Showing posts with label Kabaddi. Show all posts
Showing posts with label Kabaddi. Show all posts

Monday, 22 January 2018

 भारतीय संस्कृति से जुड़ा प्राचीन खेल है कबड्डी : रुपचंद लाम्बा

भारतीय संस्कृति से जुड़ा प्राचीन खेल है कबड्डी : रुपचंद लाम्बा

फरीदाबाद 22 जनवरी। पृथला विधानसभा क्षेत्र के गांव हरफली में ओपन नेशनल स्टाईल कबड्डी टूर्नामैंट का आयोजन किया गया। कबड्डी टूर्नामैंट में मोहना, राजूपुर, पृथला, सोनीपत, डेरा फतेहपुर, गदपुरी, छपरौला, एसवी क्लब पलवल, स्र्पोटर्स क्लब सेक्टर-12, हरफली सहित 22 टीमों ने भाग लिया। टूर्नामैंट में मुख्यातिथि के रुप में इनेलो प्रदेश कार्यकारिणी के विशेष आमंत्रित सदस्य रुपचंद लाम्बा ने शिरकत करके खिलाडिय़ों के हाथ मिलवाकर उनकी हौंसला अफजाई की। टूर्नामैंट में फाईनल मुकाबला हरफली व मोहना गांव की टीमों के बीच हुआ, जिसमें कड़े मुकाबले में हरफली ने 11 हजार रुपए की कबड्डी जीती। टूर्नामैंट में उपविजेता मोहना की टीम को 7100 रुपए का पुरस्कार दिया गया।

 टूर्नामैंट का सबसे रोमांचक सेमीफाइनल मुकाबला राजूपुर और मोहना की टीम के मध्य हुआ, जिसमें मोहना की टीम एक अंक जीत गई। इनेलो नेता रुपचंद लाम्बा ने विजेता टीमों को स्मृ़ति चिन्ह व ईनाम की राशि भेंट करके सम्मानित किया और उनके उज्जवल भविष्य की कामना की। उपस्थितजनों को संबोधित करते हुए रुपचंद लाम्बा ने कहा कि कबड्डी खेल भारतीय संस्कृति से जुड़ा प्राचीन खेल है, जो पुराने समय से काफी प्रचलित रहा है, आज भी ग्रामीण क्षेत्रों में इस खेल को लेकर युवाओं में खासा उत्साह है। उन्होंने कहा कि खेल वह माध्यम होते है, जिनसे आपसी दूरी कम होती है और भाईचारे की भावना को बल मिलता है परंतु वर्तमान भाजपा सरकार में प्रतिभाशाली खिलाडिय़ों की पूरी तरह से अनदेखी की जा रही है, यही कारण है कि आज हमारे ग्रामीण आंचल में छुपी बेहतर प्रतिभाएं विलुप्त होती जा रही है।

 उन्होंने ग्रामीणों को विश्वास दिलाते हुए कहा कि प्रदेश मेें इनेलो की सरकार बनने पर जहां ग्रामीण क्षेत्रों में खेल प्रतिभाओं को बेहतर मंच उपलब्ध करवाए जाएंगे वहीं साथ ही साथ खेल स्टेडियम बनवाकर खिलाडिय़ों की हौंसला अफजाई की जाएगी। इससे पूर्व टूर्नामैंट में पहुुंचने पर हरफली गांव की मौजिज सरदारी ने पगड़ी बांधकर एवं फूल मालाओं से रुपचंद लाम्बा का जोरदार स्वागत किया। इस अवसर पर गांव हरफली के सरपंच देवेंद्र सिंह, ब्लाक मेम्बर सुरजीत चौहान, वीर सिंह चौहान, रघुबीर सिंह, देवेंद्र चौहान, दिलीप सिंह, सतीश कुमार डीपी, अमीरलाल, जवाहर सिंह पूर्व सरपंच, लक्ष्मण तंवर, भगत सिंह, चंचल कुमार, भूपेंद्र सिंह, पूरन सिंह सहित अनेकों गणमान्य लोग मौजूद थे।


Saturday, 9 December 2017

दीक्षा पब्लिक स्कूल में कबड्डी एवं खो-खो प्रतियोगिता का आयोजन

दीक्षा पब्लिक स्कूल में कबड्डी एवं खो-खो प्रतियोगिता का आयोजन

फरीदाबाद 9 दिसम्बर। दीक्षा पब्लिक स्कूल सैक्टर 91 सेहतपुर में कबड्डी एवं खो-खो प्रतियोगिता का आयोजन किया गया जिसमें सदभावना सदन, कर्मणा सदन, साधना सदन, अर्पणा सदन की जुनियर व सीनियर टीमों ने हिस्सा लिया। इस अवसर पर मुख्य अतिथि के रूप में भारतीय जनता पार्टी प्रदेश महामंत्री श्री संदीप जोशी की धर्मपत्नी श्रीमती प्रवीण जोशी ने खिलाडियों से परिचय लिया एवं उन्हें पुरस्कार भी वितरित किया। इस अवसर पर श्रीमती प्रवीण जोशी ने कहा कि हरियाणा प्रदेश में खेल  व शिक्षा का जो मुकाम भारतीय जनता पार्टी ने पहुंचाया है वह वाकई में प्रंशसा के योग्य है। आज खिलाडियों व विद्यार्थियों के लिए जो योजनाएं बनायी गयी है उससे शिक्षा का प्रसार बढ़ा है एवं हमारे खिलाडियों को भी लाभ मिला है। इसीलिए बच्चे स्कूल में आयोजित प्रतियोगिताओं में बढ़चढ़ कर हिस्सा ले और अपनी शिक्षा के साथ साथ खेल को भी सुधारे।

इस अवसर पर पार्षद श्रीमती गीता रैक्सवाल ने कहा कि खेल व शिक्षा दोनो ही एक दूसरे के पूरक है जो छात्र इन दोनो चीजों को ध्यानपूर्वक ग्रहण करेगा वह कभी असफल नहीं हो पायेगा। उन्होंने कहा कि इन दोनो ही चीजो में आपको भविष्य संवारने का सुनहरी मौका मिलता है इसीलिए इनको प्राप्त करने में पूरी ईमानदारी एवं कर्तव्यनिष्ठा दिखाये।

इस मौके पर स्कूल के चेयरमैन श्री ओमप्रकाश रैक्सवाल ने बताया कि इस प्रतियेागिता मे चारो सदनो की टीमों ने हिस्सा लिया । उन्होंने बताया कि कबड्डी प्रतियोगिता में जूनियन साधना सदन की टीम व खो-खो  में जूनियर कर्मणा टीम ने विजयीश्री हासिल की। इसी तरह  कबडड़ी में सीनियर सदभावना सदन ने जीत हासिल की व खो-खो में भी सीनियर सदभावना सदन ने जीत हासिल की।  प्रतियोगिता में विजेता टीमों को श्रीमती प्रवीण जोशी एवं पार्षद श्रीमती गीता रैक्सवाल ने सम्मानित किया।

श्री रक्षवाल ने बताया कि जूनियर फाईनल मैच कबड्डी कर्मणा एवं साधना सदन के बीच खेला गया। जिसमें कर्मणा की टीम में अमित, रोशन, आयूष, आर्यन, प्रिंस, सौरव, प्रिंस कुमार, कृष्ण, आकाश व साधना सदन की और से मनीष, राजा, अर्जुन , रूपेन्द्र, विवेक, विशाल, शान्तानु, यश व अमूल थे। 

उन्होंने बताया कि सदना सदन ने कर्मणा सदन को मात्र एक पाईट से ही पराजित किया। जिसमें कर्मणा सदन ने 22 पाइंट और सादना सदन ने 23 पाईंट बनाये। जिसमें सादना सादन से राजा ने सबसे ज्यादा 12 रेड पाईट किये और कर्मणा सदन की तरफ से अमित ने ज्यादा 4 टैकंल पाईंट लिये।इसी तरह कबड्डी का फाईनल मैच सदभावना एवं सादना सीनियर के बीच खेला गया जिसमें सदभावना की और से विक्रांत, अजय, श्रीनिवास, राघवेन्द्र, विवेक, सचिन, तुषार, करन, राज पाण्डे व वरूण शाह थे वही सादना की टीम में स्वराज ठाकुर, शेखर, राहूल, संसरपाल, अभिषेक कुमार, ललित, अर्जुन, एम.डी. सलमान, विकेट थे।

उन्होंने बताया कि  सदभावना सदन ने साधना सादन को 29 पांइट से हराया। जिसमें साधना सदन ने कुल 29 अंक बनाये और सदभावना सदन ने कुल 58 अंक बनाये। जिसमें विवेक कुमार ने सबसे ज्यादा 19 टैंकल पांइट लिए और राज पाण्ंडे ने 17 रेड पांइट बनाये। रक्षवाल ने बताया कि खो-खो प्रतियोगिता के जूनियर फाईनल में साधना सदन व कर्मणा सदन की टीमों ने हिस्सा लिया साधना सदन की और से वर्षा, वैशाली, रिकिता, लक्ष्मी, ज्योति, नेहा, वंशिका, विनिता एवं कर्मणा सदन की ओर से तन्नु, संजू, तेजवस्वनी, दीक्षा, पायल, दिया, अजंलि, खुशी व निशा सिंह ने अपने अपने जौहर दिखाये। कर्मणा सदन ने साधना सादन को 4 पाईंट से हराया।साधना सदन ने कर्मणा सदन को 3 आउट किये और कर्मणा सदन ने साधना सादन के 8 आउट किये। जिसमें संजू ने 3 आउट किये। उन्होंने बताया कि इसी तरह खोखो सीनियर के फाईनल मैचं साधना सादन व सदभावना सादन के बीच खेला गया। 

 जिसमें साधना सदन की और से रेनू, प्रिया, गुलमीना, स्वाती पाण्डे, अनामिका दास, संतोष पाल, ज्योति पाण्डे,  नीता, व अंतरा ने हिस्सा लिया व सदभावना सादन की और से वैशाली, खुश्बु, सपना, गिन्नी, नूमा, कविता, साक्षी महता, किरन, तन्नू, व विष्णू प्रिया ने हिस्सा लिया।सदभावना सादन ने साधना सदन को 3 पाइंट से हराया। साधना सदन ने सदभावना सान के 2 आउट किये और सदभावना सादन ने साधना सादन के 5 आऊट किये।प्रतियोगिता के अंत में स्कूल की प्रिंसीपल श्रीमती मिथलेश सोम ने सभी आये हुए अतिथियों का आभार जताया एवं खिलाडियों को मुबारकबाद दी। 


Friday, 1 September 2017

  मनुष्य के जीवन का अभिन्न अंग होते है खेल : महताब अलावलपुर

मनुष्य के जीवन का अभिन्न अंग होते है खेल : महताब अलावलपुर

फरीदाबाद:1 सितम्बर (National24news) युवा भाजपा नेता महताब सिंह अलावलपुर ने कहा है कि खेल मनुष्य के जीवन का एक अभिन्न अंग है, खेलों से जहां मनुष्य का शारीरिक व मानसिक विकास होता है वहीं खेलों से आपसी भाईचारे की भावना को भी बल मिलता है। उन्होंने कहा कि प्रदेश की भाजपा सरकार ग्रामीण स्तर पर खेल प्रतिभाओं को प्रोत्साहित करने के लिए पूरी तरह से प्रयासरत है और इसी कड़ी में सरकार द्वारा गांवों में खेल स्टेडियमों का निर्माण किया जा रहा है ताकि छुपी हुई प्रतिभाओं को बेहतर मंच उपलब्ध हो सके। श्री अलावलपुर आज पृथला विधानसभा क्षेत्र के गांव जनौली में आयोजित रेस प्रतियोगिता में बतौर मुख्यातिथि उपस्थितजनों को संबोधित कर रहे थे।

 इस मौके पर प्रतियोगिता के आयोजक राकेश उर्फ छोटी एवं विष्णु उर्फ पांडेय आदि ने श्री अलावलपुर का फूल मालाओं से भव्य स्वागत किया। उपस्थितजनों को संबोधित करते हुए युवा भाजपा नेता महताब सिंह अलावलपुर ने कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर की बेहतर खेल नीति का ही परिणाम है कि आज हमारे हरियाणा के युवा विभिन्न खेलों में देश ही नहीं बल्कि अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर अपनी प्रतिभा का लोहा मनवा रहे है। उन्होंने खिलाडिय़ों को सीख देते हुए कहा कि वह खेलों को खेल की भावना से खेलें, हार और जीत खेलों का हिस्सा है इसलिए इसे कभी गंभीरता से नहीं लेना चाहिए बल्कि हमेशा हार के बाद ही खिलाड़ी को जीत की प्रेरणा मिलती है। उन्होंने प्रतियोगिता के आयोजकों की भूरि-भूरि प्रशंसा करते हुए कहा कि गांवों में इस तरह की प्रतियोगिताएं निरंतर आयोजित होनी चाहिए, 

जिससे छुपी हुई प्रतिभाओं को आगे आने के लिए मौका मिलता है। रेस प्रतियोगिता में विभिन्न गांवों के सैकड़ों प्रतिभागियों ने हिस्सा लिया। प्रतियोगिता में प्रथम पुरस्कार संजू मोहना, द्वितीय पुरस्कार लेखराज जनौली व तृतीय पुरस्कार विनीत मर्राली ने जीता। महताब अलावलपुर ने विजेताओं खिलाडिय़ों को पुरस्कृत कर उनके उज्जवल भविष्य की कामना की। इस अवसर पर आकाश, परविंद्र, सतेंद्र सौरोत, दीपक सौरोत, देव, रोहताश, राहुल, कृष्ण, मुकेश डागर सहित अनेकों गणमान्य लोग मौजूद थे। 

Thursday, 22 June 2017

टैक्सी ड्राईवर के बेटे ने दिलाया इंटरनैशनल कबड्डी में गोल्ड

टैक्सी ड्राईवर के बेटे ने दिलाया इंटरनैशनल कबड्डी में गोल्ड


फरीदाबाद 22 जून(National24news) गांव बडौली की बेटी मनीषा चंदीला व अजय चंदीला ने मलेशिया में कबड्डी फेडरेशन द्वारा आयोजित के$एल$ कबड्डी इंटरनेशनल टेस्ट मैच में वल्ड। एमेच्योर फेडरेशन के बैनरतले गईघ्भारत की टीम को फरीदाबाद के बडौली गांव के दोनो बच्चो ने अपने दम पर सीरीज जीत कर गोल्ड दिलाने में अहम भूमिका निभाईघ्है वापिस लोटने पर दोनो खिलाडियो का भाजपा के वरिष्ठ नेता शिवदत्त वशिष्ठ एडवोकेट व गांव बडौली की सरपंच संतोष देवी, पंच अन्नु वशिष्ठ व अन्य पंचो ने घर जाकर फुलो का गुलदस्ता देकर बधाईघ्दी । 

अजय के पिता टैक्सी ड्राईवर है और मनीषा के पिता दूध की डेरी चलाते है। दोनो खिलाडियो ने कहा कि उन्हे इस खेल का जूनून गांव से ही चढा जहा अकसर उनके साथी कबड्डी खेलते थे। अभी मैं मेवला महाराजपुर में कबड्डी का अभ्यास करता हूं। यहीं से मैने कबड्डी की गुण सीखे चंदीला के अनुसार उनका मकसद ऐसिया में देश की टीम में शामिल होने का है इसके लिए वो काफी मेहनत कर रहे है। इससे पहले श्रीलंका, दूबईघ्व पाकिस्तान में इंटरनैशनल कबड्डी खेले है। मनीषा चंदीला ने बताया कि वो सैक्टर-12 व सैक्टर-17 में कबड्डी का अभ्यास करती है और उन्होने कहा कि अबकी बात में गोल्ड जीता हैघ्और आगे भी मैं देश के लिए मैडल लाती रहूंगी। 



Saturday, 17 June 2017

टैक्सी ड्राइवर के लड़के ने इंटरनेशनल कबड्‌डी टेस्ट में दिलाया गोल्ड

टैक्सी ड्राइवर के लड़के ने इंटरनेशनल कबड्‌डी टेस्ट में दिलाया गोल्ड

फरीदाबाद:17 जून (National24news.com)मलेशिया में 7 से 11 जून तक मलेशिया कबड्‌डी फैडरेशन द्वारा आयोजित केएल इंटरनेशनल कबड्‌डी  टेस्ट मैच में वर्ल्ड अमैच्योर फैडरेशन के बैनर तले गई भारत की टीम को फरीदाबाद के गांव बडौली निवासी अजय चंदीला ने अपने दम पर दो टेस्ट मैच की सीरीज जीता कर गोल्ड दिलाने में अहम भूमिका निभाई है। अजय के पिता राजबीर चंदीला एक टैक्सी ड्राइवर हैं। वीरवार को वापस लौटने पर उनका जोरदार स्वागत किया गया।

एशियाड में खेलना लक्ष्य
अजय चंदीला ने बताया कि उसको इस खेल का जूनून गांव से ही चढ़ा। वहां पर अक्सर साथी कबड्‌डी खेलते। फिलहाल अभी मैं मेवला महाराजपुर में कबड्डी का अभ्यास करता हूं। यहीं से ही कबड्‌डी के गुर मैने सीखे हैं। चंदीला ने बताया कि उसका मकसद एशियाड में देश की टीम में शामिल होने का है। इसके लिए वह काफी मेहनत कर रहा है। इसके अलावा प्रो-कबड्‌डी में भी खेलना चाहता हूं। इस बार उसके ट्रॉयल के बारे में पता नहीं चल सका। लेकिन अगली बार इसके लिए मैं पूरी तरह से तैयार रहूंगा।

अकेले दम पर जीताया
टीम मैनेजर यशवीर चपराना ने बताया कि अजय चंदीला टीम के कप्तान बनाए गए थे। टीम दोनो टेस्ट मैचों में पहले हाफ में पिछड़ रही थीं। लेकिन दोनो मैचों में इसने बेहतरीन खेल दिखाया। अकेले ही मलेशिया की आर्मी और पुिलस की टीम को पछाड़ कर इसने देश को गोल्ड दिलाने में अहम भूमिका निभाई। मलेशियन पुलिस को 62-32 से और आर्मी को दूसरे फाइनल मैच में 68-27 से भारत की टीम ने मात दी। चपराना ने बताया कि दूसरे टेस्ट मैच में टीम एक समय 27-23 से पहले हाफ में पीछे थीं। लेकिन दूसरे हाफ में अजय ने अपने खेल से जहां दूसरे खिलाड़ियों में जोश भरा और एक भी प्वाइंट नहीं बनाने दिया। वहीं अपने दम पर उसने प्वाइंट अर्जित भी किए।   

पापा नहीं कर पाते मदद, अपने बलबूते आगे बढ़े
टीम मैनेजर यशवीर ने बताया कि अजय के  पापा उसकी आर्थिक मदद नहीं कर पाते हैं। वह एक टैक्सी ड्राइवर हैं। खेल को लेकर डाइट पर काफी खर्च करना पड़ता है। इसके अलावा कई बार बिना फैडरेशन के कबड्‌डी मैचों में भी आने-जाने का खर्च वहन करना पड़ता है।  इस वजह से पापा इसके खेल के खिलाफ भी थे। लेकिन इसके जूनून को देख कर उसे अपने बलबूते आगे बढ़ने को रजामंदी दे दी। जिसपर ही अजय इस खेल में आगे बढ़ सका। फिर भी उसे कई मौकों पर स्पांसर्स की जरूरत पड़ती है। कई बार इसके गांव के ही कुछ आर्थिक रूप से संपन्न लोग इसके खेल की वजह से मदद भी करते हैं। यशवीर ने बताया कि अजय ने 2010 व 2013 में श्रीलंका में, 2012 में दुबई में और 2014 में पाकिस्तान में इंटरनेशनल कबड्‌डी टेस्ट मैच खेले हैं। इसके अलावा मेवला महाराजपुर में होने वाले इंवीटेशनल कबड्‌डी वर्ल्डकप में भी इसने पांच बार भाग लिया है।

Friday, 12 May 2017

भारत की सबसे बड़ी वीवो प्रो कबड्डी लीग बनी; 12 टीमें, 130$ मैच, 13 हफ्तों की प्रतियोगिता

भारत की सबसे बड़ी वीवो प्रो कबड्डी लीग बनी; 12 टीमें, 130$ मैच, 13 हफ्तों की प्रतियोगिता

मुंबई: 12 मई(National24news.com) वीवो प्रो कबड्डी भारत की सबसे बड़ी स्पोटर््स लीग बन गई है। इसमें 4 नई टीमें षामिल हो गई हैं, जो इस साल जुलाई से अक्टूबर के बीच खेले जाने वाले सीज़न 5 से इस लीग में हिस्सा लेंगी। चार नई टीम के मालिकों की घोशणा मषाल स्पोटर््स, आयोजक व लीग के एडमिनिस्ट्रेटर तथा इसके पैरेंट संस्थान, स्टार इंडिया के द्वारा की गई। 

मषाल स्पोटर््स द्वारा घोशित चार नई फ्रेंचाईज़ी भारत के कुछ अग्रणी काॅर्पोरेट संस्थानों का प्रतिनिधित्व करेंगी, जिनमें इस समय चल रही प्रीमियर लीग तथा आई-लीग में टीमों के प्रतिश्ठित मालिक षामिल हैं। वीवो प्रो कबड्डी के लिए नए भौगोलिक क्षेत्र तमिलनाडु, हरियाणा, उत्तरप्रदेष और गुजरात हैं, जो कबड्डी के प्रति अपने प्रेम तथा इस खेल के भारी प्रषंसक, मजबूत जमीनी पकड़ तथा स्पाॅन्सर्स एवं एडवरटाईज़र्स के लिए बेहतरीन कमर्षियल मूल्य की वजह से चुने गए। 

श्री उदय षंकर, चेयरमैन एवं सीईओ, स्टार इंडिया ने कहा, ‘‘मैं अपने मिषन कबड्डी में भारत के कुछ सर्वश्रेश्ठ काॅर्पोरेट्स का स्वागत करते हुए काफी खुषी महसूस कर रहा हूं। हमारा मानना है कि वर्तमान एवं नए पार्टनरों के सहयोग से हम समाज में परिवर्तन लाने वाले स्पोटर््स के एजेंडे को पूरा करने की ओर बढ़ रहे हैं। इन काॅर्पोरेट्स द्वारा दिखाई गई रुचि कबड्डी की अपार संभावनाओं का प्रमाण है।’’


इसके साथ ही वीवो प्रो कबड्डी भौगोलिक प्रतिनिधित्व- 11 राज्य, मैचों की संख्या- 130$ मैच तथा टूर्नामेंट की अवधि- 13 हफ्ते, के मामले में दूसरी भारतीय स्पोटर््स लीग्स से आगे निकल गई है। यह हर सीज़न के साथ इस खेल को अधिक व्यापक बनाने के मषाल स्पोटर््स और स्टार इंडिया के निरंतर प्रयास का परिणाम है। 

City/State
Name of the Franchise
Name of the Owner/Promoter
Chennai/Tamil Nadu
Iquest Enterprises Private Limited (Consortium)
N Prasad & Sachin Tendulkar
Ahmedabad/Gujarat
Adani Wilmar Limited
Adani Group
Lucknow/Uttar Pradesh
GMR League Games Private Limited
GMR Group
Haryana
JSW Sports Private Limited
JSW Group



श्री जनार्दन सिंह गहलोत, प्रेसिडेंट, इंटरनेषनल कबड्डी फेडरेषन ने कहा, ‘‘हम स्टार इंडिया व मषाल स्पोटर््स की सराहना करते हैं, कि उन्होंने कबड्डी को नया रूप दिया और अपने निरंतर प्रयासों के द्वारा इसे नई ऊंचाई पर ले गए। लगातार बढ़ती वीवो प्रो कबड्डी लीग में 4 नई टीमों का जुड़ना भारत और दुनिया के दूसरे हिस्सों में इस खेल के लिए उज्जवल भविश्य का संकेत है।’’

वीवो प्रो कबड्डी लीग में चार नई टीमों की घोशणा के साथ एजेडबी एण्ड पार्टनर्स एवं प्राईसवाटरहाउसकूपर्स इंडिया के व्यापक प्रयास सफल हो गए। 

इस विस्तार के साथ देष के प्रमुख मेट्रो षहर - दिल्ली, मुंबई, बैंगलुरु, कोलकाता, हैदराबाद, पटना, पुणे और जयपुर की 8 फ्रेंचाईज़ी की श्रृंखला और ज्यादा प्रभावषाली हो गई है।

दो सालों के छोटे से समय में ही वीवो प्रो कबड्डी भारतीय दर्षकों की पसंदीदा बन गई और प्रमुख बाजारों में सबसे ज्यादा प्रभावषाली टेलीविज़न प्राॅपर्टी के रूप में स्थापित हो गई। वीवो प्रो कबड्डी अपने पहले सीज़न 2014 में भारतीय स्पोटर््सप्रेमियों के बीच काफी लोकप्रिय साबित हुई और इसे 435 मिलियन लोगों ने देखा। अनूप कुमार, राहुल चैधरी, अजय ठाकुर आदि के नाम घर घर में मषहूर हो गए। 4 सीज़न में इसके दर्षकों की संख्या में 51 प्रतिषत की वृद्धि हुई, जो भारत में किसी भी स्पोटर््स लीग के लिए सर्वाधिक है। आंध्रप्रदेष में यह आईपीएल से भी आगे बढ़ गई और मुंबई में इसे प्राईमटाईम स्लाॅट लीडरषिप हासिल हुई। 

इससे पहले इस सप्ताह स्टार इंडिया ने ग्लोबल स्मार्टफोन कंपनी वीवो इंडिया के साथ पांच सालों के लिए लीग के टाईटल स्पाॅन्सर के रूप में समझौता किया था।