Wednesday, 7 August 2019

मानसून में रखें साफ-सफाई का ध्यान : डॉ. राम चंद्र सोनी

मानसून में रखें साफ-सफाई का ध्यान : डॉ. राम चंद्र सोनी

फरीदाबाद : 8 अगस्त I  बारिश का झमाझम मौसम और पकौड़ों का स्वाद मन को खुशी तो देता है, लेकिन खान-पान के प्रति बरती जाने वाली लापरवाही कई बार गंभीर रूप धारण कर लेती है। बरसात का मौसम एक ओर तो गर्मी से निजात दिलाता है, लेकिन दूसरी ओर बीमारियों को पनपने का मौका भी देता है। बरसात के दिनों में वायरल इंफेक्शन आम बात है। इस मौसम में पेट से संबंधित बीमारियों के फैलने का भय बना रहता है। डॉ. राम सोनी ने बताया कि उनके पास पीलिया के मरीज भी बाद गए है रोज़ाना 3 -4 मरीज पीलिया के आ रहे हैं

एशियन अस्पताल के एचओडी गैस्ट्रोइंटेरोलॉजी डॉ. राम चंद्र सोनी का कहना है कि मानसून में पेट दर्द की समस्या आम बात है। उल्टी-दस्त, पेट दर्द आदि की समस्या को लेकर अस्पताल में आने वाले मरीजों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है। इस मौसम में पेट से संबंधित बीमारियां ज्यादा होती है। इन बीमारियों के लक्षण भी कई प्रकार के होते हैं पेट में दर्द होना, उल्टी होना, बदन दर्द और कमर दर्द। डॉक्टर का कहना है कि इस मौसम में बैक्टीरिया ज्यादा प्रभावित होता है और संक्रमण फैलाता है। बाहर का खाना, तला हुुआ, बासी भोजन का सेवन करना, खुले में रखे भोजन का सेवन करने से  भी बीमारियों को फैलने का मौका मिलता है। इस प्रकार का खाना खाने के २४ घंटे के भीतर बीमारियों के लक्षण उभरने लगते हैं।

डॉ. सोनी का कहना है कि अगर हम स्वयं साफ-सफाई की ओर ज्यादा ध्यान दें तो बीमारियों से बचाव किया जा सकता है। फिल्टर्ड और उबला हुआ पानी पीना चाहिए। बासी या खुले में रखा खाना नहीं खाना चाहिए। फल व सब्जियों को धोकर खाना चाहिए। जंक फूड के सेवन से बचना चाहिए। तले व मसालेदार खाने के सेवन से बचना चाहिए। बार-बार हाथ धोने चाहिएं। संतुलित भोजन का सेवन करना चाहिए। 

डॉ. सोनी के अनुसार मानसून हेपेटाइटिस ए और ई के वायरस को प्रभावित करता है। इस बीमारी का प्रमुख कारण दूषित पानी है। खान-पान की लापरवाही लिवर को सबसे ज्यादा प्रभावित करती है।  इसके लक्षणों के पाए जाने पर तुरंत डॉक्टर से संपर्क करके जांच करानी चाहिए। ताकि समय रहते बीमारी का पता लगाकर उचित इलाज किया जा सके। इसके अलावा इस रोग से बचने के लिए साफ-सफाई की ओर विशेष ध्यान देना चाहिए।

Sunday, 28 July 2019

सांसद अनिल बलूनी के प्रयासों से फरीदाबाद में बनेगा उत्तराखंड भवन - मुख्यमंत्री हरियाणा मनोहर लाल खट्टर ने दी सहर्ष स्वीकृति

सांसद अनिल बलूनी के प्रयासों से फरीदाबाद में बनेगा उत्तराखंड भवन - मुख्यमंत्री हरियाणा मनोहर लाल खट्टर ने दी सहर्ष स्वीकृति

नई दिल्ली 28 जुलाई I  उत्तराखंड से राज्यसभा सांसद और भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय मीडिया प्रमुख अनिल बलूनी और हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल खट्टर जी की आज हरियाणा में निवास कर रहे प्रवासियों के विषयों पर दिल्ली में मुलाकात हुयी। श्री बलूनी ने मुख्यमंत्री खट्टर से अनुरोध किया कि फरीदाबाद और उसके निकट क्षेत्रों और हरियाणा के अन्य शहरों में भारी संख्या में उत्तराखंड के प्रवासी निवास करते हैं।

 सांसद बलूनी ने अनुरोध किया कि यहां के प्रवासी लंबे समय से अपने सामाजिक और सांस्कृतिक कार्यक्रमों के लिए "उत्तराखंड भवन" के निर्माण हेतु  प्रयासरत हैं। उन्होंने मुख्यमंत्री जी से उक्त भवन हेतु भूखंड देने का अनुरोध किया, जिस पर तत्काल  मुख्यमंत्री श्री खट्टर ने सहमति प्रदान की।

        सांसद बलूनी ने फरीदाबाद से कोटद्वार और रामनगर तक बसों के संचालन हेतु मुख्यमंत्री खट्टर को धन्यवाद दिया। श्री खट्टर ने कहा की हरियाणा में रहने वाले प्रवासियों को  अगर अन्य नगरों तक भी बसों की आवश्यकता होगी तो विचार किया जाएगा।

             सांसद बलूनी ने कहा  कि कुछ दिन पूर्व  फरीदाबाद, पलवल बदरपुर बॉर्डर और बल्लभगढ़ के प्रवासियों ने फरीदाबाद से उत्तराखंड के लिए सीधे बस बस संचालन और  उत्तराखंड भवन हेतु भूमि दिलाने का आग्रह किया था, जिसके बाद कोटद्वार तक सीधी बस सेवा का संचालन प्रारंभ हो भी चुका है, जिसे कुछ दिन पूर्व सांसद बलूनी ने हरी झंडी दिखाई थी। 

           प्रवासी समाज की संस्थाओं ने सांसद बलूनी का आभार प्रकट किया है और सांसद बलूनी द्वारा प्रारंभ किए गए 'अपना वोट-अपने गांव' अभियान की भूरी -भूरी प्रशंसा की और कहा अपने गांव से जुड़ने के अभियान को प्रवासी समाज के बीच विस्तार दिया जाएगा। 
 मेट्रो हॉस्पिटल मैं विश्व हेपेटाइटिस दिवस मनाया गया : डॉ विशाल खुराना

मेट्रो हॉस्पिटल मैं विश्व हेपेटाइटिस दिवस मनाया गया : डॉ विशाल खुराना

फरीदाबाद, 28 जुलाई। इस विश्व हेपेटाइटिस दिवस (28 जुलाई] 2019) के उपलक्ष में मेट्रो अस्पताल के वरिष्ठ पेट एवं लिवर रोग विशेषज्ञ डॉ विशाल खुराना बता रहे हैं हपेटाइिटस के बारे में । 

हेपेटाइटिस क्या है हेपेटाइटिस जिगर, लीवर, यकृत की सूजन है] जो आमतौर पर वायरल संक्रमण के कारण होता है, जो जिगर में सूजन का कारण होता है। जिगर की सूजन के कई कारण हैं जैसे की - वायरल संक्रमण, दवा के दुष्प्रभाव, अत्यधिक शराब का सेवन, इत्यादि। हेपेटाइटिस ए, बी, सी, डी और ई पांच मुख्य हेपेटाइटिस वायरस हैं। ऎकयुट और क्रोनिक हेपेटाइटिस के दो प्रकार होते हैं। ऎकयुट हेपेटाइटिस तब होता है जब यह छह महीने से कम समय तक रहता है] जबकि क्रोनिक हेपेटाइटिस तब होता है जब  हेपेटाइटिस लंबे समय तक बनी रहती है। 

क्या वायरल हेपेटाइटिस एक महत्वपूर्ण समस्या है%
वायरल हेपेटाइटिस के साथ रहने वाले केवल 11% लोग अपनी स्थिति से अवगत हैं। वायरल हेपेटाइटिस विश्व स्तर पर मौत का एक प्रमुख कारण है। हेपेटाइटिस बी और हेपेटाइटिस सी वायरस दुनिया में सबसे अधिक (80%) लीवर कैंसर के मामलों में होता है। 
नेशनल सेंटर फॉर डिसीज कंट्रोल ( एनसीडीसी ) द्वारा भारत में हेपेटाइटिस बी 3-4% लोगों में पाया जाता है और हेपेटाइटिस सी 1% मे। पंजाब और हरियाणा के कुछ क्षेत्रों में हेपेटाइटिस काफी अधिक पाया जाता है। भारत में] हेपेटाइटिस ई वायरस (HEV) वयस्कों के हेपेटाइटिस का सबसे महत्वपूर्ण कारण हैI हेपेटाइटिस ए वायरस (HAV) बच्चों में आम है। 

हपेटाइिटस के लक्षण क्या है%
हेपेटाइटिस में हो सकता है कि कोई लक्षण न हो] लेकिन अक्सर ये पीलिया, आहार (भूख) की कमी और अस्वस्थता के साथ प्रस्तुत होता है। बुखार, शरीर में दर्द] थकान] कमजोरी] पेट में दर्द] उलटी] कम भूख का लगना] गहरे रगं का मूत्र और पीली रगं की आँखे होना यह तीव्र हेपेटाइटिस (एक्यूट हेपेटाइटिस) की निशानी माने जाते हैंI बीमारी बढ़ जाने पर पीलीया, पेट का बढ़ना] खून की उल्टी] काले या लाल रगं का मल] असामान्य व्यव्हार] कम भूख का लगना एवं वजन का घटना आदि लक्षण पाये जाते है ।

हेपेटाइटिस संक्रमण के कारण और निवारण%

हेपेटाइटिस के प्रकार कारण निवारण
हेपेटाइटिस ए (HAV) दूषित भोजन खाने या प्रदूषित जल पीने से 1.स्वस्थ और पौष्टिक भोजन खाएं
2.स्वच्छ और सुरक्षित पानी पीना 3.हेपेटाइटिस ऐ टीकाकरण उपलब्ध है
हेपेटाइटिस ई (HEV) दूषित भोजन खाने या प्रदूषित जल पीने से 1.स्वस्थ और पौष्टिक भोजन खाएं
2.स्वच्छ और सुरक्षित पानी पीना 
हेपेटाइटिस बी  (HBV) 1. संक्रमित व्यक्ति के रक्त या अन्य शरीर के तरल पदार्थों के संपर्क के माध्यम से
2. गर्भावस्था के दौरान संक्रमित मां को बच्चे को 1.आपको गर्भावस्था के दौरान अपना परीक्षण करना चाहिए
2.संक्रमित व्यक्ति के साथ टूथब्रश, रेजर या नाखून कैंची और सुइयों साझा करने से बचें 
3. बिना लाइसेंस वाले सुविधाओं से टैटू या शरीर के छेदों को नहीं करना चाहिए
4. हेपेटाइटिस बी टीकाकरण उपलब्ध है
हेपेटाइटिस सी (HCV) 1. संक्रमित रक्त और सुइयों
2. यह कुछ यौन प्रथाओं के माध्यम से प्रेषित भी किया जा सकता है जहां रक्त शामिल है। 1. संक्रमित व्यक्ति के साथ टूथब्रश, रेजर या नाखून कैंची और सुइयों साझा करने से बचें 
2. बिना लाइसेंस वाले सुविधाओं से टैटू या शरीर के छेदों को नहीं करना चाहिए


हेपेटाइटिस बी संक्रमण रोकने में टीकाकरण बहुत प्रभावी है। हपेटाइिटस बी का टीका 3 बार ( 0, 1 और 6 माह के अंतराल पर ) दिया जाता है जो की 95% तक वायरस से लड़ने में  कारगर साबित होता है। यदि आपको टीका लगाया नहीं गया है] तो टीकाकरण करवाएं] कंडोम का उपयोग करें] और संक्रमित व्यक्ति के साथ टूथब्रश] रेज़र] नाख़ून कैंची या सुई को साझा करने से बचें। आपको बिना लाइसेंस वाले सुविधाओं से टैटू या शरीर के छेदों को नहीं करना चाहिए। यदि आपको लगता है कि आपको भविष्य में संक्रमित होने की संभावना है] तो टीकाकरण होना आवश्यक है। हेपेटाइटिस बी संक्रमित मां से पैदा होने वाले बच्चे को 12 घंटे के भीतर टीका लगाया जाना चाहिए, क्योंकि यह एक संक्रमण को रोक सकता है जो क्रोनिक हेपेटाइटिस बी में बदलने की संभावना रखता है।

उपचार%
हेपेटाइटिस ए और ई: हेपेटाइटिस ए और ई आमतौर पर तीव्र/ ऎकयुट (acute) हेपेटाइटिस का कारण बनता है जिससे शरीर अक्सर कुछ हफ्तों के भीतर ही संक्रमण को साफ कर सकता है। हालांकि, संक्रमण कभी&कभी आगे की जटिलताओं का कारण बन सकता है। हे हेपेटाइटिस ए और ई के लिए अलग से कोई दवाई नहीं है। उपचार मुख्य रूप से लक्षणों के आधार पर होता है

हेपेटाइटिस बी: हमारे पास दवाएं] जैसे पेगेंटरफेरॉन इंजेक्शन और एंटीवायरल (एनटेकवीर / टेनोफॉवीर) गोलियां, उपलब्द हैं। ये दवाएं वायरस की प्रतिकृति को धीमा कर देती हैं और कभी-कभी इसका निष्कासन कर देती है। सबसे महत्वपूर्ण बात है कि यह दवाएं जटिलताओं के जोखिम को बहुत कम करती हैं जो हेपेटाइटिस बी के कारण हो सकता है जैसे लिवर सिरोसिस और लिवर कैंसर।

हेपेटाइटस सी: दवाईयां हेपेटाइटिस सी संक्रमण का इलाज कर सकता है। पहले इसका इलाज इंजेक्शन से ही होता था लेकिन आजकल एंटीवायरल ड्रग्स (सोफोसबुवीर / लीडिपैसवीर / डाक्लाट्सविर / वेलपात्सिर) उपलब्ध हैं जो की खाई जा सकती हैं। 

हेपेटाइटिस में जिगर की क्षति को रोकने के लिए टिप्स:

ऐसा करें ऐसा न करें
हेपेटाइटिस के लिए टीकाकरण शराब, तंबाकू और ड्रग्स से बचें
बहुत सारे तरल पदार्थ पीयें और हाइड्रेटेड रहें खाना जो आप बर्दाश्त नहीं कर सकते उस से बचें
प्रयाप्त कैलोरी/भोजन का सेवन बनाए रखें तनाव से बचें



आईएमए फरीदाबाद ने फ्रूट और ऑर्नामेंटल के पौधे लगाए : डॉ  पुनीता हसीजा प्रधान

आईएमए फरीदाबाद ने फ्रूट और ऑर्नामेंटल के पौधे लगाए : डॉ पुनीता हसीजा प्रधान

फरीदाबाद, 28 जुलाई।  आई एम ए फरीदाबाद ने अपना हरित क्रांति का अभियान जारी रखते हुए दूसरे चरण में आज सुबह मेट्रो हॉस्पिटल के प्रांगण में वृक्षारोपण किया , आईएमए की प्रधान डॉक्टर पुनीता हसीजा ने बताया की आई एम ए ने पूरे फरीदाबाद मैं 100 पौधे लगाए और फ्रूट और ऑर्नामेंटल के लगाए और कहा कि जितने ज्यादा पौधे लगाए जायेगे उतनी हम बीमारियों से बचे गए और प्रदूषण से बचाव होगा I  

विपुल गोयल यहां पर मुख्य अतिथि थे । सभी डॉक्टर्स  ने मिलकर कई सारे पौधे लगाए। डॉ एसएस बंसल व डॉ सीमा बंसल का इस कार्यक्रम में विशेष योगदान रहा ।आईएमए की प्रधान डॉक्टर पुनीता हसीजा ,पूर्व प्रधान डॉक्टर सुरेश अरोड़ा ,डॉ भारती गुप्ता, डॉ राजीव जैन ,डॉ हर्ष नंदिनी ,डॉक्टर संगीता,डॉक्टर मनीषा, डॉक्टर सोनल गोयल, डॉ अरविंद ,डॉक्टर आभा,  डॉ रमा मंगला, डॉक्टर सतीश मंग्ला ,डॉ अशोक चांदना, डाक्टर अशोक चावला, डॉ अशोक ग्रोवर ,डॉ अमित ग्रोवर मुख्य रूप से उपस्थित थे ।
पौधों से बच्चों की तरह प्यार करें : मुख्यमंत्री मनोहर लाल

पौधों से बच्चों की तरह प्यार करें : मुख्यमंत्री मनोहर लाल

फरीदाबाद, 28 जुलाई। मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने कहा कि पिछले तीन वर्षों में पर्यावरण संरक्षण के लिए शुरू किए गए पौधगिरी अभियान को हरियाणा में बड़ी सफलता मिली है। इस योजना के तहत हमने प्रदेश के लाखों स्कूली बच्चों को पर्यावरण संरक्षण की इस मुहिम के साथ जोड़ा है। इस वर्ष भी हमने राजकीय व निजी स्कूलों में 22 लाख विद्यार्थियों को इस योजना से जोड़ने का संकल्प लिया है। श्री मनोहर लाल रविवार को जलशक्ति अभियान के तहत फरीदाबाद के हुडा कन्वैंशन सैन्टर में फरीदाबाद नवचेतना ट्रस्ट, एचएसवीपी, फरीदाबाद नगर निगम व भारत विकास परिषद द्वारा आयोजित वृक्षारोपण अभियान एवं कला समारोह में बतौर मुख्य अतिथि सम्बोधित कर रहे थे। 

श्री मनोहर लाल ने कहा कि पौधों से बच्चों की तरह प्यार करें और माता पिता की तरह सेवा करें। कुछ वर्ष पश्चात यही पौधे पेड़ बनकर आपकी जीवन भर सेवा करेंगे। उन्होंने कहा कि हमने इस अभियान से जुड़ने वाले सभी कक्षा छठी से बारहवीं तक के स्कूल बच्चों से आह्वान किया कि वे अपने रोपे गए पौधे की जियो टैगिंग कर फोटो भेजें। छः माह बाद इस पौधे के साथ दोबारा फोटो भेजेंगे तो सरकार उसके खाते में 50 रूपये भेजेगी। एक साल बाद वह फिर फोटो भेजें और यह सिलसिला तीन साल तक जारी रखेंगे तो प्रत्येक बच्चे के खाते में 600 रूपये पहुंच जायेंगे। छठी कक्षा वाला एक विद्यार्थी यह सिलसिला बारहवीं कक्षा तक जारी रख सकता है। ऐसे में खेल-खेल में हम पर्यावरण सुरक्षा का यह बड़ा काम करने जा रहे हैं। 

मुख्यमंत्री ने का कि हरियाणा में मौजूदा समय में मात्र 3.5 प्रतिशत वन क्षेत्र है। जबकि कई प्रदेशों में यह 25 से 30 प्रतिशत तक है। हमें विकास की गति के साथ-साथ प्रदेश में वन्य क्षेत्र को भी बढ़ाना है। उन्होंने फरीदाबाद नवचेतना ट्रस्ट द्वारा पिछले कई सालों से पौधे वितरित करने, उनका रोपण करने व देखरेख करने के लिए संस्था को बधाई दी और कहा कि यह मानवता और भावी पीढ़ियों के लिए एक बड़ा संकल्प है। उन्होंने कहा कि हमने 2015 में बेटो बचाओ-बेटी पढ़ाओ अभियान और उसके बाद स्वच्छ भारत अभियान के कार्यक्रमों के जरिये प्रदेश में बेहतरीन शुरूआत की और अब हमें जल संरक्षण के लिए जलशक्ति अभियान को भी सफल बनाना है। 

कार्यक्रम में उद्योग मंत्री विपुल गोयल ने कहा कि मुख्यमंत्री मनोह लाल के नेतृत्व में होडल से डबवाली और महेन्द्रगढ़ से यमुनानगर तक समान विकास हुआ है और इसी विकास के बल पर जनता के सहयोग से भाजपा इस बार विधानसभा चुनाव में 75 बार का संकल्प पूरा करेगी। पौधा रोपण अभियान को लेकर उन्होंने कहा कि हमने फरीदाबाद में कई वर्ष पहले यह अभियान शुरू किया था और इस बार भी अरावली पर्वत श्रंखला में करोड़ों बीज डालने के साथ हमने इसे आगे बढ़ाया है। हम ढाई लाख से ज्यादा पौधे संकल्प पत्र के साथ वितरित कर रहे हैं। उन्होंने शहर के सभी उद्योगपतियों, आरडबल्यूए, सामाजिक-धार्मिक संस्थाओं व प्रशासनिक विभागों से इस अभियान में मिलकर आगे बढ़ने का आह्वान किया। 

भारत विकास परिषद के राष्ट्रीय मंत्री सुरेश जैन ने हरियाणा सरकार के पौधगिरी अभियान व पर्यावरण संरक्षण को लेकर उठाये गए कदमों की प्रशंसा करते हुए कहा कि यह एक बेहतरीन शुरूआत है। उन्होंने कहा कि पौधगिरी अभियान हो या फिर जल ही जीवन अभियान के तहत धान की बजाय किसानों को मक्का, चना, अरहर सहित कम पानी  में पैदा होने वाली परम्परागत फसलों की तरफ रूझान करने का संकल्प हो। उन्होंने हरियाणा में आॅरगेनिक खेती की तरफ बढ़ रहे रूझान को और अधिक आगे ले जाने के लिए मिलकर काम करने को कहा। 

इससे पहले मुख्यमंत्री ने हजारों लोगों के साथ मिलकर टाउन पार्क सैक्टर-12 में त्रिवेणी लगाकर पौधरोपण अभियान की शुरूआत की। कार्यक्रम को भाजपा के जिलाध्यक्ष गोपाल शर्मा, नवचेतना ट्रस्ट के चेयरमैन प्रशान्त भल्ला ने भी सम्बोधित किया। इस अवसर पर विधायक सीमा त्रिखा, टेक चन्द शर्मा, मूल चन्द शर्मा, नगेन्द्र भड़ाना, चेयरमैन अजय गौड, जिला परिषद के चेयरमैन विनोद चैधरी, उपायुक्त अतुल कुमार द्विवेदी, नगर निगमायुक्त अनीता यादव, फरीदाबाद स्मार्ट सिटी की सीईओ गरिमा मित्तल, हुडा प्रशासक श्रीमती सोनल गोयल, अतिरितक्त उपायुक्त धर्मेन्द्र सिंह, उद्योगपति केसी लखानी, एचके बत्रा, एसके सैन, शम्मी कपूर, सहित कई अन्य गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे। 

Tuesday, 23 July 2019

आने वाली पीढ़ियों को पर्यावरण की सौगात हमें अवश्य देनी चाहिए : विमल खंडेलवाल

आने वाली पीढ़ियों को पर्यावरण की सौगात हमें अवश्य देनी चाहिए : विमल खंडेलवाल

फरीदाबाद : 23 जुलाई I राजस्थान एसोसिएशन के द्वारा सेक्टर 14 स्थित मंदबुद्धि बच्चों के स्कूल में पौधारोपण का आयोजन किया गया । संस्था के महासचिव संजीव जैन  ने बताया कि जैसा कि आप सभी को विदित है कि मानसून आ चुका है मानसून के अंदर हम लोगों को ज्यादा से ज्यादा संख्या में पौधारोपण किया जाना चाहिए, जिससे आने वाली हमारी पीढ़ियों को उसका लाभ मिल सकें क्योंकि आज हम कोई पौधा रोपण करते हैं तो उसको बढ़ने में समय लगता है यदि हम जीवन में हमारी आने वाली पीढ़ियों को शुद्ध वातावरण का तोहफा अवश्य देना चाहिए । अध्यक्ष मधु लडडा ने समाज के विभिन्न संस्थाओं से भी आग्रह है कि ज्यादा से ज्यादा संख्या में मानसून के दौरान पौधारोपण करें । 

अध्यक्ष मधुसूदन लड्ढा ने बताया कि इस प्रांगण में जो पौधे लगाए गए हैं वह जामुन और फलदार हैं ये केवल छांव ही नही बल्कि फल भी देंगे तथा आगे भी हमारी यह मुहिम जारी रहेगी। आज के कार्यक्रम को सफल बनाने में अध्यक्ष मधुसूदन लड्ढा, महासचिव संजीव जैन, नवल मूंदड़ा, मधुसूदन मटोलिया, अजय लखोटिया, विमल खंडेलवाल, स्कूल की अध्यापिका गण का अहम योगदान रहा।

Wednesday, 17 July 2019

विद्यासागर कबड्डी अकादमी के खिलाड़ी का बेस्ट प्रो कबड्डी में हुआ चयन

विद्यासागर कबड्डी अकादमी के खिलाड़ी का बेस्ट प्रो कबड्डी में हुआ चयन

फरीदाबाद 18 जुलाई । विद्यासागर स्कूल की उपलब्ध्यिों में एक और उपलब्धि शामिल हो गई है। विद्यासागर इंटरनेशनल स्कूल तिगांव के परिसर में चल रही विद्यासागर कबड्डी अकादमी के खिलाड़ी तरूण उपाध्याय का चयन टेन स्टोटर्स द्वारा स्पोंसर्ड बेस्ट प्रो कबड्डी में हुआ है। तरूण उपाध्याय सितंबर में गोवा में लगने वाले ट्रेनिंग कैंप में हिस्सा लेंगे। तरूण की इस कामयाबी पर स्कूल के चेयरमैन श्री धर्मपाल यादव ने उन्हें मिठाई खिलाकर शुभकामनाएं दीं और आगे भी अपनी मेहनत और लगन से उन्नति करने के लिए प्रोत्साहित किया। इससे पहले भी अकादमी के खिलाड़ी प्रशांत राजपूत का चयन जस्ट कबड्डी लीग में हो चुका है। 

इसके अतिरिक्त विद्यासागर कबड्डी अकादमी की टीम नेशनल कबड्डी लीग में द्वितीय स्थान प्राप्त कर चुकी है जिसका आयोजन आगरा में २३ से २५ जून तक हुआ। गौरतलब है कि विद्यासागर इंटरनेशनल स्कूल के परिसर में विभिन्न खेल एकेडमी चलाई जाती हैं जिसमें विद्यासागर क्रिकेट एकेडमी, आर्चरी एकेडमी, ताइक्वांडो एकेडमी एवं कबड्डी एकेडमी शामिल हैं। सभी एकेडमियों में बच्चों के हुनर को निखारने और उन्हें राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय स्तर का खिलाड़ी बनाने के लिए सभी विश्वस्तरीय सुविधाएं, ट्रेनिंग इक्यूप्मेंट, कोच एवं कोचिंग इन्वायरमेंट उपलब्ध है। कबड्डी की तरह की आर्चरी एकेडमी के कई छात्र राष्ट्रीय स्तर पर बेहतर प्रदर्शन कर चुके हैं।

Wednesday, 10 July 2019

मानव रचना शैक्षणिक संस्थान में नए छात्रों का स्वागत

मानव रचना शैक्षणिक संस्थान में नए छात्रों का स्वागत

फरीदाबाद, 10 जुलाई:  मानव रचना शैक्षणिक संस्थान में मानव रचना इंटरनेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ रिसर्च एंड स्टडीज (एमआरआईआईआरएस) और मानव रचना यूनिवर्सिटी के इंजीनियरिंग और नॉन-इंजीनियरिंग कोर्सिस के छात्रों का ओरएंटेशन कार्यक्रम भी जारी है, यह 26 जुलाई तक चलेगा। हवन और पौधारोपण के साथ नए सत्र की शुरुआत की गई।

ओरिएंटेशन के दौरान छात्रों को मानव रचना के विजन, मिशन, उप्लब्धियों और उनके कोर्सिस के बारे में जानकारी दी जा रही है। इसके अलावा छात्रों को कैंपस की सुविधाओं और फैकल्टी मेंबर्स से रूबरू करवाया जा रहा है। ओरिएंटेशन कार्यक्रम के तहत छात्रों के लिए लाइब्रेरी, शूटिंग रेंज, स्पोर्ट्स एरीना, क्लास रूम्स में अलग-अलग कार्यक्रम रखे गए हैं। कॉलेज में पहले दिन छात्रों के साथ-साथ उनके अभिभावकों ने भी कैंपस में समय बिताया। इस दौरान फैकल्टी मेंबर्स ने अभिभावकों को एक्सपीरिएंशियल लर्निंग के बारे में जानकारी दी।

मानव रचना शैक्षणिक संस्थान के अध्यक्ष डॉ. प्रशांत भल्ला ने बताया कि, किसी भी कॉलेज में दाखिला लेने से पहले हर अभिभावक रैगिंग को लेकर चिंतित रहते हैं। उन्होंने अभिभावकों को यह जानकारी देकर निश्चिंत किया कि मानव रचना का कैंपस रैगिंग फ्री है। रैगिंग की शिकायत के लिए हर जगह हेल्प-लाइन नंबर के बोर्ड्स लगाए गए हैं। उन्होंने उम्मीद जताई, जिस तरह हमारे छात्रों को देश और विदेश में पहचान मिली है, आने वाले समय में नए छात्र मानव रचना का परचम देश और विदेश में लहराएंगे। 

Saturday, 6 July 2019

निरंतर कल्याणकारी कार्यों के लिए जीवा इन्ट्रैक्ट क्लब को पुरस्कृत किया गया

निरंतर कल्याणकारी कार्यों के लिए जीवा इन्ट्रैक्ट क्लब को पुरस्कृत किया गया

फरीदाबाद 6 जुलाई :  जीवा पब्लिक स्कूल के बारहवीं कक्षा के छात्र हिमांशु मित्तल को बेस्ट जेड0 आई0 आर0 केटेगरी के आधार पर पुरस्कृत किया गया। वहीं विद्यालय को भी प्लैटिनम अवॉर्डस से पुरस्कृत किया गया। रोटरी क्लब की ओर से प्रथम (डि0 आई0 आर0 ए0) डिस्ट्रिक्ट इन्ट्रैक्ट रिकॉगनाइज़ेशन सेरेमनी का आयोजन तीन जुलाई 2019 को नई दिल्ली के चाणक्यपुरी स्थित संस्कृति स्कूल में किया गया। इस आयोजन में एन0 सी0 आर0 के 50 विद्यालयों के इन्ट्रैक्ट क्लब ने भाग लिया, जिन्होंने वर्ष 2018-19 में समाज कल्याण कार्यों में बढ़-चढ़ कर हिस्सा लिया। कई स्कूलों को उनके श्रेष्ठï कार्यों के लिए नामांकित किया गया एवं उनके कल्याणकारी कार्यों के लिए पुरस्कृत भी किया गया। जीवा पब्लिक स्कूल के हिमांशु मित्तल को सर्वश्रेष्ठï नेतृत्व एवं उसकी कर्मठता के लिए इस उच्च पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

रोटरी क्लब एक सामाजिक संस्था है जो देश एवं विदेश में अनेक सामाजिक कार्य करती है और इसी के अंतर्गत स्कूल एवं कॉलेज के छात्र एवं छात्राओं को भी सामाजिक कार्यों के लिए प्रेरित करती हैं। जीवा पब्लिक स्कूल को प्लैटिनम अवॉर्ड उसके निरंतर श्रेष्ठï कल्याणकारी कार्यों के लिए दिया गया। साथ ही सभी इन्ट्रैक्ट ने प्रण किया कि वे इसी प्रकार निरंतर समाज कल्याण के कार्यों को करते रहेंगे और देश के कल्याण के लिए भी प्रतिबद्घ रहेंगे।

इस अवसर पर विद्यालय के अध्यक्ष श्री ऋषिपाल चौहान एवं उपाध्यक्षा श्रीमती चंद्रलता चौहान ने जेड0 आई0 आर0 हिमांशु मित्तल को उसकी उपलब्धि पर बधाई दी एवं उज्ज्वल भविष्य की कामना की। 

 द्रोणाचार्य बॉक्सिंग क्लब के मुक्केबाज हर्ष गिल बरसाएंगे सर्बिया मे पंच

द्रोणाचार्य बॉक्सिंग क्लब के मुक्केबाज हर्ष गिल बरसाएंगे सर्बिया मे पंच

फरीदाबाद 6 जुलाई : एक बार फिर द्रोणाचार्य बॉक्सिंग क्लब के मुक्केबाज हर्ष गिल अंतरराष्ट्रीय स्तर पर 8 जुलाई से 15 जुलाई तक में होने वाली गोल्डन ग्लव्स ऑफ वोजवोदिना अंतरराष्ट्रीय बॉक्सिंग प्रतियोगिता में भारत देश का प्रतिनिधित्व करेंगे,जोकि वोजवोदिना, सर्बिया मे होगी। द्रोणाचार्य बॉक्सिंग क्लब के हर्ष गिल ने अभी पिछले महीने मे हुई तीसरी यूथ नेशनल बॉक्सिंग चैंपियनशिप जोकि 8 जून से 15 जून तक रुद्रपुर( उत्तराखंड )में हरियाणा को एकलौता स्वर्ण पदक दिला कर अपने राज्य तथा जिले का नाम रोशन किया था,हर्ष गिल पिता का नाम लखविंदर गिल फरीदाबाद सेक्टर 11 का रहने वाला है इससे पहले हर्ष गिल कई बार राष्ट्रीय सतर पर काफी पदक हासिल किए है। हर्ष गिल ने स्कूल नेशनल गेम्स 2018 असम में हुई बॉक्सिंग प्रतियोगिता में स्वर्ण पदक जीता । ओपन नेशनल 2018 चंडीगढ़ मैं रजत पदक हासिल किया।

ऑल इंडिया साईं नेशनल बॉक्सिंग चैंपियनशिप 2018 रोहतक में हुई प्रतियोगिता में स्वर्ण पदक हासिल किया। खेलो इंडिया गेम्स 2018 दिल्ली में रजत पदक हासिल किया । स्कूल नेशनल गेम्स 2017 देहरादून में कांस्य पदक हासिल किया तथा हर्ष गिल गवर्नर के द्वारा 2018 में गवर्नर पुरस्कार प्राप्त कर चुके हैं

अंतरराष्ट्रीय बॉक्सर राजीव गोदारा जोकि द्रोणाचार्य बॉक्सिंग क्लब के बॉक्सिंग कोच को हर्ष गिल पर पूरा विश्वास है कि आने वाले समय में वह भारत देश का नाम भी रोशन करेगा । उन्होंने कहा कि हर्ष गिल एक अच्छा खिलाड़ी है और जिस तरह से वह लगातार नेशनल बॉक्सिंग चैंपियनशिप में प्रदर्शन कर रहा है उसको देखते हुए वह ओलंपिक में भी भारत के लिए पदक जीतेगा। उन्होंने बताया की हर्ष गिल 8 जुलाई से 15 जुलाई तक में होने वाली गोल्डन ग्लव्स ऑफ वोजवोदिना अंतरराष्ट्रीय बॉक्सिंग प्रतियोगिता में भाग लेगा,जोकि वोजवोदिना, सर्बिया और भारत के लिए पदक हासिल कर देश का नाम रोशन करेगा और आने वाली यूथ ओलंपिक और यूथ एशियन गेम्स में भारत के लिए पदक जीतकर अपने देश का नाम रोशन करेगा।