Showing posts with label Faridabad News haryana. Show all posts
Showing posts with label Faridabad News haryana. Show all posts

Monday, 28 November 2022

 जिला स्तरीय जूनियर रेडक्रॉस प्रशिक्षण शिविर - रेडक्रॉस विश्व का सब से विशाल मानवतावादी संगठन:- सीटीएम अमित मान

जिला स्तरीय जूनियर रेडक्रॉस प्रशिक्षण शिविर - रेडक्रॉस विश्व का सब से विशाल मानवतावादी संगठन:- सीटीएम अमित मान

 फरीदाबाद,28 नवम्बर। भारतीय रैड क्रॉस सोसाइटी हरियाणा के सौजन्य से जिला रैड क्रॉस सोसाइटी फरीदाबाद के अध्यक्ष एवं डीसी   विक्रम सिंह के  निर्देशानुसार सचिव बिजेंद्र सौरोत  के मार्गदर्शन में राजकीय आदर्श सीनियर सेकंडरी विद्यालय सराय ख्वाजा फरीदाबाद में विद्यालय प्रधानाचार्य रविन्द्र कुमार मनचंदा की अध्यक्षता में जिला स्तरीय पाँच दिवसीय  जूनियर रैड क्रॉस प्रशिक्षण शिविर का शुभारंभ किया गया।  इस प्रशिक्षण शिविर मे खंड फरीदाबाद और खंड बल्लभगढ़ के विद्यालयों के  प्रतिभागी भाग ले रहे हैं। इस शिविर का शुभारंभ अमित मान नगराधीश फरीदाबाद ने किया। इस अवसर पर उन्होंने बताया कि रैड क्रॉस एक मानवीय संस्था है जो मानव कल्याण के विभिन्न कार्य करती है। जब भी कोई आपदा आती है तो रैड क्रॉस सोसाइटी सदैव तत्पर रहती है। नगराधीश अमित मान का अभिनंदन करते हुए विद्यालय के प्राचार्य एवं जूनियर रेडक्रॉस और सैंट जॉन एंबुलेंस ब्रिगेड अधिकारी रविंद्र कुमार मनचंदा ने कहा कि रेडक्रॉस विश्व का सब से विशाल मानवतावादी संगठन है और अनुमानतः दो सौ देशों में रेड क्रॉस की शाखाएं मानवतावादी कल्याणकारी योजनाओं में सेवाएं दे रही है। प्राचार्य मनचंदा ने कहा कि रेड क्रॉस ही एकमात्र ऐसी संस्था है जिसे परोपकारी और लोक हितार्थ समर्पित कार्यों के लिए चार बार नोबेल पुरुस्कारों से सम्मानित किया जा चुका है। उन्होंने जूनियर रेडक्रॉस सदस्यों से कहा की वे इस प्रशिक्षण शिविर में स्वास्थ्य, सेवा और सहयोग के उद्देश्य के साथ, रेडक्रॉस के उद्देश्यों, सिद्धांतो, कार्यों तथा  रेडक्रॉस के द्वारा संचालित किए जा रहे विभिन्न प्रोजेक्ट्स के विषय में विस्तृत ज्ञान प्राप्त करेंगे तथा इसी से सबंधित भाषण प्रतियोगिता और पेटिंग प्रतियोगिता में भी प्रतिभागिता का अवसर प्राप्त होगा। आज प्रथम दिवस पर शिविर के कार्यक्रम का प्रारंभ शुरुआत योगा एवं जूनियर रैड क्रॉस की प्रार्थना के साथ किया गया। जिला प्रशिक्षण अधिकारी इशाक कैशिक  ने रैड क्रॉस के इतिहास, जूनियर रैड क्रॉस की गतिविधियों के बारे विस्तार से जानकारी दी साथ ही बताया कि रैड क्रॉस चिन्ह का प्रयोग एवं दुरुपयोग बारे जानकारी दी। 

सेवकों का समाज के लिए महत्व एवं वरिष्ठ नागरिकों के सम्मान के लिए जागरूक किया। आज रिसोर्स पर्सन के रूप में नेशनल सर्व मास्टर ट्रेनर मीनू कौशल, प्राथमिक चिकित्सा के वरिष्ठ प्रवक्ता पी सी गौड़, नेशनल सर्व मास्टर ट्रेनर प्राचार्य रविंद्र कुमार मनचंदा और विभिन्न विद्यालय से आए हुए जूनियर रेडक्रॉस काउंसलर विशेष रूप से उपस्थित रहे। कार्यक्रम में मंच का कुशल संचालन नरेंद्र कुमार शास्त्री ने किया। विद्यालय प्राचार्य ने शिविर मे प्रतिभागिता कर रहे जिला रेडक्रॉस के सभी पदाधिकारियों, रिसोर्स पर्सन्स, सभी जूनियर रेडक्रॉस सदस्यों और अध्यापकों का स्वागत और अभिनंदन किया।

Monday, 21 March 2022

राष्ट्रीय शिक्षा नीति को आगामी 2025 तक पूरी तरह लागु करने वाला हरियाणा देश का पहला राज्य होगा

राष्ट्रीय शिक्षा नीति को आगामी 2025 तक पूरी तरह लागु करने वाला हरियाणा देश का पहला राज्य होगा

 चण्डीगढ़, 21 मार्च- हरियाणा के राज्यपाल श्री बंडारू दत्तात्रेय ने कहा है कि राष्ट्रीय शिक्षा नीति को आगामी 2025 तक पूरी तरह लागु करने वाला हरियाणा देश का पहला राज्य होगा। श्री दत्तात्रेय सोमवार को नई दिल्ली में राष्ट्रपति श्री रामनाथ कोविंद से शिष्टाचार मुलाकात के दौरान प्रदेश में क्रियान्वित की जा रही विकासकारी योजनाओं के बारे में चर्चा कर रहे थे। श्री दत्तात्रेय ने आज ही उप-राष्ट्रपति श्री वेंकैया नायडू से भी शिष्टाचार भेंट की। 
                                                                                                                                                      

उन्होंने बताया कि प्रदेश की सभी शिक्षण संस्थाओं में राष्ट्रीय शिक्षा नीति-2020 के मानदंडों के अनुरूप सभी तरह की ढांचागत सुविधाएं उपलब्ध करवा दी गई हैं। मुलाकात के दौरान उन्होंने बताया कि प्रदेश के विश्वविद्यालयों ने गुणवत्ता के उच्च मानकों को छूआ है और प्रदेश के सभी विश्वविद्यालयों में छात्रों के लिए रोजगारोन्मुखी पाठ्यक्रम शुरू किए गए हैं। इसी उद्देश्य से हरियाणा में देश का पहला ‘‘श्री विश्वकर्मा कौशल विकास विश्वविद्यालय‘‘ भी स्थापित किया गया है।

उन्होंने बताया कि केंद्र सरकार का राष्ट्रीय शिक्षा नीति को 2030 तक लागू करने का लक्ष्य है, परन्तु हरियाणा का लक्ष्य इसे 2025 तक ही लागू करने का है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में केजी से लेकर पीजी तक की शिक्षा एक ही परिसर में देने की अवधारणा पर कार्य किया जा रहा है। प्राइवेट स्कूलों की तर्ज पर सुविधाएं देने के लिए प्रदेश में 138 नये सरकारी मॉडल संस्कृति वरिष्ठ माध्यमिक स्कूल खोले गये हैं। राज्य में उत्कृष्टता केंद्रों के रूप में 1418 सरकारी मॉडल संस्कृति प्राथमिक विद्यालयों की स्थापना भी की है।

उन्होंने कहा कि प्रदेश के सभी विश्वविद्यालयों में इन्क्यूबेशन सेंटर स्थापित कर दिए गए हैं। इतना ही नहीं पाँच जिलों के राजकीय महाविद्यालयों में भी इन्क्यूबेशन केंद्र सफलतापूर्वक स्थापित किये गए हैं और इस वर्ष अन्य 17 जिलों में भी इन्क्यूबेशन केंद्र स्थापित किये जायेंगे ।

श्री दत्तात्रेय ने प्रदेश में कोविडरोधी टीकाकरण की भी जानकारी देते हुए बताया कि प्रदेश में 12 से 14 आयु के बच्चों का कोर्बवैक्स टीकाकरण अभियान गत 16 मार्च को उनके द्वारा ही शुरू किया गया है। इसके साथ-साथ कोविड टीकाकरण अभियान पहले से ही पूरी सफलतापूर्वक चल रहा है। इस अभियान के तहत अभी तक चार करोड़ 16 लाख से अधिक कोरोनारोधी डोज दी चुकी है, जिनमें से पहली डोज 2 करोड़ 30 लाख से अधिक तथा दूसरी डोज एक करोड़ 83 लाख से अधिक को दी जा चुकी है। प्रदेश में अब तक 60 वर्ष से अधिक आयु के लोगों को अढ़ाई लाख से अधिक ऐतिहातन खुराक दी जा चुकी है। उन्होंने बताया कि हरियाणा में टीकाकरण का कार्य राष्ट्रीय औसत से भी आगे बढ़ा है। प्रदेश में बेहतर टीकाकरण के चलते कोविड रोकथाम में सहायता मिली है।

महिला सशक्तिकरण, सुरक्षा कार्यक्रमों की जानकारी देते हुए श्री दत्तात्रेय ने बताया कि प्रदेश में वित्त वर्ष 2021-22 में 3884 स्वयं सहायता समूहों को 3.88 करोड़ रुपये का रिवाॅल्विंग फण्ड उपलब्ध करवाया गया। महिलाओं के लिए व्यक्तिगत ऋण योजना के तहत सब्सिडी की दर 10 प्रतिशत से बढ़ाकर 25 प्रतिशत की गई है। स्टार्ट-अप ग्राम उद्यमशीलता कार्यक्रम में 1238 स्वयं सहायता समूह महिला उद्यमों का गठन किया गया है और उद्यम स्थापित करने के लिए 5 करोड़ 25 लाख रुपये वित्तीय सहायता दी गई है।

श्री दत्तात्रेय ने कहा कि प्रदेश सरकार महिलाओं को सुरक्षित वातावरण उपलब्ध करवाने के साथ-साथ उन्हें आर्थिक, सामाजिक व राजनीतिक रूप से भी सशक्त करने के लिए प्रतिबद्ध हैं। पंचायतीराज संस्थाओं के आगामी चुनावों में महिलाओं को 50 प्रतिशत प्रतिनिधित्व देने का निर्णय लिया गया है। आज हरियाणा में महिलाएं हर क्षेत्र में आगे बढ़कर प्रदेश का ही नहीं बल्कि देश का नाम रोशन कर रही है।