ सेंसर, कंट्रोल, जलस्तर प्रबंधन प्रणाली और ऑटोनोमस ई-स्टीयरिंग हेतु भागीदारी हुई है। वहीं, संवर्धना मदरसन ग्रुप के साथ स्मार्ट इंटरफेस केबिन एवं केयर प्लस – रियल टाइम सर्विस के लिए एक टू-वे वॉइस इंटरफेस के लिए हाथ मिलाया है। इसके अलावा WABCO के साथ वेहिकल कंट्रोल तथा ऑटोमेशन टेक्नोलॉजी के लिए भागीदारी की है। अगली भागीदारी  माइक्रोसॉफ्ट के साथ उनकी क्लाउड एवं आर्टिफिशियल टेक्नोलॉजी के लिए हुई है, जो किसानों को अपने खेतों से अधिक उपज के लिए पूरी जानकारी के साथ फैसले करने में मदद करते हुए उनकी क्षमता बढ़ाएंगे। भविष्य के उत्सर्जन की तैयारियों हेतु BOSCH के साथ मिलकर काम किया जाएगा। वहीं, कंपनी ने रिलायंस जियो के साथ कृषि मशीनरी का जीवनकाल बेहतर बनाने हेतु देश भर से असली स्पेयर पार्ट्स एवं श्रेष्ठ सेवाएं प्रदान करने वाले नेटवर्क प्लेटफॉर्म तैयार करने के लिए भी साझेदारी की है। 






एस्कॉर्ट्स ने ‘एस्कॉर्ट्स क्रॉप सॉल्युशंस’ के साथ साझा कृषि सेवाओं तथा समाधानों की शुरुआत की है, जो प्रति इस्तेमाल किराया मॉडल के तहत संपूर्ण अत्याधुनिक उपकरण उपलब्ध कराएंगे। कंपनी ने एक सर्विस प्लेटफॉर्म के रूप में ‘ट्रैक्सी’ शुरु किया है, जो बड़े कृषि उपकरण मालिकों को अपने उपकरण छोटे एवं वंचित किसानों को किराये पर देने के लिए एक मंच पर लाएगा। इसके अलावा, ‘स्मार्ट पार्ट्स’ की शुरुआत की गई है, जो किफायती दामों पर असली कलपूर्जे एवं कुशल सेवाओं की पेशकश करेगा। कंपनी की एक अन्य पेशकश ‘डिजिट्रैक’ कृषि संबंधी जानकारियां प्रदान करेगी, वहीं ‘फार्म पावर’ कुशल एवं उत्पादक खेती के लिए आधुनिक प्रक्रियाएं एवं उपकरण उपलब्ध कराएगा। 

अपने एस्क्लुसिव प्लेटफॉर्म के माध्यम से एस्कॉर्ट्स ने उच्च क्षमता क्रेनों के लिए तदानो के साथ अपने नए घोषित किये गये संयुक्त उपक्रम के तहत साझा तकनीक का भी प्रदर्शन किया। इसके साथ ही भारत की पहली कंपनी बनते हुए उच्च श्रेणी के लोकोमोटिव ब्रेक इलेक्ट्रॉनिक समाधान भी लॉन्च किये। 

इस अवसर पर बोलते हुए, एस्कॉर्ट्स लि. के चेयरमैन एवं मैनेजिंग डायरेक्टर श्री निखिल नंदा ने कहा, “एस्क्लुसिव हमारा वार्षिक इनोवेशन प्लेटफॉर्म है, जहां नए आविष्कार तथा कृषि, कंस्ट्रक्शन और रेलवे सेग्मेंट्स में वैश्विक तकनीकी कंपनियों के साथ क्रांतिकारी समाधान प्रदर्शित किये जाते हैं। पिछले साल हमने विश्व का पहला इलेक्ट्रिक कॉम्पैक्ट ट्रैक्टर कॉन्सेप्ट लॉन्च किया और इस वर्ष हमने स्वचालित कृषि समाधानों के प्लेटफॉर्म की शुरुआत की है। इसके लिए 7 रणनीतिक साझेदारियां की गई हैं। इन तकनीकी साझेदारियों के जरिये किसानों को बेहतर आमदनी दिलाने के लिए कृषि प्रक्रियाओं को नया स्वरूप प्रदान किया जाएगा। यह आयोजन एस्कॉर्ट्स द्वारा राष्ट्र के विकास एवं समाज में प्रगति लाने के लिए नई तकनीकें विकसित कर, उन्हें उपलब्ध कराने की एस्कॉर्ट्स की प्रतिबद्धता दर्शाता है। एस्कॉर्ट्स को Microsoft, Reliance Jio, Samvardhana Motherson Group, Bosch, Trimble, AVL, Tadano एवं WABCO के साथ साझेदारी करते हुए गर्व है, जिसके तहत हम साथ मिलकर स्वचालित कृषि प्रक्रियाओं एवं स्मार्ट मशीनों के लिए तकनीकों का निर्माण करेंगे।”

एस्क्लुसिव के बारे में:
एस्क्लुसिव एक वार्षिक इनोवेशन प्लेटफॉर्म है, जिसका आयोजन एस्कॉर्ट्स द्वारा प्रतिवर्ष 6 सितंबर को किया जाता है। इस मौके पर कंपनी द्वारा कृषि, कंस्ट्रक्शन एवं रेलवे क्षेत्रों में तकनीकी अविष्कारों की घोषणा की जाती है। इसकी शुरुआत 2017 में विश्व के पहले कॉम्पैक्ट इलेक्ट्रिक ट्रैक्टर को लॉन्च करते हुए की गई थी।

Sunday, 26 August 2018

रक्षाबंधन पर मेवात में 300 मुस्लिम महिलाओं ने भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सुभाष बराला को बांधी रखी

रक्षाबंधन पर मेवात में 300 मुस्लिम महिलाओं ने भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सुभाष बराला को बांधी रखी

हथीन : 26 अगस्त । जिले  के गांव पचानका में रक्षाबंधन समारोह में हरियाणा बीजेपी  प्रदेशाध्यक्ष सुभाष बराला ने मुख्यअतिथि के रूप में शिरकत की। इस मौके पर प्रदेशाध्यक्ष को करीब 300 मु‌स्लिम बहनों ने राखी बांधी तो उन्होंने इन मुश्लिम बहनों को शॉल और मिठाई भेंट कर हथीन क्षेत्र में शिक्षा के स्तर को और ऊंचा उठाने का आश्वासन दिया। समारोह को संबो‌धित करते हुए प्रदेशाध्यक्ष सुभाष बराला ने कहा कि रक्षाबंधन भाई-बहन के पवित्र रिश्ते का त्यौहार है ।सामाजिक सौहार्द, सामाजिक समनंवय, सबका साथ-सबका विकास और सबका विश्वास जीतना ही आज के कार्यक्रम का उद्देश्य है। हथीन के पचानका गांव में मुश्लिम महिलाओं के साथ रक्षाबंधन का त्यौहार मनाने पहुंचे भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष सुभाष बराला का हथीन पहुंचने पर जोरदार स्वागत किया गया। 

इस मौके पर कार्यक्रम की आयोजक इंजीनियर राहिला खान मेवाती ने फूलों का गुलदस्ता भेंट कर प्रदेशाध्यक्ष सुभाष बराला का स्वागत किया तो वहीं मुश्लिम समुदाय के लोगों ने पगड़ी बांधकर सुभाष बराला और सीएम के राजनैतिक सचिव दीपक का स्वागत किया। इस मौके पर भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सुभाष बराला ने लोगोंं को रक्षाबंधन और ईद की बधाई देते हुए कहा कि हम सबको मिलकर समाज को आगे बढ़ाने में अपना योगदान देना चाहिए। चंद जिलों के विकास होने से ये नहीं कहा जा सकता कि पूरे हरियाणा प्रदेश का विकास हो रहा है। यदि पलवल जिले और मेवात जिले का प्रत्येक गांव विकास करता है तो कहा जा सकता है कि हरियाणा प्रदेश तरक्की कर रहा है। हमारी देश प्रदेश की सरकारें सबका साथ-सबका विकास के नारे के साथ काम कर रही हैं। हमें सबका साथ, सबका विकास और सबका विश्वास को लेकर आगे बढ़ना है। तभी हम मेवात जैसे पिछड़े क्षेत्र को भी विकास के रास्ते पर ला सकते हैं। उन्होने कहा कि आज के इस कार्यक्रम में बहनों ने रक्षासूत्र बांधकर बड़े ही हर्षोलास के साथ इस कार्यक्रम को मनाया है। कुछ कार्यक्रमों का उद्देश्य केवल राजनीतिक होता है। लेकिन इस कार्यक्रम का उद्देश्य सामाजिक सौहार्द,  सामाजिक समन्वय, सबका साथ-सबका विकास  और सबके  विश्वास को लेकर आगे बढ़ना है। कार्यक्रम की आयोजक राहिला खान मेवाती ने जिस तरह से शिक्षा व खेलों के क्षेत्रों में महारथ हासिल कर इंजीनियर बनीं और आज एक शिक्षक के रूप में काम कर रही है तो इससे मेवात के क्षेत्र को लोगों और महिलाओं को एक प्रेरणा मिलती है।                                                                                                                          

इस मौके पर सीएम के राजनैतिक सचिव दीपक मंगला ने कहा कि इस कार्यक्रम से हमने प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी के बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ और बेटियों को खिलाओ अभियान के संदेश को देने का काम किया है। हमारी सरकार शिक्षा के स्तर को उठाने का काम कर रही हैं। दूधौला गांव में विश्वकर्मा विश्वविद्यालय के बनने के बाद लोगों को कौशलयुक्त शिक्षा मिलेगी जिससे उन्हे सरकारी तथा गैर सरकारी संस्थानों में रोजगार भी मिलेगा। मिंडकौला गांव में पालीटैक्निक कालेज, गांव स्वामिका में डिग्री कालेज हैं और आगे भी हथीन क्षेत्र में शिक्षा के स्तर को बढ़ाने का काम किया जाएगा। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार में योग्यता के आधार पर नौकरी देने का काम किया जा रहा है व ‌भ्रष्टाचार मुक्त प्रशासन देने का काम किया है। 

इस मौके पर भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता राजीव जेटली, भाजपा जिलाध्यक्ष जवाहर सिंह सौरोत, हरियाणा श्रम कल्याण बोर्ड के उपाध्यक्ष हरिप्रकाश गौतम, पूर्व मंत्री सुभाष कत्याल, प्रदेश कार्यकारणी सदस्य संजय गुजर,  प्रदेश महामंत्री भाजपा संदीप जोशी, किसान मोर्चा के उपाध्यक्ष बलदेव अलावलपुर, निगरानी कमेटी पलवल के सदस्य मुकेश सिंगला सहित अन्य पदाधिकारी मौजूद रहे।  




Thursday, 23 August 2018

यूरिक एसिड के लिए शीर्ष 10 होम्योपैथिक चिकित्सा - गठिया उपचार

यूरिक एसिड के लिए शीर्ष 10 होम्योपैथिक चिकित्सा - गठिया उपचार

फरीदाबाद 24 अगस्त ।  शास्त्रीय होम्योपैथिक क्लिनिक में, किसी भी बीमारी के लिए हमारा दृष्टिकोण व्यक्ति को पूरी तरह से इलाज करना है। इस प्रकार, रोगी के संविधान को कम करने से हमेशा शास्त्रीय होम्योपैथिक डॉक्टर को सबसे उपयुक्त उपाय चुनने में मदद मिलती है। सही होम्योपैथिक दवा के साथ डॉ। अभिषेक के अनुसार, एक आहार लेना बहुत महत्वपूर्ण है जो purines में कम है।

उच्च यूरिक एसिड के लिए सर्वश्रेष्ठ होम्योपैथी चिकित्सा
आउरा होम्योपैथी में, डॉक्टरों की हमारी खुराक रोगी की कुल तस्वीर के आधार पर होम्योपैथिक दवा निर्धारित करती है जिसमें उसकी जीवनशैली, मानसिक तनाव, उसके तनाव स्तर और भावनात्मक स्थिति, उनके चरित्र, आहार, यूरिक एसिड का पारिवारिक इतिहास और अन्य कारक शामिल हैं। गौट-एरिक एसिड के लिए सर्वश्रेष्ठ होम्योपैथिक दवा खोजने के लिए - दर्दनाक जोड़। ऑरा होम्योपैथी क्लिनिक में, हमारे उपचार को वैयक्तिकृत किया जाता है, यानी गठिया या उच्च यूरिक एसिड स्तर वाले 2 रोगियों को अलग-अलग व्यक्तियों के रूप में माना जाता है, और प्रत्येक रोगी को होम्योपैथिक दवा निर्धारित की जाएगी जो उनके लक्षण के साथ सबसे अच्छी तरह से मेल खाती है।

उच्च यूरिक एसिड होने के जोखिम के बारे में और जानने के लिए हमें देखें

गठिया के इलाज के लिए नीचे 10 सर्वश्रेष्ठ होम्योपैथी दवाएं हैं- उच्च यूरिक एसिड।

कोल्चिकम: महान पैर की उंगलियों के दर्द और सूजन, एड़ी में दर्द की मरीज की शिकायत, वह भी छूने के लिए सहन नहीं कर सकता है। निचले हिस्सों की सूजन और ठंडाता। दर्द और बुखार के साथ जोड़ों की कठोरता। कभी-कभी दर्द को बदलने के रोगी की शिकायतों। रात और शाम को गर्म मौसम से दर्द बढ़ जाता है। अधिक जानकारी हमें देखें: दिल्ली में सर्वश्रेष्ठ होम्योपैथी डॉक्टर

यूर्टिका यूरेन: यह होम्योपैथिक दवा उच्च यूरिक एसिड के स्तर के इलाज के लिए सर्वश्रेष्ठ है क्योंकि यह हमारे शरीर से यूरिक एसिड को खत्म करने में वृद्धि करती है। डायथेसिस: गठिया और यूरिक एसिड। संयुक्त दर्द त्वचा के विस्फोट जैसे आर्टिकरिया से जुड़ा हुआ है। Deltoid, कलाई और एड़ियों में सूजन और दर्द की रोगी शिकायत।

बेंजोइक एसिड: आक्रामक और उच्च रंगीन मूत्र के साथ-साथ क्रैकिंग ध्वनियों के साथ दर्द और पेट की सूजन और अन्य जोड़ों की सूजन की शिकायतें। दर्दनाक गठिया नोड्स। उजागर और खुली हवा में संयुक्त दर्द बढ़ता है।

लेडम पाल: आरोही संधिशोथ के लिए सर्वश्रेष्ठ होम्योपैथिक दवा, विशेष रूप से छोटे जोड़ों के दर्द को अलग करना। ग्रेट पैर की अंगुली दर्दनाक, सूजन और स्पर्श करने के लिए गर्म। सामान्य रूप से शीत अनुप्रयोग के साथ दर्द ठीक हो जाता है।

एंटीमोनियम क्रूड: गैस्ट्रिक शिकायतों के साथ विशेष रूप से ऊँची एड़ी और उंगलियों में गठिया दर्द। जीभ मोटी सफेद लेपित है। गर्मी और ठंडे स्नान के साथ लक्षण बढ़े। अधिक जानकारी हमें देखें: दिल्ली में सर्वश्रेष्ठ होम्योपैथी डॉक्टर

सबिना: यह गर्भाशय बीमारियों के साथ महिला रोगी के लिए सबसे अच्छा है। गर्म कमरे में संयुक्त दर्द खराब हो जाता है। लाल चमकदार सूजन और गौटी नोडोसिटी की रोगी शिकायतें। Esp। गर्भाशय की परेशानी के साथ महिलाओं में।

अर्नीका: सूजन और दर्द से पीड़ित भावनाओं के साथ जोड़ों में दर्द, दर्द चलने के साथ बढ़ता है। अलग संयुक्त दर्द के कारण, रोगी को उसके निकट छुआ या संपर्क करने से डर लगता है।

बर्बेरिस वल्गारिस: क्रोनिक गठ संविधान। दर्द की अचानक शुरुआत। जोड़ों में अचानक सिलाई दर्द की रोगी शिकायतें। दर्द गति के साथ बढ़ता है। मेटाटारल हड्डियों के बीच दर्द को सिलाई करना जैसे नाखून छेड़छाड़ कर रहा है, खड़े होने पर दर्द बढ़ता है।

लाइकोपोडियम: एक कंकड़ पत्थर से दर्द को ठीक करें। पैर की उंगलियों और उंगलियों में दर्द के साथ तलवों पर कॉलोसिटी। दाहिने पैर गर्म और बाएं पैर ठंडा। पेशाब के दौरान रोगी रोना, पेशाब में लाल तलछट। पेशाब गुजरने के बाद बैकैश में सुधार हुआ। संयुक्त दर्द और अन्य शिकायतें 4 बजे से शाम 8 बजे के बीच बढ़ीं।

Rhododendron: जोड़ों के दर्द और सूजन विशेष रूप से महान पैर की अंगुली संयुक्त, दर्दनाक स्थिति तूफान से पहले बढ़ जाती है। सही पक्षपातपूर्ण स्नेह। सुबह में सुबह, तूफान से पहले और लंबे समय तक रहने के बाद संयुक्त दर्द बढ़ गया। सामान्य रूप से गर्मी और खाने में गर्मी के साथ।

बजरंग पुनिया ने पूरी दुनिया में सोनीपत का मान बढ़ाया : कविता जैन

बजरंग पुनिया ने पूरी दुनिया में सोनीपत का मान बढ़ाया : कविता जैन

सोनीपत, 24 अगस्त।  शहरी स्थानीय निकाय, महिला एवं बाल विकास मंत्री कविता जैन ने कहा कि बजरंग पुनिया ने दुनिया में भारत,हरियाणा और सोनीपत का मान सम्मान बढ़ाया है। हमें उनकी इस उपलब्धि पर गर्व है। खुद मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने भी उन्हें फोन कर बधाई दी है। श्रीमती जैन गुरुवार को एशियाड़ खेलों में स्वर्ण पदक जीतकर लाने वाले बजरंग पुनिया को उनके माडल टाउन स्थित निवास पर बधाई देने पहुंची थी। उनके साथ मुख्यमंत्री के मीडिया सलाहकार राजीव जैन भी मौजूद थे। 

उन्होंने कहा कि खेलों के क्षेत्र में आज हरियाणा के खिलाड़ी पूरी दुनिया में छाए हुए हैं। इन्हीं में से बजरंग पुनिया जैसे खिलाड़ी ऐसे हैं जिन्होंने अपनी एक अलग पहचान बनाई है। यह खिलाड़ी नए बच्चों के लिए प्रेरणास्रोत हैं। इस दौरान उन्होंने बजरंग पुनिया की मां व पिता को भी उनके पुत्र की सफलता के लिए बधाई दी और कहा कि ऐसे बेटे किस्मत वालों को मिलते हैं। उन्होंने खिलाड़ी बजरंग पुनिया को भी बुका भेंट कर स्वागत किया। 

इस दौरान मुख्यमंत्री के मीडिया सलाहकार राजीव जैन ने कहा कि हरियाणा सरकार ने बजरंग पुनिया के स्वर्ण पदक जीतने पर तीन करोड़ रुपये देगी। उन्होंने कहा कि यह हमारे लिए गर्व और गौरव की बात है कि एशियाड़ खेलों में देश को पहला स्वर्ण पदक दिलवाने वाला खिलाड़ी बजरंग पुनिया हरियाणा और हरियाणा में सोनीपत का है। उन्होंने कहा कि हमें अपने इस खिलाड़ी पर नाज है और उन्हें पूरी मान सम्मान दिया जा जाएगा। 

Tuesday, 21 August 2018

आधुनिक भारत के निर्माता थे राजीव गांधी - तरुण तेवतिया

आधुनिक भारत के निर्माता थे राजीव गांधी - तरुण तेवतिया

फरीदाबाद 22 अगस्त । राजीव गांधी की जयंती के मौके पर फरीदाबाद युवा कांग्रेस द्वारा नेशनल हाइवे स्थित मैगपाई कॉमप्लेक्स में प्रतिभा सम्मान समारोह का आयोजन किया गया। जिला अध्यक्ष तरुण तेवतिया के नेतृत्व में आयोजित इस कार्यक्रम के दौरान युवा कांग्रेस में बेहतर काम करने वाले पदाधिकारियों के साथ शिक्षा, समाज सेवा, खेल आदि क्षेत्र में बेहतर प्रदर्शन करने वाले लोगों को सम्मानित किया गया। मौके पर युवा कांग्रेसियों ने राजीव गांधी की प्रतिमा पर पुष्पअर्पित कर उन्हें श्रद्धांजलि दी। 

इस दौरान जिला अध्यक्ष तरुण तेवतिया ने कहा कि राजीव गांधी की स्मृतियों को देशवासियों के दिलों से कभी नहीं मिटाया जा सकता है। राजीव गांधी ने आधुनिक भारत की नीव रखी थी, जिसके चलते आज देश में लोग मोबाइल, कंप्यूटर और इंटरनेट का इस्तेमाल कर रहे हैं। बीजेपी द्वारा डिजिटल इंडिया योजना शुरू करने का दम भरा जाता है, लेकिन देश को सच में डिजिटल सेवाओं से जोड़ने का काम राजीव गांधी ने ही किया था। उन्होंने वोट डालने की योग्य आयु को 21 से घटा कर 18 साल किया। 

इससे युवाओं को अपना नेता चुनने का अधिकार मिला। राजीव गांधी को आधुनिक भारत का निर्माता कहने में कोई अतिशयोक्ति नहीं होगी। मौके पर सिद्धार्थ प्रताप सिंह ने कहा कि राजीव गांधी ने संविधान में पंचायती राज संशोधन कर सही मायनों में ग्रामीण भारत के विकास की नींव रखी थी। देश में हर वर्ग के विकास के लिए उनके द्वारा किए गए कामों को कभी नहीं भुलाया जा सकता। वहीं एडवोकेट राजेश खटाना ने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी ने सरकारी नौकरशाही में सुधार लाने और देश की अर्थव्यवस्था के सुधार में जोरदार कदम उठाए। सूचना प्रौद्योगिकी और संचार क्रांति के जनक के रुप में उन्हें हमेशा याद किया जाएगा। कार्यक्रम का संचालन एडवोकेट विकास वर्मा द्वारा किया गया। कार्यक्रम के दौरान पृथला क्षेत्र के पूर्व अध्यक्ष बंटी हुड्डा, पराग गौतम, अनिल चेची, चुन्नू राजपूत, डॉ एमपी सिंह, रियाज खान, राजू देशवाल, सुरजीत सिंह, आंनद राजपूत, मोहम्मद नाजिम, कुलदीप अधाना आदि को सम्मानित किया गया।

Sunday, 19 August 2018

सर्वे : भाजपा प्रवक्ता राजीव जेटली जनता की पहली पसंद

सर्वे : भाजपा प्रवक्ता राजीव जेटली जनता की पहली पसंद

फरीदाबाद 19 अगस्त I हरियाणा भाजपा प्रवक्ता राजीव जेटली बने जनता के सबसे पसंदीदा संभावित प्रत्याशी I सोशल मीडिया पर लगभग एक साल से  बड़खल विधानसभा फेसबुक आई डी पर किये जा रहे सर्वे में जिसमे मोजुदा एवं विधायक के साथ साथ बड़े राजनितिक नेताओं के नाम भी डाले गए थे और जनता से अपने पसंद के प्रत्याशी के पक्ष में कमेन्ट के माध्यम से वोट डालने की अपील की थी और लगभग एक साल से जनता अपने पसंदीदा प्रत्याशी को वोट कर रही थी.

अब उसी सोशल मीडिया ने वोट के परिणाम घोषित किये जिसमे राजीव जेटली ने प्रथम स्थान हांसिल किया और सोशल मीडिया पर हरियाणा भाजपा प्रवक्ता राजीव जेटली जनता की पहली पसंद बने जिसमे जनता ने सबसे ज्यादा उनके पक्ष में वोट किया 

इस से एक बात तो प्रतीत होती है की जनता अब नये चेहरे को मौका देना चाहती है क्योंकि पीढियां बदल चुकी हैं और नयी पीढ़ी पुरानी परम्पराओं को छोड़ कर ऐसे युवाओं को आगे लाना चाहती है जिसमे राजनितिक सुझबुझ के साथ दूरदर्शिता भी देखी जा सके शायद यही वजह रही की संभावित प्रत्याशियों में राजनितिक और रासुक्दार परिवार से जुड़े युवा को भी नजरअंदाज कर मध्यम वर्ग से आने वाले युवा भाजपा प्रवक्ता राजीव जेटली को सबसे ज्यादा वोट देकर चुना गया        

Thursday, 2 August 2018

एम वी एन विश्वविद्यालय मैं नए छात्र छात्राओं के लिए ओरिएंटेशन प्रोग्राम का आयोजन

एम वी एन विश्वविद्यालय मैं नए छात्र छात्राओं के लिए ओरिएंटेशन प्रोग्राम का आयोजन

फरीदाबाद 3 अगस्त ।  एम वी एन विश्वविद्यालय के तत्वाधान में फार्मेसी संकाय द्वारा नए छात्र छात्राओं के लिए ओरिएंटेशन प्रोग्राम किया गया। कार्यक्रम का शुभारंभ मां सरस्वती और गणपति वंदना और मुख्य अतिथि डॉक्टर अरुण गर्ग, जनरल सेक्रेटरी, इंडियन फार्मेसी ग्रेजुएट एसोसिएशन, नई दिल्ली द्वारा दीप प्रज्वलन करके किया गया।

इस अवसर पर मुख्य अतिथि ने इस वर्ष दाखिल नए छात्र व छात्राओं को बताया कि "सक्सेस मांगे मोर" अर्थात सक्सेस प्राप्त करने के लिए बच्चे विफल होने से ना डरें, अपनी खूबियों को खोजें, लक्ष्य और लय को बरकरार रखें और साथ-साथ प्रैक्टिकल नॉलेज पर फोकस करें इससे उन्हें आने वाले समय में अपॉर्चुनिटी का फ़ायदा ले सके।

इस अवसर पर विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो.(डॉ.) जे.वी.देसाई ने सभी बच्चों का स्वागत किया और कहा कि फार्मेसी एक नोबेल प्रोफेशन है जिसके द्वारा छात्र-छात्राएं समाज में सेवा भाव से योगदान कर सकते हैं।

फार्मेसी संकाय की संकायाध्यक्षा डॉ. ज्योति गुप्ता ने छात्र/छात्राओं का स्वागत करते हुए कहा कि बच्चों को 3 C का ध्यान रखना चाहिए पहला C - पढ़ाई के प्रति कमिटमेंट, दूसरा C - प्रोफेशन के लिए करैक्टर, तीसरा C - सफल होने का कॉन्फिडेंस।

इस अवसर पर विश्वविद्यालय के रजिस्ट्रार डॉ राजीव रतन जी ने फार्मेसी डिपार्टमेंट की सराहना की और कहा फार्मेसी डिपार्टमेंट आसपास के ग्रामीण क्षेत्रों में काफी अच्छा काम कर रहा है और करता रहेगा।

कार्यक्रम के समापन पर फार्मेसी संकाय के विभागाध्यक्ष तरुण विरमानी ने कार्यक्रम में आए हुए सभी अभिभावकों/ छात्र-छात्राओं का धन्यवाद दिया और मुख्य अतिथि का विशेष धन्यवाद दिया कि उन्होंने बहुमूल्य समय निकाल कर बच्चों को ज्ञानवर्धन/ मार्गदर्शन किया।

इस कार्यक्रम में बच्चों ने सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किए और परीक्षा विभाग के अधिकारी मुकेश सैनी, प्लेसमेंट सेल के अधिकारी गौरव सैनी, पुस्तकालय से के के झा और संकाय के सभी लोग रेशू विरमानी, माधुरी ग्रोवर, मोहित संधूजा, विकास जोगपाल, सतवीर सौरोत, मोहित मंगला, चरन सिंह, कीर्ति शर्मा, गिरीश मित्तल, गीता, शादाब आलम, त्रिलोक शर्मा, नीतीश, यशपाल, विनोद आदि उपस्थित थे।
दो नाबालिग बहने पहुंची चाइल्ड प्रोटेक्शन आफिसर हेमा कौशिक की शरण में

दो नाबालिग बहने पहुंची चाइल्ड प्रोटेक्शन आफिसर हेमा कौशिक की शरण में

फरीदाबाद, 2 अगस्त । फरीदाबाद की दो नाबालिग सगी बहनो की मथुरा में उनके ननिहाल में माँ – बाप द्वारा जबरन शादी करवाने का मामला सामने आया है. इस शादी से बचने के लिए नाबालिग बहनो ने मथुरा से भागकर फरीदाबाद स्थित चाइल्ड प्रोटेक्शन आफिसर की शरण ली है. यह बच्चियां फरीदाबाद के एक गावं की रहने वाली है और दसवीं और बारवी की परीक्षा हरियाणा बोर्ड से 71 और 72 प्रतिशत अंको से पास कर चुकी है और भविष्य में आगे पढ़ना चाहती है ताकि अपने पैरो पर खड़ी हो सके. फिलहाल चाइल्ड प्रोटेक्शन आफिसर महिला थाने की मदद से अब इन्हे चाइल्ड वेलफेयर कमेटी के आगे पेश करने की तैयारी कर रहे है. आपको बता दे बीते अप्रैल महीने में भी इन नाबालिग बहनो की जबरन करवाई जा रही शादी रुकवा दी गयी थी लेकिन एक बार फिर उनकी जबरन शादी करवाने की प्लानिंग की जा रही थी जिसके चलते समय रहते यह बच्चियां मथुरा से भागकर फरीदाबाद पहुंच गयी. 

 गौरतलब है की फरीदाबाद के एक गांव के रहने वाली दोनों नाबालिग सगी बहने है और हरियाणा बोर्ड से बड़ी बहन ने 12 की परीक्षा 72 प्रतिशत अंको से पास कर चुकी है जबकि छोटी बहन ने दसवीं की परीक्षा 71 प्रतिशत अंको से पास कर चुकी है. यह  दोनों बहने ही नाबालिग है. जिन्हे इनके माँ – बाप ने मथुरा स्थित ननिहाल में एक कमरे में बंद करके रखा हुआ था जहाँ इनके साथ जबरन शादी करने को लेकर मारपीट भी की जाती थी. अपने आपको शादी से बचाने के लिए यह दोनों बहने मथुरा से भागकर फरीदाबाद स्थित चाइल्ड प्रोटेक्शन आफिसर हेमा कौशिक से मिली और मदद की गुहार लगाई। चाइल्ड प्रोटेक्शन 

आफिसर हेमा कौशिक ने बताया की बीते अप्रैल महीने में उन्हें सूचना मिली थी की फरीदाबाद के एक की रहने वाली दो नाबालिग बहनो की उनके माँ – बाप जबरन शादी करने की नियत से उन्हें मथुरा ले गए है इस पर उस समय उन्होंने मथुरा के एएसपी से संपर्क साँधा और इस शादी को रुकवाने के लिए कहा. इस पर मथुरा पुलिस ने इन बच्चियों के ननिहाल पहुंचकर कार्यवाही करते हुए शादी को रुकवा दिया था और बच्चियों के बयान दर्ज कर लिए थे जिसमे इन बच्चियों ने जबरन शादी करवाय जाने की शिकायत दी थी. चाइल्ड प्रोटेक्शन आफिसर ने बताते हुए कहा की वह चाहते थे की बच्चियां फरीदाबाद वापिस आये तांकि उनकी निगरानी समय – समय पर की जा सके लेकिन परिजनों ने इन्हे मथुरा ननिहाल में ही रोक लिया था जिसमे वह कुछ नहीं कर सकते थे. लेकिन इस कहानी में दूसरा मोड़ उस समय आया जब एक बार फिर इनके माँ – बाप ने इनकी शादी करने की प्लानिंग कर ली जिसे देख बच्चियां मथुरा से भागकर मदद के लिए उनके पास पहुंची और अपनी आपबीती सुनाई। 

बच्चियों के अनुसार इनके माँ बाप ने इन्हे वहां कमरे में बंद कर रखा था और इनसे मारपीट भी की जाती थी. अधिकारी ने बताया की अब उन्होंने बल्लभगढ़ महिला थाने में सूचना दे दी है पुलिस के आने के बाद बच्चियों के बयान दर्ज कर इन्हे चाइल्ड वेलफेयर कमेटी के आमने पेश किया जाएगा और इन बच्चियों को शेलटर होम में जगह दिलवाई जायेगी। उन्होंने बताया की यह बच्चियां अच्छे अंको से दसवीं और बारवी की परीक्षा पास कर चुकी है और आगे पढ़ना चाहती है. उन्होंने पेरेंट्स से अपील की – कि इतने पढ़ने लिखने वाली बच्चियों को जबरन शादी में न झोंककर इन्हे पड़ने दे और इनका भविष्य खराब न करे. वहीँ अपने भविष्य के सपनो को साकार करने के लिए मथुरा से भागकर आयी

इन दोनों नाबालिग बहनो ने बताया की पहले अप्रैल में उनकी शादी जबरदस्ती मथुरा में करवाई जानी थी जिस पर उन्होंने फरीदाबाद चाइल्ड प्रोटेक्शन आफिसर को फोन करके सूचना दे दी थी जिस पर उन्होंने उनकी मदद करते हुए यह शादी रुकवा दी थी और यह नंबर उन्हें स्कूल में एक अवेयरनेस कार्यक्रम के दौरान बताये गए थे जिसे उन्होंने नोट कर लिया था. बच्चियों ने बताया की अब एक बार फिर उनकी जबरन शादी करवाने की तैयारियां की जा रही थी जिसमे उसके माँ – बाप और ननिहाल वालो के अलावा उनके मौसा भी शामिल है. शादी से बचने के लिए वह भागकर यहाँ मदद के लिए आयी है और आगे पढ़ना चाहती है.

इन नाबालिग बहनो की बहादुरी देखकर चाइल्ड प्रोटेक्शन आफिसर और पुलिस भी इनकी कायल हो गयी है. जाहिर सी बात है की इन बच्चियों के उठाय गए इस कदम से अन्य नाबालिग बच्चियों को प्रेरणा मिलेगी जिनके माँ बाप उनकी जबरन कम उम्र में शादी करवाकर उनके भविष्य को गर्त में झोंक देते है. 

Sunday, 8 July 2018

बेस्ट फ्लू इन्फ्लुएंजा होम्योपैथी मेडिसिन

बेस्ट फ्लू इन्फ्लुएंजा होम्योपैथी मेडिसिन

फरीदाबाद 9 जुलाई। इन्फ्लुएंजा इन्फ्लूएंजा वायरस के कारण एक तीव्र ऊपरी श्वसन पथ संक्रमण है, जो विशेष रूप से सर्दी के दौरान दुनिया भर में प्रकोप और महामारी में होता है।

यद्यपि यह अस्थायी रूप से कमजोर पड़ रहा है, फ्लू आमतौर पर स्वस्थ लोगों में एक आत्म-सीमित संक्रमण होता है, जो अधिकांश मामलों में कुछ दिनों के बाद स्वचालित रूप से उपचार करता है।

हालांकि, कुछ जोखिम समूहों में, इन्फ्लूएंजा में अधिक आक्रामक कोर्स हो सकता है, जिससे साइनसिसिटिस, ओटिटिस मीडिया, निमोनिया, ब्रोंकाइटिस और दिल की मांसपेशियों की सूजन और दिल को कवर करने वाली झिल्ली यानी मायोकार्डिटिस और पेरीकार्डिटिस जैसी जटिलताओं का कारण बन सकता है। शिशुओं, बुजुर्गों, गर्भवती महिलाओं, immunodeficiency वाले लोगों या पुरानी दिल या फेफड़ों की बीमारियों के साथ समूह गंभीर फ्लू के विकास के सबसे बड़े जोखिम पर समूह हैं

इस लेख में हम इन्फ्लूएंजा के मुख्य लक्षणों और उन लक्षणों के बारे में बात करेंगे जो जटिलताओं की घटना को इंगित करते हैं।

इन्फ्लूएंजा के मुख्य लक्षणों और लक्षणों की सूची जो इस आलेख में संबोधित की जाएगी, निम्नानुसार है:

38ºC से ऊपर, उच्च बुखार।

खांसी

· गले में खरास।

Coriza और sinusitis।

· छींक आना।

· सरदर्द।

· मांसपेशियों में दर्द।

थकावट और कमजोरी।

· भूख में कमी।

उल्टी और दस्त (बच्चों में सबसे आम)।

फ्लू के संकेत और लक्षण
24 से 9 6 घंटों तक की ऊष्मायन अवधि के बाद, फ्लू के संकेत और लक्षण आमतौर पर इतने अचानक प्रकट होते हैं कि कई रोगी बीमारी शुरू होने के ठीक समय बता सकते हैं। शरीर में उच्च बुखार, कमजोरी और दर्द, श्वास, गले में गले और राइनाइटिस जैसे श्वसन संबंधी लक्षण आमतौर पर बीमारी के पहले कुछ घंटों में मौजूद होते हैं।

हालांकि, किसी भी संक्रमण की तरह, इन्फ्लूएंजा की नैदानिक ​​तस्वीर सभी मरीजों के लिए जरूरी नहीं है। बुखार और हल्के लक्षणों के बिना फ्लू के मामले हैं। ऐसे मरीज़ भी हैं जो भूख, कमजोरी और चक्कर आना चाहते हैं।

युवा बच्चे और बुजुर्ग मरीज़ वे होते हैं जो अक्सर अकल्पनीय लक्षण होते हैं, जो आमतौर पर निदान करने के लिए डॉक्टर के लिए कुछ कठिनाई पैदा करते हैं।

असम्बद्ध इन्फ्लूएंजा वाले मरीज़ आमतौर पर दो से पांच दिनों में लगातार सुधार करते हैं, हालांकि इन्फ्लूएंजा चित्र जो 7 दिनों से अधिक समय तक चलते हैं, असामान्य नहीं हैं। कुछ रोगियों ने श्वसन लक्षणों में सुधार किया है, लेकिन वे अभी भी कई दिनों के लिए कमजोरी या थकावट के लक्षणों का अनुभव करते हैं।

फ्लू की जटिलताओं आमतौर पर बीमारी के कुछ दिनों के बाद होती है। आम तौर पर, रोगी सुधार के लक्षण दिखाना शुरू करता है, जैसे बुखार में कमी और श्वसन लक्षणों में कमी, और अचानक, फिर से, नए बुखार स्पाइक्स और सामान्य गिरावट के साथ।

हम आगे समझाएंगे इन्फ्लूएंजा के 10 सबसे आम लक्षण। जाहिर है, मरीजों को उन सभी लक्षणों की आवश्यकता नहीं है जिन्हें हम सूचीबद्ध करने जा रहे हैं; अधिकांश नहीं करते हैं। हालांकि, सूची और आपके लक्षणों के बीच पत्राचार जितना अधिक होगा, उतनी अधिक संभावना है कि आपकी तस्वीर वास्तव में इन्फ्लूएंजा है।

1- उच्च फीवर
बुखार फ्लू के सबसे आम संकेतों में से एक है। यह आमतौर पर 38 डिग्री सेल्सियस और 41 डिग्री सेल्सियस के बीच उच्च होता है, और अचानक शुरू होता है। बच्चों में बुखार 9 5% मामलों में होता है, जिसमें आधा से अधिक रोगी 39 डिग्री सेल्सियस से ऊपर तापमान तक पहुंचते हैं। बुजुर्गों में, बुखार कम या यहां तक ​​कि मौजूद नहीं हो सकता है।

विभिन्न प्रकार के वायरस के कारण बुखार के विपरीत जो सर्दी का कारण बनता है, जो आमतौर पर केवल 24 से 48 घंटे तक रहता है, इन्फ्लूएंजा बुखार आमतौर पर 2 से 5 दिनों तक रहता है।

पसीना और ठंड दो संकेत हैं जो अक्सर बुखार के साथ होते हैं। फ्लू के कई व्यवस्थित लक्षण, जैसे शरीर में दर्द, सिरदर्द, कमजोरी, थकावट और भूख की कमी, बुखार उच्चतम होने पर कई बार गहन हो जाती है।

बुखार से जुड़ी जटिलताओं

एक लगातार उच्च बुखार जो 4 या 5 दिनों के बाद सुधार के संकेत नहीं दिखाता है, कुछ जटिलताओं के अस्तित्व का सुझाव दे सकता है। एक और व्यवहार जो जटिलताओं को इंगित कर सकता है वह 1 या 2 दिनों के लिए बुखार में कमी है, यह बताता है कि प्रक्रिया संकल्प में है, इसके बाद उच्च बुखार के नए चोटियों और रोगी की सामान्य स्थिति में बिगड़ती है।

2- COUGH
खांसी एक लक्षण है जो लगभग 80% फ्लू रोगियों में होता है। ज्यादातर मामलों में, खांसी सूखी होती है, लेकिन यह दिनों में प्रत्याशा के साथ उत्पादक बन सकती है।

खांसी बीमारी की शुरुआत में हमेशा मौजूद नहीं होती है और स्थिति के समाधान के बाद गायब होने वाले अंतिम लक्षणों में से एक हो सकती है। अक्सर रोगी के पास कोई अन्य लक्षण नहीं होता है, लेकिन कुछ और दिनों तक सूखी खांसी रखता है।

खांसी को बाधित करने वाली दवाओं का उपयोग इंगित नहीं किया जाता है, क्योंकि वे स्थिति को बढ़ा सकते हैं और जटिलताओं की घटना का पक्ष ले सकते हैं, खासकर यदि रोगी की अपेक्षा है। रोगी को हाइड्रेटेड रखने और स्राव के कमजोर पड़ने के लिए बहुत सारे पानी पीना सबसे सही है। रात्रि खांसी से राहत में शहद प्रभावी प्रतीत होता है।

खांसी से जुड़ी जटिलताओं

संकेतों में से एक जो चल रहे जटिल संकेत दे सकता है
संकेतों में से एक संकेत जो एक चल रही जटिलता का संकेत दे सकता है वह छाती में दर्द, सांस की तकलीफ और उच्च बुखार से जुड़ी बहुत हरी या पीले रंग की प्रत्यारोपण खांसी की उपस्थिति है। इन मामलों में, निमोनिया को रद्द करना आवश्यक है।

3- थ्रेट दर्द
गले की सूजन फ्लू का एक और आम लक्षण है और आम तौर पर बीमारी के पहले दिन मौजूद होती है।

इन्फ्लूएंजा गले में गले को बहुत लाल रंग की फेरींगिटिस की विशेषता है, लेकिन टन्सिल में पुस की उपस्थिति के बिना, जो स्ट्रेप्टोकोकल फेरींगिटिस का एक सामान्य संकेत है।

इन्फ्लूएंजा वाले सभी मरीज़ फेरींगिटिस विकसित नहीं करते हैं, लेकिन उन मामलों में, गले में गले अक्सर गंभीर होते हैं, जिससे ठोस खाद्य पदार्थ निगलने या यहां तक ​​कि लार निगलने में कठिनाई होती है।

4- CoryZA और स्टूफी नोएएस
ठंडा coryza और नाक सर्दी और एलर्जीय rhinitis के विशिष्ट लक्षण हैं। हालांकि, ये लक्षण फ्लू में भी हो सकते हैं, खासकर बच्चों में, जहां वे 80% मामलों में मौजूद हैं।

नमकीन पानी के साथ नाक गुहा धोना अधिक प्रभावी लगता है और प्रतिकूल प्रतिक्रियाओं के जोखिम नहीं लेता है।

Rhinitis से जुड़े जटिलताओं

राइनाइटिस साइनसिसिटिस में प्रगति कर सकती है, खासतौर पर विचलित सेप्टम या अन्य शारीरिक परिवर्तनों वाले रोगियों में जो परानाल साइनस की बाधा उत्पन्न करती है।

एक साइनसिसिटिस जो 5 से 7 दिनों के बाद सुधार के संकेत नहीं दिखाती है या जो कोई स्पष्ट और पारदर्शी स्राव नहीं छोड़ती है और बुखार और पीले रंग की हो जाती है, जो बुखार या बुखार की वापसी से जुड़ी होती है, बैक्टीरिया साइनसिसिटिस में साइनसिसिटिस वायरल संक्रमण के परिवर्तन को इंगित कर सकती है।

साइनसिसिटिस के साथ, ओटिटिस मीडिया इन्फ्लूएंजा और गंभीर राइनाइटिस वाले मरीजों की जटिलता भी हो सकती है, खासकर बच्चों में।

5- स्नीज़िंग
राइनाइटिस की तरह, छींकना सर्दी और एलर्जी का एक सामान्य लक्षण है, लेकिन यह फ्लू में भी मौजूद हो सकता है।

छींकने से संबंधित कोई जटिलता या विशिष्ट उपचार नहीं है।

6- हेडैच
बच्चों की तुलना में वयस्कों में फ्लू-जैसे सिरदर्द एक आम लक्षण है। यह आमतौर पर उन रोगियों में अधिक गंभीर होता है जो साइनसिसिटिस विकसित करते हैं या जब बुखार अधिक होता है।

दर्द खोपड़ी में फैल सकता है या आंखों के चारों ओर या गर्दन के नाप के क्षेत्र में अधिक स्थानीयकृत हो सकता है।

यदि कोई विरोधाभास नहीं है, तो दर्द को नियंत्रित करने के लिए आम एनाल्जेसिक या एंटी-इंफ्लैमेटरीज का उपयोग किया जा सकता है। शांत और मंद प्रकाश वाले स्थान आमतौर पर कुछ राहत लाते हैं।

7- मस्तिष्क दर्द
पूरे शरीर में मांसपेशी दर्द वयस्कों में एक सामान्य फ्लू लक्षण है, लेकिन यह केवल बच्चों के एक छोटे से हिस्से में मौजूद है।

निचले हिस्से, बाहों और पैरों की मांसपेशियों को अक्सर सबसे ज्यादा प्रभावित किया जाता है। मांसपेशियों के अलावा, जोड़ भी दर्द हो सकता है।

मांसपेशी दर्द एक सामान्य फ्लू लक्षण है। सर्दी में, यह असामान्य है, और जब मौजूद है, आमतौर पर कमजोर है।

8- थकान और कमजोरी
थकान की कमी और ताकत की कमी सर्दी के संबंध में एक सामान्य फ्लू लक्षण भी है। थकान सभी उम्र में होती है, लेकिन यह बच्चों में अधिक ध्यान देने योग्य है, खासकर जब बुखार अधिक होता है।

थकावट एक लक्षण है जो तस्वीर में जल्दी दिखाई देता है और उपचार के कई दिनों तक रह सकता है। कुछ रोगी 3 सप्ताह तक ताकत और मनोदशा की कमी की भावना की रिपोर्ट करते हैं।

थकान से जुड़ी जटिलताओं

इन्फ्लूएंजा की एक दुर्लभ जटिलता मायोकार्डिटिस है, जो दिल की मांसपेशियों की सूजन है। एक मरीज, जो फ्लू को ठीक करने के कुछ दिनों के बाद, फिर से तीव्र थकान, सांस की तकलीफ और पैरों में सूजन की प्रगतिशील बीमारी के साथ प्रस्तुत करता है, कार्डियक भाग के लिए मूल्यांकन किया जाना चाहिए।

9- भूख की कमी
बीमारी के पहले 48 घंटों में भूख की कमी बहुत आम है, खासतौर पर उस चरण के दौरान जब बुखार उच्चतम होता है।

आपको बेताब सोचने की ज़रूरत नहीं है कि रोगी को हर कीमत पर खाना चाहिए। पहले दो दिनों के लिए, सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि रोगी को हाइड्रेटेड रखना है। भूख आमतौर पर धीरे-धीरे लौटती है।

जो रोगी अच्छी तरह से भोजन नहीं कर रहा है, उसके लिए सबसे अच्छी रणनीति यह है कि बुखार सबसे कम होने पर भोजन की पेशकश करना है।

10- वोटिंग और डायरेरिया (इन्फैंट्स में सबसे ज्यादा कॉमन)
उल्टी, दस्त और पेट दर्द वायरल उत्पत्ति के गैस्ट्रोएंटेरिटिस के लक्षण हैं, लेकिन शायद ही कभी वयस्क फ्लू में होते हैं।

हालांकि, 13 साल से कम उम्र के बच्चों के लगभग 10% फ्लू के कारण गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल लक्षण हैं। उल्टी आमतौर पर अतिसार से अधिक आम है।

उल्टी और दस्त से जुड़ी जटिलताओं

निर्जलीकरण मुख्य जटिलता है जो उल्टी और / या दस्त का अनुभव करने वाले बच्चों में हो सकती है। घर का बना सीरम या मौखिक रिहाइड्रेशन सेरा इन तस्वीरों के इलाज और रोकथाम के सबसे उपयुक्त तरीके हैं।


1. एकोनाइट नेपेलस: फ्लो के पहले चरण के लिए एकोनाइट सर्वश्रेष्ठ होम्योपैथिक दवा है। एकोनाइट रोगी फ्लू के लक्षण बहुत जल्दी आते हैं, और रोगी बहुत चिंतित और बेचैन होता है। शुष्क, ठंडी हवा के संपर्क से बीमारी। शिखर और ठंडी तरंगें शरीर के माध्यम से उच्च बुखार के साथ गुजरती हैं।

2. आर्सेनिकम एल्बम: रोगी गर्म चेहरे और शरीर की ठंड के साथ चिंता और बेचैनी से भरा है। शारीरिक तनावहीनता के कारण कई बार थकावट के साथ रोगी पतन हो जाता है। बुखार के बाद ठंड और कठोरता के साथ मतली, उल्टी और दस्त की रोगी शिकायतें। रोगी को पानी के छोटे सिप्स के लिए प्यास है और कंपनी चाहता है। मृत्यु का बहुत डर है।


3. बेलाडोना: फ्लू की अचानक शुरुआत की रोगी शिकायत। पतले विद्यार्थियों और चमकीले आंखों के साथ गर्म, लाल चेहरे की रोगी शिकायत। बहुत गंभीर थ्रोबिंग सिरदर्द की रोगी शिकायत जो गति से भी बदतर हो जाती है। मरीज को पानी के लिए बहुत कम या प्यास के साथ बुखार होता है। शरीर गर्म होने के बावजूद हाथों और पैरों की बर्फीली ठंडीता। बुखार के साथ Delirium। सभी इंद्रियों की संवेदनशीलता से अधिक, इसलिए रोगी प्रकाश, या छूने और शोर के लिए और भी बुरा महसूस करता है। लक्षण 3 बजे खराब हो जाते हैं।


4. ब्रायोनिया अल्बा: फ्लू की रोगी शिकायतों जो धीरे-धीरे सेट होती है और धीरे-धीरे प्रगति करती है। रोगी बहुत चिड़चिड़ाहट है और अकेले रहना पसंद करता है। उनके सभी लक्षण, संयुक्त या मांसपेशियों में दर्द से अलग, आंदोलन से भी बदतर हैं और आराम से बेहतर हैं। रोगी बड़ी मात्रा में पानी के लिए बहुत प्यास है, और जूल में पीते हैं। रोगी को त्वचा की सूखापन की भी शिकायतें, लेपित जीभ के साथ, होंठ टूट जाते हैं। बाएं पक्षीय गंभीर सिरदर्द जो गति के साथ बढ़ता है। बुखार के दौरान डिलिरियम, मरीज घर जाना चाहता है हालांकि वह पहले से ही घर पर है।


5. जेल्समियम: गेल्सिमियम सबसे अच्छी होम्योपैथिक दवा है जहां फ्लू के लक्षण धीरे-धीरे विकसित होते हैं। रोगी की भारीता, कमजोरी की शिकायतें। रोगी बहुत सुस्त और सुस्त है। कमजोरी के साथ कमजोरी है।


 6. यूपेटोरियम पेरोफियाटियम: फ्लू के दौरान मांसपेशियों और हड्डियों में उच्च बुखार और गंभीर दर्द की रोगी शिकायतें। रोगी को लगता है जैसे उसकी हड्डियां टूट गई हैं। रोगी ठंडा है, लेकिन शीतल पेय की इच्छा है। ठंडा होने से ठीक पहले बहुत प्यास है। बुखार के साथ गंभीर सिरदर्द की रोगी शिकायतें। लक्षण 7 से 9 बजे के बीच बढ़ जाते हैं। शरीर में दर्द और शव पूरे रीढ़ की हड्डी को ऊपर और नीचे चलाते हैं। सिरदर्द की रोगी शिकायतें जो पीछे से शुरू होती हैं और अपने माथे पर विकिरण करती हैं।


Monday, 28 May 2018

 दिन में मेकअप करते वक्त भूलकर भी ना करें ये गलतियां – मंजू मेकओवर आर्टिस्ट

दिन में मेकअप करते वक्त भूलकर भी ना करें ये गलतियां – मंजू मेकओवर आर्टिस्ट

फरीदाबाद, 28 मई:  मेकओवर आर्टिस्ट मंजू ने ख़ास बातचीत में बताया की खूबसूरत दिखने की तमन्‍ना हर महिला की होती है। इसके लिए वह दिन और रात का समय नहीं देखती है। लेकिन अगर आपको दिन में कहीं जाना हो तो उसके लिए मेकअप के दौरान कुछ बातों को ध्‍यान में रखिए। अगर आप उन टिप्स को फॉलो नहीं करती हैं तो हो सकता है कि पार्टी में जाकर आप हंसी के पात्र बन जाए या फिर आपके करीबी ही आपको आपके मेकअप के लिए टोकने लग जाएं। अगर आप चाहती हैं 

पूरी पार्टी में आप ही हाईलाइट हों तो आपको मेकअप के वक्त कुछ मामूली सी चीजों में ध्यान में रखने की जरूरत है। दिन में श्रृंगार के टिप्‍स दिन के किया गया मेकअप कम से कम होना चाहिए, क्योंकि आप भारी-भरकम मेकअप करके लोगों की नजरों में नहीं आना चाहेंगी जो आपकी दिखावट किसी टेलीविजन सीरियल के कैरेक्टर सी बनाकर लोगों के सामने पेश कर सकता है। काजल प्रयोग करना ज़रूरी है 

क्योंकि यह आपकी आंखों की खूबसूरती को बढ़ाता है। मस्कारा न लगायें और इसके बजाय अपनी आंखों को आकर्षक बनाने के लिए किसी न्यूट्रल शेड का आई शैडो इस्‍तेमाल करें। ब्लश लगाने से बचें इसकी बजाय हल्का फाउंडेशन ही आपके चेहरे की कई खामियों को छुपाने के लिये काफी होता है। आई मेकअप के लिए दिन में डार्क कलर का आई शैडो डरावना लग सकता है इसलिए हमेशा न्‍यूड या न्‍यूट्रल कलर का आई शैडो लगाएं। यह नेचुरल भी लगता है और क्‍लासी भी। इसके अलावा शिमर आई शैडो का प्रयोग ना करें। सुबह के समय आईलाइनर या मस्‍कारा से अपनी आंखों को ऊपर और नीचे ना रंगे। आप एक पतली सी आइलाइनर या काजल की रेखा खींच सकती हैं।

 दिन के समय मस्‍कारा ना लगायें। लिपस्टिक इस्तेमाल करें और अपने चेहरे की रौनक तरोताजा दिखाने के लिये इस पर हल्के ग्लॉस का टच दें। दिन के लिये हल्का मेक-अप हमेशा उपयुक्त साबित होता है। आपको अपने होंठो पर न्‍यूड कलर लगाना चाहिये। यदि आप चाहें तो शिमर ग्‍लॉस का प्रयोग भी कर सकती हैं। इसका ख्‍याल रखें कि दिन के समय कभी भी डार्क कलर का प्रयोग ना करें जैसे, रेड या ब्राउन। अपने चेहरे को फेस वॉश से धोएं और कॉटन बॉल को टोनर में भिगो कर उससे चेहरे को पोछें। टोनर लगाने से चेहरे का मेकअप बरकरार रहता है और फैलता भी नहीं है। हमेशा वही फाउंडेशन यूज करें जो आपके चेहरे के रंग से एक शेड हल्‍का हो। इस मेकअप टिप्‍स को दिन और रात के मेकअप के लिये आजमाएं। इससे चेहरा नेचुरल लगेगा। साथ ही फाउंडेशन के रंग का ही कॉम्‍पैक यूज करें। दिन के समय रोज़ी ब्‍लश का यूज ना करें।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेसवे के फेज़-1 का शुभारंभ किया

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेसवे के फेज़-1 का शुभारंभ किया

बागपत :28 मई । प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को दिल्ली राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में दो नवनिर्मित एक्सप्रेसवे देश के नाम समर्पित किये । इनमें से पहला निज़ामुद्दीन सेतु से दिल्ली- उत्तर प्रदेश सीमा तक विस्तृत 14 लेन वाले अभिगम नियंत्रितदिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे का प्रथम चरण है । देश के नाम समर्पित दूसरी परियोजना राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 1 पर कुंडली से राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 2 पर पलवल तक विस्तृत 135 किलोमीटर लंबा ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेसवे (ईपीई) है ।

एक बार कार्य पूर्ण हो जाने पर दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे देश की राजधानी से मेरठ जाने में लगने वाले समय एवं पश्चिमी उत्तर प्रदेश तथा उत्तराखंड के अनेक दूसरे भागों में जाने में लगने वाले समय को काफी कम कर देगा ।

दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे के शुभारंभ के बाद जैसे ही प्रधानमंत्री नेराजमार्ग के परीक्षण के लिये कुछ किलोमीटर तक खुली जीप में यात्रा की,नवनिर्मित मार्ग परएकत्रित लोगों ने उनका अभिवादन किया ।

ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेसवे (ईपीई) दिल्ली के लिये अनियत यातायात को मोड़ करराष्ट्रीय राजधानी में भीड़भाड़ एवं प्रदूषण को कम करने के दोहरे लक्ष्य की प्राप्ति में योगदान देगा ।

इस अवसर पर बागपत में एक जनसभा को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने विश्वास व्यक्त किया कि दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे का समूचाप्रसार जल्द ही पूर्ण कर लिया जाएगा । उन्होंने कहा कि ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेसवे दिल्ली में यातायात की भीड़भाड़ कम करने में मददगार होगा । प्रधानमंत्री ने कहा कि लोगों के जीनव स्तर को उन्नत बनाने में आधुनिक अवसंरचना की एक महत्वपूर्ण भूमिका है । उन्होंने सड़कों, रेलवे, जलमार्गों इत्यादि समेत ढांचागत व्यवस्था के निर्माण में उठाये जा रहे कदमों का ब्यौरा प्रस्तुत किया । प्रधानमंत्री ने अवसंरचना विकास की गति में वृद्धि के उदाहरण दिये ।

महिला सशक्तिकरण के क्षेत्र में प्रधानमंत्री ने विस्तार से बताया कि कैसे स्वच्छ भारत अभियान, एवं उज्ज्वला योजना के अंतर्गत एलपीजी कनेक्शन महिलाओं के जीवन को आसान बना रहे हैं । उन्होंने कहा कि मुद्रा योजना के अंतर्गत प्रदान 13 करोड़ ऋण में से 75 प्रतिशत से अधिक महिला उद्यमियों को दिये गए हैं।

प्रधानमंत्री ने अनुसूचित जाति एवं अन्य पिछड़ा वर्ग के लिये उठाये जा रहे कदमों का उल्लेख भी किया ।

प्रधानमंत्री ने कहा कि इस वर्ष के केंद्रीय बजट में ग्रामीण एवं कृषि संबंधी अर्थव्यवस्था की बेहतरी के लिये 14 लाख करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है ।